सीएम पद का था ऑफर, तेजस्वी के खुलासे से नीतीश के कान खड़े!

0

पटना : बिहार के नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने आज विधानसभा सत्र के दौरान बड़ा बयान देते हुए खुलासा किया कि उन्हें भी भाजपा की ओर से बिहार के मुख्यमंत्री पद का आफर दिया गया था। उन्होंने कहा कि भाजपा ने राजद के सीएम और बीजेपी कोटा के डिप्टी सीएम पर बात चलाई थी। लेकिन राजद ने जदयू के पलटू चाचा की तरह सिद्धांतों से समझौता नहीं किया। यदि ऐसा कर लेते तो आज वह भी सीएम होते।

विस में अनंत ने दिखाया विक्ट्री साइन, नीतीश के मुंह पर बोलूंगा कि कैसे उन्हें फंसाया

भाजपा में हलचल, सियासी हंगामा

तेजस्वी के इस खुलासे के बाद बिहार के सियासी पटल पर हंगामा मच गया है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जदयू पार्टी ने इसे राजद की हताशा का प्रकटीकरण करार दिया। वहीं एनडीए समर्थकों ने इसे उनके खेमें में असमंजस पैदा करने की राजद नेता तेजस्वी यादव की नाकाम चाल कह खरिज कर दिया। लेकिन राजनीतिक पंडित तेजस्वी के इस सधे हुए बयान को बहुत गहरे मायने रखने वाला बता रहे हैं। उनका मानना है कि तेजस्वी के इस बयान के बाद मुख्यमंत्री नीतीश के कान खड़े हो चुके होंगे।

तेजस्वी हुए रेस : लाठीचार्ज, नियोजित शिक्षक व महाराष्ट्र पर भारी हंगामा

एक गेंद हवा में रखने की राजनीति

अभी तक जदयू बिहार में एक गेंद हवा में रखने में कामयाब रहा है। एनडीए में वह भाजपा तो महागठबंधन में राजद को हवा में रखते हुए सत्ता सुख पाने में आसानी से सफल हो जा रहा था। लेकिन अब तेजस्वी यादव के इस बयान ने उसे यहा समझने पर मजबूर कर दिया है कि बिहार की सियासत में सभी अपने—अपने पत्ते की समझ रखने लगे हैं। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव के लिए गठबंधन की राजनीति में अपनी और अपने दल की जरूरत तथा हैसियत बताने में कड़ी मशक्कत करनी होगी।

जगदानंद राजद के नए प्रदेश अध्यक्ष! नाम फाइनल, ऐलान बाकी

पॉलिटिकल बार्गेनिंग में होगी दिक्कत

इधर जब से बिहार की सियासत में तेजस्वी ने बैक किया है, तब से वो लगातार बीजेपी और नीतीश सरकार पर हमलावर हैं। उनका एग्रेसिव एप्रोच मुख्यमंत्री नीतीश और सत्तारूढ़ जदयू की बार्गेनिंग पॉवर कम करने की भरपूर चेष्टा करने की है। ऐसे में जदयू भी राजद के गड़े मुर्दे, और खासकर तेजस्वी से जुड़े खुलासे की जुगत करे तो कोई आश्चर्य नहीं।

Leave a Reply