पुलिस ने कहीं सख्ती तो कहीं गांधीगिरी से लोगों से की घरों में रहने की अपील

0

नवादा : देशव्यापी लॉकडाउन के पांचवें दिन शुक्रवार को भी जिले में इसका व्यापक असर देखा गया। सड़कें सूनी रही तो जरूरी सामानों मसलन किराना, सब्जी, दूध, फल, दवा की दुकानें ही खुलीं। शेष तमाम दुकानों में ताला लटका रहा। इस दौरान पुलिस प्रशासन के अलग-अलग रूप देखने को मिले। कहीं लॉकडाउन का उल्लंघन करने वाले लोगों पर सख्ती बरती जा रही थी तो कहीं गांधीगिरी की जा रही थी।

जिले में अपने सख्त तेवर के लिए मशहूर स्वाट दस्ता बाइक से बेवजह शहर भ्रमण पर निकले लोगों के सामने हाथ जोड़ घर में रहने की आरजू-विनती करती नजर आई। कोरोना वायरस के संक्रमण के खतरों से आगाह करते हुए घर-परिवार, देश-दुनिया के लोगों की जान की सुरक्षा के लिए स्वाट दस्ता में शामिल जवान घर में रहने की सलाह देते रहे।
वहीं कुछ स्थानों पर लाठियां चटकाई गईं तो ऊठक-बैठक भी कराई गई। बहरहाल, जिले में लॉकडाउन का काफी असर देखा जा रहा है।

दुकानों के बाहर बनाया गया घेरा :

पिछले दिनों लॉकडाउन के दौरान खरीदारी के लिए दो घंटे की छूट मिलने के चलते बाजार में लोगों की काफी भीड़ जुट रही थी। लिहाजा जिला प्रशासन ने अब दिन भर जरूरत के सामानों की दुकानों को खुले रखने का निर्णय लिया है। लेकिन दुकान के पास भीड़ न जुटे, इसके लिए दुकान के बाहर चूने से घेरा बना दिया गया है। ताकि एक मीटर का डिस्टेंस बना रहे। सदर एसडीएम अनु कुमार व एएसपी अभियान कुमार आलोक बाजार में इस प्रकार की व्यवस्था कराने में जुटे रहे। उन्होंने लोगों से अपील करते हुए कहा कि बाजार में भीड़ न लगाएं। बहुत जरूरी होने पर ही खरीदारी के लिए घर से निकलें। दूरी बनाए रखें। इसमें ही सबकी भलाई है। दूरी बनाकर ही कोरोना पर जीत पा सकते हैं।

समाजसेवी ने लोगों के बीच बांटे मास्क

अकबरपुर प्रखंड के मस्तानगंज में समाजसेवी अरुण कुमार ने ग्रामीणों के बीच मास्क का वितरण किया। उन्होंने लोगों से अपने-अपने घरों में रहने की अपील की। कहा कि बेवजह घर से नहीं निकलें।
प्रशासन ने हमारी जान की सुरक्षा के लिए लॉकडाउन का कदम उठाया है। लिहाजा इसका हम सभी लोग पालन करें।

swatva

Leave a Reply