नीतीश पर उनके ही मंत्री का वार, समस्तीपुर की जगह सरायरंजन में मेडिकल कॉलेज क्यों?

0

समस्तीपुर/पटना : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर उनके अपने ही मंत्री ने ‘दबाव में आकर काम करने का’ आरोप लगाया है। मामला एक मेडिकल कॉलेज की स्थापना से जुड़ा है। आज बुधवार को इस मेडिकल कॉलेज का शिलान्यास सीएम नीतीश कुमार सरायरंजन में करने वाले हैं। इस शिलान्यास समारोह में केंद्रीय गृहमंत्री नित्यानंद राय, डिप्टी सीएम सुशील मोदी, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय समेत एनडीए के वरिष्ठ नेता शामिल होंगे।

दबाव में सीएम पर भेदभाव करने का आरोप

नीतीश कैबिनेट के मंत्री महेश्वर हजारी ने मुख्यमंत्री द्वारा जिला मुख्यालय समस्तीपुर में श्री राम जानकी मेडिकल कॉलेज की स्थापना न करके सरायरंजन जैसे सुदूर इलाके में ​इसका शिलान्यास करने के निर्णय पर सवाल उठाए हैं। मंत्री हजारी ने आरोप लगाया कि किसी बड़े नेता के दबाव में समस्तीपुर मुख्यालय से दूर मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया के नियमों के खिलाफ जाकर अस्पताल का निर्माण कराया जा रहा है। बकौल हजारी, ऐसा करना ठीक नहीं है।

राजद ने किया महेश्वर हजारी का समर्थन

इधर जिला प्रशासन ने आज के शिलान्यास कार्यक्रम को लेकर सभी तैयारियां पूरी कर ली हैं।
लेकिन स्थानीय होने तथा आमंत्रित किये जाने के बावजूद मंत्री महेश्वर हजारी ने इस कार्यक्रम का बायकाट कर दिया है। वहीं चौंकाने वाली बात यह कि इस मामले में राष्ट्रीय जनता दल ने मंत्री महेश्वर हजारी के सुर में सुर मिलाते हुए मेडिकल कॉलेज के सरायरंजन में खोले जाने का विरोध किया है।
श्री राम जानकी मेडिकल कॉलेज अस्पताल के विरोध में राष्ट्रीय जनता दल के समस्तीपुर विधायक और पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अख्तरुल इस्लाम शाहीन ने इस मुद्दे पर आंदोलन की घोषणा की है। शाहीन ने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा समस्तीपुर जिला मुख्यालय स्थित हाउसिंग बोर्ड मैदान में ही मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेज खोलने का आश्वासन दिया गया था। लेकिन कुछ राजनीतिक दलों और विशेष नेताओं के दवाव में उसे सरायरंजन ले जाया गया है जो उचित नहीं है।

Leave a Reply