22 जुलाई : मधुबनी की मुख्य खबरें

0
swatva samachar

हरलाखी में शांतिपूर्ण ढंग से मनाया गया बकरीद का त्योहार, घरों में अदा की गई नवाज

मधुबनी : जिले के हरलाखी प्रखंड के सोठगांव, मधुबनी टोल, नहरनिया, खिरहर, गंगौर समेत पूरे प्रखंड में ईद-उल-अज़हा यानी बकरीद का त्योहार शांति पूर्वक ढंग से मनाया गया। इस अवसर पर इस्लाम धर्मावलंबियों ने कोविड-19 के गाइड लाइन का पालन करते हुए ईदुल अज़हा की नमाज़ अदा की और कुर्बानी दी गयी। ईदुल अज़हा के मौके पर लोगों ने कोविड-19 के निर्देशों का पालन करते हुए मस्जिदों तथा अपने- अपने घर पर ही नमाज़ अदा की।

नमाज़ के बाद सभी ने मुल्क में शांति और तरक्की की दुआएं मांगी। साथ ही कोरोना जैसी महामारी से सभी महफूज़ रखने की दुआ भी मांगी गई। पर्व को लेकर लोंगो में काफी उत्साह देखा गया। सभी मिठाइयां की खरीदारी कर एक दूसरे मिठाइयां ख़िलाकर गले से गले लगाया फिर बधाइयां दी। वहीं सोशल मीडिया पर भी बधाइयां का दौर चलता रहा।

इस अवसर पर सोठगांव पंचायत के मुखिया पती सह समाजसेवी मो० इजहार ने मुल्क और क्षेत्र के लोगों को बकरीद पर्व की बधाइयां देते हुए अमन एवं शांति के साथ पर्व मनाने की अपील की। उन्होंने कहा कि पर्व त्योहार आपसी भाईचारे का पैगाम देता है। सभी लोग सरकार के निर्देशों का पालन करते हुए त्योहार को मनाए। उन्होंने लोगों से एक दूसरे की भावना का कद्र करते हुए सौहाद्रपूर्ण माहौल में पर्व मनाने की अपील की। वहीं पर्व को लेकर सीओ सौरभ कुमार, हरलाखी थानाध्यक्ष प्रेमलाल पासवान व खिरहर थानाध्यक्ष अंजेश कुमार दल बल के साथ पूरे दिन क्षेत्र में भ्रमण करते देखा गया।

फांसी की फंदा लगाकर विवाहिता ने की आत्महत्या, डेढ़ वर्ष पूर्व हुई थी शादी

मधुबनी : जिले के हरलाखी थाना क्षेत्र के पिपरौन गांव निवासी एक नावविहिता ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है। मृतिका की पहचान अभय कुमार महतो की करीब 21 वर्षीय पत्नी निभा कुमारी के रूप में बताया गया है। घटना मध्य रात्रि की बताई जा रही है। मृतिका का ससुर हरि नारायण महतो ने बताया कि देर रात को सपरिवार खाना खाकर सो गए। रात करीब डेढ़ बजे मेरे एक पड़ोसी ने आकर मुझे जगाया और कहा कि आपके बेटा का दिल्ली से फोन आया था, घर में देखिए सब ठीक तो है न? उसके बाद हम अपनी पत्नी को उठाया।

फिर देखा कि मेरा पुत्रवधु एक कमरे में दुपट्टा से फांसी लगाकर झूल रही थी। उसके बाद परिवार के लोगों ने आसपास के लोगों को जगाकर घटना के बारे में बताया। दरअसल मृतिका के पति पत्नी को फोन किया था, काफी देर तक फोन बंद बताने के बाद उसे टेंशन हुआ। फिर गांव के एक व्यक्ति को फोन कर घर के लोगों से बात कराने को कहा, जिसके बाद घटना का जानकारी हुआ। उधर घटना की सूचना मिलते ही थानाध्यक्ष के निर्देश पर एसआई विनय शर्मा, एएसआई नीरज चौबे दलबल के साथ मौके पर पहुच और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए मधुबनी भेज दिया।

वहीं नेपाल के धनुषा जिला अंतर्गत भट्टिशेर गांव निवासी मृतिका के पिता दिनेश महतो ने किसी भी प्रकार का कानूनी कार्रवाई नही करने का बात कही। फिर दोनों पक्षों के द्वारा मृतिका के शव को अंतिम संस्कार करने पर सहमति बनी। ग्रामीणों ने बताया कि मृतिका के पति दो माह पहले ही कमाने के लिए दिल्ली गए हुए है। दोनों के बीच अच्छा संबंध था। सास ससुर भी काफी वृद्ध है। फिर आत्महत्या क्यो, किया इसका कोई पता नही चल सका है। उधर घटना के बाद गांव में मातम पसरा हुआ है। मृतिका के वृद्ध सास-ससुर का रो-रो कर बुरा हाल है। इस बावत थानाध्यक्ष प्रेम लाल पासवान ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएंगी।

भारत-नेपाल सीमा पर एसएसबी ओर नेपाल पुलिस के बीच हुई बैठक, सीमा एवं तस्करी से जुड़े मुद्दों पे हुई चर्चा

मधुबनी : विगत साल से ही भारत-नेपाल सीमा आधिकारिक तौर पर कोविड के कारण बंद है। आज भी ये बंदी जारी है। बावजूद इसके सैकड़ों तस्करी के ओर दर्जनों आपराधिक मामले संज्ञान में आये हैं। ये केवल भारत की ही नही, नेपाल पुलिस के लिए भी परेशानी का सबब बनी हुई है।

आज इसी बाबत भारत-नेपाल सीमा क्षेत्र के सीमा स्तंभ संख्या-268 के पास 48वीं वाहिनी एसएसबी कैम्प के प्रभारी परमात्मा सिंह(असिस्टेंट कमंडन्ट) और अन्य एसएसबी जवान एवं नेपाल एपीएफ, नेपाल जनपद अधिकारी इंस्पेक्टर लोकनाथ एप्रेती(एपीएफ), सब-इंस्पेक्टर बिस्वा बाबू बुद्धकोटी, नेपाल पुलिस और अन्य जवानो के साथ भारत-नेपाल सीमा पर मीटिंग किया गया।

जिसमे निम्न मुद्दो पर चर्चा किया गया :-

1). कोरोना के मद्देनजर देखते हुये उचित कदम उठाये जाये।
2). सीमा पर होणे वाली अवैध गतिविधी की जानकारी साझा किया गया, और दोनो देश मिलकर उचित कदम उठाणे का निर्णय लिया गया।
3). सीमा क्षेत्र के अतिक्रमण के बारे मे जानकारी का आदान-प्रदान किया गया।

भारी मात्रा में शराब के साथ एक कारोबारी धराया, घर की छापेमारी कर पुलिस ने बरामद की शराब

मधुबनी : जिले के बासोपट्टी थाना पुलिस ने गुप्त सूचना के आधार पर 80 बोतल शराब के साथ एक कारोबारी को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार शराब कारोबारी की पहचान स्थानीय थाना क्षेत्र के बासोपट्टी पूर्वी पंचायत निवासी संजीव कुमार राम के रुप मे बताया गया है। जानकारी के अनुसार एसआई किशोर कुमार दलबल के साथ गस्ती पर निकले हुए थे।

इसी क्रम में गुप्त सूचना के आधार पर त्वरित कार्रवाई करने हेतु उक्त शराब कारोबारी के घर की छापेमारी की। जहाँ घर मे छुपाए रखे शराब को जब्त किया गया। वहीं पुलिस को देख भाग रहे उक्त कारोबारी को खदेड़ कर घर दबोचा। इस बावत थानाध्यक्ष अरविंद कुमार ने बताया कि गिरफ्तार शराब तस्कर को जेल भेज दिया गया है।

स्पेयर पार्ट्स की दुकान से 80 हजार की समान का चोरी, पुलिस की गस्ती गाड़ी देख सामान छोड़ भागा चोर

मधुबनी : जिले के बासोपट्टी थाना क्षेत्र के बासोपट्टी बाजार में एक स्पेयर पार्ट्स के दुकान में चोरी की घटना का मामला सामने आया है। मानापट्टी गांव निवासी दुकानदार सुरेश कुमार यादव ने बताया कि बुधवार की देर शाम मैं अपना दुकान बंद कर घर चला गया। अगले सुबह जब दुकान खोला तो देखा कि दुकान के उपर से एक एस्बेस्टस हटा हुआ है। वहीं एक बाइक का टायर भी खोल लिए हुए है।

जब दुकान का सामान चेक किया तो बाइक का चेनकीट, बैटरी, रिंग, पिस्टन, बैरिंग, मोबिल, टायर समेत अन्य कई समान चोरी हो चुकी थी। उन्होंने कहा कि करीब 80 हजार का सामान चोरी हुआ है। दुकानदार ने बताया कि एक साल के भीतर तीसरी बार मेरे दुकान में चोरी हुई है। इससे पहले पिछले वर्ष भी दो बार चोरी हो चुका है। इधर चोरी की घटना को लेकर बासोपट्टी बाजार के व्यवसायी में भय व्याप्त है। इस बावत थानाध्यक्ष अरविंद कुमार ने बताया कि चोरी कर भाग रहे चोर ने पुलिस की गस्ती गाड़ी को आते देख सभी सामान छोड़ कर भागने में सफल हो गए। फिलहाल आगे की कार्रवाई चल रही है।

दहेज के लिए महिला की हत्या, पति गिरफ्तार, लोगो ने किया सड़क जाम

मधुबनी : जिले के बिस्फी थाना क्षेत्र के भतौरा गांव में एक विवाहिता की हत्या दहेज के लिए कर देने का सनसनीखेज मामला सामने आया है। मृतका सुलताना परवीन (21) के शव को पुलिस ने कब्जे में कर पोस्टमार्टम के लिए मधुबनी भेज दिया है। इस घटना से आक्रोशित परिजनों और ग्रामीणों ने गुरुवार को बिस्फी-नरसाम सड़क को भैरबा में जाम कर दिया, जिसके कारण दोघंटों तक इस पथ पर आवागमन ठप रहा। ग्रामीण शव का पोस्टमार्टम में हो रही देरी से नाराज थे।

सूचना मिलने पर थाना प्रभारी सुरेन्द्र यादव, एएसआई मायाशंकर सिंह मौके पर पहुंचे। आक्रोशित लोगों को समझा-बुझा कर सड़क जाम को समाप्त कराया। मामले को लेकर मृतका के पिता भैरबा गांव निवासी मो मजहारूल ने बिस्फी थाना में दहेज हत्या की प्राथमिकी दर्ज करायी है। जिसमें पति मो० हसनैन, देवर मो० गुलाब, ननद और सास के खिलाफ दहेज हत्या की प्राथमिकी दर्ज करायी है।

एफआईआर के मुताबिक सुल्ताना परवीन की शादी तीन साल पहले भतौरा में मो हसनैन के साथ हुई थी। शादी के कुछ दिन बाद ही उसके साथ मारपीट शुरू हो गयी। उस पर दहेज में ढ़ाई लाख रूपया देने के लिए दबाब दिया जाने लगा। मांगे नहीं माने पर प्रताड़ित की जाने लगी पिता का आरोप है कि दहेज़ की रकम नहीं देने पर उसकी पुत्री की हत्या परिजनों ने गला दबा कर दी है। बिस्फी पुलिस ने तत्काल कारवाई करते हुए पति मो० हसनैन को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।

माँ कमला आरती सेवा समिति जयनगर के द्वारा माँ कमला की आरती को लेकर कमिटी का गठन

मधुबनी : जिला के जयनगर के किसान भवन जयनगर में रेखा देवी की अध्यक्षता में माँ कमला आरती सेवा समिति जयनगर के द्वारा एक बैठक का आयोजन किया गया। इसी कड़ी में माँ कमला आरती सेवा समिति जयनगर के द्वारा एक कमिटी का गठन किया गया।जिसमे मुख्य संरक्षक बालक दास बाबा नागा,अध्यक्षा रेखा देवी,संरक्षक कैलाश पासवान, कोषाध्यक्ष सोनी नायक,कार्यकारणी अध्यक्ष अरविंद तिवारी,उपाध्यक्ष कृष्ण कुमार झा, महासचिव राज कुमार सिंह,सचिव रंजना देवी,सह सचिव धीरेंद्र झा,अमित मांझी,पार्वती देवी,रत्ना देवी,मीडिया प्रभारी सह प्रवक्ता राजेश गुप्ता,सह मीडिया प्रभारी ,पप्पू पूर्वे को मनोनीत किया गया।

बता दे पहली बार जयनगर में बनारस की तरह माँ कमला की आरती  गंगा दशहरा के दिन इसकी शुरुआत जयनगर में की गई थी। कमिटी के सदस्यों का कहना है।यह आरती कार्यक्रम प्रत्येक सप्ताह में सोमवार के दिन किया जायेगा।अभी तक यह कार्यक्रम पांच वार हो चुका है। जिसकी चर्चा देश-विदेश में भी हो रही है।इस अवसर पर संस्था के महासचिव राज कुमार सिंह ने कहा कि लोगों के सुख-समृद्धि व सलामती के लिए कमला मैया से इस आरती में प्रार्थना की जाती है।

कमला आरती के दौरान कोरोना प्रोटोकाल का पालन किया जाता है।यह कार्यक्रम प्रत्येक सप्ताह में सोमवार के दिन किया जाता है।इस मौके पर नगर पंचायत के अध्यक्ष कैलाश पासवान,डॉ सुनील राउत,कालिकांत झा,जगदीश चौधरी,उत्तमलाल सिंह,सूर्य नारायण शर्मा,विनय कुमार सिंह,रमेश झा,सूर्य नारायण पूर्वे,वीरेन्द्र यादव,मोहन राय, शकुंतला देवी, कामेश्वर विराजी, अनीता देवी ,शोभा देवी, गंगा प्रसाद साह, बिन्दे सदाय, केवल चौधरी, राम भरोष महासेठ,रामबहादुर यादव,प्रकाश महासेठ,लीला देवी,संजय गुप्ता,वकील पूर्वे,धनंजय मिश्रा,विशेश्वर विराजी सहित अन्य लोग मौजूद थे।

कोविड-19 से बचाव को लेकर गाइडलाइन के पालन में नहीं करें लापरवाही, जारी रखें एहतियात :- एसीएमओ

मधुबनी : स्वास्थ्य विभाग की पहल और लोगों के सकारात्मक सहयोग से कोविड-19 संक्रमण वायरस की रफ्तार में कमी आई है। किन्तु, अभी इस महामारी का दौर खत्म नहीं हुआ है । इसलिए, सुरक्षा के मद्देनजर इस महामारी से बचाव के लिए गाइडलाइन के पालन में लापरवाही नहीं बरतें और एहतियात जारी रखें। दरअसल, संक्रमण की रफ्तार में कमी आने के साथ ही बाजार, कोचिंग संस्थान समेत अन्य सार्वजनिक जगहों की भीड़-भाड़ वाली तस्वीर गाइडलाइन का पालन नहीं करने की भी खबरें सामने आने लगी हैं । जो सुरक्षा के मद्देनजर ठीक नहीं है। इसलिए, भीड़-भाड़ वाले जगहों पर प्रोटोकॉल का ख्याल रखें और मास्क का उपयोग व शारीरिक दूरी का पालन जारी रखें। यही इस महामारी से बचाव के लिए खुद के साथ-साथ देश, राज्य, समाज और परिवार के लिए सबसे बेहतर सुरक्षा कवच और कदम होगा।

– लोगों का लगातार मिल रहा है सहयोग, पर अभी और सहयोग की जरूरत :

सीएमओ डॉक्टर आरके सिंह ने बताया, इस महामारी के खिलाफ लगातार जिले के लोगों का सकारात्मक सहयोग मिल रहा और अफवाहों को दरकिनार कर खुद लोग वैक्सीन लेने शिविर स्थल पर आने लगे हैं । जो बेहद सराहनीय कदम है। किन्तु, लोगों के इसी तरह के सहयोग की अभी और जरूरत है। इसलिए, मैं जिले वासियों से अपील करता हूँ कि वैक्सीनेशन के साथ-साथ एहतियात भी जारी रखें और पूर्व की तरह गाइडलाइन का पालन करें। इसी सहयोग की बदौलत हम इस महामारी को पूरी तरह जड़ से खात्मा कर सकते हैं।

वहीं, उन्होंने बताया, दूसरी लहर के बाद तीसरी लहर आने की संभावना जताई जा रही है। आशंका है कि तीसरी लहर में सबसे अधिक बच्चे प्रभावित हो सकते हैं। जिसके कारण हमें अभी से ही इस महामारी के खिलाफ सावधान होने की जरूरत है। ताकि हम तीसरी लहर से भी खुद को सुरक्षित रख सकें और इस महामारी के प्रभाव से दूर रह सकें। इसके लिए बच्चों के उचित देखभाल के साथ खानपान का विशेष ख्याल रखना बेहद जरूरी है। इसलिए, बच्चों के स्वास्थ्य प्रति पूरी तरह सजग रहें। किसी भी प्रकार की शारीरिक पीड़ा होने पर तुरंत चिकित्सकों से जाँच कराएं और समुचित इलाज कराएं। ताकि बच्चे शारीरिक रूप से स्वस्थ और मजबूत रह सकें। जब बच्चा स्वस्थ और मजबूत रहेगा तो वह निश्चित ही संक्रामक बीमारी से दूर रहेगा।

– बच्चों की रोग-प्रतिरोधक क्षमता को लेकर रहें सजग और बीमारियों से रखें दूर :

बच्चों के स्वास्थ्य के प्रति सावधान रहने की जरूरत है। इसके लिए बच्चों की रोग-प्रतिरोधक क्षमता को लेकर सजग रहें। क्योंकि, मजबूत रोग-प्रतिरोधक सभी प्रकार के संक्रामक बीमारी से दूर रखता है। बच्चे की खानपान समेत साफ-सफाई का विशेष ख्याल रखने की जरूरत है। ऐसे में खुद के साथ-साथ बच्चों की सेहत का भी ध्यान रखना बहुत जरूरी है। छोटे-छोटे बच्चों के स्वस्थ शरीर निर्माण के लिए कौन सा आहार हो, इसको लेकर सावधान रहने की जरूरत है। संतुलित आहार से बच्चों की रोग-प्रतिरोधक क्षमता विकसित होती है। बच्चों को अगर विटामिन और मिनरल्स नहीं मिलते हैं तो उसके शरीर की प्रतिरोधक क्षमता कमजोर होने लगती है।

– इन मानकों का करें पालन, कोविड-19 संक्रमण से रहें दूर :-

– शारीरिक दूरी का पालन हमेशा करें।
– मास्क का अनिवार्य रूप से उपयोग करें।
– घर से निकलने पर सैनिटाइजर साथ लेकर निकलें।
– भीड़-भाड़ वाले जगहों से परहेज करें।
– अनावश्यक ऑख, नाक, मुँह छूने से बचें।
– साफ-सफाई का विशेष ख्याल रखें।
– गर्म व ताजा खाना का सेवन करें।
– बासी और बाहरी खाना खाने से परहेज करें।
– लक्षण महसूस होने पर कोविड-19 जाँच कराएं।
– बारी आने पर निश्चित रूप से वैक्सीनेशन कराएं।

कालाजार उन्मूलन को लेकर द्वितीय चक्र में सिंथेटिक पायराथाइड का छिड़काव युद्ध स्तर पर शुरू

मधुबनी : जिले के बिस्फी प्रखंड क्षेत्र में कालाजार उन्मूलन को लेकर द्वितीय चक्र में सिंथेटिक पायराथाइड का छिड़काव युद्ध स्तर पर जारी है, जो 66 दिनों तक प्रखंड क्षेत्र के चिन्हित स्थानों पर किया जाएगा। इसके लिए 6-6 सदस्यो का तीन टीमो का गठन स्वास्थ्य विभाग के द्वारा किया गया है। सभी को दो दिवसीय प्रशिक्षण भी दी गई है। एक भी घर नहीं छूटने का निर्देश कर्मियों को दी गई है।

इस बाबत स्वास्थ्य प्रबंधक मो० रेजाऊर रहमान ने बताया कि कालाजार नियंत्रण को लेकर आईआरएस के दसवे दिन का कार्य दुधौल गॉव मे किया गया कुल 18 सदस्य तीन दलों में कार्ययोजना वार छिड़काव कार्य सघनतापूर्वक कर रहे हैं। यह छिड़काव कार्यक्रम 66 दिनों तक रविवार एवं राजपत्रित अवकाश दिनों को छोड़ कर कुल 12 गांवों में क्रियान्वित है। उन्होंने कहा कि इस वर्ष जनवरी से जुलाई तक एक भी केस कालाजार के मरीज नहीं मिले हैं।

वहीं, इस बाबत पीएचसी प्रभारी डॉ० मेराज अकरम कहा कि कालाजार परजीवी बालू, मक्खी के जरिए फैलता है। जो कम रोशनी वाले और नम जगहो में रहती है। बालू, मक्खी संक्रमण को एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलाते हैं। इस रोग से ग्रसित मरीज खासकर गोरे व्यक्तियों के हाथ, पैर, पेट और चेहरे का रंग भूरा हो जाता है, जिसके कारण इसका नाम कालाजार यानी काला बुखार पडा। लोगों से घरो में छिड़काव कराने की अपील करते हुए कर्मचारियों को सहयोग करने की अपील किया। इस मौके पर केअर इंडिया के प्रखंड समन्वयक रंजीत कुमार, कैम्प प्रभारी रमन राज, नोडल कर्मी सुनील चौधरी, एवं आशा कार्यकर्ता मौजूद थे।

कांग्रेस के मधुबनी जिलाध्यक्ष ने जासूसी मामले पर मोदी सरकार को घेरा, बोला हिटलर बनना चाहती है ये सरकार

मधुबनी : प्रो० शीतलाम्बर झा अध्यक्ष,जिला कांग्रेस कमिटी मधुबनी ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि नरेन्द्र मोदी सरकार के द्वारा इजरायली साफ्टवेयर पेगासस के जरिये देश के विपक्षी दलों के नेताओं, पत्रकारों, न्यायाधीशों, प्रमुख हस्तियों का जासूसी करना अद्धघोषित इमरजेंसी की तरह है। यह लोकतंत्र के लिए खतरा की घण्टी है, लोगों के स्वतंत्रता एवं निजता पर हमला है। आज देश-दुनिया के लोग जान चूकें है कि मोदी,अमित शाह की सरकार देश मे हिटलर की तरह शासन करना चाहती है।

नेताओं एवं वरिष्ठ अधिकारियों का फोन टेप कराकर ब्लैकमेलिंग करना घोर निंदनीय है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राहुल गांधी का भी जासूसी कराया गया। सुप्रीम कोर्ट के पूर्व चीफ़ जस्टिस का फोन भी हैक किया गया। इस सरकार को अब लोकतंत्र में विश्वास नही रह गया है। कांग्रेस शासित राज्यों कर्नाटक, मध्यप्रदेश सहित अन्य सरकारों को गिराने में भी इजरायली पेगासस कि मदद लेने की बात भी सामने आ गई है। मोदी सरकार विरोधी दलों की सरकार को लगातार अस्थिर करने की प्रयास करती रही है। अपने धनबांकुरों का प्रयोग कर विधायकों की खरीद फरोख्त करती रही है।

देश की जनता मोदी,शाह सरकार की घोर नकामी जान चुकी है। आज देश मे स्वतंत्र एवं निर्भीक अखवार के समूहों को डराया, धमकाया जा रहा है। उसके बरिष्ट पत्रकारों के घर सरकार के इशारों पर इनकम टैक्स के छापामारी करवाया जा रहा है, ताकि अखबार समूह सही तथ्य जनता के बीच न रख सके। कांग्रेस पार्टी मोदी सरकार के कुकृत्यों को जोरदार ढंग से उजागर करने से नही हिचकेगी और संघर्ष को और तेज करेगी।

सुमित कुमार की रिपोर्ट

swatva

Leave a Reply