23 अप्रैल : नवादा की मुख्य खबरें

0

ससमय करें निरीक्षण,समय पर उपलब्ध करायें प्रतिवेदन :- डीएम

नवादा : गुरुवार को जिला पदाधिकारी यशपाल मीणा के द्वारा सभी वरीय प्रभारी पदाधिकारी को निर्देश दिया गया है कि कोविड-19 के संक्रमण को नियंत्रित करने एवं बेहतर स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के लिए जिला के सभी प्रखंड/अंचल के नामित सभी वरीय प्रभारी पदाधिकारी अपने-अपने आवंटित प्रखंडों में ससमय पहुंचकर निम्नलिखित बिन्दुओं की समीक्षा कर प्रतिवेदन समर्पित करेंगे।

इसी क्रम में सभी वरीय पदाधिकारी अपने-अपने क्षेत्र में पहुंचकर निम्न बिन्दुओं पर समीक्षा किये हैं। यथा :- (1) कोविड गाइड लाइन का अनुपालन (2) प्रखंड विकास पदाधिकारी द्वारा मास्क वितरण योजना की समीक्षा (3) दुकानों/प्रतिष्ठानों के संबंध में जारी कोविड-19 गाईड लाइन का अनुपालन, शाप स्टेगरिंग के संबंध में अंचल अधिकारी/कार्यपालक पदाधिकारी, नगर परिषद, नवादा, नगर पंचायत वारिसलीगंज/हिसुआ के द्वारा तैयार किये गए स्थल के संबंध में समीक्षा (4) मोटर वाहन, दो पहिया वाहनों में कोविड गाइड लाइन के अनुपालन की स्थिति (5) कोविड-19 टेस्टिंग (6.) कोविड-19 टीकाकरण आदि की समीक्षा किये। जिला पदाधिकारी यश पाल मीणा के द्वारा सभी प्रखंडों में माइकिंग के माध्यम से अपील का प्रचार-प्रसार करने का निर्देश किया गया है।

इस अपील में सभी जिलावासियों को सुरक्षा हेतु सूचित किया गया है कि कोरोना संक्रमण के बचाव के लिए कृप्या मास्क का उपयोग करें, भीड़-भाड़ वाले इलाकों में नहीं जांय। दो व्यक्तियों के बीच दो गज की दूरी अवश्य रखें तथा नियमित अंतराल पर साबुन से अपना हाथ धोयें, जो भी व्यक्ति राज्य के बाहर से आये हैं, वे अपना कोविड-19 जांच अवश्य करायें। कोविड-19 जांच की सुविधा प्रत्येक प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र/शहरी प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र एवं अन्य उच्चतर स्वास्थ्य केन्द्र संस्थानों के अलावे शहरी क्षेत्र में नगर भवन, नवादा, रेलवे स्टेशन परिसर एवं प्रखंड कार्यालय, नवादा सदर में कोविड टेस्टिंग की सुविधा उपलब्ध है। सभी जिला वासियों से अपील है कि आप अपना टेस्टिंग अवश्य करायें ताकि महामारी से बचा जा सके।

जिला स्वास्थ्य समिति द्वारा दिये गए आज तक का कोविड-19 से संबंधित प्रोग्रेस रिपोर्ट निम्नवत है :-

कुल पॉजिटिव केस-5164, कुल एक्टिव केस- दिनांक 01.03.2021 से 20.04.2021 तक 1207, 21.04.2021 को 203 कुल 1410, डिस्चार्ज 78, अबतक एक्टिव केस-931, कुल रिकवर्ड -4219, टोटल डेथ-फर्स्ट वेभ में 28 एवं सेकेन्ड वेभ में 05, कुल-33, कुल होम आइसोलेन- 925, टोटल इन्स्टीच्यूनल आइसोलेन-06, टोटल सैम्पल कलेक्टेड-आरटीपीसीआर- 20.04.2021 को 104717, 21.04.2021 को 501, कुल-105218, ट्रूनेट-दिनांक 20.04.2021 को 41293, 21.04.2021 को 150 कुल-41443, एन्टीजन-दिनांक 20.04.2021 को 574972, 21.04.2021 को 1643 कुल-576615, कुल टेस्टिंग की संख्या-723276, टोटल रिजल्ट रिसिव्ड-722254, टोटल कन्टेंमेंट जोन एवं माइक्रो कन्टेंमेंट जोन- 329$159 कुल 488, टोटल स्केल डाउन-366, टोटल एक्टिव कन्टेंमेंट जोन -122,

टोटल कोविड केयर सेंटर एवं बेड-बाल सुधार गृह में 100 बेड, टोटल डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर एण्ड बेड-नवादा सदर में 60 बेड एवं एसडीएच रजौली में 75 बेड, टोटल एडमिन इन डीसीएचसी-06 सदर अस्पताल, टोटल ऑक्सीजन सिलेंडर-171, (जम्बो सीलेन्डर 50 सदर अस्पताल में एवं एसडीएच रजौली में 55 कुल-105) बी टाइप सिलेन्डर 37 सदर अस्पताल में, एसडीएच रजौली में 29, कुल-66, टोटल नम्बर ऑफ आई0सी0यू0 बेड-10, नम्बर ऑफ पीएचसी स्टार्टेड कोविड-19 सैम्पल टेस्टिंग-14, जिला कन्ट्रोल रूम-01, वैक्सिनेसन साईट-100, वैक्सिनेसन स्टेटस- पहला डोज-20.04.2021 को 119374, 21.04.2021 को 691, कुल 120065, दूसरा डोज-20.04.2021 को 19087, 21.04.2021 को 672 कुल 19759, कुल 1$2 डोज की संख्या- 139824, रेलवे स्टेन पर कुल सैम्पल टेस्टिंग-60, पॉजिटिव-05

सिरदला से कोलकाता जाने वाली बस संचालक के बीच मारपीट

नवादा : गुरुवार की संध्या करीब छह बजे सिरदला पूर्वी बस स्टैंड में महालक्ष्मी ट्रेवल्स एवम् रंजीत ट्रेवल्स के चालक उप चालक के बीच बस चलाने के विवाद पर नोक झोंक के बाद आंशिक रूप से मारपीट कि घटना के बाद बाजार में अफरा तफरी मच गयी। सूचना के बाद सिरदला थानाध्यक्ष आशीष कुमार मिश्रा ने एस अाई संजीव कुमार के माध्यम से मामले को शांत कराया।

बताया जाता है कि रंजीत ट्रेवल्स पूर्व से ही सिरदला कोलकाता चलती थी। लेकिन पुनः महालक्ष्मी ट्रेवल्स बस चलने लगा। जिसके बाद डोमन मालाकार महालक्ष्मी ट्रेवल्स बस को रोक दिया। विवाद बढ़ने के बाद बस स्टैंड संचालक शंकर कुमार ने महालक्ष्मी बस चालक अशोक कुमार मूर्तिया को समझा बुझाकर मामले को शांत कराया।

बताते चले कि सिरदला से कोलकाता जाने वाली सभी बस वगैर सरकारी परमिट के परिचालन होने से सरकार को प्रति वर्ष हजारों रुपया का नुकसान हो रहा है। बता दें कि सिरदला परिवहन विभाग के प्रशासन के द्वारा ध्यान नहीं दिया गया तो बर्चस्व कि लड़ाई में बड़ी घटना होने संभावना बन गई है। फिलहाल सिरदला पुलिस बस स्टैंड पर नजर बनाए हुए हैं।

डीएम-एसपी ने दिया नागरिकों के प्रश्नों का जवाब

नवादा : गुरुवार को जिला पदाधिकारी यश पाल मीणा, पुलिस अधीक्षक डीएस सावलाराम एवं प्रभारी सिविल सर्जन डॉ0 अशोक कुमार द्वारा कोविड-19 के दूसरे लहर की भयावहता को देखते हुए डिस्ट्रिक्ट एडमिनिस्ट्रेशन, नवादा फेसबुक पेज के माध्यम से लाइव वार्ता आयोजित की गयी। इस अवसर पर जिला पदाधिकारी यशपाल मीणा द्वारा जिले भर में कोविड-19 संबंधित अद्दतन स्थिति का ब्योरा देते हुए नागरिकों के प्रश्नों एवं शंकाओं का समाधान किया।

सभी यूजर्स को जिले की कोविड-19 से संबंधित स्थिति से अवगत कराते हुए संक्रमण से बचाव हेतु जिला प्रशासन द्वारा की गयी तैयारियों के बारे में उन्होंने बताया। सिविल सर्जन द्वारा सभी यूजर्स को बताया गया कि जिले में कोविड-19 की जांच सभी पीएचसी स्तर पर की जा रही है। शहरी क्षेत्रों में नगर भवन, नवादा, रेलवे परिसर नवादा एवं प्रखंड कार्यालय, नवादा सदर में कोविड जॉच की जा रही है। उन्होंने सभी से अनुरोध किया कि ग्रामीण स्तर पर एवं शहरी स्तर पर कोरोना जांच निश्चित रूप से करायें एवं कोविड गाइड लाइन का पालन करें।

जिले में महामारी से बचाव हेतु ऑक्सीजन, भेंडीलेटर, कोविड कीट आदि की व्यवस्था पर्याप्त मात्रा में की गयी है। घबराएं नहीं, मास्क जरूर पहनें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन जरूर करें एवं सेनिटाइजर का प्रयोग के साथ-साथ अपने हाथों को साबुन से धोते रहें। कोरोन चेन को तोड़ने के लिए कोविड गाइड लाइन के अनुसार श्रेणीवार दुकानों को खोलने का निर्देश दिया गया है।

श्रेणी-01-किराना दुकान, डेयरी/मिल्क बूथ, मेडिकल/दवा की दुकान, सभी अस्पताल, ई-कॉमर्स सेवा, अनाज मंडी, फल/सब्जी मंडी, मीट एवं मछली की दुकानें, पशु चारा की दुकान, एचएकआरपी की दुकान, ऑटोमोबाईल्स, टायर एवं ट्यूब, ल्यूवरीकैन्ट, स्पेयर पार्टस (मोटर वाहन/मोटर साईकिल/स्कूटर मरम्मत सहित), ऑटोमोबाईल वर्क्स शॉप/गैरेज/सर्विसिंग सेंटर, पेट्रोल पम्प/गैस एजेंसी/अन्य आवयक सेवाएं, निर्माण सामग्री के भण्डारण एवं बिक्री से संबंधित प्रतिष्ठान यथा सीमेंट, स्टील, बालू, स्टोन, मिट्टी, सिमेंट ब्लॉक, प्लास्टिक पाईप, हार्डवेयर सेनेटरी, फिटिंग, लोहा, पेंट, शटरिंग सामग्री, साईकिल/साईकिल मरम्मति की दुकान/मोची ये सभी दुकानों/प्रतिष्ठानों को प्रतिदिन खोलने का निर्देश दिया गया है।

श्रेणी-02-इलेक्ट्रीकल गुड्स, पंखा, कुलर, एयर कंडिनर (बिक्री एवं मरम्मति), इलेक्ट्रॉनिक गुड्स यथा-मोबाईल, कम्प्यूटर, लैपटॉप, यू0पी0एस0 एवं बैट्री (बिक्रय एवं मरम्मति), सैलून, ब्यूटी पार्लर, फर्नीचर की दुकान, सोना चॉदी की दुकान को सोमवार, बुधवार तथा शुक्रवार को खोलने का निर्देश दिया गया है। श्रेणी-03- कपड़ों की दुकान (रेडिमेड वस्त्र की दुकान सहित), बर्तन की दुकान, जूता-चप्पल की दुकान, स्पोर्ट्स/खेलकूद सामग्री की दुकान, ड्राई क्लीनर्स की दुकान, कृषि कार्य यंत्र से जुड़े सभी प्रतिष्ठान, अन्य सभी दुकान जो जो श्रेणी 01 एवं 02 की सूची में नहीं है, मंगलवार, गुरूवार एवं शनिवार को खुलेंगे।

उक्त सभी दुकान/प्रतिष्ठान को निर्धारित दिवसों को संध्या 06ः00 बजे की सीमा तक खोलने का निर्देश दिया गया है एवं सभी लोगों के लिए अनिवार्य होगा कि वे अपने आवासीय क्षेत्र के निकट दुकानों से ही खरीदारी करेंगे, दुकानों/कार्यालयों में सभी के लिए मास्क पहनना अनिवार्य होगा, दुकानों/कार्यालय काउन्टर पर दुकानदार सेनिटाईजर/साबुन वहां के कर्मियों/आगंतुकों के उपयोग हेतु निःशुल्क उपलब्ध रखेंगे, सोशल डिस्टेंसिंग बनाये रखेंगे, सोशल डिस्टेंसिंग नहीं रहने पर संबंधित परिसर के विरूद्ध कार्रवाई करते हुए प्रतिष्ठान को तुरंत बंद करने की कार्रवाई की जायेगी, सर्दी/खांसी के लक्षणों वाले किसी को भी काम करने या काउण्टर के पास आने की अनुमति नहीं होगी। फेसबुक यूजर्स द्वारा पूछे गए सवालों का उन्होंने समाधान के साथ उत्तर दिया।

लाइव चार्ट में यूजर्स यथा सूरज जी, बिट्टू जी, विक्की, मोनू, विकास, फैयाज, महेश, सुधीर जी, अनिल जी द्वारा पूछे गए प्रश्नों का उन्होंने जबाव दिया। जिले भर में कोविड गाइड लाइन का पालन करते हुए उल्लंघन करने वालों पर मास्क न पहनने वालों पर अर्थ दण्ड लगाया जा रहा है। दुकानदारों द्वारा उल्लंघन किये जाने पर दुकानें सील की जा रही है। उन्होंने फेसबुक से जुड़े सभी यूजर्स से आग्रह करते हुए कहा कि अपने स्तर से ग्रामीण क्षेत्रों में आम जनों के बीच कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाय। लोगों को प्रेरित किया जाय कि वे अपना वैक्सिनेशन अवश्य करायें साथ ही कोरोना जांच भी हर हाल में करायें ताकि भविष्य में कोरोना चेन को तोड़ा जा सके।

मेसकौर अंचलाधिकारी अलख निरंज यादव हुए कोरोना संक्रमित

नवादा : जिले के मेसकौर अंचलाधिकारी अलख निरंजन प्रसाद यादव कोरोना संक्रमित हो गए है। गुरुवार 22 अप्रैल को रैपिड एंटीजन किट से की गई जांच में उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके बाद चिकित्सकों की सलाह पर वे होम आइसोलेशन में चले गए। अंचल के साथ ही उनके कार्यालय के एक कर्मी भी पॉजिटिव पाए गए है। पीएचसी स्वास्थ्य प्रबंधक मनोज कुमार सिन्हा ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग के 4 कर्मचारी सहित कुल 22 लोग अबतक कोरोना संक्रमित हुए हैं। सभी होम क्वारंटीन में रखे गए हैं। अंचलाधिकारी का आरटीपीसीआर टेस्ट के लिए सैंपल को पटना भेजा गया है।

एसबीआइ पकरीबरावां में लटका ताला दूसरी ओर पकरीबरावां में स्टेट बैंक के एक कैशियर भी कोराना संक्रमित पाए गए। इसके बाद बैंक को बंद कर दिया गया। रजौली थाना में कार्यरत एक महिला सिपाही भी कोराना संक्रमित हुई हैं। बता दें कि इसके पूर्व रोह के अंचलाधिकारी सौम्या काेरोना संक्रमित हुई थी। जिले में कई अधिकारी कोरोना संक्रमित हो चुके हैं।

नवादा के जिला जज राजेश सेवक नारायण पांडेय, सिविल सर्जल डॉ अखिलेश कुमार मोहन, नवादा के वन प्रमंडल पदाधिकारी अवधेश कुमार ओझा भी कोरोना संक्रमितों में शामिल हैं। नवादा में कोरोना संक्रमितों की संख्या इस वर्ष अबतक 1500 के पार कर गई है। पांच लोगों की मौत हुई है। गत वर्ष और इस वर्ष को मिलाकर अबतक 33 की मौत जिले में होने की पुष्टि प्रशासनिक स्तर पर की गई है।

प्यासा हिरन का बच्चा जंगल से भटककर पहुंचा गांव, ग्रामीणों ने संभाला, वन विभाग को सौंपा

नवादा : जिले के कौआकोल जंगल से भटककर एक शावक (हिरन का बच्चा) गांव में पहुंच गया। ग्रामीणों ने उसे संभाला और वन विभाग को सूचना दिया। सूचना पर पहुंचे वन विभाग के कर्मी ने शावक को अपनी अभिरक्षा में लिया और पुन: जगंल में छोड़ दिया। बताया जाता है कि गुरुवार 22 अप्रैल को कौआकोल प्रखंड के जोगाचक गांव में जंगली हिरन का बच्चा भटकर पहुंच गया।

ग्रामीणों के अनुसार पानी की तलाश में शावक भटककर गांव की ओर आ गया। ग्रामीणों की नजर पड़ी तो उसे देखने के लिए भीड़ उमड़ पड़ी। बाद में ग्रामीणों ने पकड़ा और सूचना वन विभाग को दी। जिसके बाद कौआकोल रेंज ऑफिस के कर्मी पहुंचे और हिरन के बच्चे को बरामद कर पुनः उसे जंगल में छोड़ दिया।

बता दें कि गर्मी का मौसम शुरू होते ही जंगली-जानवरों की परेशानी बढ़ जाती है। भटककर वन्यप्राणी रिहायसी इलाके में पहुंच जाते हैं। गर्मी बढ़ने के साथ ही जंगली क्षेत्र में पानी की भी कमी होने लगती है। प्रत्येक वर्ष जंगली जानवर पानी की तलाश में जंगल से भटक कर गांव की ओर आ जाते हैं। ऐसे में इन जानवरों का शिकार भी किया जाता है। पूर्व के वर्षों में ऐसी घटनाएं सामने आती रहती है। कौआकोल के जंगलों में विभिन्न प्रजातियों का हिरन, सुअर, भालू अच्छी संख्या में है।

रमजान में  सदका-ए-फितर अदा करना भी जरूरी

नवादा : रमज़ान का पाक महीना शुरू हो गया है। जैसे रोजा इस्लाम धर्म के पांच अरकान में एक है वैसे ही ज़कात भी इस्लाम धर्म के पाँच अरकान (आधार स्तम्भों) में से एक है। हर मुस्लिम के लिए ज़कात देना फ़र्ज़ (परम कर्त्तव्य) है। जिस भी मुस्लिम (मर्द या औरत) के पास 7.5 तोला (87.48 ग्राम) सोना है, या उतनी कीमत की संपत्ति है, उसको हर वर्ष अपनी आय का 2.5% ज़कात देनी होती है।

ज़कात गरीब लोगों का हक़, और अमीर लोगों का कर्त्तव्य है। ज़कात का महत्त्व इस बात से ही पता चलता है, कि पाक क़ुरआन में अल्लाह ने ज़कात का जिक्र 32 बार किया है और ज़कात इस्लाम धर्म के पाँच आधार स्तम्भो में से तीसरा स्तम्भ है। वैसे तो आप साल भर सदका खैरात ज़कात दे सकते हैं, लेकिन रमजान में इकट्ठे पूरे साल का ज़कात भी निकाल सकते हैं।

सदका-ए-फितर:-

जिस व्यक्ति पर जकात फर्ज हो, उसको सदका-ए-फितर अदा करना भी वाजिब होता है। लेकिन जकात फर्ज होने के लिए ये शर्त है कि माले निसाब (माल दौलत) पर चांद के हिसाब से एक साल गुजर जाए। मगर सदका-ए-फितर वाजिब होने के लिए ये शर्त जरूरी नहीं है। यदि किसी व्यक्ति के पास माल नहीं है, और चांद रात को अचानक माल और दौलत आ गई तो सुबह होते ही उस पर सदका-ए-फितर वाजिब हो जाएगा।

क़ुरआन व हदीस की रौशनी में ज़कात के मुस्तहिक़ (हक़दार) लोग:-

ज़कात का मक़सद इसलामी समाज में मालदार लोगों से माल लेकर ग़रीब लोगों की आर्थिक रूप से मदद करना है ताकि ग़रीबी का ख़ात्मा हो। मुसलमानों में जो मुफ़लिसी और ग़रीबी मौजूद है वह इस बात का सुबूत है कि ज़कात की सही अदायगी नहीं हो रही है और वह असल हक़दारों तक पूरी तरह नहीं पहुंच रही है।

मजलिस उलमा वा उम्मत के कार्यालय सचिव इनातुल्लाह कासमी कहते हैं :-

आम तौर से लोग इस बात से नावाक़िफ़ हैं कि ज़कात लेने के हक़दार कौन कौन लोग हैं और ज़कात किन लोगों पर फ़र्ज़ है? हर वह शख्स जिसके पास साढ़े सात तोला सोना या 52 तोला चांदी या इस निसाब के मूल्य जितने माल पर साल गुज़र जाए तो उसे उस का चालीसवां हिस्सा यानि ढाई प्रतिशत ज़कात अदा करनी फ़र्ज़ है। क़ुरआन व हदीस में ज़कात को सदक़ा भी कहा गया है।

सूरा ए तौबा की 9वीं आयत का तर्जुमा है-‘‘ज़कात जो हक़ है वह हक़ है फ़ुक़रा (मुफ़लिसों) का और मसाकीन (मुहताजों) का और आमिलीन (ज़कात के काम में जाने वालों) का और मौल्लिफ़तुल क़ुलूब (ऐसे ग़ैर मुस्लिम जिनकी दिलजोई की ज़रूरत हो) का और रिक़ाब (गर्दन छुड़ाने में) का आज़िमीन (क़र्ज़दार) का और सबीलिल्लाह (अल्लाह की राह में जानतोड़ संघर्ष करने वालों) का और इब्नुस्सबील (मुसाफ़िर जो सफ़र में ज़रूरतमंद हो)

अपील :- अभी पूरी दुनिया कोरोना महामारी से जूझ रही है। ऐसे समय में बहुत से लोग परेशान हाल हैं। इस बार मुसलमान पर दोहरी जिम्मेदारी है।अभी अपने आस पास देखें, जो भी गरीब-मजलूम लोग हैं उनकी मदद जरूर करें। ऐसे समय में मदद करने से अल्लाह बरकतों का दरवाजा खोल देता है ।

मजदूरों ने की ठेकेदार की पिटाई

नवादा : जिले के उग्रवाद प्रभावित सिरदला थाना क्षेत्र के सुदूरवर्ती सांढ पंचायत स्थित पंचानपुर गांव में मजदूरों ने ठेकेदार की पिटाई कर दी। आरोप है कि मजदूरों को जबरन सूबे के मुजफ्फरपुर के एक चिमनी ईट भट्ठा पर भेजे जाने के विवाद पर मारपीट की घटना में ठेकेदार घायल हो गया।

बताया जाता है कि 50 हजार दादनी की राशि में 32 हजार रुपया प्रति जुटी भुगतान कर तीन जुटी मजदूर को दो माह पूर्व भेजा था। ईट भट्ठा संचालक के द्वारा मजदूर का शोषण किए जाने के बाद भयभीत सभी मजदूर किसी तरह जान बचाकर घर भाग आया। जिसके बाद गांव पर पहुंचे मजदूर उमेश राजवंशी, कन्हैया राजवंशी एवम् धर्मेन्द्र राजवंशी ने ठेकेदार की पिटाई कर हाथ तोड़ दिया। घायल ठेकेदार ने तीनों आरोपी के विरूद्ध सिरदला थाना में आवेदन देकर कारर्वाई कि गुहार लगायी है।

राजद विधायक की अच्छी पहल, कोरोना संकट में जिले को दिए 50 बेड

नवादा : एक तरफ अस्पतालों में कोरोना मरीज बेड नहीं मिलने के कारण भटकने को मजबूर हैं, वहीं दूसरी तरफ कुछ लोग ऐसे भी है, जिन्होंने इस विकट स्थिति में भी लोगों का साथ नहीं छोड़ा है। ऐसे ही अपनी जिम्मेदारियों को पूरा करने में जुटे हैं नवादा के विधायक मो. कामरान, जिन्होंने अपने फंड से जिले को 50 बिस्तरों की सुविधा उपलब्ध कराई है। उन्होंने कहा है कि यह जनता का पैसा है, जो जनता के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है।

नवादा जिले के राजद के गोविंदपुर विधानसभा के विधायक मोहम्मद कामरान ने बातचीत में बताया कि विधायक फंड की जो पैसा मिली है. वह जनता की पैसा है।और इस वक्त जनता की मदद करना हम राजद के तमाम नेताओं की कर्तव्य है। उसी कर्तव्य के तहत हमारे द्वारा 50 बेड नवादा जिला प्रशासन को मुहैया कराया जा रहा है। कोरोना महामारी जैसे बीमारी से लड़ने में हम लोग एक साथ खड़े होकर राजद के तमाम लोग जिले के हर लोगों की मदद के लिए आगे आ रहे हैं।

उन्होंने कहा कि जनता ने हमें अपना प्रतिनिधि चुने है और मैं सभी लोगों से यह भी अपील करूंगा कि कोरोना महामारी को लेकर सरकार ने जो आदेश जारी किए उस आदेश के तहत लोक सतर्क रहें सामाजिक दूरी का पालन करें चेहरा पर मास्क लगाएं।

बताते चलें कि पूर्व में भी एक साल पहले नवादा के राजद विधायक विभा देवी ने बिहार के मुख्यमंत्री कोषागार में 1 करोड़ 25 लाख रुपया देकर कोरोना के जंग जीतने को लेकर उन्होंने बड़ी कदम उठाई थी। उन्होंने सरकार को बड़ी मदद की थी कहीं ना कहीं जिले के राजद के तमाम लोग इस संकट में लोगों की मदद कर रहे हैं।

swatva

Leave a Reply