30 जून : नवादा की मुख्य ख़बरें

0
swatva samachar

महिला ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, परिजनों ने पोस्टमार्टम करवाने से किया इंकार

नवादा : पति- पत्नि के बीच नोंकझोक के तत्काल बाद जिले के पकरीबरावां  थाना क्षेत्र के केशौरी गांव में एक महिला ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस घटनास्थल पर पहुंची लेकिन परिजनों ने शव देने से साफ इंकार कर दिया और कहा कि हम पोस्टमार्टम नहीं करवाएंगे। खबर के मुताबिक मृतक अस्मिता के पति बाहर में रहकर कमाई करते थे। लॉकडाउन में पति घर आया था। किसी बात को लेकर दोनों के बीच बहस हुई थी उसके बाद स्मिता ने खुदकुशी कर ली।

इस बावत प्रभारी थाना प्रभारी से बातचीत की तो उन्होंने साफ तौर पर कहा कि महिला ने फांसी लगाकर खुद आत्महत्या कर ली है। उन्होंने कहा कि वह अपने में मर गई तो हम लोग क्या करें? उन्होंने कहा कि लड़की के पिता ने कहा कि हम लोग पोस्टमार्टम कराना नहीं चाहते हैं। लड़की के पिता से फर्द बयान ले लिया गया है, वैसे भी मौत के बाद पुलिस जबरदस्ती किसी का पोस्टमार्टम नहीं कर सकती हैं।

फोन के माध्यम से मामले पर पकरीबरावां डीएसपी से बातचीत की और पूछा कि फांसी लगाकर आत्महत्या कर लेने के बाद क्या पुलिस शव को कब्जे में नहीं लेगी। डीएसपी ने कहा कि बिल्कुल नहीं नियम है। शव को कब्जे में लेना है। उन्होंने कहा कि मामले जानकारी ली  जा रही है। अग्रेतर कार्रवाई की जाएगी ।

वज्रपात से महिला समेत दो की मौत

नवादा : जिले के दो अलग-अलग स्थानों पर हुई वज्रपात की घटना में महिला समेत दो की मौत हो गयी । पुलिस ने शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंपा है ।

नगर थाना क्षेत्र के राजमार्ग संख्या 32 बाईपास में हुई वज्रपात की घटना में भैंस चरा रहे चरवाहे की मौत वज्रपात से हो गयी । मृतक की पहचान नगर के मंगरबिगहा मुहल्ले के योगेन्द्र यादव के रूप में की गयी है ।

दूसरी ओर अकबरपुर प्रखंड क्षेत्र के गेरांडी गांव में हुई वज्रपात की घटना में महिला की मौत हो गयी । पुलिस ने दोनों शवों को बरामद कर पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंपा है ।

बगैर मास्क पहने घर से निकले तो खैर नहीं : डीएम

नवादा : जिले में कोविड-19 से संक्रमित व्यक्तियों की संख्या में बृद्धि को देखते हुए दिनांक 30 जून 2020 को 08ः00 बजे पूर्वा0 से जिले में संचालित बसों, ऑटो, दुकान का अन्य सार्वजनिक स्थलों पर मास्क के उपयोग एवं सामाजिक दुरियां बनाये रखने के लिए लोगों को प्रोत्साहित करने हेतु सघन जांच किये जाने का संयुक्त आदेश जिला पदाधिकारी यशपाल मीणा एवं पुलिस अधीक्षक हरि प्रसाथ एस द्वारा जारी किया गया है।

नवादा नगर क्षेत्र अन्तर्गत विभिन्न स्थलों को चिन्हित कर पुलिस बल के साथ पुलिस पदाधिकारी एवं विभिन्न दण्डाधिकारी को इस अभियान हेतु प्रतिनियुक्त किया गया है। जिले में कुल 12 स्थलों को इस अभियान हेतु चिन्हित किया गया है जिसमें सद्भावना चौक,रजौली बस स्टैण्ड, लाल चौक, प्रजातंत्र चौक, इंदिरा चौक, 03 नम्बर बस स्टैंड के पास, दुर्गा मंडप प्रसाद विगहा, भगत सिंह चौक, सूरज पेट्रौल पम्प, विजय बाजार चौक के पास (ऑफिसर कॉलनी) गोंदापुर चौक एवं पम्पु कल रोड चौक के पास हैं।

प्रतिनियुक्त दण्डाधिकारी एवं पुलिस पदाधिकारी को निर्देशित किया गया है कि वे अपने प्रतिनियुक्त स्थलों पर बसों, ऑटो, दुकान एवं अन्य सार्वजनिक स्थलों पर मास्क एवं सामाजिक दूरियां बनाये रखने के संबंध में लोगों को कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव हेतु प्रोत्साहित करेंगे।

इस क्रममें सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी, अंचलाधिकारी, थानाध्यक्ष, ओ0पी0 अध्यक्ष को निदेश दिया गया कि वे अपने-अपने प्रखंड अन्तर्गत बसों, ऑटो,दुकानों एवं अन्य सार्वजनिक स्थलों पर मास्क एवं सामाजिक दूरी बनाये रखने के संबंघ में लोगों को कोरोना वायरस संक्रमण के बचाव में प्रोत्साहित करने हेतु आवश्यक कार्रवाई करना सुनिश्चित करें। अनुमंडल पदाधिकारी, नवादा सदर/रजौली, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी नवादा सदर/रजौली एवं पकरीबरावां को निर्देश दिया गया है कि वे अपने-अपने क्षेत्र अन्तर्गत उपरोक्त आदेश का पालन कराना सुनिश्चित करें ।

वज्रपात से महिला की मौत

नवादा : जिले के‌ अकबरपुर थानाक्षेत्र के बकसंडा पंचायत की गेरांडी गांव में वज्रपात से एक महिला की मौत घटनास्थल पर हो गयी। ग्रामीणों ने बताया कि फतेहपुर पंचायत अंतर्गत गुरूचक गांव के निवासी सिकंदर मांझी की पत्नी सुगंता देवी उम्र 35 वर्ष जलावन इकाट्टा कर रही थी। अचानक जोरों की वर्षा होने लगी। ठनका और वर्षा के भय से वह एक बरगद के पेड़ के नीचे छुप गयी। महिला के साथ दो अन्य बच्चियां भी शामिल थी। इसी दौरान बरगद के पेड़ पर वज्रपात हुआ। जिससे झुलसकर महिला की मौत घटनास्थल पर हो गयी। जबकि दो बच्चियां की जान बच गयी। सूचना पाकर पुलिस ने घटनास्थल पर पहुचकर स्थिति का जायजा लिया।

थानाध्यक्ष मुन्ना कुमार वर्मा ने बताया कि शव को अपने कब्जे में लेकर अंत्य परिक्षण करवाकर परिजनों को सौप दिया। मौके पर पहुंचे अंचल अधिकारी ने मृतक के आश्रित परिजनों को आपदा राहत कोष से 4 लाख रूपये दिये जाने का आश्वासन दिया। घटना मंगलवार की दोपहर में घटी।

सरकार के पूर्ण प्रतिबंध के बावजूद धड़ल्ले से बिक रही शराब

नवादा :  जिले के उग्रवाद प्रभावित रजौली थाना क्षेत्र में 100 से अधिक अवैध शराब की भट्ठी बड़े पैमाने पर लगातार संचालित हो रही है। बिहार सरकार को शराबबंदी कानून लागू किए वर्षों बीत गया। लेकिन आज भी शराब बनाने और बेचने का धंधा बदस्तूर जारी है। यही कारण है कि आए दिन शराबी और शराब की बिक्री करने वाला पकड़ा जा रहा है।

नहीं है कानून का डर

रजौली क्षेत्र में प्रतिदिन शराबी नशे की हालत में धुत्त होकर तांडव करते दिखाई देते हैं। इसे देखने पर ऐसा लगता है कि इन लोगों में कानून का कोई डर नहीं है। जिले में 12 ऐसे गांव हैं, जहां शराब बनाने का काम कुटीर उद्योग के रूप में किया जा रहा है। फुलवरिया जलाशय, भानेखाप , जोगिया मारन, फरका बुजुर्ग, हरदिया , भाईजी भीता, चितरकोली, अमावा, मुरहेना, लेंगूरा, समरसपुर समेत कई ऐसे गांव हैं, जहां शराब बनाने और बेचने का कार्य जोर-शोर से चल रहा है।

कानून का उल्लंघन :

सरकार का शराब बंदी कानून बहुत ही अच्छा कदम था। स्थानीय लोगों को लग रहा था कि शराबियों के कुकृत्यों से समाज को मुक्ति  मिल जाएगी। लेकिन अब लगता है कि इस कानून के आने से सरकार को सिर्फ राजस्व की हानि हो रही है और स्थानीय पुलिस मालोमाल हो रही है। यही कारण है कि शराबियों और शराब के धंधे पर रोक नहीं लग पा रहा है ।

ऐसी भी बात नहीं है कि छापामारी नहीं होती, लेकिन कारोबारी पकङे नहीं जाते और पुलिस के जाते ही निर्माण फिर आरंभ कर दिया जाता है । इससे स्पष्ट है कि छापामारी सिर्फ और सिर्फ दिखावे के लिए किया जाता है ।

विद्यालय के कमरों का दिया गया ट्रेन के बोगी का रूप

नवादा : चौंकिए नहीं यह ट्रेन का बोगी नहीं है बल्कि विधलय का कमरा का इस तरह पेंट किया गया है। विद्यालय ट्रेन का रूप लिया है। नवादा जिले के उग्रवाद प्रभावित गोविंदपुर प्रखंड के आर्दश मध्य विद्यालय गोविंदपुर का विद्यालय का कमरा को रंग कर ट्रेन के बोगी का रूप दिया गया है। क्लाश रूम को ट्रेन के रूप देकर दिखाया गया है। जिसे शैक्षणिक एक्सप्रेस का नाम दिया गया है, विद्यालय के कमरे के दरवाजे को ट्रेन के डब्बे के दरवाजे और खिड़कियों को ट्रेन का खिड़की के रूप में रंगा गया है। दूर से देखने के बाद लगता है कि यह कोई ट्रेन खड़ी है। इतना ही नहीं स्कूल विल्डिंग के बाहर और अंदर समाजिक और शैक्षणिक संदेश देने वाले कई पेंटिंग किया गया है।

पेंटिंग के जरिए दिए जा रहे कई संदेश

स्कूल विल्डिंग के बाहर कोरोना से बचाव के तरीके को पेंटिंग में दर्ज किया गया है पर्यावरण की रक्षा से संबंधित भी कयी पेंटिंग किए गए हैं, बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ का संदेश पेंटिंग के माध्यम से दिए गए ,जल संरक्षण का संदेश कैंटीन के माध्यम से दिया गया, पर्यावरण की सुरक्षा के लिए पेड़ लगाने पर भी जोर देने संबंधी पेंटिंग किया गया।इस प्रकार विद्यालय को शैक्षणिक एक्सप्रेस के रूप में दिए जाने का हर जगह प्रशंसा किया जा रहा है।

प्रधानाध्यापक अलखदेव यादव ने बताया कि यह कार्य नवादा के अनुभवी पेंटर के द्वारा किया गया। साथ ही कहा कि आशा है कि विद्यालय में पढ़ने वाले छात्र- छात्रा अच्छा वातावरण देखकर पढ़ाई करने में मन लगाएंगे और अच्छे तरीके से पढ़ाई करेंगे ।

swatva

Leave a Reply