03 अक्टूबर : नवादा की मुख्य ख़बरें

0

जेल में मिली मजदूरी और विधायक पेंशन की राशि को पूर्व मंत्री ने ट्रस्ट को दिया दान

नवादा : पटना के बेऊर जेल में बंद बिहार सरकार के पूर्व राज्य मंत्री राजबल्लभ प्रसाद ने अपनी मजदूरी और पूर्व विधायक को मिलने वाली पेंशन की राशि को एक ट्रस्ट को दान दे दिया है। पूर्व मंत्री ने वहां के कराधीक्षक को पत्र लिखकर जेल नियमों के तहत मजदूरी के रूप में मिलने वाली 33 हजार रूपये की राशि श्री राज कृष्णा एजुकेशनल एंड सोशल वेलफेयर ट्रस्ट नवादा को गरीब बच्चों के लिए दान में दे दिया है। इसके अलावे पूर्व में विधायक रह चुके राजबल्लभ प्रसाद ने पेंशन के रूप में सरकार से प्राप्त 11 लाख रूपये की राशि भी ट्रस्ट को विभिन्न सामाजिक कार्यो में व्यय करने हेतु दान दे दिया है। बेउर जेल से प्राप्त अनुमति पत्र के आलोक में ट्रस्ट के अधिकारी अनिल प्रसाद सिंह ने गांधी जयंती के अवसर पर इस आशय की घोषणा की।

उन्होंने बताया कि राजबल्लभ प्रसाद जेल में रह कर भी नवादा जिले के आम जनता की सलामती के लिए चिंतित रहते हैं। उन्होंने जेल जीवन में कमाई गई राशि को बच्चों के मुस्कान पर खर्च करने की घोषणा की है।ट्रस्ट के क्षेत्रीय कार्यकारी पदाधिकारी शम्भु विश्वकर्मा ने बताया कि माननीय पूर्व राज्य मंत्री के इस महादान को क्षेत्र के गरीब बच्चों के लिए व्यय किये जायेंगे। दशहरा के शुभअवसर पर गाँव गांव जाकर गरीब बच्चों के बीच मिठाई बांटी जायगी। इसके अलावे राजबल्लभ प्रसाद ने अपने पेंशन की राशि 11 लाख रूपये ट्रस्ट को प्रदान की है, उसे भी सामाजिक उत्थान के लिए व्यय किया जायगा।

swatva

ट्रस्ट के कार्यकर्ताओं ने प्रजातंत्र चौक पर धूम धाम से गांधी जयंती मनाई। इस दौरान जुटान के कलाकारों द्वारा नुक्कड़ नाटक की प्रस्तुति दी गई। इस अवसर पर प्रो. नरेशचंद्र शर्मा, नंदकिशोर बाजपेयी, लालकेश्वर राय, शशिभूषण शर्मा, पंकज यादव, अमित सरकार, दिनेश कुमार अकेला, अनुज, सुंदर, मनीष, विक्रम, पंकज आदि मौजद थे।

दुर्गा पूजा शांतिपूर्ण सम्पन्न कराने को ले निकाला फ्लैग मार्च

नवादा : जिले में दुर्गा पूजा व विसर्जन जुलूस को शांतिपूर्ण संपन्न कराने के लिए एसपी डा. गौरव मंगला के आदेश पर विभिन्न क्षेत्रों में फ्लैग मार्च निकाला गया। अति संवेदनशील माने जाने वाले अकबरपुर प्रखंड मुख्यालय में थानाध्यक्ष अजय कुमार व नरहट थानाध्यक्ष सरफराज इमाम के नेतृत्व में फ्लैग मार्च निकाला गया।

गोविंदपुर प्रखंड के गोविंदपुर थाना क्षेत्र के गोविंदपुर बाजार और नक्सल थाना थाली क्षेत्र के थाली बाजार में दुर्गा पूजा शांतिपूर्ण तरीके से सम्पन्न कराने को ले गोविंदपुर थानाध्यक्ष श्याम कुमार पाण्डेय और नक्सल थाना थाली के थानाध्यक्ष सुभाष कुमार व पुलिस बल के द्वारा फ्लैग मार्च निकालकर थाना क्षेत्र के विभिन्न गांवों में दुर्गा पूजा शांतिपूर्ण व भाई चारे के साथ मानने का अपील किया।

फ्लैग मार्च में गोविंदपुर थानाध्यक्ष श्याम कुमार पाण्डेय,एस आई राजेन्द्र किशोर व पुलिस बल एवं नक्सल थाना थाली थानाध्यक्ष सुभाष कुमार,एसआई ललन कुमार, एएसआई शिवजी मांझी, सागर राम, आर ओ जितेन्द्र पासवान, जिला शांति समिति की सदस्य अफरोजा खातुन व दर्जनों पुलिस बल और अकबरपुर पुलिस उपस्थित रहे।

पट खुलते ही जय मां दुर्गे की जयघोष से गूंज उठा पूरा शहर, दर्शन को उमड़ी भीड़, देश-विदेश के मंदिरों का स्वरुप दिखा पंडालों में

नवादा : महासप्तमी पर रविवार की देर शाम पट खुलते ही जय मां दुर्गे की जयघोष से पूरा शहर गूंज उठा। शहर के विभिन्न पूजा पंडालों में श्रद्धालुओं की भीड़ दर्शन को लेकर उमड़ पड़ी। अलग-अलग स्वरूपों में मां का दर्शन कर लोगों ने प्रसाद ग्रहण किया। शाम 7 बजे के बाद पट खुलते ही शहर का हर इलाका भक्तिमय हो गया। मां दुर्गा की आरती और शंख ध्वनि से सभी भक्तिभाव में डूब गये।

जगमग पंडालों में माता के अद्भुत स्वरूप हर एक इंसान को आकर्षित कर रहा था। बच्चों में जितना उत्साह देखा जा रहा था उतना ही उत्साह महिलाओं व पुरूषों में भी देखने को मिल रहा था। इस बार शहर में बनी आकर्षक पंडाल आकर्षण का केन्द्र रहा। इसके अलावा रामनगर और भगत सिंह चौक पर लाईट और पंडाल के साथ माता की प्रतिमाओं का भव्य रूप के र्दशन करने लोग जुट रहे थे।

हाट पर मां दुर्गा के प्रतिमा, अस्पताल रोड देवी स्थान में गन्ने के बने पंडाल में मां दुर्गा के दर्शन करने वालों की भीड़ लगी रही। इंदिरा गांधी चौक पर विशाल पंडाल में आकर्षक रूप से सजी मां दुर्गा व अन्य देवी देवताओं को देख लोग उत्साहित हो रहे थे।स्टेशन रोड में आकर्षक पंडाल में माता को स्थापित किया गया है। गढ़पर व गोंदापुर में भी सुन्दर लाईट व पंडाल में मां दुर्गा को स्थापित किया गया है। न्यू एरिया में आकर्षक टेम्पल वाला पंडाल देखते बन रहा था, यहां बंगला स्टाईल से मां दुर्गा की सजावट की गई, जो अपने आप में आकर्षण का केन्द्र बना हुआ है।

गया रोड देवी स्थान व डोभरा पर भी आकर्षक पंडाल व प्रतिमा स्थापित किया गया है। सद्भावना चौक बिजली ऑफिस के सामने भी आकर्षक पंडाल के अंदर माता का अलौकिक प्रतिमा को देख लोगों की नजरें हट नहीं रही है। शहर के कलाली रोड में मां काली का विशालकाय प्रतिमा स्थापित व सजावट लोगों को आकर्षित कर रहा था।

पुरानी बाजार में संतोषी माता का दर्शन के बाद महावीर मंदिर में स्थापित भगवान नरसिंह के विशाल रूप को स्पोर्ट लाईट पर सेट किया गया है, यहां लाइटिंग का भी आकर्षक नजारा देखने को मिल रहा है। गोला रोड में भी सजावट व लाइटिंग का काफी सुन्दर दृश्य देखने को मिल रहा। पट खुलने के बाद प्रसाद बिगहा के दुर्गा मंदिर में आरती के लिये लोगों का तांता लगा रहा। प्रसाद बिगहा दुर्गा मंडप को दुल्हन की तरह सजाया गया, इसके अलावा नगर के स्टेशन रोड में भी संगमरमर के स्थापित माता दुर्गा की मंदिर को आकर्षक रूप से सजाया गया।

इसी प्रकार रेलवे गुमटी के समीप मां दुर्गा की प्रतिमा का पारम्परिक पूजा करने के लिये श्रद्धालु जुटे रहे। वहीं तीन नम्बर बस स्टैंड के समीप मां दुर्गा के मंदिर में स्थापित माता की प्रतिमा का पूजा देखने वालों की भीड़ जुटी रही। शहर के पूरे मार्ग को दुल्हन की तरह सजाया गया, ताकि श्रद्धालुओं को आकर्षित किया जा सके और रात्रि में लोगों को किसी प्रकार का कोई दिक्कतें नहीं हो। वारिसलीगंज के ग्रामीण व शहरी क्षेत्र के विभिन्न स्थानों पर स्थापित मां दुर्गा की प्रतिमा भी आकर्षण का केन्द्र बिन्दु बना रहा, खासकर वारिसलीगंज प्रखंड क्षेत्र के दोसुत गांव में मां के मदिंर और परिसर को दुल्हन की तरह सजाया गया है।

एसपी की बढ़ी मुश्किलें, राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग ने लिया संज्ञान

नवादा : नगर थाना में पदस्थापित पांच पुलिसकर्मियों को हाजत में बंद किये जाने की घटना को आज पूरे 25 दिन हो गए हैं। इस मामले में अब तक न तो किसी प्रकार की ठोस जांच हुई और न ही कोई कार्रवाई। पुलिस मुख्यालय ने भी इस मामले में पूरी तरह से चुप्पी साध रखी है। बार-बार सवाल पूछे जाने के बाद भी एडीजी मुख्यालय जवाब नहीं दे रहे हैं। इस प्रकरण में गंभीर आरोप नवादा के एसपी डॉ गौरव मंगला पर लगा है।

जांच और प्राथमिकी दर्ज करवाने की कार्रवाई इन्हीं के खिलाफ होनी थी। पर अब तक कुछ नहीं हुआ। इस मामले में अब राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग की एंट्री हो गई है। आयोग की तरफ से बिहार सरकार के गृह विभाग को एक लेटर लिखा गया है। इसके जरिए पूरे प्रकरण की वर्तमान स्थिति पूछी गई है। गृह विभाग से पूछा गया है कि इस मामले में क्या कार्रवाई हुई है? अगर कार्रवाई हुई है तो इसकी रिपोर्ट 21 दिनों के अंदर उपलब्ध कराने को कहा गया है।

आयोग का हवाला दे डीजीपी को लिखा पत्र

26 सितंबर को राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग ने इस मामले में गृह विभाग को लेटर लिखा था। अब इसी का हवाला देते हुए गृह विभाग ने राज्य के डीजीपी को एक लेटर लिखा है। जिसे विभाग के विशेष सचिव विकास वैभव ने लिखा है। 29 सितंबर को डीजीपी को लिखे गए लेटर में उन्होंने कहा है कि इस प्रकरण में की गई कार्रवाई के बारे से सीधे राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग को अवगत कराएं। साथ ही उसकी एक कॉपी गृह विभाग को भी दें।

FIR तो नहीं हुई पर आदेश देने वाले एडीजी बदल गए

जिस वक्त थाना के हाजत में 5 पुलिसकर्मियों को बन्द किया गया था, उस दरम्यान वो वर्दी में थे। इनमें से दो SC-ST और एक आदिवासी हैं। बिहार पुलिस एसोसिएशन की तरफ से इस मामले की शिकायत उस वक्त के एडीजी कमजोर वर्ग व सीनियर आइपीएस अधिकारी अनिल किशोर यादव से की गई थी। तब 14 सितंबर को उन्होंने आदेश जारी कर गया के आइजी को पूरे मामले की जांच कर 07 दिनों के अंदर रिपोर्ट देने को कहा था। साथ ही नवादा के ही SC-ST थाना में प्राथमिकी दर्ज करने का भी आदेश दिया था। पर न तो आज तक कोई जांच हुई। न कोई रिपोर्ट आई। कोई कार्रवाई भी नहीं हुई। पर हां, इस आदेश को जारी करने वाले एडीजी अनिल किशोर यादव का विभाग जरूर बदल दिया गया। जबकि, जिस एसपी पर गंभीर आरोप लगे वो आज भी अपनी जगह पर बरकरार हैं।

वाहन स्वामी हो जांय सावधान!

नवादा : जिले के वाहन के शौकिनों के लिए बुरी खबर है. ट्रैफिक कानून का पालन कराने के लिए वाहन चेकिंग और जुर्माना वसूली का ट्रेंड बदलने जा रहा है। अब ट्रैफिक नियम तोड़ने के बाद जुर्माना के लिए वाहनों को जब्त कर दिन भर थाने में लगाना नहीं पड़ेगा, बल्कि कुछ मिनटों में ही ऑनलाइन चालान कट जाएगा। वाहन को जब्त नहीं करना पड़ेगा और ई चालान कटवाने के बाद में भी जुर्माने का पैसा जमा किया जा सकता है।

यह सिस्टम अभी भी लागू है लेकिन फिलहाल यह डिवाइस जिला परिवहन पदाधिकारी एमवीआई और परिवर्तन अवर निरीक्षक के पास ही है। नवादा पुलिस के पास यह डिवाइस नहीं है। अब जिले की पुलिस भी इस डिवाइस से लैस हो जाएगी।

नवादा पुलिस को ऐसे 12 नए डिवाइस दिए जाने की स्वीकृति मिल गई है। इसके अलावा परिवहन विभाग के पास तीन डिवाइस पहले से है इस तरह कुल 15 ई चालान डिवाइस से चालान कटेगा।

यह डिवाइस किसे किसे मिलेगा यह तय हो गया है। जिले के तीन अनुमंडल पुलिस पदाधिकारियों, 5 सर्किल इंस्पेक्टर 4 थानाध्यक्षों को ई चालान डिवाइस दी जाएगी। हेवी ट्रेफिक इलाके वाले चार थाने को ई चालान काटने की डिवाइस दी जाएगी ताकि जुर्माना वसूली के समय अव्यवस्था नहीं हो।

ई चालान डिवाइस आ जाने के बाद पुलिस को कई तरह की सहूलियत होगी। सड़क सुरक्षा नियमों का उल्लंघन करने पर अब कोई भी वाहन चालक भाग नहीं सकता है। इस डिवाइस में वाहन का नंबर डालने के बाद वाहन चालक व वाहन मालिक का पूरा डिटेल्स आ जाएगा। जुर्माने की राशि जमा नहीं करने की स्थिति में वाहन का ट्रांसफर, फिटनेस आदि कराते समय जानकारी मिल जाएगी। जब तक जुर्माने की राशि जमा नहीं हो जाता तब तक वाहन मालिक ना तो गाड़ी बेच पाएंगे और ना ही गाड़ी का फिटनेस आदि कागजात बन पाएगा।

अभी वाहन चेकिंग में होती है परेशानी

जिला परिवहन पदाधिकारी अनुराग कौशल ने बताया कि ट्रैफिक नियम का सख्ती से पालन कराने और कानून तोड़ने वालों से पारदर्शी तरीके से जुर्माना वसूलने के लिए ऑनलाइन ई चालान काटने की व्यवस्था है। अभी जिला परिवहन विभाग में 3 विभाग से जिसे मैं, एमवी आई और हमारे प्रवर्तन अवर निरीक्षक ऑपरेट करते हैं। इससे काफी सुविधा होती है। हमें वाहन जब्त करने की जरूरत नहीं पड़ती है। ऑनलाइन ई चालान कट जाता है। लेकिन पुलिस के समक्ष अभी परेशानी है। उन्हें वाहन जब्त कर थाने में लगाना पड़ता है। इससे भीड़ और अवस्था होती है। अब पुलिस को भी यह डिवाइस उपलब्ध कराया जायेगा।

जिले में ऑनलाइन चालान काटने के लिए नवादा पुलिस को 12 ई चालान डिवाइस दिए जाने की स्वीकृति मिल चुकी है। इनमें से तीन डीएसपी, 5 सर्किल इंस्पेक्टर और चार थाना अध्यक्षों को या डिवाइस दी जाएगी। स्वीकृति मिलने के बाद आगे की कार्रवाई की जा रही है। जल्द ही संबंधित अधिकारियों को डिवाइस उपलब्ध करा दिया जाएगा। इससे जुर्माना वसूलने हर वाहन चेकिंग अभियान को सुगम बनाने में सहूलियत मिलेगी।

अनुराग कौशल, जिला परिवहन पदाधिकारी नवादा:

साइबर अपराधी के घर की गयी छापेमारी में 17 लाख रूपये बरामद, महिला समेत दो गिरफ्तार

नवादा : जिले के वारिसलीगंज पुलिस ने गुप्त सूचना के आलोक में सोढ़ीपुर गांव में साइबर अपराधी के घर छापामारी की. छापामारी में 17 लाख रूपये की बरामदगी हुई।

इस क्रम में मौके पर महिला समेत दो को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार से पुलिस पूछताछ कर रही है। इस बात पुलिस फिलहाल विशेष जानकारी उपलब्ध कराने से बच रही है. विशेष विवरण की प्रतीक्षा है।

पुलिस ने झोलाछाप चिकित्सक को दबोचा

– कोलकाता से दवाई के पार्सल में ले जाया जा रहा था विदेशी शराब का जखीरा

नवादा : जिले के बिहार-झारखंड सीमा पर उग्रवाद प्रभावित रजौली समेकित जाँच चौकी पर कोलकाता से पटना जा रही बंगाल टाइगर बस से दवा के पार्सल में पैक कर लाई जा रही शराब को उत्पाद विभाग की टीम ने चितरकोली समेकित जाँच चौकी से बरामद कर लिया। उत्पाद विभाग के टीम ने बस कंडक्टर को हिरासत में लेकर पटना जाकर दवा का पार्सल मंगवाने वाले झोलाछाप चिकित्सक समस्तीपुर जिले के पटोरी थाना क्षेत्र के सरारी गांव निवासी स्वर्गीय राम प्रकाश भगत के बेटे 38 वर्षीय सुरेश कुमार भगत को मौके से धर दबोचा।

उत्पाद अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज कर झोलाछाप चिकित्सक को कोरोना जांच के बाद न्यायिक हिरासत में भेज दिया। उत्पाद निरीक्षक रामप्रीत कुमार ने बताया कि चितरकोली चेक पोस्ट पर उत्पाद विभाग द्वारा वाहनों की जांच के दौरान सूचना मिली कि कोलकाता से पटना जा रही बंगाल टाइगर नामक बस से दवा के पार्सल में पैक करके शराब लाया जा रहा है। सूचना मिलने के बाद बस की सघन जांच की गई।

जांच के क्रम में बस पर दवा के पार्सल के पैकेट मिले। जब दवा के पार्सल के पैकेट को खुलवाया गया तो पार्सल में शराब मिलने से चेक पोस्ट पर हड़कंप मच गया। दवा के पार्सल पैकेट से 180 एमएल का 142 बोतल टेट्रा एवं 750 एमएल का 12 बोतल रॉयल स्टैग शराब निकला।उत्पाद निरीक्षक ने बताया कि जब बस की जांच की गई तो उस समय दवा के पार्सल के पैकेट के साथ कोई भी आदमी नहीं था।

पूछताछ के दौरान बस कंडक्टर ने बताया कि पश्चिम बंगाल के कोलकाता से दवा को बस पर लोड किया गया था और उसे पटना में एक झोलाछाप चिकित्सक को डिलीवरी देने थी। दवा के पार्सल के पैकेट पर जगदंबा मेडिकल हॉल लिखा हुआ था। उत्पाद निरीक्षक ने बताया कि 29 सितंबर को भी हाजीपुर में हाजीपुर उत्पाद टीम व हाजीपुर थाना की पुलिस के द्वारा उक्त डॉक्टर के ठिकाने पर छापेमारी की गई थी।

Leave a Reply