भ्रष्टाचार में बिहार सेकेंड टॉपर, राजस्थान फर्स्ट

2

पटना : हाल ही में इंडिया करप्शन सर्वे 2019  रिपोर्ट जारी हुई है। जिसमे राजस्थान प्रथम स्थान पर है, बिहार दूसरे स्थान पर और झारखण्ड तीसरे स्थान पर है। प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार केरला सबसे कम भ्रष्ट राज्य है। जहाँ मात्र 10 प्रतिशत लोगों ने यह माना है कि उन्हें कोई सरकारी काम कराने के लिए पैसे देने पड़ते है।

अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल नमक संस्था भ्रष्टाचार का आकड़ा जारी करता है। यही संस्था अब राष्ट्रीय स्तर पर स्थानीय संस्थानों के साथ मिल भ्रष्टाचार का आकड़ा जारी कर रही है। भारत में भ्रष्टाचार की रिपोर्ट लोकल सर्कल के साथ मिल ट्रांसपेरेंसी इंटरनेशनल इंडिया ने यह रिपोर्ट जारी की है।

इसके लिए लोकल सर्कल ने भारत के 20 राज्यों के 248 जिलो से 1.9 लाख लोगो से बात कर भ्रष्टाचार के आकडे इकठ्ठा किए है। इस दौरान लोगों से यह पूछ गया कि कोई सरकारी काम कराने के लिए उन्हें प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से पैसे देने पड़ते है या नहीं। इंडिया करप्शन सर्वे 2019 के लिए अक्टूबर 2018 से नवंबर 2019 तक के आकड़े इकठ्ठा किए गए है।

भारत के सबसे भ्रष्ट राज्य

इस रिपोर्ट के अनुसार राजस्थान सबसे ऊपर है, जहाँ 78 प्रतिशत लोगों का मानना है कि बिना घूस दिए कोई काम नहीं होता है। वही बिहार इस सूची में दूसर स्थान पर है, जहां 75 प्रतिशत लोगो का मानना है कि सरकारी काम कराने के लिए उन्हें घूस देना पड़ता है। 74 प्रतिशत के साथ झारखण्ड, उत्तर प्रदेश और तेलंगाना तीसरे, चौथे व पांचवे स्थान पर क्रमशः है। 63 प्रतिशत के साथ पंजाब और कर्नाटका छठे व सातवे स्थान पर है।

कम भ्रष्ट राज्यों में केरला टॉप

लोकल सर्कल के भ्रष्टाचार सूची में सबसे कम भ्रष्ट केरला है। वही दूसरे स्थान पर गोवा है, गुजरात, ओड़िसा, प बंगाल, हरयाणा और दिल्ली कम भ्रष्ट राज्य की सूची में शामिल है।

 

2 COMMENTS

Leave a Reply