4th ग्रेड बहाली में घपला करने वाले ADM समेत 68 पर प्राथमिकी

0

पटना : किशनगंज समाहरणालय में फोर्थ ग्रेड कर्मचारियों की बहाली में घपला करने के पुराने मामले में निगरानी ब्यूरो ने एक एडीएम समेत कुल 68 सरकारी कर्मियों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है। इन धांधलीबाजों के खिलाफ निगरानी थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। इनमें किशनगंज समाहरणालय के तत्कालीन उप समाहर्ता व्यास मुनि प्रधान और तत्कालीन प्रधान लिपिक सदानंद शर्मा भी शामिल हैं।

पटना हाईकोर्ट से इस अवैध बहाली को लेकर निगरानी ब्यूरो को जांच का आदेश दिया गया था। हाईकोर्ट ने 2017 में एक अभ्यर्थी की शिकायत के बाद मामले की जांच का आदेश दिया था। इसके बाद हुई जांच में शिकायत करने वाले अभ्यर्थी उमाशंकर के आरोपों को सही पाया गया। जांच के दौरान उत्तर पुस्तिका और टेबुलेशन रजिस्टर में छेड़छाड़ की बात सामने आई। कई कॉपियों में अधिक अंक को काटकर कम कर दिया गया था। वहीं कुछ कॉपियों में कम अंक को काटकर अधिक कर दिया गया।

निगरानी ब्यूरो ने जब शिकायतकर्ता उमाशंकर प्रसाद की कॉपी की जांच की तो पाया कि उसे वास्तव में 83 अंक मिले थे जिससे काटकर 53 कर दिया गया था। मामला 1999 का है जब चतुर्थ वर्ग में बहाली के लिए 143 रिक्तियां निकाली गई थी। इतना ही नहीं, घपलेबाजों ने तब समाहरणालय में रिक्ति से अधिक यानी 147 लोगों को बहाल भी कर दिया था। बाद में असफल अभ्यर्थियों ने हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया जिसपर जांच का आदेश दिया गया।

swatva

Leave a Reply