Home बिहार अपडेट नवादा 15 जनवरी : नवादा की मुख्य खबरें

15 जनवरी : नवादा की मुख्य खबरें

0

जद यू पंचायत अध्यक्ष बने धन्नजंय व अमित

नवादा : जिले के नारदीगंज प्रखंड के ननौरा व नारदीगंज पंचायत जद यू कार्यकर्ताओं की बैठक शुक्रवार को नारदीगंज निजी भवन में आयोजित हुई। अध्यक्षता जदयू प्रखंड अध्यक्ष सुनील कुमार कुशवाहा ने की।

बैठक में सर्वसम्मति से ननौरा पंचायत में धन्नजय कुमार कुशवाहा व नारदीगंज पंचायत में अमित साव को पंचायत अध्यक्ष के पद पर चयन किया गया। इस दौरान अर्जुन यादव,देवनंदन मांझी, शंकर प्रसाद,विनय गुप्ता,शंकर यादव समेत अन्य जदयू कार्यकर्ता मौजूद रहे।

निरीक्षण के दौरान अनुपस्थित रहने वाले अधिकारी व कर्मी पर होगी कार्रवाई

नवादा : जिला परिषद उपाध्यक्ष निशा कुमारी ने शुक्रवार को नारदीगंज प्रखंड मुख्यालय के कई सरकारी कार्यालयों का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान कई अधिकारी व कर्मी गायब मिले तो कई सरकारी कार्यालयों का ताला बंद मिला। तदोपरांत उन्होंने कई अधिकारी से दूरभाष पर सम्पर्क करने का प्रयास किया तो अधिकारी ने मोबाइल रिसीव करना मुनासिब नहीं समझा। स्थिति को देखकर उपाध्यक्ष का तेवर जहां गर्म हो गया,वही नाराजगी जताते हुए अनुपस्थित रहने वाले अधिकारी व कर्मियों के विरूद्ध विधि सम्मत कार्रवाई करने की बात कही।

निरीक्षण के उपरांत उन्होंने बताया कि प्रखंड में स्थित सरकारी कार्यालयों की स्थिति बदतर है। अधिकारी व कर्मी बेलगाम हो गये हैं। निरीक्षण के दौरान आपूर्ति कार्यालय,पर्यवेक्षक कार्यालय,बीआरसी भवन बंद पाया गया, वहीं सीडीपीओ कार्यालय में सीडीपीओ अनुपस्थित मिली। सीओ कार्यालय से सीओ अनुपस्थित पाये गये

जिप उपाध्यक्ष ने कहा स्थिति को देखते हुए जब प्रखंड कल्याण पदाधिकारी के मोबाइल पर तीन वार सम्पर्क किया,तो उन्होंने मोबाइल रिसीव करना मुनासिब नही समझा। कहा गया कि प्रखंड कार्यालय में बीडीओ अमरेश कुमार मिश्र के सांथ संयुक्त निरीक्षण किया गया,जिसमें बीएओ अनुपस्थित मिलें। इन सभी मामले को लेकर जिप उपाध्यक्ष ने बीडीओ से पूछा तो उन्होंने बताया कोई भी अधिकारी (पर्यवेक्षक) व कर्मी किसी भी प्रकार की सूचना व अवकाश लेकर नहीं गये हैं। उन्होंने मामले को गंभीरता से लेते हुए अनुपस्थित रहने वाले अधिकारी व कर्मी के विरूद्ध वरीय पदाधिकारी को अग्रसारित करने की बात कही ताकि व्यवस्था में सुधार हो,और जनहित में सभी लोगों के काम का निष्पादन सही तरीके से हो सके।

इसके अलावा दो दिन पूर्व ओलावृटि से दलहन, तेलहन फसल की क्षतिपूर्ति की जांच कर किसानों को मुआवजा ,नारदीगंज बाजार में सामुदायिक शौचालय निर्माण करने समेत अन्य जनहित के मुद्दों पर बीडीओ से वार्तालाप कर ध्यान दिलाया। बीडीओ मिश्र ने हर समस्याओं का समाधान करने का भरोसा दिलाया। मौके पर समाजसेवी संतोष कुमार चौधरी,प्रियरंजन सिंह,गोल्डन पाण्डेय,पंचायत समिति प्रतिनिधि मुकेश कुमार शामिल रहे।

शिक्षा मंत्री ने शिक्षक नियोजन को ले दिया निर्देश

नवादा : शिक्षा मंत्री बिहार की अध्यक्षता में शिक्षक नियोजन काउन्सिलिंग के लिए वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से बैठक आयोजित की गयी जिसमें यश पाल मीणा जिला पदाधिकारी सहित अन्य पदाधिकारी सम्मिलित हुए।

शिक्षा मंत्री बिहार विजय कुमार चौधरी की अध्यक्षता में शिक्षक नियोजन से संबंधित दिनांक 17 जनवरी 2022 से 28 जनवरी 2022 तक होने वाली काउन्सलिंग के संबंध में जिलाधिकारी और शिक्षा विभाग के पदाधिकारियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग आयोजित की गयी। शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार भी इस विडियो कॉन्फ्रेंसिंग में सम्मिलित हुए।

बैठक में निर्देश दिया गया कि तृतीय चरण शिक्षक नियोजन से संबंधित काउन्सिलिंग 17 जनवरी से 28 जनवरी 2022 तक होगी जिसमें पूर्ण पारदर्शिता के साथ शिक्षक नियोजन का कार्य करने के लिए कई आवश्यक निर्देश दिया गया।

उन्होंने कहा कि विडियोग्राफी के माध्यम से निष्पक्षता पूर्वक शिक्षक नियोजन काउन्सिलिंग को सरकार के कोविड गाईड लाइन का अनुपालन करते हुए करेंगे। इसमें अंतिम मेघा सूची का प्रकाशन जिले के एनआईसी के बेव पोर्टल पर कउन्सिलिंग की तिथि से एक सप्ताह पहले अपलोड कर देना है। किसी भी नियोजन इकाई के द्वारा अनियमितता नहीं हो, इसके लिए विशेष निगरानी रखने का निर्देश दिया गया।

भूमि विवाद को ले पंचायतों में कैंप लगा करें समाधान:-डीएम

नवादा : यशपाल मीणा की अध्यक्षता में समाहरणालय के डीआरडीए सभागार में भूमि विवाद के निराकरण के लिए समीक्षात्मक बैठक हुई। उन्होंने कहा कि भूमि विवाद और मद्य निषेध बिहार सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता में है।

सप्ताह के प्रत्येक शनिवार को अंचलाधिकारी और संबंधित थानाध्यक्ष के द्वारा भूमि विवाद के निवारण के लिए बैठक बुलाई जाती है। इसमें कई विवादों का निवारण भी किया जा चुका है। उन्होंने कहा कि भूमि विवाद से संबंधित संयुक्त प्रतिवेदन अंचलाधिकारी और संबंधित थानाध्यक्ष के हस्ताक्षर से भेजना सुनिश्चित करेंगे। भूमि विवाद से संबंधित सभी प्रकार के पंजियों को संधारण करने के लिए कई आवशयक निर्देश दिया गया।

भूमि विवाद का मुख्य कारण जमीन की नापी नहीं होना और नापी से नाखुश होना बताया गया। भूमि विवाद को समाधान करने के लिए जिलाधिकारी के द्वारा सभी आवशयक ऐक्ट के बारे में विस्तार से अधिकारियों को जानकारी दी गयी। उन्होंने कहा कि अंचलों में स्थित सभी सरकारी भूमि का भौतिक सत्यापन करा लें। सरकारी जमीन के विवाद को अतिक्रमणवाद चलाते हुए मुक्त करने के लिए कई आवशयक निर्देश दिया गया।

निजी जमीन के संबंध में बताया गया कि कहीं-कहीं बन्दोवस्त की गयी जमीन को दबंगों के द्वारा कब्जा कर लिया जाता है। उन्होंने अपर समाहर्त्ता उज्जवल कुमार सिंह को इसके समाधान के लिए मॉनेटरिंग करने का निर्देश दिया। निजी भूमि विवाद का समाधान के लिए कई निर्देश दिया। ग्राम कचहरी में प्रतिनियुक्त न्याय मित्र, सरपंच आदि को भी भूमि विवाद से संबंधित पंचायतों में आयोजित की जाने वाली शिविर में आमंत्रित करने का निर्देश दिया गया।

उन्होंने कहा कि जन प्रतिनिधियों के साथ भी पंचायतों में भूमि विवाद की समस्या का निराकरण के लिए सहयोग लें। दखल दिहानी की भी बैठक में विस्तृत समीक्षा की गयी। सभी अंचलाधिकारी को क्षेत्र भ्रमण का निर्देश दिया गया। भूमि विवाद के कारण किसी भी परिस्थिति में विधि-व्यवस्था की समस्या उत्पन्न नहीं होनी चाहिए। सभी अंचलों के भूमि विवाद की विस्तृत समीक्षा बैठक में की गयी।

जिलाधिकारी ने सभी अंचलाधिकारी को पंचायतवार कैम्प लगाने का निर्देश दिया। भूमि विवाद स्थल का चयन कर कैम्प में विवादों को समाप्त करने के लिए कई आवशयक निर्देश दिया गया। इस माह के अंत तक सभी पंचायतों में भूमि विवाद को समाप्त करने के लिए विशेष शिविर लगाने का निर्देश दिया।

भूमि विवाद के जटिल समस्या हो तो पंजी संधारण करने का निर्देश दिया गया और वरीय पदाधिकारियों को संज्ञान में लाने के लिए कहा। राजीव कुमार डीआईओ को निर्देश दिया गया कि भूमि विवाद के समस्या समाधान के लिए मोबाईल ऐप बनाएं। तामिला का प्रस्ताव अनुमंडल पदाधिकारी नवादा और रजौली को देने का निर्देश दिया गया। जो अंचलाधिकारी और थानाध्यक्ष भूमि विवाद के निराकरण में उत्कृष्ट कार्य करेंगे उन्हें जिला स्तर पर सम्मानित किया जायेगा।

जिलाधिकारी ने सभी अंचलाधिकारी को निर्देश दिया कि दस एकड़ सरकारी जमीन को चिन्हित कर सुरक्षित रखें। बैठक में उज्जवल कुमार सिंह अपर समाहर्त्ता, मो0 मुस्तकीन खॉ, भूमि सुधार उप समाहर्त्ता, उमेश कुमार भारती अनुमंडल पदाधिकारी नवादा सदर, सत्येन्द्र डीपीआरओ, जिले के सभी अंचलाधिकारी और थानाध्यक्ष आदि उपस्थित थे।

टास्क फोर्स की बैठक में धान अधिप्राप्ति की समीक्षा

नवादा : यशपाल मीणा जिला पदाधिकारी के निर्देश के आलोक में उज्जवल कुमार सिंह अपर समाहर्त्ता की अध्यक्षता में कार्यालय प्रकोष्ट में जिला टास्क फोर्स की बैठक हुई। इसमें धान अधिप्राप्ति के लिए किसानों के निबंधन, अधिप्राप्ति की समीक्षा, किसानों के भुगतान की समीक्षा, कैश क्रेडिट कार्ड की समीक्षा, सीएमआर की आपूर्ति और भुगतान आदि की विस्तृत समीक्षा की गयी।

उन्होंने स्पष्ट कहा कि धान और सीएमआर अधिप्राप्ति को लक्ष्य के अनुरूप कार्य करना सुनिश्चित करें। धान अधिप्राप्ति की तिथि 15 नवम्बर 2021 से 15 फरवरी 2022 तक एवं सीएमआर की प्राप्ति 15.11.2021 से 30.06.2022 तक निर्धारित है।

जिले में निबंधित मिलों की संख्या 33 है जिसमें 06 उसना और 27 अरवा का है। प्रति घंटा मिलिंग क्षमता 111 एमटी है। धान अधिप्राप्ति के लिए क्रियाशील समितियों की संख्या 188 है जिसमें से 180 पैक्स और 08 व्यापार मंडल है।

जिले में अबतक लक्ष्य के विरूद्ध 70336 एमटी अर्थात् 43.96 प्रतिशत से अधिक धान की अधिप्राप्ति की जा चुकी है। धान अधिप्राप्ति में संलग्न किसानों की संख्या 7878 है। अबतक 7188 किसानों को भुगतान के लिए एडवाईस जेनरेट कर दिया गया है। 6599 किसानों को भुगतान किया जा चुका है। अधिप्राप्ति धान के समतुल्य सीएमआर की मात्रा 47828 एमटी है। आपूर्ति किये गए सीएमआर की मात्रा 9425 एमटी है।

धान अधिप्राप्ति के लिए निबंधित किसानों की संख्या सबसे अधिक अकबरपुर में 3440 है और सबसे कम काशीचक प्रखंड जहां 1045 किसान निबंधित हैं। जिले में रैयत कृषकों की कुल संख्या 15414 है जबकि गैर रैयत किसानों की संख्या 10716 है। बैठक में मो0 शहनबाज जिला सहकारिता पदाधिकारी, राजवर्द्धन वरीय उप समाहर्त्ता, सत्येन्द्र प्रसाद जिला जन सम्पर्क पदाधिकारी, सहायक प्रबंधक एसएफसी आदि पदाधिकारी उपस्थित थे।

NO COMMENTS

Leave a Reply

%d bloggers like this: