05 अगस्त : मधुबनी की मुख्य खबरें

0
swatva samachar

टीबी उन्मूलन को लेकर हुई जिलास्तरीय मासिक समीक्षा बैठक

मधुबनी : जिले को यक्ष्मा रोग (टीबी) मुक्त बनाने के लिए सदर अस्पताल के एएनएम सभागार में एनटीईपी (नेशनल ट्यूबक्यूलोसिस एलिमिनेशन कार्यक्रम) के अंतर्गत निक्षय पोषण राशि डीबीटी एवं टीबी नोटिफिकेशन के संबंध में जिला स्तरीय मासिक समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें जिले के यक्ष्मा कार्यालय के सीडीओ सहित सभी कर्मी सम्मिलित हुए। उन्होंने बताया कि विभाग द्वारा प्राइवेट एवं पब्लिक प्लेस से टी.बी.मरीज का नोटिफिकेशन किया जा रहा है।मरीज का नोटिफिकेशन करते हुए बैंक खाता विवरणी, डॉक्टर का प्रिस्क्रिप्शन और आधार डिटेल सम्बंधित स्वास्थ्य केंद्र के एसटीएस/एसटीएलएस को उपलब्ध करावें।

प्राइवेट डॉक्टर को मरीज के नोटिफिकेशन पर 500 रु. तथा आउटकम पर भी 500 रु.देने का प्रावधान है। एमडीआर मरीजों को मिलने वाली राशि का लक्ष्य के अनुसार भुगतान किया जाए। प्रखंड के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी के साथ समन्वय कर गृह भ्रमण टीमों के सदस्यो को सभी पंजीकृत टीबी रोगियों का घर भ्रमण कर संपर्क में रहने वाले 5 वर्ष तक के बच्चों एवं वयस्कों में टीबी की स्क्रीनिंग करने का निर्देश दिया गया तथा योग्य बच्चों की लाइन लिस्टिंग करवाने का निर्देश दिया गया|

swatva

जिले मे प्राइवेट क्लिनिक के साथ काम करने वाली संस्था डॉक्टर फॉर यू को निर्देश दिया गया कि उनके द्वारा नोटिफिकेशन किए गए यक्ष्मा मरीजों का डाक्यूमेंट्स समय से ऑफिस को उपलब्ध कराये जाएं | जिससे वैलीडेशन कर डीबीटी निक्षय पोषण राशि के भुगतान में विलम्ब नहीं हो. साथ हीं कहा कि मरीज का घर विजिट किया जाए और उसमें तेजी लायी जाए । सभी एसटीएस/एसटीएलएस को निर्देश दिया गया कि दवा खा रहे मरीज का घर उपलब्ध कराये गए दोपहिया वाहन से विजिट करें।

टीबी मरीजों की पहचान होते ही गृह भ्रमण करें

यक्ष्मा रोग एक जटिल रोग है। इसे जल्द से जल्द पहचान कर इलाज शुरू किया जाना चाहिए, ताकि दूसरों व्यक्तियों में यह संक्रमित बीमारी न पहुंचे। वहीं बैठक के दौरान सभी एसटीएस को यह भी निर्देश दिया कि यक्ष्मा रोग की पहचान होते ही एसटीएस उसके घर का भ्रमण जरूर करें। गृह भ्रमण के दौरान पांच वर्ष तक की उम्र के बच्चों को आईएनएच की गोली देना सुनिश्चित करें। वहीं अगर गृह भ्रमण के दौरान उनके घर के किसी व्यक्ति में भी टीबी के लक्षण पाए जाते हैं तो शीघ्र ही उनके बलगम जांच की व्यवस्था सुनिश्चित की जाय।

एमडीआर-टीबी हो सकता है गंभीर, रहें सतर्क

एमडीआर-टीबी होने पर सामान्य टीबी की कई दवाएं एक साथ प्रतिरोधी हो जाती हैं। टीबी की दवाओं का सही से कोर्स नहीं करने एवं बिना चिकित्सक की सलाह पर टीबी की दवाएं खाने से ही सामान्यता एमडीआर-टीबी होने की संभावना बढ़ जाती है।

जुलाई 2022 मे 587 मरीजों को किया गया चिन्हित

जिले में जुलाई 2022 में 587 मरीजों को चिन्हित किया गया । जिसमें 239 मरीज सरकारी संस्थान तथा 344 मरीज प्राइवेट क्लिनिक से चिन्हित किया गया। वही एमडीआर के 4 सहित कुल जुलाई मे 587 मरीज चिन्हित किया गया जिसमें 457 मरीजों का एचआईवी जांच भी किया गया.

समीक्षा बैठक में डीपीसी पंकज कुमार, अनिल कुमार, सत्य नारायण शर्मा, भुवन नारायण कंठ, मोहम्मद अमीरूद्दीन, लैब टेक्निशियन, एसटीएस, एसटीएलएस, डॉक्टर्स फॉर यू , आई आई एच इंडिया, डीएफआईटी के कर्मी मौजूद रहे।

सास-बहू व बेटी सम्मेलन में दी गयी परिवार नियोजन की जानकारी, स्थाई व अस्थायी साधनों पर हुई चर्चा

मधुबनी : परिवार नियोजन पर अलख जगाने की नई पहल की गयी है। सास एवं बहू के माध्यम से परिवार नियोजन पर जागरूकता फैलाई जा रही है। मधुबनी जिले के विभिन्न प्रखंडों में सास-बहू, बेटी सम्मेलन का आयोजन किया जा रहा है। जिसमें आने वाली सास-बहू की जोड़ियों को परिवार नियोजन के स्थाई तथा अस्थाई साधनों के बारे में जानकारी दी गयी तथा साधनों को अपनाने के लिए प्रेरित किया गया।

सास-बहू सम्मेलन के दौरान स्वास्थ्य विभाग के टीम के द्वारा सास-बहू के जोड़ियों के साथ खेल खेला गया। जिसमें सास-बहू की जोड़ियों ने काना-फूसी की। इसके माध्यम से यह संदेश दिया जाता है कि काना-फूसी व परिवार नियोजन के बारे में अफवाहों पर ध्यान न दें। बल्कि आशा या एएनएम के द्वारा बताये गये परिवार नियोजन के साधनों का इस्तेमाल करें।

परिवार नियोजन के इन साधनों पर हुई चर्चा

सम्मेलन में परिवार नियोजन के स्थायी एवं अस्थायी साधनों के बारे में जानकारी दी गयी। स्थायी साधनों में महिला नसबंदी एवं पुरुष नसबंदी एवं अस्थायी साधनों में कॉपर टी, गर्भ-निरोधक गोली(माला-एम एवं माला-एन), कंडोम एवं इमरजेंसी कंट्रासेपटीव पिल्स के बारे में विस्तार से बताया गया। उन्होने कहा कि नवीन गर्भनिरोधक ‘अंतरा एवं ‘छाया’ के इस्तेमाल पर ज़ोर दिया जा रहा है। ‘अंतरा’ गर्भ निरोधक इंजेक्शन का इस्तेमाल एक या दो बच्चों के बाद गर्भ में अंतर रखने के लिए दिया जाता है। साल में इंजेक्शन का चार डोज दिया जाता है। वहीं ‘छाया’ गर्भ निरोधक एक साप्ताहिक टेबलेट है।

बैलून के माध्यम से दी जाती है संदेश

जिला सामुदायिक उत्प्रेरक नवीन दास ने बताया कि सास-बहू सम्मेलन के दौरान सास और बहू को चार पांच बैलून गोद में दिया जाता है और उसे संभालकर रखने को कहा जाता है। लेकिन चार पांच में से एक-दो बैलून हाथ से छूट कर गिर जाता है। फिर एक जोड़ी सास-बहू को दो बैलून दिया जाता है जिसे वे असानी से पकड़ लेती हैं और नीचे नहीं गिरता है। जिससे यह संदेश दिया जाता है कि अगर ऐसे हीं चार पांच बच्चे होंगे तो संभालना मुश्किल होगा। इससे आर्थिक स्थिति भी खराब होगी। दो बच्चों को बाद परिवार नियोजन के साधनों का प्रयोग करने के लिए प्रेरित किया जाता है।

2025 तक बिहार के प्रजनन दर को 2.1 तक लाने का लक्ष्य

केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा कुल प्रजनन दर (प्रति महिला बच्चों की कुल संख्या) में कमी, आधुनिक गर्भ-निरोधक साधनों के उपयोग को बढ़ाने, गर्भ-निरोधक साधनों की सामुदायिक स्तर पर पहुँच सुनिश्चित करने एवं परिवार नियोजन के प्रति जन-जागरुकता को बढ़ाने के लिए उच्च कुल प्रजनन दर की सूची में शामिल बिहार में मिशन परिवार विकास की शुरुआत की गयी है। सैंपल रजिस्ट्रेशन सर्वे की रिपोर्ट के अनुसार अभी बिहार की कुल प्रजनन दर 3.2 है। मिशन विकास परिवार के तहत वर्ष 2025 तक बिहार के प्रजनन दर को 2.1 तक लाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।

उप प्रमुख ने शिक्षा व्यवस्था सुधार के लिए पुरसौलिया में किया विद्यालय का निरीक्षण, दिए कई निर्देश

मधुबनी : जिले के कलुआही प्रखंड में शिक्षा व्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए अधिकारी सहित जनप्रतिनिधि लगातार विद्यालयों का निरीक्षण कर रहे हैं। इसी कड़ी में शुक्रवार को उप प्रमुख चंदन प्रकाश यादव ने प्राथमिक विद्यालय पुरसौलिया पश्चिम का औचक निरीक्षण किया। इस दौरान सभी कक्षा के बच्चे जमीन पर बैठकर पढ़ाई कर रहे थे। उप प्रमुख ने एचएम से विद्यालय की समस्याओं और संसाधनों के बारे में जानकारी ली।

उन्होंने एचएम और शिक्षकों को समय पर स्कूल आने के साथ साथ कई आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उप प्रमुख ने बच्चो के लिए बने एमडीएम की गुणवत्ता के जांच की जहां रसोई भवन की कमी पाई गई। उन्होंने एचएम और रसोइयों को साफ सफाई पर विशेष ध्यान रखने के लिए निर्देश दिया। कहा की किसी तरह की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उप प्रमुख ने बताया की विद्यालय के निरीक्षण के दौरान पठन-पाठन संतोषजनक पाया गया है।

वही एमडीएम भी मेन्यू के अनुसार दिया जाता है। लेकिन विद्यालय के कुछ कमरा काफी जर्जर स्थिति में है। उक्त विद्यालय में किचन शेड, छात्र- छात्रा के लिए अलग-अलग शौचालय एवम् क्लास रूम निर्माण सहित कई संसाधनों की आवश्यकता है। इस संबंध में पूछे जाने पर प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी ने बताया की शौचालय से वंचित विद्यालयों की सूची सभी एचएम से मांग की गई है। सूची मिलते ही जिला को मांग रिपोर्ट भेज दिया जायेगा। वही विद्यालय में डेस्क-बेंच नही होने पर पूछा गया, तो उन्होंने कहा की प्राथमिक विद्यालय में ऐसा प्रावधान नहीं है।

उर्वरक निगरानी समिति की बैठक में लिया गया कई अहम फैसला

बेनीपट्टी,मधुबनी : उर्वरक निगरानी समिति की बैठक जिले के बेनीपट्टी प्रखण्ड कृषि कार्यालय बेनीपट्टी में आज बिहार विधान पार्षद घनश्याम ठाकुर और स्थानीय प्रखण्ड प्रमुख सोनी देवी की संयुक्त अध्यक्षता आयोजित किया गया।बैठक में किसानों की समस्याओं पर विस्तार से चर्चा परिचर्चा किया गया, जिसमें विधान परिषद सदस्य बिहार सरकार घनश्याम ठाकुर ने कहा कि प्रखण्ड के सभी किसानों को जीरो टॉलरेंस पर आधार कार्ड द्वारा पॉश मशीन के जरिये उचित मूल्य पर उर्वरक की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जाय, ताकि अन्नदाताओं को किसी प्रकार की परिसानी नहीं हो सके।

बैठक में सर्वसम्मति से यह प्रस्ताव पारित किया गया कि खाद्य की कालाबाजारी पर पूर्ण रूप से अंकुश लगाने का हर संभव तरीका अपनाया जाय और किसानों को उचित मूल्य पर खाध उपलब्ध कराने के लिए कलाबाजी करने वाले लोगों को धवादल बनाकर निगरानी किया जाय। इस दौरान बैठक में मौजूद सभी लोगों ने प्रस्ताव पर अपनी रजामंदी का इजहार भी किया।वहीं, प्रखण्ड विकास पदाधिकारी बेनीपट्टी ने कहा कि सभी खाद्य विक्रेताओं पर पैनी नज़र रखी जा रही है, किसानों को उचित मूल्य पर खाध मुहैया कराने के लिए प्रखण्ड प्रशासन गंभीर है। अन्नदाताओं को हर हाल में उचित मूल्य पर उर्वरक मुहैय्या कराया जाएगा।

बैठक की अध्यक्षता कर रही प्रखण्ड प्रमुख सोनी देवी ने कहा कि हम भी एक किसान हैं और किसानों को ज्यादा मूल्य पर खाद मिलने की शिकायत पर हमने अपने स्तर से भी जहाँ तक हो सकता है, प्रयास करते रहेंगे। ताकि अन्न दाता को किसी प्रकार की समस्या नहीं उतपन्न हो सके।बैठक में विधान पार्षद घनश्याम ठाकुर के अलावे प्रखण्ड कृषि पदाधिकारी संजीव कुमार सिंह, अंचलाधिकारी बेनीपट्टी पल्लवी गुप्ता, प्रखण्ड शिक्षा पदाधिकारी बेनीपट्टी अरविन्द कुमार, राजस्व कर्मचारी पूजा कुमारी, कृषि समन्वयक राजू कुमार, कृषि समन्वयक नरेंद्र सिंह, आत्मा अध्यक्ष बेनीपट्टी जुबैर आलम, खाद्य विक्रेता रतन पाठक, रवि कुमार झा, श्यामानन्द चौधरी, राम बल्लम महतो, शम्भू कामत सहित अन्य कई लोग मौजूद थे।

डीईओ ने हाइकोर्ट के आदेशानुसार शिक्षक नियोजन और वेतन भुगतान से संबंधित एक दर्जन से अधिक मामलों को किया जांच

बिस्फी,मधुबनी : जिले के बिस्फी प्रखंड मुख्यालय स्थित बीआरसी भवन के सभागार में जिला शिक्षा पदाधिकारी दिनेश कुमार चौधरी ने हाइकोर्ट के आदेशानुसार शिक्षक नियोजन और वेतन भुगतान से संबंधित एक दर्जन से अधिक मामलों की जांच की।

प्रखंड क्षेत्र के भोजपंडोल पंचायत एवं जगवन पूर्वी पंचायत के नियोजन इकाई मे प्रभावित शिक्षक और संबंधित विद्यालय प्रधान से बात कर सभी का पक्ष की जानकारी लिया। मिली जानकारी के अनुसार भोजपंडोल के प्राथमिक विद्यालय के दो, प्राथमिक विद्यालय गजवा के दो, प्राथमिक विद्यालय दुल्हा नवटोली के तीन शिक्षकों का वेतन भुगतान वित्तीय वर्ष 2017 से ही बंद है। वही जगवन पूर्वी के छोरहिया प्राथमिक विद्यालय के 3 टीचरों का वेतन 2010 से ही नहीं मिला।

तीनों पंचायत के सभी 10 शिक्षकों ने वेतन भुगतान नहीं होने पर हाई कोर्ट में याचिका दायर की गई गई थी, जिसके आलोक में श्री चौधरी ने प्रखंड मुख्यालय पहुंचकर सभी संबंधित पक्षों से बात की। उन्होंने बताया कि सम्बंधित लोगों से लिखित में भी पक्ष ले लिया गया है। पूरी जांच के बाद इसका निर्णय लिया जाएगा कि शिक्षकों का वेतन व नियुक्ति बहाल रखा जाए या नहीं, इसकी पूरी रिपोर्ट हाई कोर्ट को भेजा जाएगा। इस मौके पर बीईओ विमला कुमारी, महेश पासवान सहित कई लोग उपस्थित थे।

बिस्फी में आधार सेंटर का हुआ शुभारंभ

बिस्फी, मधुबनी : जिले के बिस्फी प्रखण्ड क्षेत्र के प्रखण्ड मुख्यालय परिसर में आधार कार्ड सेंटर का शुभारंभ किया गया। बताते चले कि प्रखण्ड क्षेत्र में आधार कार्ड बन्द हो जाने से लोगो को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा था एवं सीएसपी संचालको द्वारा काफी गलत ढंग से रुपये की वसूली की जाती हैं।

वहीं, सेंटर संचालक पप्पू कुमार ने बताया कि मुख्यालय परिसर में आधार सेंटर खुल जाने से लोगो को सही ढंग से उचित रुपये में आधार कार्ड बनाने का कार्य को जा रही है। वही बताया गया कि एक रोज में केवल बीस फ्रॉम ही जमा लेकर बनाया जाएगा।

पुलिस और डकैत में मुठभेड

खुटौना,मधुबनी : मधुबनी जिले के लौकहा थाना क्षेत्र के प्लस टू उच्च विद्यालय के पास एसएसबी कैंप से महज डेढ़ सौ गज की दूरी पर गुरुवार रात डकैतों ने भीषण डकैती का अंजाम दिया। डकैतों की संख्या 15 से 20 बताई जा रही है। गृहस्वामी गोपेन चंद्रसेन के अनुसार वे और उनकी पत्नी आशा सेन तथा उनकी बच्ची प्रियंका कुमारी एक कमरे में सो रहे थे।

बिजली चमकने की रोशनी दिखाई दी और वे गेट खोलकर आंगन में आए, तो देखा कि किसी ने गैस कटर से मकान के पीछे का लोहे का गेट काट रहा है। कौन है का आवाज देने पर उधर से चुप रहने की आवाज आई। गृहस्वामी श्री सेन ने बताया तब तक वे मोबाइल फोन से पुलिस और बाजार के कुछ लोगों को खबर की। वह मकान के बाहर निकलने की कोशिश की, लेकिन दरवाजे पर भी पांच की संख्या में डकैत गोली मार देने की धमकी देते हुए घर के अंदर ही रहने को कहा। डर से गृहस्वामी अपने बच्चों के साथ एक कमरे में बंद कर लिया।

सूचना मिलते ही लौकहा थाना अध्यक्ष संतोष कुमार मंडल ने दल बल के साथ और कुछ ग्रामीण भी घटनास्थल के कुछ दूरी पर पहुंचकर डकैतों को घेरना चाहा। ईधर डकैतों ने अपने को घिरते देख पुलिस पर ताबड़तोड़ बम बरसाना शुरू कर दिया, तो दूसरी ओर पुलिस और ग्रामीण के तरफ से भी जवाबी कार्रवाई होने लगी। लौकहा के मोहम्मद मसीहा ने अपनी लाइसेंसी रिवाल्वर से कुल 7 फायर किया।

बताया जा रहा है कि एनएच 104 पर डकैतों ने खड़ा होकर बम बरसाकर पुलिस और ग्रामीणों को आगे बढ़ने से रोके रखा और घर के अंदर डकैतों ने डकैती का अंजाम देता रहा। जबकि 150 गज की दूरी पर एसएसबी कैंप है तथा सीमा पर एसएसबी की तैनाती रहती है। जानकारी दी गई कि घटना बीत जाने के बाद तकरीबन 30 मिनट के बाद एसएसबी के जवान घटनास्थल पर पहुंचा और वापस चला गया।

गृहस्वामी द्वारा थाना में दिए गए आवेदन में अपराधी लोग दो लोहे का गेट काटकर अंदर प्रवेश किया और एक के बाद एक तीन कमरा को तोड़कर 1लाख 40 हजार नगद चार भर सोना तथा पांच चांदी का सिक्का लेकर चलता बना। सूचना पाते ही फुलपरास के एसडीपीओ प्रभात कुमार शर्मा, खुटौना, ललमनिया तथा लौकही पुलिस रात में ही पहुंचकर इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान शुरू कर दी।

मिली जानकारी के मुताबिक 3 बजे सुबह में ही टेक्निकल सेल के कर्मी भी पहुंचकर जांच की, तो दूसरी ओर डॉग स्क्वायड मंगवा कर सर्च ऑपरेशन कराया गया। अधिकारी के साथ चल रहे डॉग नेपाली सीमा में घुसने की कोशिश की, लेकिन नेपाली इपीएफ के जवानों ने अंदर जाने से रोक दिया और वहां से वे लोग वापस आ गए। पुलिस इस घटना का उद्भेदन जल्द ही कर लेने की दवा कर रही है। बता दें कि अपराधियों ने मकान के पीछे बने दीवार के पीछे दो बांस का सीढ़ी लगाकर अंदर प्रवेश किया तथा लोहे का गेट काटकर मकान के अंदर घुसा था।

परिवहन मंत्री ने आरटीपीएस काउंटर का किया उद्घाटन

मधुबनी : फुलपरास प्रखंड कार्यालय परिसर स्थित गांधी स्मृति भवन में शुक्रवार को नगर पंचायत फुलपरास कार्यालय व आरटीपीएस काउंटर का उद्घाटन परिवहन मंत्री सह स्थानीय विधायक शीला कुमारी, एसडीएम एवं कार्यपालक पदाधिकारी शिवांशु शिवेश ने संयुक्त रूप से फीता काट कर किया।

उद्घाटन समारोह के मौके पर परिवहन मंत्री शीला कुमारी ने कहा कि नगर पंचायत फुलपरास में आरटीपीएस काउंटर की शुभारंभ होने से नगर पंचायत क्षेत्र के लोगों को विभिन्न प्रकार के प्रमाण पत्र बनवाने में आसानी होगी एवं बने प्रमाणपत्र को नियत तिथि पर देने में भी सहूलियत होगी। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र में जनता मालिक होता है और जनप्रतिनिधि सेवक।जनता की सेवा करना हम सभी का कर्तव्य है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री नीतीश कुमार बिहार के विकास पुरुष हैं। उन्होंने कहा है कि यह पूरे प्रदेश की जनता कह रही है। उनके कार्यकाल में बिहार का चौतरफा विकास हुआ है।

इस मौके पर फुलपरास एसडीएम, नगर पंचायत फुलपरास के प्रभारी कार्यपालक पदाधिकारी शिवांसु शिवेश, बीडीओ शुशील कुमार दास, सीओ मनोज कुमार, प्रखंड कल्याण पदाधिकारी शुशील कुमार लाल, प्रधान सहायक मनोज कुमार, अशोक मंडल, घोघरडीहा जदयू प्रखंड अध्यक्ष धर्मेन्द्र कुमार मंडल, उपेन्द्र नारायण कामत, विकास झा, कैलू मंडल, संजय मंडल, मंगनु सिंह, लक्ष्मण कामत, भुवनेश्वर सिंह, कौशल पासवान, विकास मित्र संजीत राम, दिनेश राम,ललिता कुमारी, लेखापाल शशि कुमार, संगीता कुमारी, कोडिनेटर पप्पू कुमार, सुपरवाइजर कन्हैया कुमार, बमबम झा, पंकज कुमार, प्रमेश्वर कुमार आदि मौजूद थे।

सरकार के महत्वाकांक्षी नल जल योजना बना शोभा का वस्तु, आज तक नही मिला नल से जल

कलुआही,मधुबनी : बिहार सरकार के महत्वाकांक्षी नल जल योजना को उनके ही अधिकारी तार-तार करते नजर आ रहे है। मामला मलमल उत्तर पंचायत के वार्ड संख्या 2 और 3 का है, जहां पीएचडी विभाग द्वारा नल जल योजना का कार्य किया गया है।

लेकिन, करीब दो वर्षो में लोगो को अभी तक नल से जल नही मिला, जिसमे संवेदक की बहुत बड़ी लापरवाही देखने को मिला है। इसकी शिकायत एमएलसी प्रतिनिधि कलुआही अमलेश कुमार ने जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी के समक्ष दायर किया है। दायर शिकायत में कहा गया है दोनो वार्ड में नल जल का कार्य आधा अधूरा छोड़ दिया गया। जगह जगह पाइप लीकेज और सड़क खोद कर बिना मरम्मती किए ही छोड़ दिया गया है।

उन्होंने बताया की संवेदक को कई महीनो तक कॉल किया गया, लेकिन उन्होंने बात करना उचित नही समझा। इस संबंध में जब पिछले दिनों विभागीय अधिकारी कनीय अभियंता सत्यप्रकाश कुमार से बात किया गया, तो उन्होंने दो दिन के अंदर कार्य पूरा करने का आश्वासन दिए थे, लेकिन अब तक किसी तरह का कार्रवाई नही किया गया।

आर.के. कॉलेज से तीन वर्ष पूर्व स्नातक पास छात्र को नही मिला मूल प्रमाण पत्र, मामला लोक शिकायत में दर्ज

मधुबनी : बिहार में शिक्षा व्यवस्था के साथ शिक्षा के मंदिर में ही छात्र, छात्राओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जाता है। वैसे राज्य के अधिकार विश्वविद्यालय का सेशन काफी लेट चलता है। तीन वर्ष का स्नातक कोर्स पांच वर्ष में पूरा किया जाता है, उसके बाबजूद भी स्टूडेंट को मूल प्रमाण पत्र हासिल करने के लिए सालो साल लग जाता है। नया मामला रामकृष्ण महाविद्यालय मधुबनी का है, जहां छात्र संजीव पासवान ने कॉलेज प्रशासन से आहत होकर अपनी शिकायत जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी के समक्ष दायर किया है।

पीड़ित छात्र ने बताया की स्नातक की पढ़ाई उन्होंने वर्ष 2019 में पूरा किया, लेकिन तीन वर्ष बीत जाने के बाद भी आज तक उनको मूल प्रमाण नही मिला, जिसके कारण छात्र आगे की पढ़ाई नही कर पा रहे है। उन्होंने बताया की इस कॉलेज में छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जाता है। अपनी शिकायत को लेकर छात्र ने कई बार विश्वविद्यालय भी गया। विश्वविद्यालय प्रशासन ने मूल प्रमाण पत्र को कॉलेज भेज देने की बात कही छात्र ने उक्त महाविद्यालय के प्रधानाचार्य को भी कई बार शिकायत किया लेकिन परिणाम शून्य रहा।

मृतक के परिजन को मिला आपदा प्रबंधन से चार लाख का चेक

पंडौल, मधुबनी : जिले के पंडौल प्रखंड के बलहा गांव निवासी मोहम्मद तमन्ना के सङक दूर्घटना मे मौत हो गयी थी, उसके परिवार को आज पंडौल अंचल मे आपदा कोष से चार लाख का चेक अंचल अधिकारी नंदन कूमार ने सौपा। मौके पर पंडौल के जिला पार्षद अकूलूदीन एवं संजय पासवान भी उपस्थित थे।

बढ़ती महंगाई ओर सरकार की नीतियों के खिलाफ कांग्रेस ने किया जोरदार प्रदर्शन

मधुबनी : आज जिला कांग्रेस कमिटी मधुबनी ने राष्ट्रव्यापी कार्यक्रम के तहत जिलाध्यक्ष प्रो० शीतलाम्बर झा के अध्यक्षता में मोदी सरकार के गलत नीतियों के कारण देश मे बढ़ती कमरतोड़ महंगाई, लगातार बढ़ती बेरोजगारी, दिशाहीन जीएसटी ” गब्बर सिंह टैक्स ” देश के सुरक्षा के साथ खेलवाड़ कर अग्निवीर योजना घटती अर्थव्यवस्था के खिलाफ जिला समाहरणालय के समक्ष विशाल धरना प्रदर्शन किया, जिसमे काफी संख्याओं में कार्यकर्ताओं ने अपनी भागीदारी दिया। मोदी सरकार के खिलाफ जोरदार नारेबाजी कर कर इन ज्वलंत मुद्दों पर आमजनों का ध्यान आकृष्ट करने में सफल रहा।

धरना प्रदर्शन कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए पूर्व मंत्री सह प्रदेश अनुशासन समिति के अध्यक्ष कृपानाथ पाठक ने कहा आज मोदी सरकार अहंकार एवं तानाशाही के कारण देश मे चौतरफा आसमान छूती महंगाई से आमजनों को जीना दूभर कर दिया है। गरीब, मजदूर, किसान छात्र, नौजवान, खासकर महिलाएं त्राहि-त्राहि कर रही है डीजल, पेट्रोल, रसोई गैस सिलेंडर में बेतहाशा मूल्य वृद्धि से लोगों का जन जीवन काफी प्रभावित हुआ है।

अंग्रेजों ने भी कभी अनाज पर टैक्स नही लगाया था, लेकिन तथाकथित राष्ट्रवादी सरकार आज लोगो को खाने की आवयकता की चीजें आंटा चावल से लेकर दूध दही पनीर एवं दलहन तेलहन पर गब्बर सिंह टैक्स लगाकर आमलोगों के पेट पर लात मारने का काम किया है, जिसके खिलाफ कांग्रेस पार्टी लगातार आंदोलन कर मोदी सरकार से इन बस्तुओं पर से टैक्स वापस लेने की मांग करती रही है। आज बच्चों को भी नही बक्सा है इनके पढ़ने लिखने की सामग्री पर भी टैक्स लगाकर गरीबो के बच्चों को पढ़ने से रोकने की काम कर रही है।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए जिलाध्यक्ष प्रो० शीतलाम्बर झा ने कहा जबसे मोदी सरकार आई है, तब से कमरतोड़ महंगाई लाई है। आज सभी तबके के लोग चिंतित है देश मे बढ़ती बेरोजगारी दर 45 वर्षों के रिकार्ड को तोड़ दिया है। केंद्र एवं राज्य सरकार के अधीन करोड़ों पद रिक्त रहते हुए शिक्षित युवक एवं युवतियों को नौकरी नही दी जा रही है। लोगों का नौकरी जा रही है, देश के सैकड़ों सावजनिक प्रतिष्ठानों को अपने पूंजीपति मित्रों के हाथ बेच दिया है। गरीबों, किसानों मजदूरों का ऋण माँफी नही की जा रही है और अपने मित्रों का ऋण हजारों करोड़ माफ कर दिया है। आज मोदी सरकार सेना को भी कमजोर कर रही पद खाली रहते हुए भी स्थायी बहाली नही कर रही है, बल्कि ठेका पर सिर्फ चार साल के लिए बहाली कर नौजावनों के भविष्य के साथ खेलवाड़ कर रही है।

प्रो० झा ने कहा इन्ही सब मुद्दों पर जब कांग्रेस नेता राहुल गांधी एवं सोनिया गांधी ने सदन से लेकर सड़क तक आवाज उठाती है, तो मोदी सरकार ईडी को आगे कर आवाज को बन्द करना चाहती है, जो कांग्रेस के कार्यकर्ताओं बर्दाश्त नही करेगी। बल्कि आंदोलन को ओर तेज करेगी।

कार्यक्रम में मनोज मिश्रा, रामसुंदर त्रैत, अशोक कुमार चौधरी, मो० शब्बीर अहमद, रामइकबाल पासवान, अमानुल्लाह खान, जयोति झा, पवन यादव, प्रो० कृष्ण कुमार झा, नबल किशोर झा, रामप्रसाद यादव, जयोतिरमान झा बाबा, कृष्ण कांत झा गुड्डू, शिवचन्द्र झा, अब्दुल दयाम हासिम, रघुनाथ झा राजा, कौशल किशोर चौधरी, रणधीर सेन, शुभंकर झा, शकील अख्तर, सुनील कुमार झा, मीनू पाठक, लालू यादव, बिजय सिंह, बबिता चौरसिया, आनंद कुमार झा, अविनाश झा, मो० शकील, अजय कुमार राय, गंगाधर पासवान, बालेश्वर पासव।

सुमित कुमार की रिपोर्ट 

Leave a Reply