फ्लोरोसिस की रोकथाम एवं बचाव के लिए व्यापक जागरूकता की जरूरत : डॉ० विमल

0

नवादा : राष्ट्रीय फ्लोरोसिस नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत फ्लोरोसिस बीमारी की रोकथाम को लेकर जिला स्वास्थ समिति नवादा के सचिव सह सिविल सर्जन डॉ० विमल प्रसाद सिंह की अध्यक्षता में जिले के उग्रवाद प्रभावित कौआकोल प्रखंड के सर्वोदय आश्रम सोखोदेवरा अवस्थित राजेन्द्र भवन में एक दिवसीय जिला स्तरीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमे उपाधीक्षक समेत जिले के सभी प्रखण्ड प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, स्वास्थ्य प्रबंधक, प्रखण्ड सामुदायिक उत्प्रेरक आदि ने हिस्सा लिया।

प्रशिक्षण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए सिविल सर्जन डॉ० विमल प्रसाद सिंह ने कहा कि फ्लोरोसिस एक जन स्वास्थ्य समस्या है। जो लंबे समय तक फ्लोराइड युक्त पेयजल की अत्यधिक सेवन की वजह से होता है। इससे दांतों का पीलापन,जोड़ो में दर्द,हड्डियों का टेढ़ापन,मांसपेशियों में अकड़न आदि बीमारी के लक्षण होते हैं। पीने के पानी में फ्लोराइड जैसे घातक रसायन के कारण दांतों (डेन्टल फ्लोरोसिस) तथा हड्डियों (स्कैलटल फ्लोरोसिस) संबंधित बीमारियों में लगातार बढ़ोतरी हो रही हैं। इसलिए लोगों को नियमित अंतराल पर पीने के पानी में फ्लोराइड की मात्रा की जाच करवा लेनी चाहिए।

उन्होंने कहा कि फ्लोराईड के कारण रिपिटिड अबोर्सन,एनिमिया होने का अंदेशा बना रहता है। उन्होंने कहा कि इस बीमारी से बचाव व रोकथाम के लिए व्यापक स्तर पर जागरूकता अभियान चलाने की आवश्यकता है। जिसके लिए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों सहित हर व्यक्ति को सजगतापूर्वक पहल करने की जरूरत है। प्रशिक्षण कार्यक्रम में फ्लोरोसिस सलाहकार गोरेलाल प्रसाद,राजीव रंजन,प्रशांत चन्द्र समेत अन्य लोग मौजूद थे।

swatva

Leave a Reply