आजादी के बाद पहली बार बदली बिहार के थानों की कार्यशैली

0

पटना : आजादी के बाद पहली बार पुलिस सिस्टम में बदलाव करते हुए एडीजी लाॅ एण्ड आर्डर अमित कुमार ने सभी आईजी, डीआईजी तथा एसपी को पत्र लिखते हुए निर्देश दिया है कि 15 जुलाई तक सभी थानों में अपर थानाध्यक्ष लाॅ एंड आडर्र, अपर थानाध्यक्ष इन्वेस्टिगेशन तथा मालाखाना प्रभारी का अलग-अलग विधिवत प्रभार सभी थानों में कर दें।

कानून व्यवस्था व इन्वेस्टिगेशन के लिए अलग-अलग होंगे अफसर

ऐसा माना जा रहा है कि पुलिस विभाग की आंतरिक व पारम्परिक शैली में इस बदलाव का व्यापक असर अपराध को कम करने, जब्त मालों की रखवाली करने तथा इन्वेस्टिगेशन पर पड़ेगा। आजादी के बाद पहली बार कार्यशैली में बदलाव को लेकर अफसरों में चर्चा व्याप्त है।
एडीजी लाॅ एण्ड आर्डर अमित कुमार ने बताया कि यह कोई प्रयोग नहीं है, बल्कि वेल-थॅाट एण्ड रिसर्च्ड एक्शन है। कारण कि-अपराध की संख्या में वृद्वि हो रही है। और, एक ही अफसर पर सभी जिम्मेवारियों को थोप देने से कार्रवाई में भी मानवीय पक्ष देखना पड़ता था। अब जिम्मेवारियों के बंट जाने से कार्य में सुविधा होगी और जिम्मेवारियां अलग-अलग निर्धारित हो जाएंगी। मिली जानकारी के अनुसार 15 जुलाई तक बिहार के सभी थानों में निर्देशित बिन्दुओं का पालन करते हुए 17 जुलाई तक मुख्यालय को रिपोर्ट दे देनी है।

Leave a Reply