11 जून : नवादा की मुख्य ख़बरें

0

आंगनबाड़ी सेविकाओं को दिया गया दूध और वजन करने की मशीन

नवादा : जिले के सदर प्रखंड बाल विकास परियोजना कार्यालय में शिविर आयोजित कर सभी आंगनबाड़ी सेविकाओं के बीच दूध और वजन करने की मशीन का वितरण किया गया।

पर्यवेक्षक गीता कुमारी ने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देश पर कार्यालय परिसर में शिविर आयोजित कर प्रखंड के सभी 20 मिनी आंगनबाड़ी केंद्रों और 147 मेगा आंगनबाड़ी केंद्र की सेविका के बीच दूध व वेटिग मशीन का वितरण किया गया। मिनी आंगनबाड़ी केंद्र की सेविका को 200 ग्राम के चार पैकेट और एक वेटिग मशीन एवं बड़ा आंगनबाड़ी केंद्र की सेविका को 200 ग्राम के दस पैकेट और एक वेटिग मशीन दिया गया।

मौके पर ब्यूटी कुमारी, चंद्रावती कुमारी, रेणु देवी, छाया कुमारी, प्रेमशिला कुमारी, सुनीता कुमारी, श्वेता कुमारी, प्रीति कुमारी, पूनम कुमारी, मुन्नी कुमारी, किरण कुमारी, रिकू कुमारी, सरिता शर्मा, स्वीटी कुमारी समेत सभी आंगनबाड़ी केंद्रों की सेविका उपस्थित थीं।

हत्यारोपी को दस वर्ष का सश्रम कारावास व अर्थदंड की सजा

नवादा : एक हत्या आरोपी को 10 वर्ष की सश्रम कारावास तथा अर्थदंड की सजा सुनाई गई। नरहट थाना क्षेत्र के चैनपुर गॉव।निवासी बंगाली यादव को प्रथम अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश ओम प्रकाश श्रीवास्तव ने मंगलवार को सजा सुनाई। मामला नरहट थाना कांड संख्या21/14 से जुड़ा है। बताया जाता है कि चैनपुर गॉव के एक खास जाति के लागों द्वारा माता सरस्वती की पूजा-अर्चना के बाद प्रतिमा को विसर्जन के लिये ले जाया जा।रहा था। विसर्जन का जुलूस जैसे ही यादव टोला के समीप पहुॅचा पूर्व से वहॉ रहे बंगाली यादव, प्रमोद यादव, दीपू यादव, रामाशीष यादव व उदय यादव ने जुलूस में शामिल लोगों पर लाठी-डंडा से प्रहार किया। जिससे बिगन राजवंशी  गम्भीर रूप से घायल हो गया तथा ईलाज के क्रम में मौत हो गई। वहीं राज कुमार राजवंशी  भी जख्मी हुआ था। घटना के बाबत जख्मी राज कुमार राजवंशी के ब्यान पर नरहट थाना में कांड अंकित किया गया था। घटना 06 फरवरी 14 की बतायी जाती है।घटना के चश्मदीद  गवाहों द्वारा अदालत में दर्ज कराये गये ब्यान के आधार पर न्यायाधीश ने बंगाली यादव को भादवि की धारा 304 (2) के तहत दोषी करार देते हुए 10 वर्ष की सश्रम कारावास तथा 20 हजाररुपये अर्थदंड की सजा सुनाई। अर्थदंड की राशि नही जमा करने पर एक वर्ष की अतिरिक्त कारावास की सजा सुनाई।

उल्लेखनीय है कि इस कांड के अन्य अभियुक्त प्रमोद यादव, दीपू यादव, रामाशीष यादव तथा उदय यादव को 23 नवम्बर 16 को दोषी पाते हुए सजा सुनाई जा चुकी है।

स्टांप बिक्री केन्द्र पर कुव्यस्था से परेशानी

नवादा : व्यवहार न्यायालय परिसर स्थित कोर्ट फीस स्टाम्प विकय केन्द्र के कुव्यवस्था के कारण मुकदमें के पक्षकार, अधिवक्ता व शपथ पत्र निष्पादन के लिये पहुॅचे लागों को कठिनाईयों का सामना करना पड़ रहा है।  न्यायिक प्रक्रिया बाधित हो रही है वहीं छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़  किया जा रहा है। मगलवार को विक्रय केन्द्र बंद रहने के कारण हालात ऐसे हो गये कि मामला जिला जज तक पहुँच गया। जिन्हाने व्यवस्था सुधार के लिये कदम उठाने का आश्वासन दिया। बताया जाता है कि अन्य दिनों की भॉति मंगलवार को अधिवक्ता, छात्र, महिलाये व अन्य लोग कांउटर पर पहुंचे जहॉ अन्दर का कम्पुटर तो खुला था किन्तु वहॉ कोई भी व्यक्ति मौजूद नही थ। धीरे-धीरे भीड़ जमा हो गई हल्ला हंगामा होने लगा। तभी कुछ अधिवक्ता व्यवहार न्यायालय के प्रशासन प्रभारी के पास पहुंचे तथा स्टाम्प विक्रय केन्द्र की कुव्यवस्था से अवगत करायां। इधर अधिवक्ताओं की शिकायत पर अधिवक्ता संघ के अधक्ष विजय कुमार व महासचिव जिला जज अरूण कुमार झा से मिले। जिला जज के हल पर विक्रय केन्द्रमें तैनात कर्मी को मोबाईल के द्वारा बुलाकर आवश्यक निर्देश उन्होने दिया। तब स्टाम्प विक्रय का काम धीमी गति से शुरू हुआ। गौरतलब हो कि स्टॉक होल्डिंग कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया। लिमिटेड को कोर्ट फीस स्टाम्प विक्रय करने का दायित्व बिहार सरकार ने सौंपा है। जिसकी देखरेख में न्यायालय परिसर स्थित कोर्ट फीसकांडटर का संचालन पेटी ठेकेदार द्वारा किया जा रहा है। आपस में तालमेल की कमी के कारण व्यवस्था कुव्यस्था में तबदील हो गया। समय पर काउंटर नही खोलना, समय से पूर्व बंद कर देना तथा भीड़अधिक होने पर लिंक फेल का बहाना बना कर कांउटर को बंद कर देना नियत बन चुकी है।

क्या कहते हैं लोग

विद्यालय में अपनी पुत्री का नामांकण कराने हेतु शपथपत्र के लिये सौ रूपये का स्टाम्प खरीदने के लिये पीछले दो दिनो से काउंटर का चक्करलगा रहे हैं। आज भी स्टाम्प नही मिला।रौशन आरा, अस्पताल रोड, हाटपर नवादा। कोर्ट फीस विक्रय के लिये दो कम्प्युटर लगा हुआ है। लेकिन केवल एक ही व्यक्ति वहॉ रहता है। इसकारण कोर्ट फीस स्टाम्प मिलने मेंकाफी कठिनाई होती है। पीछले दो दिनों से स्टाम्प के लिये चक्कर लगा रहे हैं।अनुप कुमार सिन्हा, अधिवक्ता। कोर्ट फीस विक्रय केन्द्र में अराजकता व्याप्त है। दलालों को कोर्ट फीस के छोटे-छोटे स्टाम्प बेच देता है तथा काउंटर पर पहुंचे लोगों को स्टाम्प नही उपलब्ध रहने की बात कहता है, चंद्रषेखर प्रसाद, अधिवक्ता।

किसानों ने सीखे उन्न्त खेती के तरीके

नवादा : जिले के नारदीगंज प्रखंड  पेश पंचायत की पेश गांव मे मंगलवार को किसान चौपाल आयोजित किया गया। अध्यक्षता बीएओ मो0 नौशाद अहमद ने किया। मौके पर बीएओ ने कृषि विभाग की सभी संचालित योजना जीरो टीलेज, पैडी टं्रान्सप्लांट बीज, ग्राम बीज योजना, संकर धान, हरित क्रांति योजना, अनुदानित योजना, कृषि यांत्रिकरण योजना के बारें मे विस्तार से बताया। वही मुख्य अतिथिआत्मा परियोजना निदेशक संजय कुमार ने समेकित खेती के महत्वपूर्ण कार्य और लाभकारी बातां को किसानों के बीच बताया।

इसके अलावे खेती के साथ फल उत्पादन, पशुपालन, मत्सय पालन, मुर्गी पालन से किसान आर्थिक मामले में आत्मनिर्भर हो जायेगे। कृषि समन्वयक राजेश रंजन ने धान की वैज्ञानिक खेती, बिन्दु भूमि की तैयारी से लेकर बीज उपचार रोपाई, उर्वरक प्रबंधन, सिंचाई प्रबंधन, कीट व रोग नियंत्रण उपाय के बारें मे विस्तार से चर्चा किया। इसके अलावे सब्जी कीट व रोग नियंत्रण के लिए जैविक व रासयनिक विधियों के बारें मे भी उपस्थित किसानों के बीच साझा किया। वही कृषि समन्वयक सुशील कुमार, अभय कुमार, एटीएम मनीष कुमार ने जीरो टीलेज, पैडीटां्रन्सप्लांट, श्री विधि, हरी खाद्ध समूह निर्माण, मिटटी जांच के महत्व आदि के बारें में विस्तार से तकनीकि जानकारी दिया।

मौके पर पूर्व मुखिया कुमार विन्दु माधव, किसान सलाहकार छोटू प्रसाद, अब्दूल गफार खान, रामवृक्ष चौधरी, वार्ड सदस्य मंती देवी, रामदहिन प्रसाद, राजेन्द्र प्रसाद समेत अन्य किसान मौजूद रहे।

जल संकट वाले इलाकों में अगले माह गाड़े जाएंगे 100 चापाकल

नवादा : जिले में इस बार की गर्मी ने जल संकट से जूझ रहे ग्रामीणों की खूब परीक्षा ली है। जिले के अधिकांश गांव-टोले जहां पानी का लेयर नीचे चला गया और चापाकल फेल हो गए वहां आम आदमी से लेकर मवेशियों के बीच पानी का खूब संकट बना हुआ है। इस बीच पीएचईडी विभाग से थोड़ी राहत देने वाली खबर है। विभाग से मिली जानकारी के मुताबिक जुलाई महीने में जल संकट वाले इलाकों में प्राथमिकता के तौर पर 100 नए चापाकल गाड़े जाएंगे।

जिले का नवादा, काशीचक, मेसकौर, कौआकोल, रजौली व पकरीबरावां प्रखंड सर्वाधिक जल संकट में चिह्नि्त किया गया है। इन प्रखंडों के अधिकांश गांवों में पानी की भीषण किल्लत है। पीएचईडी के कार्यपालक अभियंता चंदेश्वर राम ने बताया कि जिन प्रखंड के जो भी गांवों में सबसे ज्यादा दिक्कत होगी वहां प्राथमिकता के आधार पर नए चापाकल गाड़े जाएंगे। उन्होंने कहा कि फिलहाल टेंडर की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। अलग-अलग दो एजेंसी को चापाकल गाड़ने का काम दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि जुलाई माह के शुरूआत से नए चापाकल गाड़ने का काम शुरू कर दिया जाएगा।

जिलाधिकारी के अनुमोदन पर गाड़े जाएंगे चापाकल

इस बार जो भी चापाकल गाड़े जाएंगे उसमें जिलाधिकारी का अनुमोदन प्राप्त करना आवश्यक होगा। जिलाधिकारी इलाके की स्थिति का आकलन कर वहां पर नए चापाकल को गाड़ने की स्वीकृति देंगे। जानकारी के मुताबिक एक चापाकल के लिए सरकार ने विभाग को 53 हजार रुपये आवंटित कराए हैं। इसके बदले में चापाकल गाड़ने से लेकर उसके अगले 5 सालों तक रख-रखाव का जिम्मा संबंधित एजेंसी के जिम्मे होगा। चापाकल खराब होने पर एजेंसी ही उसका मरम्मत कराएगी। सभी चापाकल में पीबीसी पाइप लगाया जाएगा।

क्या कहते हैं अधिकारी?

सूखाड़ राहत के तहत जुलाई माह से नए चापाकल गाड़ने की प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी। जिले में 100 चापाकल गाड़े जाने हैं। इसके लिए टेंडर की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। पेयजल संकट से निपटने के लिए विभाग पूरी तत्परता से हर काम कर रही है। जिलवासियों से भी अपील है कि पानी की बर्बादी को रोकने के लिए खुद भी तत्पर रहें। पानी का इस्तेमाल करें लेकिन उसकी बर्बादी करने से बचें, चंदेश्वर राम, कार्यपालक अभियंता, पीएचईडी, नवादा।

आशा कार्यकर्ताओं ने अस्पातल गेट को किया जाम, दिया धरना

नवादा : जिले के वारिसलीगंज प्रखंड में कार्यरत आशा कार्यकर्ताओं ने अपनी विभिन्न मांगों के समर्थन में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रवेश द्वार पर धरना दिया। आशा संघ की प्रखंड अध्यक्ष सरिता कुमारी के नेतृत्व में आयोजित एक दिवसीय धरना एवं प्रदर्शन के दौरान अक्टूबर 2018 से बढ़े हुए मानदेय का भुगतान की मांग व प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. बीएल चौधरी के अकारण स्थानांतरण का विरोध कर रहे थे। आशा कार्यकर्ता सुबह ओपीडी शुरू होने से पहले ही पीएचसी गेट को जाम कर धरना पर बैठ गए।

सरिता ने कहा कि इस समस्या को लेकर वारिसलीगंज की आशा कार्यकर्ताओं ने प्रदेश महामंत्री इंदु झा के नेतृत्व में दो बार सिविल सर्जन से मिलकर अपनी बातें रख चुकी है। जिसपर सिविल सर्जन द्वारा विधि सम्मत कार्रवाई की बात करते हुए भुगतान हेतु निर्देश भी दिया था। लेकिन आठ महीने बीतने के बावजूद केंद्र सरकार द्वारा प्रदत राशि का भुगतान नहीं किया गया।

प्रभारी के स्थानांतरण का किया विरोध

धरना में शामिल प्रदेश महामंत्री इंदु झा ने कहा कि प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. बी.एल.चौधरी का स्थानांतरण आशा बहनों के लिए बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। क्योंकि उनके सफल निर्देशन में वारिसलीगंज की आशा कार्यकर्ता संपूर्ण मगध प्रमंडल में परिवार कल्याण के कार्य में बेहद उत्कृष्ट कार्य किया था। जिसे लेकर वारिसलीगंज की आशा को मगध प्रमंडल स्तर पर पुरस्कृत किया गया था।

धरना पर बैठी आशा कार्यकर्ताओं ने सिविल सर्जन से श्रीचौधरी के स्थानांतरण रद्द करने की मांग की। साथ ही दो दिनों के अंदर आशा के बढ़े हुए मानदेय का भुगतान नहीं करने पर पूरे जिले की आशा सिविल सर्जन कार्यालय का घेराव करेगी।

इस दौरान आशा इंदु झा, धरम कुमारी, रेखा कुमारी, सुनीता कुमारी, संजु रानी सहित दर्जनों आशा कार्यकर्ता मौजूद थीं।

दो अज्ञात शव बरामद होने से फैली सनसनी

नवादा : जिले में अपराध थमने का नाम नहीं ले रहा है। हिसुआ व वारिसलीगंज प्रखंड क्षेत्र के दो अलग-अलग स्थानों से पुलिस ने दो शवों को बरामद किया है। बरामद शव की पहचान अबतक नहीं होने से पुलिस की कार्यशैली पर सवालिया निशान लगना शुरू हो गया है।

बताया जाता है कि हिसुआ थाना क्षेत्र के मंझवे रेलवे पथ के किनारे स्थानीय लोगों ने शव होने की सूचना पुलिस को दी। सूचना के आलोक में थानाध्यक्ष राजकुमार ने शव बरामद कर पोस्टमार्टम के बाद पहचान के लिये सदर अस्पताल में सुरक्षित रखा है। शव की अबतक पहचान नहीं हो सकी है। पुलिस मामले की जांच में जुट गयी है।

दूसरी ओर वारिसलीगंज थाना क्षेत्र के अब्दालपुर गांव के पास पुलिस ने ग्रामीणों की सूचना पर युवक का शव बरामद किया है। शव को पोस्टमार्टम के बाद पहचान के लिये सदर अस्पताल में सुरक्षित रखा गया है। बरामद दोनों शवों की पहचान न होने से पुलिस सकते में है।

इस प्रकार पिछले बारह घंटे के अंदर रजौली, हिसुआ व वारिसलीगंज थाना क्षेत्र में तीन की हत्या व पथ दुर्घटना में दो सहोदर भाईयों की मौत से जिले में सनसनी फैल गई है।

जिला सत्र न्यायाधीश ने किया मुआयना

नवादा : जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने सोमवार को व्यवहार न्यायालय परिसर का मुआयना किया। इस क्रम में वे अदालत का मुख्य द्वार स्थित सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया तथा वहां रहे सुरक्षाकर्मी को दिशा निर्देश दिया। अदालत परिसर स्थित पेयजल सुविधा का भी उन्होने मुआयना किया। तथा साफ सफाई पर सम्बंधित कर्मी को निर्देश दिया। परिसर में लगे पेड़-पौधों का नियमित पानी देना तथा उक्त परिसर को साफ सुथरा रखने का भी निर्देश दिया। इस क्रम में वे परिसर स्थित विभिन्न कार्यालयो का भी जायजा लिया।

जिला जज के भ्रमण के समय अपर मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी संजीव कुमार राय एवं अन्य न्यायिक पदाधिकारी व कर्मी भी उनके साथ मौजूद थे।

90 कार्टन विदेशी शराब लदे पिकअप के साथ चालक गिरफ्तार

नवादा : जिले के उग्रवाद प्रभावित रजौली थाना के समेकित जांच चौकी पर वाहन चेकिंग के दौरान पुलिस ने सोमवार की देर शाम पिकअप वाहन पर लदे 90 कार्टन विदेशी शराब जब्त की है। इस दौरान पुलिस ने गाड़ी के चालक को गिरफ्तार किया है।

एसएचओ सुजय विद्यार्थी ने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि शराब से भरी पीकअप वाहन बॉर्डर पार कर बिहार में प्रवेश करने वाली है। एएसआई मनोज कुमार के नेतृत्व में वाहन चेकिंग की जा रही थी। जांच कर रही पुलिस हरेक छोटे बड़े वाहनों पर पैनी निगाह रख जांच कर रहे थे। इसी बीच झारखंड की ओर से जेएच 10 एएम 2672 नंबर की सफेद रंग की बोलेरो पिकअप आती दिखाई दिया। जिसमे जांच चौकी के समीप तीरपाल बंधे उक्त बोलेरो पिकअप वैन को रोका गया। लेकिन पुलिस को देख चालक गाड़ी लेकर भागने लगा। शक होने पर गाड़ी का पीछा कर पकड़ा गया।

गाड़ी रुकते ही तलाशी के क्रम में कुणी की बोरी के नीचे शराब से भरे कार्टन मिले। गाड़ी में शराब से भरे कुल 90 कार्टून शराब बरामद किए गए। जिसमें 375 एमएल एवं 750 एमएल के रॉयल स्टैग एवं रॉयल चैलेंज कम्पनी की शराब पाया गया। ये शराब झारखंड एवं हरियाणा निर्मित हैं। वहीं गिरफ्तार चालक शिवनाथ साह के पुत्र राजकुमार साह मसौढ़ी थाना क्षेत्र के बिरंचिया गांव का रहने वाला है। चालक ने बताया  कि शराब झारखंड के झुमरीतिलैया से अकबरपुर प्रखंड क्षेत्र के फतेहपुर जा रहा था। जहां एक मुर्गी फार्म के पास पिकअप को पहुंचाया जाना था। लेकिन जिसके पास शराब की खेप पहुंचाया जाना था। उसका नाम नहीं बता पा रहा है।

थानाध्यक्ष ने बताया कि फिलहाल चालक पर उत्पाद अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज कर कार्रवाई की जा रही है। पूछताछ के बाद उसे जेल भेज दिया जाएगा।

ग्रीन स्टेडियम, स्वच्छ स्टेडियम के लिए प्रशासन ने चलाया अभियान

नवादा : जिला प्रशासन ने ग्रीन हरिश्चंद्र स्टेडियम, स्वच्छ स्टेडियम बनाने के लिए कमर कस ली है। अहले सुबह डीएम कौशल कुमार के निर्देश पर सदर एसडीओ अनु कुमार तथा नगर परिषद के कार्यपालक पदाधिकारी देवेन्द्र सुमन ने अपने लाव लश्कर के साथ हरिश्चंद्र स्टेडियम पहुंचे। जहां स्टेडियम में शौच कर गंदगी फैला रहे तथा जानवरों का विचरन करा रहे लोगों को पकड़कर स्वच्छता का पाठ पढ़ाया।

पदाधिकारियों ने कई लोगों को उठक बैठक करा स्टेडियम में गंदगी नहीं फैलाने की चेतावनी देते हुए कहा कि यह शहर आपकी है। इसे स्वच्छ और सुन्दर बनाना आपलोगें का दायित्व बनता है। उन्होंने स्वच्छ स्टेडियम ग्रीन स्टेडियम बनाने के लिए लोगों को जागरूक किया। तथा आगे गंदगी फैलाने व स्टेडियम में पशुओ को घुसाने पर दंडित करने की नसीहत देते हुए इसे स्वच्छ और सुन्दर बनाने में सहयोग करने की अपील किया।

यहां बता दे कि स्टेडियम का जीर्णोद्धार का कार्य जोर-शोर से चल रहा है। स्टेडियम को सुन्दर और स्वच्छ बनाने के लिए करोड़ों रूपये खर्च किये जा रहे है।

एसडीओ ने स्टेडियम में उपस्थित लोगों को स्टेडियम की स्वच्छता हर हाल में बनाये रखने की अपील करते हुए कहा कि स्टेडियम में गंदगी फैलाने वाले लोगों के विरूद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

पुल के अस्तित्व पर छाया संकट

नवादा : जिले के नारदीगंज प्रखण्ड मुख्यालय में पंचाने नदी पर बने पुल पर संकट का बादल मंडराने लगा हैं। लगभग 65 वर्ष पूर्व बने इस पुल का स्थिति खराब होने लगा है। ऐसा प्रशासनिक अधिकारियों की अनदेखी के कारण हुआ है। कहने को तो बिहार में सुशासन की सरकार है। लेकिन सरकारी पदाधिकारियों के लिए कई योजना दुधारू गाय बन गई है।

जहां पदाधिकारियों के द्वारा लूट खसोट जारी है। इसी का परिणाम है कि एनएच 82 राजगीर-बोधगया जैसे मुख्य मार्ग का पुल अपना अस्तित्व बचाने को विवश है। इस पुल के उत्तरी छोर पर प्रखण्ड कार्यालय है तो दक्षिणी छोर पर नारदीगंज थाना। उसके बाबजूद पुल के दोनों तरफ का बालू का उठाव बालू माफियाओं द्वारा कर लिया गया। जबकि पुल की सुरक्षा के दृष्टिकोण से दोनों तरफ 150 मीटर की दूरी तक बालू उठाने पर रोक लगा हुआ है। उसके बाद भी थाना और प्रखण्ड कार्यालय के सामने पुल के दोनों तरफ का बालू का उठाव हो गया। अब सवाल उठता है कि क्या प्रखण्ड कार्यालय और थाना में बैठे अधिकारियों को इस बात की जानकारी नहीं थी।

इस संबंध में पुछे जाने पर सीओ कुमार विमल प्रकाश ने बताया कि पुल की स्थिति और नदी से बालू के उठाव का स्थलीय निरीक्षण के उपरांत विभागीय अधिकारियों को अवगत कराया जाएगा ताकि पुल के अस्तित्व को बचाया जा सके।

सड़क हादसे में एक की मौत, दूसरा जख्मी

नवादा : जिले के नवादा-पकरीबरावां पथ पर दोसुत गांव से कुछ दूर आगे सड़क हादसे में एक युवक की मौत हो गई, जबकि दूसरा जख्मी हो गया। मृतक की पहचान नगर थाना क्षेत्र के कुरमा गांव निवासी राजकुमार के रूप में की गई। वहीं घायल जितेंद्र कुमार मुफस्सिल थाना क्षेत्र के अकौना बेलदरिया गांव निवासी बताए गए हैं। घायल को इलाज के लिए सदर अस्पताल में दाखिल कराया गया।

बताया जाता है कि दोनों युवक खैरा गांव से शादी समारोह में भाग लेने के बाद बाइक से वापस लौट रहे थे। इसी बीच अज्ञात वाहन ने टक्कर मार दी। जिससे राजकुमार की मौत घटनास्थल पर ही हो गई। आसपास के लोगों ने घायल को इलाज के लिए सदर अस्पताल पहुंचाया।

घटना की खबर पाकर मृतक की पत्नी समेत अन्य परिजन सदर अस्पताल पहुंचे। अस्पताल पहुंचते ही परिसर में कोहराम मच गया। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल था।

खाना मांगने पर चाचा को भतीजी ने हसुली से मारा, घायल

नवादा : खाना मांगने पर चाचा को भतीजी ने हसुली से मारकर जख्मी कर दिया। सूचना पर पहुंचे भतीजे को भी चचेरे भाई ने सोटा से वार कर सर फोड़ दिया। दोनों जख्मियों को इलाज के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र हिसुआ में भर्ती कराया गया। घटना थानाक्षेत्र के मटुकविगहा गांव की है। मुकवधिर दिव्यांग राधे चौधरी खाना खाने अपने सगे मंझले भाई विरजु चौधरी के घर गए। वहां राधे का सौतेला भाई स्वर्गीय बाबुलाल की बेटी पुतुल कुमारी मायके अपने चाचा विरजू के घर आई हुई थी। वहां जब राधे चौधरी ने खाना मांगा तो पुतुल ने कहा कि खाना नहीं मिलेगा यहां से जाओ। लेकिन राधे वहीं खड़ा रह गए। इतने में पुतुल व उसकी भाभी निशु ने राधे के सर पर हसुली से प्रहार कर दिया। जिसमें राधे के सर पर तीन जगह फट गया। दीपक की पत्नी ने इसकी सूचना मोबाइल के माध्यम से दीपक को दिया।

सूचना पर दीपक घर जाकर उसे समझाने लगा। इतने में पुतुल कुमारी के भाई दिनेश कुमार ने गाली-गलौज करते हुए दीपक के सर पर पसुली पजाने बाला सोटा से बार कर दिया। जिससे दीपक का सर फट गया।

स्थानीय लोगों की सहायता से दोनों जख्मियों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र हिसुआ लाया गया। दीपक के सर मे 12 स्टीच व राधे चौधरी को 10 स्टीच लगा है। थानाध्यक्ष ने आरोपितों के खिलाफ सख्त कार्रवाई किये जाने की बातें बतायीं है।

अनिश्चितकालीन हड़ताल पर ई-रिक्शा चालक, यात्रियों की बढी मुश्किलें

नवादा : नगर के ई-रिक्शा चालकों ने पुलिस कर्मियों और परिवहन विभाग की कार्यशैली पर आपत्ति जताते हुए 11 जून से अनिश्चितकालीन हड़तालआरंभ कर दिया है। इससे संबंधित ज्ञापन जिला प्रशासन को सौंपा है।

ई-रिक्शा चालकों का कहना है कि पुलिसकर्मी बेवजह उनपर डंडा बरसाते हैं और अभद्र भाषा का प्रयोग करते हैं। अवैध राशि की मांग की जाती है। वहीं लाइसेंस के नाम डीटीओ कार्यालय के दलालों द्वारा छह हजार रुपये मांगे जाते हैं। रजिस्ट्रेशन के नाम पर भी अवैध राशि की मांग की जाती है। नाजायज राशि नहीं देने पर कार्यालय से किसी प्रकार का कागजात नहीं बनाया जाता है। एमभीआइ ने 7 जून को कई ई-रिक्शा को जब्त कर लिया है। नगर के पार नवादा, रेलवे स्टेशन, 3 नंबर बस स्टैंड, बिहार बस स्टैंड आदि स्थानों पर रंगदारी की मांग की जाती है। रुपये नहीं देने पर गाली-गलौज और मारपीट की जाती है।

ई-रिक्शा चालकों ने बताया कि अधिकांश लोगों ने ब्याज पर कर्ज लेकर गाड़ी की खरीदारी की है। ऐसी स्थिति में कहां-कहां रुपया दिया जाए। इस स्थिति को देखते हुए ई-रिक्शा चालकों ने अनिश्चितकालीन हड़ताल आरंभ कर दिया है जिससे नगर आने जाने वालों को परेशानी का सामना करना पङ रहा है।

ई-रिक्शा चालक सुबोध कुमार, दीपक कुमार, मो. दानिश, शैलेंद्र यादव, दशरथ कुमार, प्यारे चौहान, दीपक यादव, मनीष कुमार सिन्हा आदि ने डीएम का अपनी समस्याओं के प्रति ध्यान आकृष्ट कराते हुए समाधान कराने की मांग की है।

जर्जर छात्रावास में जान जोखिम में डाल रह रहे छात्र

नवादा : शहर का गांधी इंटर स्कूल वैसे तो अपने आप में कई ख्यातियां समेटे हुए है। लेकिन यहां के छात्रावास की जर्जरता उन ख्यातियों को मुंह चिढ़ाती है। जानकारी के मुताबिक 1913 में जब यह विद्यालय अंग्रेजी हुकूमत के समय में बना था तो उसी समय विद्यालय के मुख्य गेट के पास ही छात्रावास भी बनाया गया था। उस समय से आज तक इस छात्रावास में रहकर बच्चे पढ़ाई करते हैं। लेकिन बदलते समय और हालात ने इस स्कूल के छात्रावास के अस्तित्व पर संकट ला दिया है। मौजूदा वक्त में आठ कमरों का यह छात्रावास पूरी तरह से जर्जर हो चुका है। जहां असुरक्षित वातावरण में अभी 15 बच्चे रहकर पढ़ाई कर रहे हैं। गांव-देहात से आकर पढ़ाई करने वाले ये छात्र बड़ी उम्मीद से इस छात्रावास में आते हैं। लेकिन यहां की बुनियादी सुविधाओं की जर्जर हालत उनकी चिंताएं बढ़ा देती है।

यहां 15 कमरों समेत छात्रावास के बरामदे की छत जगह-जगह टूटी हुई है। यह छत लकड़ी व टाली से मिलकर बनी है। जिसमें जगह-जगह टाली और पूरी छत नीचे गिरते हुए दिखाई पड़ती है। कमरों के अंदर की छत भी खराब हाल में है। यहां के छात्रों का कहना है कि बरसात में पानी टपकता है। कई बार टाली टूटकर नीचे गिरी है। हादसे का भय बना रहता है। अनेक कमरों की खिड़कियां पूरी तरह से टूटी हुई है। ऐसे में कई बार चोरी की घटना भी हुई है। छत को बचाने के लिए एक जगह पर लोहे का पाइप लगाकर सहारा दिया गया है।

झूलता रहे बिजली के जर्जर तार

गांधी इंटर स्कूल के छात्रावास में बिजली वायरिग पूरी तरह से ध्वस्त हो चुकी है। छात्रों ने खुद की पहल से जैसे-तैसे बिजली के तार टांग रखे हैं। कब बिजली के तार टूटकर गिर जाएं और हादसा हो जाए कहा नहीं जा सकता। यहां के छात्र अपनी परेशानी बयां करते हैं। छात्रावास में शौचालय और पीने के पानी की व्यवस्था नहीं है।

यहां रहकर पढ़ाई कर रहे छात्र कौशल कुमार, राजेश कुमार, राहुल कुमार, नवीन कुमार, संतोष कुमार आदि ने कहा कि चापाकल बंद है। शौचालय भी खराब है। ऐसे में उन्हें बाहर जाकर शौच करना पड़ता है। पानी भी बाहर से लाकर पीते हैं। इन बच्चों ने कहा कि वे हरेक माह 50 रुपये छात्रावास शुल्क देते हैं। लेकिन सुविधाएं कुछ भी नहीं मिलती है। इस बीच इस विद्यालय से हाल ही में सेवानिवृत हुए शिक्षक रामविलास प्रसाद बताते हैं कि इस छात्रावास से पढ़कर अनेकों छात्र देश दुनिया में नाम कमाए हैं। एयरफोर्स, सेना से लेकर इंजीनियरिग के क्षेत्र में अनेकों गांधी स्कूल के बच्चों ने पढ़कर नाम कमाए। इस छात्रावास में पढ़ने वाले बच्चों का सुनहरा भविष्य रहा है। ज्यादातर आज नौकरी पेशा में हैं।

क्या कहते हैं छात्र?

छात्रावास की छत से लेकर खिड़कियां टूटी हुई है। इसकी मरम्मत होनी चाहिए। काफी परेशानी होती है। वर्षों से इस छात्रावास की मरम्मत का काम नहीं हुआ है, कौशल कुमार, छात्र, दशम।

यहां का शौचालय और पानी का साधन दोनों ही खराब हालात में है। नहाने के लिए तो पानी किसी तरह से मिल जाता है। वह भी समय पर आता है। पीने का पानी बाहर मंदिर के पास बने चापाकल से पानी लाते हैं,राजेश कुमार, छात्र, दशम।

प्रेमिका ने प्रेमी को खिलाया जहर, मौत

नवादा : जिलेके उग्रवाद प्रभावित रजौली थाना क्षेत्र के एकम्बा गांव में प्रेम-प्रसंग में एक युवक की हत्या उसकी प्रेमिका द्वारा ही किए जाने का मामला सामने आया है। घटना के बाद से प्रेमिका अपने पूरे परिवार के साथ फरार है। पुलिस मृतक के परिजनों के बयान पर मामला दर्ज कर जांच में जुट गयी है।

घटना के संबंध में बताया गया है कि जिले के रजौली थाना क्षेत्र के एकम्बा गांव में 40 वर्षीय लालजीत राजवंशी नामक युवक की हत्या जहर देकर कर दी गई। बताया जा रहा है कि युवक को ताड़ी में मिलाकर जहर दिया गया जिससे उसकी मौत हो गई।

मृतक के के परिजन ने बताया कि लालजीत का पिछले चार साल से गांव के एक युवती के साथ प्रेम-प्रसंग चल रहा था। पिछले चार माह से वह अपना घर छोड़कर उसके साथ रहने लगा था।

परिजनों ने बताया कि पिछले दिनों उन्हें जानकारी मिली थी कि किसी बात को लेकर लालजीत और उसकी प्रेमिका के बीच लड़ाई और मारपीट हुई थी। घरवालों का आरोप है कि उसी को लेकर उसकी प्रेमिका ने उसे ताड़ी में जहर मिलाकर पिला दिया, जिससे उसकी मौत हो गई। मृतक के भाई ने बताया कि लालजीत ने मरने से पहले एक सुसाइड नोट भी छोड़ा था, जिसमें उसने ताड़ी में जहर देने की बात लिखी है।

रजौली थानाध्यक्ष सुजय विद्यार्थी ने बताया कि मृतक के परिजनों ने प्रेमिका और उसके घरवालों पर जहर देकर हत्या करने  का आरोप लगाया है। लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। रिपोर्ट आने के बाद मामला स्पष्ट होगा। वहीं प्रेमिका अपने पूरे परिवार के साथ फरार है। गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

 

Leave a Reply