05 अक्टूबर : नवादा की मुख्य ख़बरें

0

मेला घूम रहे युवक पर जानलेवा हमला, सिरफिरे ने मारा चाकू, हालत नाजुक

नवादा : जिले के उग्रवाद प्रभावित रजौली में दशहरा का मेला घूम रहे युवक को सिरफिरे ने चाक़ू मार कर गंभीर रूप से घायल कर दिया। स्थानीय लोगों की सहायता से युवक को नजदीकी अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उसकी हालत स्थिर बनी है। सिरफिरा वारदात को अंजाम देने के बाद फरार होने में सफल रहा रहा।

मामला जिले के उग्रवाद प्रभावित रजौली थाना क्षेत्र का है जहां दशहरा का मेला घूम रहे युवक को सिरफिरे ने चाक़ू से जानलेवा हमला कर दिया। सरफिरे युवक ने पीड़ित युवक के पेट में चाकू मार दिया जिसमें युवक गंभीर रूप से जख्मी हो गया। वही आस पास रहे लोगों ने घायल अवस्था में युवक को आनन फानन में स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया जहां चिकित्सकों ने युवक को प्राथमिक उपचार के बाद बेहतर इलाज के लिए सदर अस्पताल रेफर कर दिया।

swatva

घायल युवक की पहचान अंधरबारी गांव निवासी बृजनंदन सिंह का पुत्र पप्पू कुमार के रूप में की गयी है। सूचना पर पहुंची पुलिस मामले की जाँच में जुट गई है। पीड़ित के परिजन ने गांव से सटे शोभा बीघा गांव निवासी कुंदन यादव का पुत्र मुकेश यादव पर चाकू से जानलेवा हमला करने का आरोप है। पुलिस ने फिलहाल आरोपी के परिजन सुनैना देवी को हिरासत में लिया है।

बस व विकलांग ई रिक्शा की टक्कर में युवक की मौत

नवादा : जिले के नरहट थाना क्षेत्र के खनवां गांव में बस व विकलांग ई रिक्शा की टक्कर में युवक की मौत हो गयी। मृतक अपने पिता का एकलौता संतान था। मौत के बाद परिवार में कोहराम मच गया।

बताया जाता है कि अनुज सिंह का पुत्र मोहन कुमार गांव के ही विकलांग युवक का ई रिक्शा चलाना सीख रहा था. इसी क्रम में सामने से आ रहे शराब के नशे में धुत्त मोटरसाइकिल से बचने के प्रयास में खड़े हवा हवाई बस से जा टकराया। बस में टक्कर मारते ही गंभीर रूप से जख्मी हो गया। जबतक आसपास के लोग इलाज के लिए ले जाते मौत हो गयी। सूचना के आलोक में पहुंची पुलिस ने शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंपा है। एकलौते पुत्र की मौत से गांव में सन्नाटा छा गया।

नगर निकाय चुनाव आरक्षण पर हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती देगी बिहार सरकार, जाएगी सुप्रीम कोर्ट

नवादा : नीतीश सरकार ने पटना हाईकोर्ट के आरक्षण पर लिये गये फैसले पर बड़ा निर्णय लिया है। हाईकोर्ट के फैसले को चुनौती देने के लिए अब बिहार सरकार सुप्रीम कोर्ट का दरबाजा खटखटाएगी। दरअसल कल ही पटना हाईकोर्ट ने नगर निकाय चुनाव में ईबीसी आरक्षण पर फैसला सुनाया था।

हाईकोर्ट ने बिहार के स्थानीय निकायों में अन्य पिछड़ा वर्गों को आरक्षण दिए जाने के मुद्दे पर कल निर्णय सुनाया है। कोर्ट ने स्पष्ट किया कि प्रावधानों के अनुसार तब तक स्थानीय निकायों में ईबीसी के लिए आरक्षण की अनुमति नहीं दी जा सकती, जब तक सरकार 2010 में सुप्रीम कोर्ट द्वारा निर्धारित तीन जांच अर्हताएं नहीं पूरी कर लेती।

हाईकोर्ट द्वारा नियुक्त एमिकस क्यूरी अमित श्रीवास्तव ने बताया कि स्थानीय निकाय के चुनाव में इन पदों के आरक्षण नहीं होने पर इन्हें सामान्य सीट के रूप में अधिसूचित कर चुनाव कराए जाएंगे। चीफ जस्टिस संजय क़रोल एवं संजय कुमार की खंडपीठ ने सुनील कुमार व अन्य की याचिकाओं पर सभी पक्षों को सुनने के 29 सितम्बर 2022 को फैसला सुरक्षित रख लिया था, जिसे सुनाया गया था।

गौरतलब है कि स्थानीय निकायों के चुनाव 10 अक्टूबर 2022 से शुरू होने वाले है। कोर्ट सुनवाई पूरी का निर्णय सुरक्षित रख लिया। कोर्ट ने मौखिक रूप से कहा था कि इस मामलें पर निर्णय पूजा अवकाश में सुना दिया जाएगा। कोर्ट ने ये भी कहा कि अगर राज्य निर्वाचन आयोग चुनाव के कार्यक्रम में परिवर्तन करने की जरूरत समझे, तो कर सकता है। दिसंबर, 2021 में सुप्रीम कोर्ट ने स्पष्ट किया था कि स्थानीय निकायों में ओबीसी के लिए आरक्षण की अनुमति तब तक नहीं दी जा सकती, जब तक कि सरकार 2010 में सुप्रीम कोर्ट के द्वारा निर्धारित तीन जांच की अर्हता पूरी नहीं कर लेती।

तीन जांच के प्रावधानों के तहत ओबीसी के पिछड़ापन पर आंकडे जुटाने के लिए एक विशेष आयोग गठित करने और आयोग के सिफरिशों के मद्देनजर प्रत्येक स्थानीय निकाय में आरक्षण का अनुपात तय करने की जरूरत हैं। साथ ही ये भी सुनिश्चित करने की आवश्यकता है कि एससी/एसटी/ओबीसी के लिए आरक्षण की सीमा कुल उपलब्ध सीटों का पचास प्रतिशत की सीमा को नहीं पार करें।

धू धू कर जला रावण व मेघनाद, हरिश्चंद्र स्टेडियम में हुआ कार्यक्रम, डीएम-एसपी रहे मौजूद

नवादा : जिला मुख्यालय के ऐतिहासिक हरिश्चंद्र स्टेडियम में विजयादशमी के मौके पर रावण वध मेघनाद वध कार्यक्रम का आयोजन हुआ। पूर्व के वर्षों की भांति दो वर्ष बाद इस वर्ष यह आयोजन हुआ। मौके पर बड़ी संख्या में जिले वासी मौजूद थे।डीएम उदिता सिंह, एसपी डॉ गौरव मंगला, एडीएम उज्ज्वल कुमार सिंह, एसडीएम सदर उमेश कुमार भारती, राजद नेता बिनोद यादव आदि मौके पर मौजूद रहे।

बुराई पर अच्छाई का प्रतीक दशहरा पर्व के मौके पर आयोजित रावण-मेघनाद वध कार्यक्रम में शामिल हुए डीएम- एसपी सहित तमाम अतिथियों को आयोजकों द्वारा सम्मानित किया गया। राजद नेता बिनोद यादव ने दीप जलाकर कार्यक्रम का शुभारंभ किया।

इसके पूर्व शहर में राम-हनुमान, माता सीता आदि की आकर्षक झांकी निकाली गई। झांकी के साथ हजारों की संख्या में लोग चल रहे थे। जय श्री राम के नारे से शहर का हर इलाका गुंजायमान हो रहा था। झांकी जब हरिश्चंद्र स्टेडियम पहुंचा तो वहां राम-हनुमान का आरती मंगल किया गया।

जैसे ही रावण के पुतले में आग लगाई गई स्टेडियम परिसर पटाखों की आवाज तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा। चक्रवर्ती दुर्गा पूजा समिति, इंदिरा चौक द्वारा रावण वध कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। बता दें की हर वर्ष लोगों को इस कार्यक्रम का बेसब्री से इंतजार रहता है।

Leave a Reply