भाजपा ने किया सीएम नीतीश का बॉयकाट, रावण दहन से बीजेपी नदारद

0

पटना : राजधानी पटना के जलजमाव से अब सियासी बदबू भी उभरने लगी है । जहां भाजपा ने इस मुद्दे पर कल ऐतिहासिक गांधी मैदान में रावण दहन कार्यक्रम का बॉयकाट किया, वहीं जदयू ने भाजपा नेताओं से सवाल किया कि अब भागने से काम नहीं चलेगा। अपने चुनाव क्षेत्र में जीतने के बाद जलजमाव के दौरान आपके विधायक कहां थे। वहीं दूसरी तरफ राजद ने चुटकी लेते हुए कहा कि अब भाजपा को नीतीश की जरूरत नहीं है। छोटे मोदी का नीतीश के साथ मंच पर नहीं पहुंचना आश्चर्यजनक इसलिए नहीं है क्योंकि बड़े मोदी अपना सारा हिसाब याद रखते हैं। वे कुछ नहीं भूलते।

जदयू ने किया पलटवार, पलायनवादी कहा

विदित हो कि कल मंगलवार को पटना के गांधी मैदान में रावण वध कार्यक्रम में भाजपा का कोई नेता नहीं पहुंचा। जदयू ने इसे पलायनवादी नजरिया बताया। जदयू प्रवक्ता राजीव रंजन ने कहा कि भाजपा नेताओं को जनता को यह बताना होगा कि वे क्यों नहीं आये। जनता के सवाल से भागने से काम नहीं चलेगा। अगर वे नहीं पहुंचकर किसी और को कठघरे में खड़ा करना चाहते हैं तो जनता इन सब बातों को समझती है।

राजद ने ली चुटकी, कांग्रेस नीतीश पर नरम

इधर कांग्रेस ने जदयू की तरह ही भाजपा पर हमला बोला। कांग्रेस प्रवक्ता राजेश राठौर ने कहा कि भाजपा ने सीएम का बॉयकाट जानबूझकर किया। डिप्टी सीएम के पटना में रहते हुए भी कार्यक्रम में नहीं पहुंचना बड़ी बात है। इसके लिए ऊपर से आदेश मिला होगा। लेकिन जब जलजमाव वाले सभी इलाकों में आपकी पार्टी के विधायक जीते हैं, तब वहां की समस्याओं की जिम्मेदारी भी आप ही को लेनी चाहिए।

खास रणनीति पर चल रही भाजपा : शिवानंद

एनडीए की ताजा खटपट पर राजद नेता शिवानंद तिवारी ने कहा कि विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा बिहार में खास रणनीति पर चल रही है। उनके अनुसार बिहार में सीएम नीतीश के कार्यक्रम में सुशील मोदी नहीं पहुचेंगे, इसकी कल्पना नहीं की जा सकती। साफ है कि भाजपा हाईकमान के रुख को देखते हुए ही उन्होंने रावण दहन से अपने को अलग रखा।
मालूम हो कि रावण दहन कार्यक्रम में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, विधानसभा स्पीकर विजय चौधरी व प्रदेश कांग्रेस अध्‍यक्ष मदन मोहन झा शामिल हुए। लेकिन उद्घाटनकर्ता राज्यपाल फागू चौहान तथा खास मेहमान भाजपा नेता व उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी नहीं पहुंचे। कार्यक्रम में बीजेपी की तरफ से किसी भी नेता या जनप्रतिनिधि ने शिरकत नहीं की।

मालूम हो कि भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री तथा पटना साहिब से सांसद रविशंकर प्रसाद ने तीन दिन पूर्व राजधानी के जलजमाव वाले इलाकों का दौरा किया था। इस दौरान उन्होंने लोगों की परेशानियों को देखते हुए यह घोषणा की थी कि हम इस दुर्गापूजा में किसी भी सार्वजनिक समारोह में शिरकत नहीं करेंगे। लोग परेशान हैं, इसलिए हमारी भी संवेदनाएं उनके साथ जुड़ी हैं। भाजपा नेताओं की गैरमौजूदगी के बारे में पूछे जाने पर पार्टी की राज्य इकाई के प्रवक्ता निखिल आनंद ने कहा कि समारोह में भाजपा नेताओं की अनुपस्थिति को राजग सहयोगियों के बीच फूट के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए।

Leave a Reply