गर्मी पर भारी वोटरों का उत्साह, 2 बजे तक 37.71 प्रतिशत वोटिंग

0

पटना ; पूरे देश में चौथे चरण के लिए 71 सीटों पर मतदान जारी है. तपती धुप में भी वोटरों के हौसले बुलंद हैं। कम से कम आंकड़े तो यही बताते हैं। 9 राज्यों में 71 सीटों पर 2 बजे तक तकरीबन 38.63 प्रतिशत वोट गिरे हैं, वहीँ बिहार की 5 सीटों पर अब तक 37.71 प्रतिशत मतदान किये गए हैं।

चौथे चरण में हालाँकि मतदान शांतिपूर्ण ही है पर पश्चिम बंगाल में कुछ छिटपुट हिंसा की भी खबरें आ रही हैं। जहाँ कुछ टीएमसी कार्यकर्ताओं द्वारा उपद्रव मचाया गया। बहरहाल, बिहार में 5 सीटों पर मतदान हो रहा है और कहीं भी किसी हिंसक घटना की सूचना अब तक नहीं आई है। मतदान न सिर्फ शांति से हो रहे हैं बल्कि अप्रत्याशित बढ़ोतरी भी देखने को मिल रहा है।चौथे चरण में बिहार की 5 सीटों में से 3 सीटें हाई प्रोफाइल सीटें हैं। अंब तक के जारी आंकड़ों के हिसाब से मतदान 5 सीटों का मतदान प्रतिशत उम्दा है। देखिये कहाँ कितने प्रतिशत मतदान ।

बेगूसराय     –  39.04 %

उजियारपुर    –  37.12 %

मुंगेर        –   35.71 %

दरभंगा      –    36.86 %

समस्तीपुर    –   39.81 %

चौथे चरण में बिहार के बेगूसराय, उजियारपुर और मुंगेर सीट पर सबकी निगाहें टिकी हुई है। बेगूसराय की सीट पर तो पूरे देश की निगाहें गाड़ी हुई है। जहाँ से मामला एनडीए बनाम महागठबंधन बनाम सीपीआई बन चुका है। मतलब की गिरिराज सिंह बनाम तनवीर हसन बनाम कन्हैया कुमार. बेगूसराय में प्रचार के लिए बॉलीवुड से ले कर बड़े-बड़े राजनेताओं का मजमा लगा हुआ था, जहाँ सबकी निगाहें युवा प्रत्याशी कन्हैया कुमार, या तो एनडीए के फायर ब्रांड नेता गिरिराज सिंह के परफॉरमेंस पर टिकी हुई है।

वहीँ उजियारपुर से भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष नित्यानंद राय की टक्कर कभी एनडीए के घटक दल में शामिल रालोसपा अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा जो अब महागठबंधन से हैं, उनसे कड़ी टक्कर का है। हालांकि मुंगेर की लड़ाई भी कुछ कम नहीं जहाँ मोकामा के बाहुबली विधायक अनंत सिंह की पत्नी नीलम देवी और जदयू के राजीव रंजन सिंह उर्फ़ लल्लन सिंह के बीच नाक बचाने की लड़ाई है।समस्तीपुर से लोजपा अध्यक्ष रामविलास पासवान के भाई रामचंद्र पासवान का मुकाबला कांग्रेस के अशोक कुमार से है तो वहीँ दरभंगा में राजद कुनबे के भरोसेमंद नेता अब्दुल बरती सिद्दीकी की लड़ाई भाजपा के गोपालजी ठाकुर से है।

42 डिग्री पारे में भी वोटरों का उत्साह लोकतंत्र की नींव को मजबूत करता दीखता है। शाम 5 बजे तक मतदान होना है। चौथे चरण में कौन सा प्रत्याशी फर्श से अर्श पर पहुँचता है और कौन मुह के बल धडाम से नीचे गिरता है। इसका फैसला तो जनता के मतदान के बाद 23 मई को पिटारा खुलने के बाद ही पता चलेगा।

 

सत्यम दुबे 

Leave a Reply