Home बिहार अपडेट नवादा 27 मई : नवादा की मुख्य ख़बरें

27 मई : नवादा की मुख्य ख़बरें

0

17 दिनों पूर्व हुई थी शादी, पेड़ से झूलता मिला शव, तीन दिनों से था लापता

नवादा : युवक की 17 दिनों पूर्व यानि 10 मई को शादी हुई थी। आज उसका शव पेड़ से झूलता मिला। वह भी खून से लथपथ हाल में। ऐसे में युवक की हत्या की आशंका जताई जा रही है। जिले के उग्रवाद प्रभावित गोविंदपुर थाना क्षेत्र के पहरैठा गांव के समीप अवनैया पहाड़ी पर गुरुवार 26 मई की दोपहर युवक का शव बरामद हुआ। पुलिस ने शव काे बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल नवादा लाई है।

बताया जाता है कि ग्रामीणों ने पहाड़ के उपर पेड़ से झुलता हुआ शव देखा। खबर आग की तरह फैली तो ग्रामीणों की भीड़ जुट गई। गोविंदपुर थाना को फोन कर सूचना दी गई। थानाध्यक्ष श्याम कुमार पाण्डेय दलबल के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और मामले की जांच-पड़ताल की। शव को कब्जे में कर पोस्टमार्टम के लिए सदर अस्पताल नवादा भेज दिया। युवक के शरीर से बहुत खून बहा हुआ था। मामला हत्या है या आत्महत्या पुलिस सभी बिंदुओं पर जांच कर रही है।

युवक के पॉकेट में रहे आधार कार्ड से पहचान कर्णपुर गांव निवासी कैलाश राजवंशी के 25 वर्षिय इकलौते पुत्र मन्टु राजवंशी के रूप में हुई। मृतक के परिजनों को पुलिस द्वारा सूचना दी गई। सूचना मिलते ही परिजन घटनास्थल पर पहुंचे और शव की पहचान की। पिता कैलाश राजवंशी ने बताया कि बेटा मंगलवार की शाम से लापता था। हम नाते रिश्तेदार के यहां खोजबीन कर रहे थे। आज शव मिलने की सूचना मिली।

उन्होंने हत्या कर शव को पेड़ से लटका देने की बात कही। कहा कि एक लड़की ने हमारे बेटे को फोन कर मंगला घाट पर बुलाई थी। तब से हमारा बेटे वापस घर नहीं लौटा। बेटे को फोन कर बुलाया गया और हत्या कर शव को पेड़ से लटका दिया गया। मृतक के फुफेरा भाई पिंटू राजवंशी अकबरपुर प्रमुख प्रतिनिधि ने भी आत्महत्या का शक्ल देने के लिए शव को पेड़ से लटका देने का आरोप लगाया है। मृतक के चाचा सुभाष राजवंशी, चचेरे भाई गोपाल राजवंशी एवं ग्रामीणों अरूण दास, रविन्द्र राजवंशी, पिंटू चौधरी ने भी साजिशन हत्या की बात कही है।

10मई को हुई थी शादी 

युवक की 10 मई 2022 को शादी हुई थी। नई नवेली दुल्हन के हाथ की मेंहदी भी नहीं छुटी और पति का अर्थी सज गया। पति की मौत की खबर मिलते ही पत्नी एवं परिजन का रो-रोकर बुरा हाल है। थानाध्यक्ष श्रीपाण्डेय ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद मौत के कारणों का सही से पता चल पाएगा।

बाइक के धक्के से किसान की मौत, ग्रामीणों ने किया सड़क जाम

नवादा : जिले के पकरीबरांवा थाना क्षेत्र के धेवधा गांव निवासी अकलू महतो के पुत्र 45 वर्षीय पेशे से किसान उमेश महतो की मौत सड़क हादसे में हो गई। आक्रोशित ग्रामीणों ने गुरुवार की सुबह पकरीबरावां-वारसलीगंज पथ को जाम कर दिया। ग्रामीणों ने बांस-बल्ला लगाकर मार्ग को अवरुद्ध किया। जिससे उक्त मार्ग पर आवागमन पूरी तरह से ठप हो गया।

लोग मृतक के आश्रित परिजनों के लिए मुआवजे की मांग कर रहे थे। जाम की सूचना पर पहुंचे प्रखंड विकास पदाधिकारी नीरज कुमार व पकरीबरावां थानाध्यक्ष शिशुपाल ने लोगों को समझा-बुझाकर जाम हटवाया। प्रखंड विकास पदाधिकारी ने मृतक के आश्रित को परिवारिक लाभ योजना अंतर्गत ₹20000 की सहायता राशि उपलब्ध कराई। इसके अलावा अन्य सरकारी सहायता दिलाए जाने का आश्वासन दिया।

बता दें कि बुधवार की शाम करीब 5 बजे उमेश महतो सड़क पार कर रहे थे। इसी दौरान वारिसलीगंज की तरफ से आ रहे एक बाइक सवार ने धक्का मार दिया था। घटना में वे बुरी तरह जख्मी हो गए थे। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पकरीबरावां में प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें नवादा रेफर कर दिया गया था। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए नवादा से विम्स पावापुरी रेफर किया गया था। पावापुरी ले जाने के क्रम में रास्ते में मौत हो गई थी। बाइक सवार बाइक छोड़कर भागने में सफल रहा। पुलिस बाइक को जब्त कर आगे की कार्रवाई में जुट गई है।दूसरी ओर इसी थाना क्षेत्र के कचना गांव के समीप ऑटो पलटने से चार लोग घायल हो गए।

बताया जाता है कि चालक तेज रफ्तार में ऑटो चला रहा था। इस दौरान अनियंत्रित होकर ऑटो पलट गई। दुर्घटना में नवादा के प्रमोद कुमार (23 वर्ष), छोटू सिंह (39 वर्ष), अटारी के नीतीश कुमार (18 वर्ष) एवं दत्तरौल की मुनवा देवी (30 वर्ष) घायल हुई। स्थानीय लोगों ने सभी को इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पकरीबरावां में भर्ती कराया गया, जहां सभी का इलाज किया जा रहा है।

पानी संकट से जूझ रहे डुमरावां मुशहरी के लोग सड़क पर उतरे, नवादा-जमुई पथ को किया जाम

नवादा : जिले के पकरीबरावां प्रखंड के डुमरावां अनुसूचित टोला के लोग इन दिनों पेयजल संकट से जूझ रहे हैं। पेयजल आपूर्ति संयंत्रों में तकनीकी खराबी आ गई है। विभाग द्वारा उसके दुरूस्त नहीं किया जा रहा है। नतीजा ग्रामीण थक-हारकर गुरुवार 26 मई को सड़क पर उतर आए। विभाग के प्रति आक्रोश जाहिर किया और नवादा-जमुई पथ को जाम कर दिया। ग्रामीणों का आरोप था कि कई दिनों से जलापूर्ति नहीं हो रही है। परेशानी बढ़ी हुई है। सूचना के बाद भी समस्या का समाधान नहीं हो रहा है। ग्रामीणों ने कहा कि अगर जल्द ही इस पर ध्यान नहीं दिया गया तो आगे भी आंदोलन करेंगे।

जाम की सूचना पर पहुंची पकरीबरावां पुलिस ने ग्रामीणों को समझाकर शांत कराया। तब जाम हटा। एक घंटे बाद नवादा-जमुई स्टेट हाईवे पर आवागमन बहाल हुआ। इस बावत पीएचईडी के कनीय अभियंता संजय कुमार ने बताया कि धूप नहीं रहने के कारण सोलर से जलापूर्ति में दिक्कत आ रही है। जल्द ही बिजली से मोटर चलाकर जलापूर्ति की जाएगी। दूसरी ओर धमौल बाजार में भी 5 दिनों से जलापूर्ति ठप है। ट्रांसफार्मर में तकनीकी खराबी आ गई है।

बता दें कि यह समस्या उस दिन खुलकर सामने आई जब डीएम इसी प्रखंड का भ्रमण कर विकास योजनाओं का हाल जान रही थी। वैसे, पेयजल की समस्या को लेकर डीएम काफी गंभीर है। पिछले सप्ताह ही जिले के सभी पंचायत में नल जल का सर्वेक्षण करा जहां कमियां थी उसे दूर करने का आदेश दी थी। फिर भी डुमरावां मुशहरी के लोगों को सड़क पर उतरना पड़ा।

कोशला पंचायत के आवास सहायक समेत दो पर एफआईआर के आदेश

नवादा : जिले के नारदीगंज प्रखंड के कोशला पंचायत के आवास सहायक दिनेश कुमार चौधरी पीएम आवास में कमीशनखोरी में फंस गए हैं। डीडीसी द्वारा आवास सहायक और रुपये वसूली के आरोपी विनोद कुमार यादव पर प्राथमिकी दर्ज कराने और आरोप पर गठित करने का आदेश दिया गया है।

एसडीएम सदर उमेश कुमार भारती के जांच प्रतिवेदन के आधार पर कार्रवाई की गई है। अनुमंडल पदाधिकारी नवादा सदर के द्वारा प्रतिवेदित किया गया था कि नारदीगंज प्रखंड क्षेत्र अंतर्गत ग्राम पंचायत कोशला में प्रधानमंत्री आवास योजना की जांच की गई। जांच के क्रम में विनोद कुमार यादव द्वारा नाजायज राशि की वसूली करने की बात लाभुकों द्वारा की गई।

प्रधानमंत्री आवास के लाभुकों द्वारा बताया गया कि कि ₹10 से 20 हजार की वसूली की गई है। प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभुकों के द्वारा दिए गए आवेदन में विनोद कुमार यादव द्वारा राशि वसूलने के आरोपों की जांच की गई थी। विनोद कुमार यादव और ग्रामीण आवास सहायक पंचायत कोशला के विरुद्ध पत्र निर्गत तिथि के 24 घंटे के अंदर प्राथमिकी दर्ज करने का निर्देश प्रखंड विकास पदाधिकारी नारदीगंज को दिया गया है। ग्रामीण आवास सहायक पंचायत कोशला के विरुद्ध आरोप पत्र गठित करते हुए अनुशासनात्मक कार्रवाई करने के लिए स्पष्ट अनुशंसा की मांग भी की गई है।

प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत लगातार अनुमंडल अधिकारी के द्वारा जांच की जा रही है, जिसके तहत कई आवास सहायकों पर प्राथमिकी दर्ज की गई है। आवास सहायक के साथ कार्रवाई की जद में आए विनोद यादव मुखिया के नजदीकी बताए गए हैं। बता दें कि इसके पूर्व मेसकौर प्रखंड के बारत पंचायत के आवास सहायक व वार्ड संख्या के 2 के वार्ड सदस्य के पति उमेश चौधरी के खिलाफ भी इसी प्रकार का आदेश जारी किया गया है।

पथ दुर्घटना में आंगनबाड़ी सेविका की मौत

नवादा : नवादा-जमुई पथ पर वारिसलीगंज थाना क्षेत्र के दोसुत मोड़ के समीप सड़क हादसे में बाइक सवार महिला की मौत हो गई। मृतका की पहचान गया जिले के वजीरंगज थाना क्षेत्र के वजीरगंज बाजार निवासी गौरी शंकर गुप्ता की पत्नी 55 वर्षीया पुष्पा देवी के रूप में की गई है। मृतका आंगनबाड़ी सेविका बताई गई है।

महिला अपने बड़े पुत्र गौरव के साथ बाइक पर सवार होकर पकरीबरावां जा रही थी। पकरीबरावां में भाई के बेटे की शादी की सालगिरह में शामिल होने जा रही थी। बेटा बाइक चला रहा था। रास्ते में स्पीड ब्रेकर के पास बाइक में ब्रेक लगाते ही एक गाड़ी पीछे से आई और टक्कर मार दी। महिला की मौत के बाद परिवार में कोहराम मच गया है। बताया जा रहा है कि नवादा में सड़क पर मनमाने ढंग से स्पीड ब्रेकर लगा दिया गया है, जिस पर जिला प्रशासन के द्वारा किसी भी प्रकार का लगाम नहीं लगाया जा रहा। इसके कारण इन दिनों मौत की संख्या बढ़ती जा रही है।

मरीज की मौत पर सदर अस्पताल में हंगामा, परिजनों ने इलाज में लापरवाही का लगाया आरोप

नवादा : सदर अस्पताल में गुरुवार को इमरजेंसी वार्ड में इलाज के दौरान एक बुजुर्ग मरीज की मौत हो गई। जिसके बाद स्वजनों ने इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए हंगामा किया और अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ खुलकर अपनी नाराजगी प्रकट की।

मृतक 65 वर्षीय आसिक शाह जिले के अकबरपुर थाना क्षेत्र के डीही गांव के रहने वाले थे। उनके छोटे पुत्र महफूज शाह ने बताया कि पिताजी को सांस लेने में परेशानी हो रही थी। लिहाजा उन्हें अकबरपुर पीएचसी में भर्ती कराया गया। जहां चिकित्सकों ने सदर अस्पताल रेफर कर दिया।

सदर अस्पताल में बीमार शख्स व उनके तीमारदार परेशान होते रहे। लेकिन चिकित्सकों व स्वास्थ्यकर्मियों ने देखना भी मुनासिब नहीं समझा। काफी आरजू विनती करने के बाद आक्सीजन लगाकर छोड़ दिया गया। इसके अलावा किसी प्रकार की दवा-सूई आदि नहीं दी गई।

चिकित्सक के बारे में पूछने पर कहा गया कि अभी मौजूद नहीं हैं। उपस्थित नर्सों ने भी मरीज की देखभाल नहीं की। बाद में एक चिकित्सक पहुंचे। लेकिन तबतक मरीज की मौत हो गई। जिसके बाद स्वजन उग्र हो गए और शोर-शराबा करने लगे। हंगामा देख चिकित्सक व स्वास्थ्यकर्मी वहां से खिसक गए। काफी देर तक मृतक के स्वजन हो-हल्ला करते रहे। बाद में स्वजन शव लेकर वापस गांव चले गए।

बारात निकलने से पहले दूल्हे के परिवार पर हमला, 7 लोग गंभीर रूप से जख्मी

नवादा : नगर थाना क्षेत्र के इस्लाम नगर मोहल्ले में गुरुवार को घर में घुस कर मारपीट की गई। इस घर में लड़का की शादी हो रही है। बारात निकलती, उससे पहले हॉकी, स्टिक व लोहे के रोड से हमला किया गया, जिसमें में सात लोग घायल हो गए। घायलों में मो. एतराम हुसैन, अख्तर हुसैन, सद्दाम हुसैन, रिजवान हुसैन, मिस्टर, मोज्ज्मिल व कारू उर्फ सोनू शामिल है।

सभी लोगों को इलाज के लिए सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घायल एहतराम ने बताया कि घर से भांजा सद्दाम की बरात निकलने वाली थी। परिवार के सदस्य तैयारी में जुटे थे। घर के बाहर कुछ लड़के हुड़दंग कर रहे थे। जाकर उन्हें मना किया तो वे सभी हो हल्ला करते चले गए।

कुछ देर बाद दो दर्जन युवा घर में घुस गए और हाकी स्टिक व लोहे के रड से मारना शुरू कर दिया। जिससे सभी लोग लहूलुहान हो गए। इसके बाद हमलावर भाग गए। जिसके बाद सभी घायल सदर अस्पताल इलाज कराने पहुंचे। घटना की सूचना पुलिस को दी गई है। इधर, घर में मारपीट के बाद शादी की खुशियां काफूर हो गई। परिवार के सदस्य डरे सहमे हुए हैं।

चार हाथ और चार पैर की अद्भूत बच्ची, मां-पिता भी दिव्यांग, चाहिए रोजगार

नवादा : चार हाथ व चार ही पैर की अद्भूत बच्ची लोगों के लिए कौतूहल बनी हुई थी। मां की गोद रही बच्ची के इर्द-गिर्द बड़ी भीड़ जमा थी। पास ही बच्ची के पिता भी खड़े थे। कुछ लोग बच्ची के हाथ में कुछ रुपये बिस्किट-मिठाई खाने के लिए थमा रहे थे। भीड़ में बच्ची व्याकुल हो रही थी। शुक्रवार 27 मई की सुबह यह दृश्य बना था जिले के कचहरी रोड में। जहां बच्ची को लिए मां-पिता खड़े थे उसके ठीक सामने अनुमंडल दंडाधिकारी का दफ्तर भी है।

जमा भीड़ उत्सुकतावश पूछताछ कर रही थी। मां-पिता बता रहे घर में पांच परिवार हैं, जिसमें चार दिव्यांग हैं। पिता बसंत पासवान, मां उषा देवी, गोद में रही बच्ची चहुंमुखी कुमारी के अलावा 11 साल का पुत्र भी दिव्यांग है। इस दंपती को कुल जमा तीन बच्चे हैं। एक पुत्र व दो पुत्री। दोनों स्वयं दिव्यांग हैं, दो बच्चे भी दिव्यांग हैं।

बसंत पासवान कहते हैं, पांच में चार परिवार विकलांग हैं। रोजी-रोटी का संकट है। रोजगार के लिए डीएम साहब से मिलने आए हैं। काफी उम्मीदें लिए पहुंचे हैं। खबर लिखे जाने तक डीएम से मुलाकात नहीं हो सकी थी। देखना है प्रशासनिक अमला इस दिव्यांग फैमिली के लिए क्या कुछ कर पाते हैं? बता दें यह परिवार जिले के वारिसलीगंज प्रखंड के हेमदा गांव के निवासी हैं।

एक और आवास सहायक, ऑडियो वायरल, मामला आवास में राशि वसूली का

नवादा : पीएम आवास योजना में जिले में व्याप्त भ्रष्टाचार का मामला रह-रहकर सामने आ रहा है। शुक्रवार 27 मई को एक ऑडियाे वायरल हुआ है। जिसमें एक आवास सहायक किसी लाभुक के रिश्तेदार से बात करते सुनाई पड़ रहे हैं। ऑडियो में आवास सहायक दूसरी ओर मोबाइल पर मौजूद शख्स से शिकायत भरे लहजे में कहते सुनाई पड़ रहे हैं कि डीआरडीए में कमीशन लेने की शिकायत किए हो। 20 हजार लेने की शिकायत किए हो, हम उतनी राशि मांगे हैं क्या?

वायरल ऑडियो का लबुलुआब ये है कि लाभुक से आवास योजना में कमीशन की वसूली आवास सहायक द्वारा की गई है। जिसकी शिकायत लाभुक द्वारा उच्च अधिकारियों से की गई है। इसकी जानकारी आवास सहायक को मिल गई। जिसके बाद आवास सहायक ने लाभुक के मोबाइल पर कॉल लगाया। उधर, लाभुक के पुत्र ने कॉल उठाया। दोनों के बीच बातचीत होती है। जिसमें आवास सहायक पहले तो यह कहते सुने जाते हैं कि मेरे ही चलते आवास का लाभ मिला, उल्टा शिकायत कर दिया। आओ जियो टैग भी कर देते हैं और अपना पैसा भी ले जाओ।

वैसे बातचीत के ऑडियो में यह साफ नहीं हो रहा है कि आवास सहायक कौन हैं और किस पंचायत का मामला है। लेकिन सूत्र बताते हैं कि आवास सहायक कौआकोल प्रखंड के दरावां पंचायत के रंधीर कुमार हैं। दूसरी ओर जिस व्यक्ति से उनकी बातचीत हो रही है वे बाजितपुर गांव के आवास लाभुक उषा देवी के पुत्र सुनील कुमार हैं। उषा देवी द्वारा जिलाधिकारी को 27 मई को एक शिकायत सौंपी गई है, जिसमें 10 हजार रुपये प्रथम किस्त में आवास सहायक द्वारा वसूल किए जाने का जिक्र है। हालांकि, वायरल ऑडियो सत्यता की पुष्टि जांच के बाद ही हो सकेगी।

बता दें कि जिले का कोई भी पंचायत ऐसा नहीं है जहां पीएम आवास में भ्रष्टाचार की शिकायतें नहीं आ रही हो। इसके पूर्व ऐसे ही मामले में मेसकौर प्रखंड के बारत पंचायत, नारदीगंज प्रखंड के कोशला पंचायत के आवास सहायक पर प्राथमिकी का आदेश डीडीसी के स्तर से हो चुका है।

इस माह के शुरूआत से ही जिले में आवास योजना में कमीशनखोरी का मामला गरमाता रहा है। तत्कालीन डीएम यशपाल मीणा द्वारा इसपर रोकथाम का प्रयास किया गया था तो बीडीओ व आवास सहायकों द्वारा मोर्चा खोल दिया गया था। अब देखना है कि वायरल आडियो मामले में प्रशासनिक स्तर पर क्या कार्रवाई होती है।

भाजयुमो कार्यकर्ता चलाएंगे संपर्क अभियान, निकालेंगे विकास तीर्थ बाइक रैली

नवादा : भारतीय जनता युवा मोर्चा ज़िला इकाई की बैठक युवा मोर्चा ज़िलाध्यक्ष रवि राज की अध्यक्षता में शुक्रवार 27 मई को भाजपा ज़िला कार्यालय में आयोजित हुई। बैठक में बिहार भाजयुमो के प्रदेश मंत्री सह क्षेत्रीय प्रभारी विक्की राय ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार के 8 वर्ष पूर्ण होने एवं आज़ादी की 75 वीं वर्षगाँठ अमृत महोत्सव के उपलक्ष्य पर 1 से 14 जून तक चलने वाले इस महाअभियान में विकास तीर्थ बाइक रैली निकाली जाएगी।

उन्होंने कहा कि युवा मोर्चा के कार्यकर्ता मोदी सरकार के विकास के कार्यों को जोड़ने हेतु पूरे ज़िले में सम्पर्क अभियान चलाएंगे। वहीं शक्ति केंद्र स्तर पर डिजिटल योद्धा बनाने का काम भी युवा मोर्चा के कार्यकर्ता करेंगे। इस अवसर पर भाजयुमो कार्यक्रम प्रभारी विकास सिन्हा ने कहा की युवा मोर्चा पार्टी की रीढ़ है, और इसी के बदौलत भाजपा संगठन के कार्यों को आसानी से करती है। आज का युवा मोर्चा कल का भाजपा है।

युवा मोर्चा ज़िला उपाध्यक्ष मुकेश राज ने प्रदेश मंत्री विक्की राय को अंगवस्त्र देकर सम्मानित करते हुए कहा कि प्रदेश नेतृत्व के द्वारा जब भी भाजयुमो को जो भी ज़िम्मेदारी दी जाती है कार्यकर्ता बढ़ चढ़कर कार्य करते हैं। कार्यक्रम में भाजपा ज़िला महामंत्री रामानुज कुमार, भाजपा ज़िला उपाध्यक्ष विजय पांडेय, भाजयुमो ज़िला महामंत्री राहुल कुमार, चंदन चंद्रवंशी, भाजयुमो ज़िला उपाध्यक्ष रवि शंकर कुमार, तरुण कुमार, भाजयुमो ज़िला मंत्री राजू वर्णवाल, भाजयुमो नगर अध्यक्ष सोनू वर्मा, कुंदन वर्मा, रवि सिन्हा, अयान मल्लिक सहित कई कार्यकर्ता उपस्थित थे।

रेल कर्मियों ने किया प्रदर्शन, नन- सेफ्टी कटेगरी के रिक्त पदों में 50% को सरेंडर करने से नाराजगी

नवादा : रेलवे बोर्ड के द्वारा नन- सेफ्टी कटेगरी के रिक्त पदों में से 50% पदों को सरेंडर करने के निर्णय एवं एक पक्षीय मजदूर विरोधी आदेश के खिलाफ में एआईआरएफ/ईसीआरकेयू के आह्वान पर शुक्रवार 27 मई 22 को 12 बजे दिन में ईसीआरकेयू जिला शाखा द्वारा प्रदर्शन का आयोजन किया गया. नेतृत्व यूनियन के अध्यक्ष चन्द्रिका प्रसाद ने की।

शाखा के सचिव राकेश रंजन ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार एक साजिश के तहत रेलवे कर्मचारियों की छंटनी करते जा रही है, जिससे कार्यरत कर्मचारियों पर काम का बोझ बढता जा रहा है। सभी कर्मचारी काफी दवाब में काम कर रहें हैं। इस साजिश को युवा कर्मचारियों को समझना पड़ेगा और एआईआरएफ/ईसीआरकेयू के आह्वान पर हर संघर्ष के लिए तैयार रहना होगा। प्रदर्शन में अध्यक्ष एवं सचिव के अलावा यूनियन के पदाधिकारी शिव शंकर कुमार, आर के सिन्हा, कृष्णा राम, मुकेश रंजन, दयानन्द प्रसाद,सुन्दर जी सहित अन्य रेल कर्मचारियों ने भाग लिया।

ककोलत पहुंचे सीएम ने कहा बहुत ही पवित्र स्थल है, सारी सुविधाएं होगी बहाल

नवादा : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने शुक्रवार काे नवादा जिले के गोविंदपुर प्रखंड स्थित ककोलत शीतल जल प्रपात का दौरा किया। उन्होंने वहां उपलब्ध सुविधाओं का जायजा लिया और कमियों से संबंधित फिडबैक अधिकारियों से लिया। बाद में मीडिया से बात करते हुए कहा कि बहुत ही पवित्र स्थल है। देखिए कितने लोग यहां पहुंचे हुए हैं। उन्होंने कहा कि सीढ़ी के रास्ते दुकानों की जरूरत नहीं है। आने-जाने के रास्ते में ही दुकानें बनाई जाएगी। सैलानियों के लिए हर तरह की सुविधाएं यहां उपलब्ध होगी।

पूर्व के दौरे को याद करते हुए कहा कि पिछली बार आया था, उसके बाद काफी कुछ काम हुआ है। मन में आया कि एक बार देख लिया जाए कि यहां क्या हुआ है। इसीलिए चला आया। उन्होंने कहा कि दो साल कोरोना के कारण जरूरी काम नहीं हो सका। अधिकारियों से जानकारी ली गई है। सभी जरूरी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएगी।

बता दें कि इसके पूर्व दिसंबर 2018 में सीएम नीतीश ककोलत पहुंचे थे। तब उन्होंने कई सारी सुविधाएं यहां उपलब्ध कराने के निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए थे। कोरोना काल में काम में अपेक्षित प्रगति नहीं हुई। इस दौरान डीएम उदिता सिंह, एसपी गौरव मंगला, डीएफओ राजीव रंजन सहित जिला प्रशासन के तमाम अधिकारी मौजूद थे।

वाटर फॉल तक पहुंचे सीएम

ककोलत पहुंचे सीएम सीढियों के सहारे वॉटर फॉल तक पहुंचे। वॉटर फॉल के पूरे परिसर को देखा। वहां फैली शीतलता का आनंद लिया। अधिकारियों से उपलब्ध साधन-संसाधन के बारे में जाना। क्या कुछ और हो सकता है इसपर चर्चा की।

सैलानियों में दिखी नाराजगी 

सीएम के आगमन को लेकर ककोलत के रास्ते को पूरी तरह से खाली करा दिया गया था। जिससे सैलानियों में नाराजगी दिखी। एक सैलानी बच्चे का मुंडन कराने पहुंचे थे। कहा कि 10 हजार रुपये खर्च किया। सीएम के कार्यक्रम के नाम पर परेशानी बढ़ा दी। कई अन्य सैलानियों ने भी नाराजगी जताई।

NO COMMENTS

Leave a Reply

%d bloggers like this: