थाने पर हमला करने वाले जदयू नेता के घर छापा, तीन गिरफ्तार

0

नवादा : बिहार में नवादा जिलांतर्गत पकरीबरावां पुलिस ने रविवार को जदयू अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ के प्रखण्ड उपाध्यक्ष सह उतरी पंचायत के पंचायत समिति सदस्य मोहम्मद मुन्नवर आलम के घर पर सुबह में छापेमारी की। इस दौरान तीन लोगों मोहम्मद अफरीदी, मोहम्द अली तथा मोहम्मद आफाक को गिरफ्तार कर लिया गया।
जानकारी के अनुसार यह गिरफ्तारी तब की गई जब शनिवार को मुख्यालय में ताजिया पहलाम का कार्यक्रम चल रहा था। इसी दौरान नन्दन पैलेश के समीप जुलूस का अखाड़ा चल रहा था। इसबीच दोस्तलिबीघा के एक युवक मोहम्मद शान के पास शस्त्र रखे होने की जानकारी एसडीपीओ श्रीप्रकाश सिंह को दी गई। उन्होंने तत्परता दिखाते हुए अपने गार्ड को उक्त युवक को पकड़ने का आदेश दिया। गार्ड ने उक्त युवक को पकड़ लिया। परन्तु गिरफ्तार युवक पिस्टल को कमर से फेंकते हुए हाथ छुड़ाकर भाग खड़ा हुआ। गार्ड ने भी उसे खदेड़ कर फिर पकड़ लिया और पकरीबरावां थाना पंहुचा दिया। अखाड़े में मौजूद लोग गिरफ्तार युवक के पीछे-पीछे थाने चल दिये। थाने पर सैकड़ों की संख्या में लोग पहुंच गए। भीड़ को देख पुलिस ने भी कोई जोखिम मोल लेना ठीक नहीं समझा। भीड़ ने थाने पर हंगामा करते हुए गिरफ्तार युवक को जबरदस्ती छुड़ा लिया। यह जानकारी बाजार में आग की तरह फैल गई कि पुलिस ने अपराधी को थाने से यूं ही जाने दिया। यह मामला जिले के अधिकारियों की जानकारी में लाया गया। तब एसडीपीओ ने थानाध्यक्ष संजय को हर हाल में गिरफ्तार युवक व उसे थाने से छुड़ाने में शामिल लोगों को गिरफ्तार करने आदेश दिया। मामला काफी तूल पकङ लिया। पुलिस ने भी ताजिया का पहलाम कर एक रणनीति बनाई। वीडियो फुटेज के आधार पर जदयू नेता के नेतृत्व में घटना को अंजाम देने की बात सामने आयी। फिर क्या सुबह के लगभग 10 बजे उक्त नेता के घर को चारों तरफ से पुलिस ने घेर लिया।
मुहल्लेवासियों को कुछ भी समझ में नहीं आया कि क्या हो रहा है। पुलिस ने नेता के घर के अंदर प्रवेश कर तीन लोगों को गिरफ्तार कर थाने ले आयी। इस अभियान में जदयू नेता पकड़ से बाहर रहे। वहीं पिस्टल के साथ गिरफ्तार युवक अब भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर है। पुलिस ने इस मामले में 25 नामजद के अलावा कई अन्य लोगों पर प्रार्थमिकि दर्ज की है।
इस बाबत एसडीपीओ ने कहा कि इस कांड में जो भी अभियुक्त है उसे गिरफ्तार किया जाएगा। छापेमारी आगे भी जारी रहेगी। इधर दूसरी ओर पंचायत समिति सदस्य ने कहा कि थाना रोड इमामबाड़ा के समीप आखडा चल रहा था। इसी दौरान गिरफ्तार युवक को ले जा रही पुलिस को देख कर भीड़ थाने की ओर जाने लगी। जिसे रोकने का प्रयास के लिए थाने तक गया। वहां पता चला कि मामूली मामले में पुलिस ने पकड़ लिया। तब मैंने पुलिस अधिकारियों से आरजू कर उसे छुड़ाने का प्रयास किया।

Leave a Reply