पताही हवाई अड्डा परिसर में DRDO के द्वारा बनाया जाएगा अस्थाई कोविड अस्पताल

0

मुजफ्फरपुर: कोरोना के बढ़ते संक्रमण को लेकर केंद्र सरकार की पहल पर बिहार में DRDO के द्वारा कोविड अस्पताल बनाया जाना है। इसको लेकर मुजफ्फरपुर में पताही हवाई अड्डा परिसर में 500 बेड का कोविड केयर हॉस्पिटल बनाने का निर्णय लिया गया है। टेंट में कोरोना मरीजों के इलाज की अस्थायी व्यवस्था होगी।डीआरडीओ की दो सदस्यों की टीम चक्कर मैदान, सीआरपीएफ कैंप, पताही हवाई अड्डा, एम आई टी आदि का सर्वे की। इस काम के लिए 8 एकड़ जमीन की जरूरत है।

पताही हवाई अड्डा को बिहार में कोरोना मरीजों के इलाज के लिए टेंटेड अस्पताल बनाने के लिए चुना गया है। जल्द ही इसका निर्माण शुरू हो जाएगा। पताही एयरपोर्ट कई मायनों में अन्य जगहों से बेहतर है। चक्कर मैदान व शारीरिक प्रशिक्षण महाविद्यायल में भारी जलजमाव है। यातायात व आइसोलेशन की परेशानी होगी। झपहां स्थित सीआरपीएफ कैंप में पर्याप्त जमीन नहीं है। सुरक्षा व सुविधा के लिहाज से पताही एयरपोर्ट बेहतर है। पूरी जमीन पर चहारदीवारी पहले से है। साथ ही हाई लैंड है।

बिहार में तेजी से बढ रही कोरोना मरीजों की संख्या नियंत्रित करने के लिए केंद्रीय सरकार की पहल पर दिल्ली की तरह डीआरडीओ 500 बेड वाला अस्थाई कोविड अस्पताल का निर्माण करेगा।जिसमें 150 बेड वेंटिलेटर युक्त होगा। डीआरडीओ की टीम जमीन सर्वे के लिए बिहार के मुज़फ़्फ़रपुर स्थित चक्कर मैदान और पताही एयरपोर्ट का सर्वे किया।

ज़िलाधिकारी डॉ चन्द्रशेखर सिंह ने बताया कि बिहार में बढ़ते कोरोना मरीजों को देखते हुए केंद्र सरकार दिल्ली के तर्ज पर केंद्र सरकार को बिहार में भी एक कोविड-19 के इलाज के लिए बड़े अस्पताल का निर्माण कराना है जिसके लिए शनिवार को डीआरडीओ की टीम मुज़फ़्फ़रपुर में मुआयना किया।

swatva

Leave a Reply