40 एसडीपीओ और 100 थानाप्रभारियों पर कार्रवाई तय

0

पटना : राज्य पुलिस मुख्यालय ने प्रदेश के 40 ऐसे एसडीपीओ की सूची बनाई है जिन्होंने अपराध अनुसंधान में न केवल कोताही बरती, बल्कि संबंधित केसों में भारतीय दंडविधान की धाराओं में भी फेरबदल कर दिया है। वरीय हुक्मरानों ने अपराध की प्रवृति को देखते हुए अश्चर्य व्यक्ति किया है कि आखिर इन केसों की धाराओं में फेरबदल क्यों कर दिया गया? मुख्यालय से मिली जानकारी के मुताविक सभी चिह्नित डीएसपी पर गाज गिरनी तय है। इससे पूरे पुलिस विभाग में हड़कंप मच गया है।
जानकारी यह भी मिली है कि डीजीपी गुप्तेश्वर पाण्डेय ने सभी क्षेत्र के आईजी को निर्देश किया था कि वैसे थानाप्रभारियों को भी चिह्नित करें जिनके जिम्मे खतरनाक अपराध को नियंत्रित करने का टास्क दिया गया था। 100 ऐसे थाना प्रभारी हैं जिन्होंने अपने कार्य को अंजाम तो नहीं दिया, उल्टे उनके थानाक्षेत्र में अपराध की घटनाएं बेतहाशा बढ़ती चली गईं। इन सभी थाना प्रभारियों पर भी गाज गिरना तय माना जा रहा है। विदित हो कि हाल ही में कानून—व्यवस्था की समीक्षा के दौरान मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने समूचे पुलिस महकमे की जमकर क्लास लगाई थी। इस दौरान उन्होंने डीजीपी को कई आश्वयक दिशा—निर्देश भी जारी किये थे। माना जाता है कि इसके बाद ही डीजीपी ने क्राइम ग्राफ के मद्देनजर ऊपर से नीचे तक पुलिस महकमे में जवाबदेही तय करने की नीति बनाई है। ताजा कदम उनके इसी नीति के तहत उठाई गई कवायद का अंग माना जा रहा है।

Leave a Reply