26 नवंबर : मधुबनी की मुख्य ख़बरें

0
swatva samachar

एक साथ तीन मृतक परिवारो से मिलने पहुंचे विधायक

मधुबनी : जिले के बिस्फी प्रखंड क्षेत्र के बिस्फी पंचायत मे एक साथ तीन युवाओं की मौत के बाद लोगों से आंखों से आंसू नहीं सूख रही हैं। वही मृतक के परिवारों से मिलने के लिए समाजसेवी एवं बुद्धिजीवियों राजनीतिक दल के लोगों ने शोक संवेदना प्रकट करने के लिए आना शुरू हो गया है। लोगों द्वारा सांत्वना देने ढाढस एवं सरकार की कल्याणकारी योजनाओं के तहत सभी मुआवजा दिलाने का भरोसा दे रहे हैं।

वही शनिवार को स्थानीय विधायक हरि भूषण ठाकुर बचोल ने अपने कई साथियों के साथ पहुंचकर मृतक राजा यादव एवं उनकी पत्नी रूबी कुमारी और उनके परम मित्र विकास यादव के घर पहुंचकर उनके परिजनों से मिलकर सांत्वना दी एवं शोक संवेदना प्रकट देने के साथ सहयोग राशि भी दी। उन्होंने कहा कि सरकार मृतक के परिवार के मुआवजा के साथ हर सम्भव उनके साथ खड़ा रहूंगा का आश्वासन दिया।

swatva

उन्होंने एसपी मधुबनी से मिलकर राजा यादव के छोटे भाई को थाने में ही चालक के रूप में रखने के लिए एसपी से बात करने की बात कही। जानकारी हो कि राजा यादव थाने की गाड़ी चलाया करता था। इस मौके पर भाजपा के बिस्फी मंडल अध्यक्ष रामसकल यादव, मुकेश कुमार, मनोज यादव, पत्रकार राकेश कुमार यादव, विष्णुदेव यादवजी, शंकर प्रसाद यादव, धर्मवीर यादव, मुकेश कुशवाहा सहित कई लोग उपस्थित थे।

अधिवताओ ने संविधान निर्माता को संविधान दिवस पर किया याद

मधुबनी : जिले के जयनगर में आज संविधान दिवस के अवसर पर जयनगर वकालतखाना पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसकी अध्यक्षता अधिवक्ता संघ के उपाध्यक्ष सूर्य नारायण पूर्वे ने किया। इस अवसर संविधान सभा अध्यक्ष डॉ. राजेन्द्र प्रसाद, संविधान निर्माण डॉ. भीम राव अंबेडकर के तैलचित्र पर माल्यार्पण किया गया। इस अवसर पर संविधान सभा के अध्यक्ष डॉ. राजेन्द्र प्रसाद एवं संविधान निर्माण डॉ. भीम राव अंबेडकर के जीवनी पर प्रकाश डाला गया।

इस मौके पर अधिवक्ता चंदेश्वर प्रसाद, वीरेंद्र झा, पीएन झा, विजय कांत चौधरी, उमेश पूर्वे, दिनेश पूर्वे, भरत कुमार रजक, कुमार राणा प्रताप सिंह, सूर्य नारायण पूर्वे, दिलीप झा, कमलेश कुमार ठाकुर, रामसुक नायक, प्रीत लाल पासवान, मिथिलेश पासवान, ओम प्रकाश सिंह, योगेन्द्र यादव, शिव कुमार यादव एवं महेन्द्र यादव समेत अन्य मौजूद थे।

चिकागो पिज़्जा आउटलेट का उद्योग मंत्री समीर महासेठ ने किया भव्य उद्घाटन

मधुबनी : नगर के कचहरी रोड, डीआरडीए के सामने चिकागो पिज्जा आउटलेट बिग स्लाइस रियली फास्ट का बिहार सरकार के उद्योग मंत्री समीर महासेठ ने फीता काटकर भव्य उद्घाटन किया। इस मौके पर गणमान्य लोगो के अलावा मंत्री समीर महासेठ के भाई संजीव महासेठ एवं परिवार के अन्य सदस्य मौजूद थे।

बता दें कि मधुबनी मे यह चिकागो पिज्जा आउटलेट मंत्री समीर महासेठ का भतीजा अक्षित महासेठ द्बारा खोला गया हैं। उद्घाटन के इस मौके पर अक्षित महासेठ का जन्मदिन भी केक काटकर मनाया गया। मंत्री के परिवार के सदस्यों ने उपस्थित लोगो के बीच केक से सभी का मुंह मीठा कराया गया। उद्घाटन के उपरांत मंत्री ने चिकागो पिज्जा आउटलेट के किचन एवं हॉल का भी जायजा लिया।

प्रेस को संबोधित करते हूए मंत्री समीर महासेठ ने कहा की हमारे परिवार के लोग व्यापार के प्रति,उद्योग के प्रति हमेशा समर्पित रहते हैं। हम कहीं भी जाते हैं, तो इस बात की चर्चा करते हैं।उन्होंने कहा की चिकागो पिज्जा आउटलेट के उद्घाटन पर मेरी शुभकामनाए उनके साथ हैं। यह संस्थान मधुबनी के लिए एक बेहतर विकल्प के रूप मे उभरे ऐसी कामना करता हूँ। वहीं प्रोपराइटर अक्षित महासेठ जो पेशे से वकील भी हैं उन्होंने बताया की मधुबनी उनकी मातृभूमि हैं और वह शहर के लिए कुछ नया करना चाहते हैं।

पिज्जा की दुनिया मे चिकागो पिज्जा ने एक अलग मुकाम हासिल किया हैं। उन्होंने बताया की मधुबनी मे इसका फ्रेंचाइजी लेकर हमलोग नई शुरुआत कर रहे हैं। कंपनी का सभी उत्पाद बेहतर क्वालिटी एवं सर्विस के साथ उपभोक्ताओ को परोसने के लिए हमलोग कटिबद्ध हैं। इस अवसर पर संजीव महासेठ, सप्पू बैरोलिया, मनीष सिंह, अभय, अमन सिंह, मनीष महासेठ,विवेक कुमार, सनी सारांश, राकेश राउत सहित शहर के दर्जनों गणमान्य व्यक्ति मौजूद थे।

बच्चों के प्रतिनिधिमंडल ने जिला के अधिकारीयों से की भेंट, सौंपा चार्टर ऑफ़ डिमांड्स

मधुबनी : श्रम अधीक्षक तथा पुलिस अधीक्षक कार्यालय में बच्चों के पाँच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने उप विकास आयुक्त और श्रम अधीक्षक,पुलिस उप अधीक्षक से भेंट की। बिहार सरकार के समाज कल्याण विभाग एवं यूनिसेफ़ द्वारा राष्ट्रीय बाल दिवस 14 नवंबर से लेकर विश्व बाल दिवस 20 नवंबर तक चलने वाले बाल अधिकार सप्ताह (Child Rights Week) के दौरान बाल दरबार आयोजन के तहत यह मुलाक़ात हुई।

मुलाक़ात के दौरान बच्चों एवं किशोर-किशोरियों ने विगत 20/11/2022 को ज़िला बाल संरक्षण इकाई और सहयोगी संस्था प्रथम के सहयोग से आयोजित बाल दरबार में अपनी समस्याओं, मुद्दों व अधिकारों को लेकर तैयार किए गए चार्टर ऑफ़ डिमांड्स और सुझाव सौंपे।

उप विकास आयुक्त विशाल राज और श्रम अधीक्षक राकेश रंजन ने राज्य सरकार एवं यूनिसेफ़ की इस अनूठी पहल की सराहना करते हुए कहा कि सोपे हुवे डिमांड से बच्चो से मिले सुझाव पर योग्य कारवाई होगी एवं इस तरह का मंच हर समय बच्चो में दिया जाये। उप विकास आयुक्त, श्रम अधीक्षक, पुलिस उप अधीक्षक से मिलकर और उनसे बातचीत कर बच्चे-बच्चियां काफी उत्साहित थे, जिसमे खुशबु कुमारी, काजल कुमारी, ज्योति कुमारी, संगीता कुमारी और रितु राज शामिल थे।

वहीँ, श्रम अधीक्षक राकेश रंजन ने कहा की जनता दरबार की तर्ज़ पर शुरू किए गए इस पहल के ज़रिए बच्चों को एक प्रभावी मंच मुहैया करवाया जा रहा है। जहां वे अपने मुद्दों, समस्याओं और सरोकारों के बारे में आपस में खुलकर चर्चा कर सकें। इसी कड़ी में उन्हें ज़िलास्तरीय जनप्रतिनिधियों व अधिकारियों से खुलकर संवाद करने का भी मौक़ा मिलेगा। संवाद के दौरान मिले बच्चों के सुझावों के आधार पर तैयार किए गए चार्टर ऑफ़ डिमांड्स को बच्चों के प्रतिनिधिमंडल द्वारा ज़िला एवं राज्य स्तर पर संबद्ध अधिकारियों व नीतिनिर्धारकों को सौंपा जाये। इस पहल में संस्था के जिला समन्वयक अशोक मोहिते और स्वयंसेवक उमेश मंडल उपस्थित थे।

166 लड़कियाँ ने आज एनसीसी कैंप में प्रशिक्षण के दौरान सीखी राइफल फायरिंग

मधुबनी : जिले के पंडौल थानाक्षेत्र के सरिसब-पाही में चल रहे एनसीसी कैम्प में भाग ले रही लड़कियाँ सबेरे चुस्त-दुरुस्त होकर गंगौली स्थित फायरिंग रेंज पर पहुँच गई। अंडर अफसर रौशनी मिश्र एक अच्छे कप्तान की तरह नेतृत्व कर रही थी। कैम्प कमान्डेंट ले. कर्नल प्रभाकरण खुद उपस्थित होकर लड़कियों की हौसला अफजाई कर रहे थे।

ट्रेनिंग जीसीओ सूबेदार संजय कुमार और एनओ मनोज झा अच्छी फायरिंग के गुर कैडेट्स को सिखा रहे थे। लगभग 2 बजे तक फायरिंग रेंज पर फायरिंग करने के बाद कैम्प कमान्डेंट के साथ सभी लड़कियाँ कैम्प में लौट गई। फायरिंग के दौरान लड़कियाँ पूरी तरह उत्साहित दिखी। अंडर अफसर मानशी कैडेट्स पर ध्यान दिए हुई थी। सभी पीआई स्टाफ फायरिंग के दौरान पूरे सतर्क थे।

आयुष्मान भारत के उप सचिव ने सदर अस्पताल का किया निरीक्षण

मधुबनी : आयुष्मान भारत बिहार स्वास्थ्य सुरक्षा समिति के उप सचिव सह प्रशासी पदाधिकारी अमिताभ कुमार सिंह ने शनिवार को मधुबनी सदर अस्पताल पहुंचे तथा इस क्रम में उन्होंने सदर अस्पताल के ओपीडी, इमरजेंसी, आयुष्मान केयोस(सहायता केंद्र), सीटी स्कैन, डायलिसिस, एक्स-रे सहित अन्य वार्डों का गहनता से निरीक्षण किया। इस क्रम में उन्होंने आयुष्मान केयोस केंद्र में आयुष्मान मित्र को निर्देश दिया कि आईपीडी में जितने भी मरीज आते हैं, सबका स्क्रीनिंग करते हुए आयुष्मान कार्ड के बारे में जानकारी दे तथा पात्र लाभार्थियों का रजिस्ट्रेशन करते हुए मरीजों का इलाज करवाएं।

इसी क्रम में उन्होंने ओपीडी में मरीजों की लंबी कतार को देखकर खुशी जाहिर की तथा बताया कि अस्पताल में भीड़ मरीजों की भीड़ इस बात का सूचक है कि अस्पताल में मरीजों को गुणवत्तापूर्ण सुविधा मुहैया कराई जा रही है। अस्पताल परिसर में आयुष्मान भारत से संबंधित किए गए प्रचार-प्रसार की गतिविधियों पर प्रसन्नता जाहिर करते हुए आवश्यक सुधार के निर्देश भी अस्पताल प्रबंधक को दिए। वहीं अस्पताल में साफ-सफाई की व्यवस्था पर संतुष्ट दिखे तथा और बेहतर करने का निर्देश दिया।

उन्होंने आयुष्मान भारत कार्ड के बारे में बताते हुए बताया केंद्र सरकार की या एक महत्वकांक्षी परियोजना है। इसमें गरीब लोगों को प्रतिवर्ष 5 लाख रु. तक मुफ्त इलाज किया जाता है। उन्होंने सिविल सर्जन डॉ. सुनील कुमार झा को कहा कि आशा कार्यकर्ता के साथ बैठक कर उन्हें योजना के बारे में पूरी जानकारी दें। उनके माध्यम से गांव में शिविर आयोजित कर लोगों को आयुष्मान योजना के बारे में बताएं। जितने भी लाभान्वित हैं, उन्हें गोल्डन कार्ड जल्द उपलब्ध कराएं। अगर किसी तरह की दिक्कत हो, तो इस बारे में वह जिलाधिकारी को अवगत कराएं।

क्या है आयुष्मान भारत योजना

आयुष्मान भारत के जिला कार्यक्रम समन्वयक कुमार प्रियरंजन ने बताया आयुष्मान भारत योजना के माध्यम से केंद्र सरकार गरीब उपेक्षित परिवार और शहरी गरीब लोगों के परिवारों को स्वास्थ्य बीमा उपलब्ध कराना चाहती है। आयुष्मान भारत योजना को प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना भी कहा जाता है। प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत पात्र लाभार्थियों के परिवारों को सालाना 5 लाख रुपये का मुफ्त इलाज किया जाता है।

किसे मिलता है योजना का लाभ

सिविल सर्जन डॉ. झा ने बताया की 2011 में सामाजिक.आर्थिक जाति जनगणना हुआ था, जिसमें पात्रता के आधार पर लाभार्थी की सूची भारत सरकार के द्वारा ही तैयार की गयी है। सुरक्षा योजना दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य सुरक्षा योजना है। आयुष्मान भारत योजना के जो लोग लाभार्थी हैं, वह सीएससी सेंटर पर जाकर कार्ड के लिए अप्लाई कर सकते हैं। कार्ड की पात्रता के लिए नए परिवार का नाम नहीं जुड़ सकता है, परंतु जिस परिवार का नाम सूची में है और उनके यहां उनके परिवार के नए सदस्य का नाम जोड़ा जा सकता है। जैसे शादी होने के बाद पत्नी बच्चे का नाम जोड़ा जा सकता है।

सूचीबद्ध अस्पतालों की सूची

सभी सरकारी अस्पताल एवं निजी अस्पतालों में

मधुबनी मेडिकल कॉलेज।

हरसन हॉस्पिटल, रांटी।

क्रिब्स हॉस्पिटल , बसुआरा।

मां उग्र तारा नेत्रालय, वाटसन स्कूल के नजदीक।

आस्था सर्जिकल हॉस्पिटल, गदीयानी।

संविधान दिवस पर कांग्रेस ने संविधान निर्माताओं के स्मरण में आयोजित किया सेमिनार

मधुबनी : 26 नवम्बर संविधान दिवस के अवसर पर जिला कांग्रेस कमिटी मधुबनी द्वारा आजादी आंदोलन के तत्कालीन नेताओं एवं संविधान निर्माताओं के स्मरण में बृहद सेमिनार आयोजित की गई। सेमिनार के अध्यक्षता जिलाध्यक्ष प्रो. शीतलाम्बर झा ने की।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि सह मुख्यवक्ता बिहार के पूर्व मंत्री सह प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अनुशासन समिति के अध्यक्ष कृपानाथ पाठक ने उपस्थित कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि आज का दिन ऐतिहासिक दृष्टि से बहुत ही महत्वपूर्ण है, जो हमारे पूर्वजों ने लम्बी लड़ाई लड़ कर सैकड़ों वर्षों की गुलामी को तोड़ कर देश को आजाद कराया और अपना संविधान अपनी हुकूमत हुआ कायम किया।

अजादी के बाद आज ही के दिन 26 नवम्बर 1949 को हमरा भारत का संविधान, संविधान सभा द्वारा अपनाया गया था तथा 26 जनवरी 1950 को सम्पूर्ण देश मे लागू किया गया, जो दुनिया भर में ऐतिहासिक था। आज जो लोग सत्ता में बैठे है उन्हें न संविधान की चिंता है, न ही संबैधानिक संस्था में। विश्वास है वे कट्टरपंथी की तरह देश मे राज करना चाहतें है, देश को हिन्दू-मुसलमान में लड़ाकर हुकूमत पर कब्जा रखना चाहते हैं। देश के सभी संबैधानिक संस्था को पंगु बना कर रखना चाहता है।

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी, पंडित जवाहरलाल नेहरू, नेताजी सुभाषचंद्र बोस, डॉ. राजेन्द्र प्रसाद, डॉ. भीमराव अंबेडकर, सरदार वल्लभ भाई पटेल, लाल बहादुर शास्त्री, मौलाना आजाद ने जो इस देश को रास्ता दिखाया है, उसी रास्ते से देश मजबूत और सुदृढ रह सकता है। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए जिलाध्यक्ष प्रो. शीतलाम्बर झा ने कहा कांग्रेस का इतिहास स्वर्णिम रहा है आजादी आंदोलन से लेकर आजादी के बाद हमारे नेताओं ने अपने बलिदान और खून से देश को सींचा है, जिसे भुलाया नही जा सकता।

देश के चौमुखी विकास कांग्रेस ने की है। चाहे वह शिक्षा हो स्वास्थ्य हो उद्योग हो, सामरिक दृष्टि के क्षेत्र हो या कृषि हो सभी क्षेत्रों को कांग्रेस ने सशक्तिकरण की। आज देश मे बेरोजगारी बढ़ती जा रही नौजवानों को नौकरी नही मिल रहा है। देश के अर्थव्यवस्था की रीढ़ टूट गई है। देश मे नफरत का वातावरण फैलाया जा रहा है। आज कांग्रेस के कार्यकर्ताओं को संविधान के प्रस्तावना का शपथ लेना और संकल्पित होने का वक्त आ गया है, ताकि फांसीवादी ताकत को मुंहतोड़ जवाब दिया जा सके।

आज के इस कार्यक्रम में अमानुल्लाह खान, ज्योतिरामन झा बाबा, ऋषिदेव सिंह, संजय कुमार मिश्रा, कृष्ण कुमार झा, अशोक कुमार, फैजी आर्यन, कौशल किशोर चौधरी, शुभंकर झा, रणधीर सेन, अज़हर खुर्शीद गुड्डू, खुर्शीद अनवर, रामचन्द्र साह, सुरेश चंद्र झा रमन, मीनू पाठक, अविनाश झा, सरोज कुमार मिश्र, सतेंद्र पासवान, शमसुल हक, मो. गयासुद्दीन, मुकेश कुमार झा पपू, राजीव शेखर झा, मो. सबीर, बिनय झा, धनेश्वर ठाकुर, सुरेंद्र महतो, मुरलीधर झा, महेश चौधरी, विदेश चौधरी, यशोधर यादव, ओम प्रकाश, धर्मेंद्र कुमार, चंद्रपति नारायण, मो. मुन्तजिर, रविंद्र कुमार ठाकुर, शंभु नाथ झा, सीतेश पासवान, प्रो. के.सी. पाठक आदि दर्जनों लोग थे।

सुमित कुमार की रिपोर्ट

Leave a Reply