लॉफिंग बुद्धा की भूमि पर लॉफिंग इलेक्शन, 50 फीसदी वोटिंग

0

पटना : लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण में आज बिहार की आठ सीटों समेत देशभर के आठ राज्यों के 59 संसदीय सीटों पर शांतिपूर्ण मतदान संपन्न हो गया। इसके साथ ही करीब दो माह तक चले लंबे चुनावी समर में योद्धाओं का भाग्य ईवीएम में लॉक हो गया। अब सभी की निगाहें 23 मई को आने वाले नतीजों पर टिकी हैं। बिहार की 8 सीटों पर कुल 49.92 फीसदी मतदान की खबर है। मतदाता सुबह से ही मतदान केंद्र पर लंबी-लंबी लाइनों में दिखे। कहीं—कहीं से छिटपुट हांगामे की खबरों को छोड़ दें तो कुल मिलाकर सातों चरणों में बिहार में मतदान शांतिपूर्ण रहा।

सातवें चरण में कोई चुनावी हिंसा नहीं

निर्वाचन आयोग से मिली जानकारी के अनुसार नालंदा में 49.52 फीसदी, पटना साहिब में 41.30, पाटलिपुत्रा में 51.25, आरा में 51.61, बक्सर में 51.98, सासाराम में 51.43, काराकाट में 51.88 तथा जहानाबाद में 52.06 प्रतिशत मतदान होने की सूचना है।

बक्सर में अश्वरोही पुलिस की निगरानी में चुनाव

बक्सर से प्राप्त जानकारी में बताया गया कि वहां सिमरी प्रखंड के दियारा क्षेत्र में स्थित बेनीलाल का डेरा, चक्की गांव स्थित कई बूथों पर एक खास समुदाय द्वारा वोटरों को मारपीट कर भगाने का मामला सामने आया। नैनीजोर समेत वहां के कई इलाकों में लोगों को वोट देने से रोकने की सूचना मिलने के बाद पुलिस की अश्वरोही टुकड़ी को तैनात किया गया, जिसके बाद वहां हालात काबू में हुए। बक्सर के रामपुर में आंबेडकर भवन स्थित बूथ संख्या 175 पर ईवीएम और वीवीपैट खराब होने की सूचना मिली जिसके बाद पूरा सेट बदलने के बाद वहां वोटिंग शुरू हुई।

पटना में सलमान की मुंहबोली बहनों ने डाला वोट

इधर पटना में सिर से आपस में जुड़ीं और फिल्म अभिनेता सलमान खन की मुंहबोली बहनें सबाह और फराह ने पहली बार मतदान में हिस्सा लिया। दोनों ने अलग-अलग वोट डाले। पटना साहिब के फतुहा में विधायक डाॅ रामानंद यादव को प्रशासन ने घर में नजरबंद कर दिया। ग्रामीण एसपी ने उन्हें घर में रहने का आदेश दिया। उनसे मतदान होने तक क्षेत्र में नहीं निकलने को कहा गया है।

तेजप्रताप के बाउंसर्स ने पत्रकारों को पीटा

एक अन्य घटना में पटना में राजद नेता और लालू यादव के बड़े पुत्र तेजप्रताप यादव के सुरक्षाकर्मियों ने मीडिया वालों पर हमला कर दिया। इस दौरान कुछ मीडिया वालों के कैमरे टूट गए। तेजप्रताप यादव ने इस संबंध में थाने में प्राथमिकी भी दर्ज कराई। वहीं लालू के छोटे पुत्र तेजस्वी यादव की फोटो की जगह वोटर लिस्ट में किसी दूसरे व्यक्ति की फोटो लगी होने का मामला भी सामने आया। चुनाव अधिकारी ने इसे मानवीय भूल करार देते हुए जांच की बात कही है।

पालीगंज और दुल्हिन बाजार में फायरिंग

मसौढ़ी के जमालपुर के बूथ संख्या 177 पर मसौढ़ी की आरजेडी विधायक रेखा देवी को पुलिसकर्मियों ने बूथ से खदेड़ा। पुलिस को जानकारी मिली थी कि उनके नेतृत्व में वहां कुछ लोग बोगस वोटिंग की कोशिश कर रहे थे। इधर पाटलिपुत्र लोकसभा क्षेत्र के दुल्हिन बाजार के सरकुना में ईवीएम में तोड़फोड़ और फायरिंग की खबर मिली है। वहां दो मतदानकर्मी भी लापता पाए गए जिसके बाद प्रशासन ने मामले को संभाला। लापता मतदानकर्मी बूथ पर वापस आये फिर वहां मतदान की प्रक्रिया शुरू हुई। पाटलीपुत्र लोकसभा क्षेत्र के ही पालीगंज स्थित सिगोही में भी मतदाताओं को भगा कर बूथ संख्या 199 पर कब्जा जमाने की सूचना मिली है।

नालंदा में बीडीओ को बंधक बनाया

नालंदा के राजगीर स्थित बूथ संख्या 299 पर लोगों ने वोट का बहिष्कार किया। हालांकि वहां कुछ लोग मतदान करना चाहते थे। लोगों को मतदान से रोकने की सूचना पर मौके पर पहुंचे बीडीओ रंजन लाल निगम को लोगों ने बंधक बना लिया। बिहार के मुख्य चुनाव आयुक्त एचआर श्रीनिवासा ने कहा कि बीडीओ को बंधक नहीं बनाया गया है। बड़े अधिकारियों को मौके पर भेजा गया है। इधर, सूचना है कि बीडीओ को मुक्त करा लिया गया है।
बिहार की 8 सीटों पर अंतिम चरण में कुल 157 प्रत्याशी मैदान में हैं जिनमें 137 पुरुष और 20 महिलाएं शामिल हैं। रविशंकर प्रसाद, शत्रुघ्न सिन्हा, आरके सिंह, अश्विनी कुमार चौबे, राम कृपाल यादव, मीसा भारती, जगदानंद सिंह, मीरा कुमार, उपेंद्र कुशवाहा, सुरेंद्र यादव व चंदेश्वर चंद्रवंशी की किस्मत इस चुनाव में दांव पर है।

Leave a Reply