हाथ मलते रह गए ‘कृष्ण’, लालू का उड़नखटोला ले उड़े ‘अर्जुन’

0

पटना : राजद के कन्हैया तेजप्रताप यादव अपनों द्वारा की जा रही चौतरफा उपेक्षा से एकदम भड़क उठे हैं। एक तो पाटलिपुत्र संसदीय क्षेत्र में वे अपनी बहन मीसा के लिए प्रचार कर रहे हैं, लेकिन वहां लगे पोस्टरों से उनकी तस्वीर गायब है। उनकी जगह छोटे भाई तेजस्वी यादव की हर जगह तस्वीर लगी है। इसे वे राजद नेता भाई वीरेंद्र की करतूत बता भड़के हुए हैं। तेजप्रताप के गुस्से की आग में तब घी पड़ गया जब उनको हेलीकाप्टर से चुनाव प्रचार के लिए तेजस्वी ने आमंत्रण तो दिया, लेकिन जब साथ में उन्हें अपने साथ लेकर उड़ान भरने की बारी आई तो तेजप्रताप को बोर्डिंग पास ही नहीं दिया गया। उल्टे तेजस्वी उन्हें बिना अपने साथ लिये खुद अकेले उड़नखटोले से उड़ गए।

दरअसल तेजप्रताप को अपने छोटे भाई तेजस्वी यादव के साथ महाराजगंज और गोपालगंज में चुनाव प्रचार के लिए हेलीकॉप्टर से जाना था लेकिन बोर्डिंग पास न मिलने की वजह से तेजप्रताप हेलीकॉप्टर पर सवार नहीं हो सके। पार्टी ने उन्हें बोर्डिंग पास ही नहीं दिया। इसके बाद तेज प्रताप का गुस्सा छलक पड़ा। अब तक तेजस्वी यादव को अपना अर्जुन बताने वाले तेज प्रताप यादव ने इस बार अपनी नाराजगी का खुलकर इजहार करते हुये कहा कि दरअसल कुछ लोग नहीं चाहते कि वह राजद के उम्मीदवारों का प्रचार करें। तेजप्रताप यादव ने खुद मीडिया को इन सारी बातों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि दोनों को पटना से एक साथ हेलीकॉप्टर से उड़ान भरनी थी। लेकिन हेलीकॉप्टर में जाने के लिए उन्हें बोर्डिंग पास नहीं दिया गया। तेजस्वी तो हेलीकॉप्टर पर सवार होकर उड़ गये लेकिन तेजप्रताप यादव यहीं रह गये। उन्हें एयरपोर्ट से वापस लौटना पड़ा। अभी वह इस सदमे से बाहर भी नहीं निकले थे कि उन्हें खबर मिली की पाटलिपुत्र लोकसभा क्षेत्र के दानापुर में राजद के खोले गये नये चुनाव कार्यालय में लगे पोस्टरों में तेजस्वी यादव का चेहरा तो है लेकिन उनका चेहरा गायब है।

हालांकि यह खबर उन तक पहुंचने के पहले ही उनके समर्थक वहां पर जमकर बवाल काट चुके थे। गौरतलब है कि दानापुर मनेर से सटा हुआ इलाका है और यहां पर राजद के वरिष्ठ नेता भाई वीरेंद्र का प्रभाव कुछ ज्यादा है। पिछले कुछ समय से दोनों के बीच तनातनी चल रही है।

swatva

Leave a Reply