16 मई : नवादा की मुख्य खबरें

0

पुलिस को चकमा दे हथकड़ी खोल वाहन से कूदकर अपराधी हुआ फरार

नवादा : जिले के उग्रवाद प्रभावित कौआकोल थाना की पुलिस को एक बंदी ने गच्चा दे दिया। पुलिस की अभिरक्षा से वह फरार हो गया। वाक्या तब हुआ जब पुलिस आरोपित को मजिस्ट्रेट के सामने पेश करने के लिए लेकर आ रही थी। रास्ते में ही वह हथकड़ी खोलकर वाहन से कूद गया। साथ रहे पुलिस वाले जबतक संभल पाते काफी दूर निकल चुका था।

घटना को पुलिस की बड़ी लापरवाही के रूप में देखा जा रहा है। हालांकि उसकी पुन: गिरफ्तारी के लिए संभावित ठिकानों पर छापेमारी की जा रही है। कुछ माह पूर्व ही इसी प्रकार का वाक्या इसी थाने में हुआ था। जब शराब के साथ गिरफ्तार एक महिला थाने से फरार हो गई थी। तब कुछ घंटे बाद ही उसकी गिरफ्तारी हो गई थी।

swatva

बताया जाता है कि कौआकोल थाना कांड संख्या-142/21 के प्राथमिकी अभियुक्त मनीष कुमार पिता-राजकुमार महतो को पुलिस ने शनिवार को उसके गांव रुस्तमपुर से गुप्त सूचना पर गिरफ्तार किया था। कागजी प्रक्रिया पूरी करने के बाद उसे पुलिस निगरानी में सरकारी वाहन से रविवार को न्यायिक हिरासत के लिए नवादा ले जाया जा रहा था। रास्ते में मौका पाकर अभियुक्त किसी तरह हथकड़ी खोलकर वाहन से कूदकर फरार हो गया।

पुलिस सूत्रों के अनुसार वह कौआकोल-पकरीबरावां पथ पर सितुआ मोड़ से गुलनी के बीच में पुलिस को चकमा देकर फरार हुआ। घटना के बाद पुलिस महकमा में हड़कंप मच गया। थानाध्यक्ष राजेश कुमार ने घटना की पुष्टि करते हुए कहा कि चकमा देकर फरार हुए अभियुक्त की फिर से गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है। बता दें कि 9 मई 2021 को रुस्तमपुर गांव के दिनेश महतो की पत्नी लगनी देवी ने गांव के ही राजकुमार महतो,उनकी पत्नी सरिता देवी एवं पुत्र शुभम कुमार तथा मनीष कुमार पर मारपीट का आरोप लगाया था। इस बावत थाने में प्राथमिकी दर्ज कर उसकी गिरफ्तारी की गयी थी।

40 फीट गड्ढे में जा गिरी बाइक, सवार थे चार लोग, सभी हो गए बुरी तरह से जख्मी

नवादा : जिले के बरेव-गोविंदपुर पथ पर अवनैया के समीप रविवार की दोपहर बड़ी घटना हुई। बाइक 40 फीट गहरे खाई में गिर गई। हादसे में बाइक पर सवार एक ही परिवार के चार लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। बाइक चालक का संतुलन खोने से ऐसा हुआ। सभी को प्राथमिक उपचार के बाद बेहतर इलाज के लिए गोविंदपुर सीएचसी से सदर अस्ताल नवादा भेजा गया है।

बताया जाता है कि बाइक संख्या DL4S BU9951 पर सवार चार व्यक्ति नवादा से गोविंदपुर की ओर आ रहे थे। अवनैया पहाड़ी पर चढ़ने के दौरान बाइक चालक का संतुलन बिगड़ गया। परिणाम हुआ कि बाइक टर्निंग पर मुड़ने की बजाय सीधे 40 फीट गहरी खाई में जा गिरी। हादसे में उसपर सवार सभी चारो व्यक्ति गंभीर रूप से घायल हो गए। गनीमत रही कि आसपास के किसी ग्रामीण की नजर उस हादसे पर पड़ गई थीे।

आसपास के लोगों ने तत्काल सूचना थाना व अस्पताल को देकर एंबुलेंस मंगवाया। साथ ही सभी घायलों को बाहर निकाला। थोड़ा सा भी विलंब होता तो काफी नुकसान होता। क्योंकि सभी लोग बुरी तरह से घायल हो चुके थे। सभी चलने-बोलने में असमर्थ थे। एंबुलेंस पहुंचने पर सभी को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र गोविंदपुर ले जाया गया। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार घटना के बाद 2 लोग बाइक में फंसे हुए थे, जिन्हें किसी तरह बाहर निकाला गया। मौके पर एएसआइ शिवजी मांझी पुलिस बल के साथ पहुंचे और दुर्घटनाग्रस्त बाइक और साथ में रहे बैग को कब्जे में लेकर अपने साथ थाना ले गए।

दो लोग बेहोशी की हालत में थे:- दो लोग बेहोशी की हालत में थे। शेष बचे दो लोगों में एक ने कहा कि मुझे कुछ भी याद नहीं है। वहीं दूसरी 15 वर्षीया किशोरी ने अपना नाम रूपा कुमारी, घर नारदीगंज थाना क्षेत्र के ग्राम परमा से अपने पड़ोसी चाचा 50 वर्षीय अमरनाथ के साथ मां सोनी देवी व 12 वर्षीय भाई नीतीश कुमार के साथ बनिया बिगहा गांव अपने बुआ के यहां जा रही थी। तभी रास्ते में हादसा हो गया। उसके पास रहे मोबाइल के माध्यम से परिजनों को सूचना दी गई।

घायल रूपा कुमारी की मां सोनी देवी की हालत नाजुक बनी थी। उसके सर और मुंह के भाग में काफी गहरा जख्म था। साथ रहे भाई नीतीश कुमार का भी सर फट चुका था। रूपा ने बताया कि पिता की मृत्यु डेढ़ वर्ष पूर्व ही हो गई है। वे कोलकाता में रहकर गोलगप्पा बेचा करते थे। वह अपने बुआ के यहां बनिया विगहा गांव जा रही थी।

प्रोफेसर के बेटे ने की साइबर ठगी, गिरफ्तार कर दिल्ली पुलिस ले गई अपने साथ

नवादा : साइबर अपराध से जुड़े एक मामले में दिल्ली पुलिस ने नगर के मिर्जापुर मोहल्ले से राहुल कुमार नामक युवक को गिरफ्तार किया है। युवक मिर्जापुर निवासी प्रो. बैजनाथ प्रसाद का पुत्र बताया गया है। दिल्ली के साइबर थाना सफदरगंज से एसआइ अजीत सिंह यादव के नेतृत्व में पहुंची तीन सदस्यीय टीम ने नगर थाना की पुलिस की मदद से आरोपित को उसके घर से गिरफ्तार किया।

ठगी के बाद बीपीएससी की परीक्षा में भी हुआ शामिल

पुलिस के अनुसार आरोपित नोएडा में एक्सिस बैंक में काम किया करता है। आरोप है कि उसने फर्जी तरीके से एक व्यक्ति के बैंक खाते से 71 हजार रुपये की निकासी कर ली। जिसे लेकर साइबर थाना सफदरगंज में प्राथमिकी दर्ज कराई गई थी। बीपीएससी की परीक्षा देने के लिए आरोपित 5 मई को नवादा आ गया था। तकनीकी अनुसंधान में आरोपित के नवादा में होने की सूचना पर दिल्ली पुलिस पहुंची और आरोपित को गिरफ्तार कर लिया।

आरोपित को गिरफ्तार करने पहुंची दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने विस्तृत जानकारी नहीं दी है। लेकिन बताया जाता है कि बैंक में कार्य करता था युवक और किसी के अकाउंट से हेराफेरी कर रुपया उड़ा लिया था जिसके बाद अज्ञात साइबर अपराध के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गई थी।

मोबाइल डिटेल खंगालते पहुंची पुलिस

मोबाइल डिटेल खंगालने के बाद नवादा के युवक का नाम सामने आया जिसके बाद पुलिस ने युवक की घर को चारों तरफ से घेराबंदी कर गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार युवक ने बताया कि हमें ऐसी कोई जानकारी नहीं है और हमारे उपर कोई साइबर क्राइम का मामला भी दर्ज कभी नहीं हुआ है लेकिन पुलिस के द्वारा जो जानकारी दी गई इसमें हमारा कोई हाथ नहीं है। हम बैंक में जॉब करते हैं और इस तरह का कोई कार्य हमने नहीं किया है। हमें फंसाने की कोशिश की गई है।

फरार प्रेमी-प्रेमिका बरामद

नवादा : जिले के अकबरपुर पुलिस ने पिथौरी गांव से फरार प्रेमी-प्रेमिका को मोगलसराय से बरामद किया है। दोनों को 164 के बयान न्यायालय में दर्ज कराने के बाद दंडाधिकारी के आदेश के आलोक में अग्रेतर कार्रवाई की जायेगी। थानाध्यक्ष अजय कुमार ने बताया कि पिथौरी गांव की स्नातक दो में पढ़ने वाली कहकशां प्रवीण का प्रेम माखर गांव के दीपक कुमार के साथ हो गया। दीपक भी स्नातक दो का छात्र है। नवादा से आने जाने के क्रम में दोनों एक दूसरे को दिल दे बैठे।

प्रेम के आगे मजहब दिवार बना था। ऐसे में दोनों ने घर छोड़ने का फैसला किया तथा 14 मई को दोनों फरार हो गये. घर नहीं पहुंचने पर पिता ने दीपक पर पुत्री के अपहरण की प्राथमिकी दर्ज करायी। प्राथमिकी दर्ज कर खोजबीन आरंभ की। दोनों के मोबाइल लोकेशन के आधार पर मोगलसराय में होने के आधार पर त्वरित कार्र्वाई कर गिरफ्तार कर लिया। दोनों के बालिग होने के कारण न्यायालय में 164 के तहत बयान दर्ज कराने के बाद दंडाधिकारी के आदेश के आलोक में अग्रेतर कार्रवाई की जायेगी।

पीयूसीएल की बैठक में अकेला की रिहाई की मांग

नवादा : सोमवार को नगर के प्रसाद बिगहा पीयूसीएल कार्यालय में मानवाधिकार संगठन पीयूसीएल के कार्यकारिणी समिति की एक बैठक जिलाध्यक्ष दिनेश सिंह की अध्यक्षता में हुई। बैठक में पीयूसीएल के जिलामंत्री दिनेश कुमार अकेला की नगर थाना पुलिस द्वारा गिरफ़्तारी पर विशद चर्चा हुई। वक्ताओं ने कहा कि दिनेश कुमार अकेला जनसंघर्षों के नायक रहे हैं और मानवधिकार पर किसी भी हमले का प्रतिकार करने में कोई देर नहीं की है। उनकी गिरफ्तारी एक साजिश के तहत फर्जी केश बनाकर किया गया है।

यह बात सत्य है कि जिस मोहल्ले में वे रहते हैं वह महादलितों का मुहल्ला है और यहां पुलिस प्रसाशन की मिलीभगत से लंबे समय से शराब का धंधा किया जाता रहा है। दिनेश कुमार अकेला ने इसके लिए कई बार नवादा पुलिस के विरुद्ध आंदोलन चलाया। पिछले महीने मिर्जापुर मोहल्ले में हुई वारदात से दिनेश कुमार अकेला का कोई लेना देना नहीं है किन्तु माफिया गिरोह की मिलीभगत से नवादा पुलिस ने झूठा मुकदमा बनाकर प्राथमिकी दर्ज कर दिया और एक साजिश के तहत देर रात को उन्हें अपने घर से उठा लिया।

लगभग एक महीना बाद भी अदालत में कई तरह के दाव-पेंच भिड़ा कर अकेला को बेल होने से रोका जा रहा है। उपस्थित सदस्यों ने एक प्रस्ताव पारित कर नवादा पुलिस के इस कुकृत्य की निंदा की और मांग की है कि दिनेश कुमार अकेला को शीघ्र अतिशीघ्र रिहा किया जाय। बैठक में डॉ सुनीति कुमार, उमेश प्रसाद, शशिभूषण शर्मा, शम्भु विश्वकर्मा, मुकुलेश कुमार, ओंकार निराला, प्रो नकुल लाल, विपिन सिंह आदि शामिल थे।

ओवरब्रिज निर्माण स्वीकृति का एकमात्र श्रेय सांसद को देना अन्य जनप्रतिनिधियों का अपमान:- विभा देवी

नवादा : नगर स्थित एक नम्बर रेलवे गुमटी के पास ओवरब्रिज बनाने की चिरप्रतीक्षित मांग पर केंद्र सरकार ने संज्ञान लेते हुए ओवरब्रिज निर्माण का आदेश निर्गत कर दिया है. यह जिलेवासियों के लिए काफी हर्ष की बात है, किन्तु इसका शत-प्रतिशत श्रेय नवादा सांसद चन्दन सिंह को देना जनप्रतिनिधियों और यहां की आम जनता के वर्षों के संघर्ष और आंदोलन को न केवल नजरअंदाज करना है बल्कि जनसंघर्षों की अहमियत को ख़ारिज करना भी है।

राजद विधायक विभा देवी ने उपर्युक्त टिप्पणी करते हुए कहा कि जिस समय चन्दन सिंह को नवादा की राजनीति से दूर-दूर तक कोई नाता नहीं था उस समय से यहां के लोगों ने कई वर्षों तक लगातार इस मांग को लेकर स्टेशन परिसर में धरना प्रदर्शन किया था। पूर्व राज्यमंत्री आदरणीय राजबल्लभ प्रसाद के नेतृत्व में गठित दमन विरोधी मोर्चा के बैनर तले कई वर्षों तक महीने के आखरी दिन धरना का आयोजन किया जाता था। पहले कॉमरेड रामदेव प्रसाद की अध्यक्षता में उसके बाद कॉमरेड नरेशचन्द्र शर्मा की अध्यक्षता में स्टेशन परिसर में ही टेंट गाड़कर आंदोलन चलाया गया।

राजद के निवर्तमान नेता अनिल मेहता ने भी राजबल्लभ प्रसाद के निर्देश पर आंदोलन को तीब्रता प्रदान की थी। रेल विभाग ने इस प्रदर्शन के दबाब में स्थल निरीक्षण और मिट्टी जांच भी करवाई थी। जब कभी भी यहां रेल प्रबन्धक का दौरा होता था दमन विरोधी मोर्चा के लोग आवेदन देकर प्रमुखता से ओवरब्रिज बनाने की मांग करते थे। इसके अलावे बरहगैनियाँ पैन की मुक्ति और सफाई का मुद्दा भी जोरों से उठाया गया था जो आज भी जारी है। हाल के दिनों में भी यह सिलसिला जारी रहा।

चालू वर्ष के मार्च महीने में रेल प्रबंधक के आगमन पर एक प्रतिनिधि मण्डल भेजकर ओवरब्रिज बनाने की मांग प्रमुखता के साथ की थी। रेल प्रबन्धक ने इसपर संज्ञान लेते हुए शीघ्र कार्रवाई करने का आश्वाशन दिया था। इसी प्रकार इस बहुप्रतीक्षित मांग के लिए कई जनसंगठनों ने न केवल भरपूर प्रयास किया बल्कि अपने अपने संसाधनों के अनुकूल संघर्ष भी किया।

जब इस संबंध में भारत सरकार के माननीय मंत्री नितिन गडकरी ने आदेश निर्गत किया तो एक व्यक्ति को इसका श्रेय देकर लंबे समय तक किये गए आंदोलन को नजरअंदाज किया जा रहा है। हालांकि काम प्रारंभ कराने के लिए भी अभी संघर्ष करना शेष है विधायक ने घोषणा की है कि ओवरब्रिज में कार्य शुरू होने तक संघर्ष जारी रहेगा। उन्होंने नवादा की जनता से अपील की है कि हमें एकजुटता के साथ इस मांग के साथ खड़ा रहना है।

लोक समित्ति का 45 वाँ स्थापना दिवस की तैयारी पर चर्चा

नवादा : लोक समिति की 45 वां स्थापना दिवस के अवसर पर प्रांतीय सम्मेलन की तैयारी को ले नवादा जिला लोक समिति तत्वधान में प्रखंड मुख्यालय नारदीगंज में सोमवार को कार्यकर्ताओं ने बैठक का आयोजन किया। अध्यक्षता बिहार प्रदेश लोक समिति के प्रांतीय मंत्री सह कहुआरा ग्राम पंचायत के सरपंच नागेंद्र कुमार सिन्हा ने की। बैठक में उपस्थित बिहार प्रदेश लोक समिति के प्रांतीय महामंत्री शिवजी सिंह ने कहा कि लोक समिति एक निर्दलीय राष्ट्रीय जन संगठन है। जिसकी स्थापना 30 जून 1977 को लोकनायक जयप्रकाश नारायण ने किया था। जिसके प्रथम अध्यक्ष लोक नायक जयप्रकाश थे।

अभी वर्तमान में लोक समिति का राष्ट्रीय अध्यक्ष देश के जाने-माने सामाजिक कार्यकर्ता एवं गांधीवादी चिंतक श्री गिरिजा सतीश हैं। इस वर्ष लोक समिति का स्थापना का 45 वर्ष पूरा हो रहा है, लोक समिति अपना 45 वां स्थापना दिवस आगामी 30 जून 2022 को देश के महान स्वतंत्रता सेनानी एवं सर्वोदयी नेता लोकनायक जयप्रकाश नारायण की पैतृक गांव एवं जन्मभूमि सिताब दियारा (छपरा) में प्रांतीय प्रांतीय कार्यकर्ता सम्मेलन के रूप में मनाने का निर्णय लिया है।

बिहार प्रदेश लोक समिति के प्रांतीय मंत्री एवं सरपंच सिन्हा ने कहा कि लोक समिति अपने स्थापना काल से ही भ्रष्टाचार, महंगाई, शिक्षा, बेरोजगारी, भूमिहीनों को जमीन, स्वास्थ्य, पानी, बिजली, सड़क, जातीय संप्रदायिकता, पूर्ण शराब बंदी, किसान मजदूरों एवं महिला सशक्तिकरण जैसे मुद्दों को लेकर काफी सक्रिय रही है। वही कुटीर एवं लघु, पशुपालन उद्योग खड़ा कर हमलोग गांव का समुचित विकास चाहते हैं। मौके पर विजय कुमार, प्रकाश साव, ब्रह्मदेव प्रसाद, बबीता देवी, लक्ष्मी देवी, विष्णुदेव पासवान, बरनी देवी समेत अन्य लोग मौजूद रहें।

Leave a Reply