सुशांत मामले में सुस्त क्यों मुंबई पुलिस? टॉप में ट्रेंड कर रहा थैंक्यू बिहार पुलिस

0

मुंबई/पटना : बिहार के एक्टर सुशांत सिंह राजपूत की मौत की मिस्ट्री अब सीधे—सीधे मुंबई पुलिस और बिहार पुलिस के बीच फंस गई है। सुशांत की हत्या या आत्महत्या की मिस्ट्री सुलझाने के लिए पटना पुलिस मुंबई की खाक छान रही है। लेकिन इसमें उसे मुंबई पुलिस का कोई सहयोग नहीं मिल रहा। उसके उलट मुंबई पुलिस बिहार की टीम को कोरोना काल में मूवमेंट के लिए एक वाहन तक नहीं दे रही। बिहार सरकार के एडवोकेट जनरल ललित किशोर ने और बिहार पुलिस ने मुंबई पुलिस के इस आचरण पर क्षोभ जताया।

ट्वीटर पर टॉप ट्रेंड कर रहा ‘थैंक यू बिहार पुलिस’

दरअसल, शुरू से सुशांत डेथ मामले में मुंबई पुलिस एक ही थ्योरी पर चलती रही। जबकि बिहार पुलिस ने इसे हर एंगल के लिहाज से टटोला। इसके बाद बिहार पुलिस ने अपनी जांच की दिशा तय की। ऐसे में मुंबई पुलिस पर लापरवाही बरतने, सही तफ्तीश नहीं करने तथा गुनाहगारों को बचाने के आरोप लगने शुरू हो गए। इसकी मिसाल देखिये कि जहां मुंबई में बिहार पुलिस को शाबासी देने वालों की बाढ़ आ गई, वहीं मुंबई पुलिस की कार्यशैली पर लोग सवाल उठाने लगे। इसकी बानगी तब मिली जब ट्वीटर जैसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर ‘थैंक्यू बिहार पुलिस’ टॉप में ट्रेंड करने लगा। थैक्यू बिहार पुलिस के नाम एक लाख 31 हजार ट्वीट्स के साथ पहले स्थान पर था। दूसरे स्थान पर भी सुशांत सिंह राजपूत डेथ केस था। 75 हजार दो सौ ट्वीट्स हुए। शाम सात बजे रिया चक्रवर्ती का एक वीडियो ट्रेंड करने लगा। फिर भी बिहार पुलिस पहले नंबर पर ही ट्रेंड करता रहा।

सुशांत के परिजनों ने लगाए संगीन आरोप

यही नहीं मुंबई में केस की जांच के लिए बिहार पुलिस को ऑटो और पैदल लंबी दूरी तय करते हुए दिखाने वाली तस्वीर भी खूब शेयर की गई। एक-एक तस्वीर पर एक हजार से अधिक री-ट्वीट हुए। इधर सुशांत के परिजनों ने भी आरोप लगाए हैं कि इस पूरे प्रकरण में मुंबई पुलिस शुरुआती दौर से ही लापरवाही बरत रही है। सुशांत की मौत के बाद से ही जांच के नाम पर मुंबई पुलिस लीपापोती करने लगी। सुशांत की जिंदगी में उनके दोस्त मुकेश शेट्टी भी अहम हिस्सा रहे हैं। पटना एसआईटी ने उनसे चार बार में करीब तीन घंटे गहन बातचीत है। यही नहीं, सुशांत के अंगरक्षक ने भी चुप्पी तोड़ दी है। पुलिस के साथ ही उसने मीडिया को भी बयान दिया है कि कि सुशांत सुसाइड नहीं कर सकते। उनका खर्च बेहद कम था। ऐसे में माना जा रहा कि एसआईटी सुशांत के दोस्त मुकेश शेट्टी व उनके बॉडीगार्ड को केस का मुख्य गवाह भी बना सकती है।

विपरित परिस्थितियों में बिहार पुलिस कर रही जांच

मुंबई पुलिस इस मामले को लेकर जितना लापरवाह थी, वहीं पटना की एसआईटी दिन-रात जांच में पसीना बहा रही है। पुलिस सूत्र बताते हैं कि मुंबई का पानी एसआईटी को शूट नहीं किया। इसके चलते टीम में शामिल दो इंस्पेक्टरों एम भारतीय व एक अन्य की हालत सर्दी-जुकाम व वायरल से नासाज हो गई। उन्हें डॉक्टरों को दिखाया गया। फिर भी दोनों इंस्पेक्टर अपने स्वास्थ्य की परवाह किए वरीय अफसरों के टास्क को पूरा करने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ रहे हैं।

swatva

Leave a Reply