09 जून : मधुबनी की मुख्य खबरें

0
swatva samachar

विशेष शिविर का आयोजन कर शिक्षकों का शुरू हुआ टीकाकरण

मधुबनी : जिले में कोरोना टीकाकरण में तेजी लाने के लिए शिक्षकों को भी बुधवार से टीका लगना शुरू हुआ। विदित हो कि शिक्षकों को कोरोना टीका लेने का निर्देश जिला शिक्षा पदाधिकारी मोहम्मद इम्तियाज आलम ने पत्र जारी कर मंगलवार को दिया था।

शिक्षक अपने टीका लेने की सूचना प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी (बीईओ) को देंगे। इसे लेकर सभी शिक्षकों को देंगे। जिसके लिए प्रत्येक सत्र स्थल पर दो सीआरसीसी व बीआरपी को रहने का निर्देश दिया। उनके द्वारा कितने शिक्षकों को टीकाकरण से आच्छादित किया गया। कि सूचना समग्र शिक्षा अभियान कार्यालय में स्थापित कंट्रोल रूम को व्हाट्सएप के माध्यम से 5:00 अपराहन तक उपलब्ध कराने का निर्देश दिया ताकि प्रतिवेदन जिला स्तर पर समेकित की जा सके।

उन्होंने बताया जितनी अधिक संख्या में शिक्षक कोरोना का टीका लेंगे संक्रमण की संभावना कम होगी। इसलिए सभी शिक्षकों को टीका लेने के लिए कहा गया है। अगर कोई शिक्षक टीका लेते हैं और कोई नहीं लेते हैं तो ऐसी परिस्थिति में संक्रमण का खतरा बना रहेगा। इसलिए सभी शिक्षकों को टीका लेने के लिए कहा गया है। साथ ही उनके परिवार का भी टीकाकरण आवश्यक है। इससे शिक्षक कोरोना से सुरक्षित रहेंगे और उनसे दूसरे में भी संक्रमण का खतरा नहीं रहेगा।

शिक्षक टीका लेने के बाद शिक्षकों के बीच करेंगे प्रचार प्रसार :

जिला शिक्षा पदाधिकारी ने बताया जिले के सभी शिक्षक खुद का टीका लेंगे ही साथ में टीका लेने के बाद अन्य लोगों को भी टीका लेने के लिए जागरूक करेंगे। उन्होंने कहा कि समाज में शिक्षक का बहुत महत्व होता है। उनकी बातों को लोग अनसुनी नहीं करते हैं। अगर शिक्षक किसी को टीका लेने के लिए कहेंगे तो इसका असर पड़ेगा। वह तो टीका लेंगे ही दूसरे लोगों को भी टीका लेने के लिए कहेंगे ।यही कारण है कि शिक्षकों को टीका लेने के साथ-साथ दूसरे लोगों को भी जागरूक करने के लिए कहा गया है। इससे टीकाकरण की गति तेज होगी।

सभी प्रखंडों में बनाए गए टीकाकरण केंद्र :

जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. एसके विश्वकर्मा ने बताया शिक्षकों के टीकाकरण के लिए सभी प्रखंडों में टीकाकरण केंद्र बनाया गया है। जिसके लिए जिले को 18000 डोज वैक्सीन प्राप्त हुई है। मालूम हो कि जिले में 45 प्लस के 10000 शिक्षक तथा 18 प्लस के साथ 7000 यानी कुल शिक्षकों की संख्या 17000 है जिनका टीकाकरण होना है । प्रखंड क्षेत्र के शिक्षक अपना टीका ले सकेंगे। इसी तरह से जीवका के कर्मी के लिए भी टीकाकरण की व्यवस्था की जा रही है। इन लोगों का जुड़ाव समाज के लोगों से रहता है इसलिए अगर इन लोगों का टीकाकरण हो जाएगा तो अन्य लोग भी टीका लेने के लिए आगे आएंगे ।इन लोगों के टीका लेने से समाज के लोगों में टीका के प्रति फैला भ्रम भी दूर होगा।

कोरोना की गाइडलाइन का पालन जरूरी :

यूनिसेफ एसएमसी प्रमोद कुमार झा ने बताया सभी सत्र स्थल पर कोराना की गाइडलाइन का पालन कराया जा रहा है। बिना मास्क के लोगों को एंट्री नहीं दी जा रही है और सामाजिक दूरी का पालन सभी लोगों को करना होगा। स्वास्थ्यकर्मी तो गाइडलाइन का पालन करते ही हैं लाभुकों को भी इसका पालन करने के लिए कहा गया है। साथ ही आम लोगों को भी जब तक कोरोना खत्म नहीं हो जाता या फिर सभी लोगों का टीकाकरण नहीं हो जाता तो गाइडलाइन का पालन करें। घरों से बाहर निकलते वक्त मास्क लगाएं और भीड़भाड़ से बचें सामाजिक दूरी का पालन करते हुए 2 गज की दूरी एक दूसरे के बीच बनाए रखें।

समाज के हर वर्ग से टीका लेने की की अपील :

शिक्षक विनोद ठाकुर ने बताया कोरोना महामारी के दूसरे चरण में कई शिक्षकों को जान गंवानी परी कोरोना महामारी से बचाव को लेकर एकमात्र उपाय टीकाकरण ही है। इसलिए मैंने अपना टीकाकरण कराया ताकि मैं और मेरा परिवार कोरोना संक्रमण की चपेट में ना आए। इसलिए मैं शिक्षकों तथा समाज के हर वर्ग से अपील करना चाहूंगा कि आप कोरोना का टीका जरूर ले।

अपने परिवार के सुरक्षा के लिए लिए टीका :

गृहिणी कविता ठाकुर ने बताया मुझे हमेशा डर लगा रहता था कि मैं अगर संक्रमित हो गई तो मेरा पूरा परिवार मुझ से संक्रमित हो जाएगाम अब जब कोरोना का आ गया है तो मैंने सोचा टीका ले लूं ताकि मेरा परिवार कोरोना से सुरक्षित रहे।

टीका पूर्णता सुरक्षित डरने की नहीं है जरूरत :

जेडीयू महासचिव मो. तनवीर अहमद ने बताया मैंने टीका लिया या पूर्णता सुरक्षित है.संक्रमण से बचाव के लिए टीका बहुत जरूरी है इससे डरने की जरूरत नहीं है प्रथम डोज लेने के बाद दूसरा डोज जरूर लें।

कोविड महामारी से लड़ने का एकमात्र उपाय टीका ही है :

केदारनाथ पटना वाले ने बताया मैंने आज प्रथम डोज लिया कोरोना महामारी से बचने के लिए टीका बहुत जरूरी है। अगर कोरोना संक्रमण को खत्म करना है तो टीका जरूर लें यह सभी के लिए जरूरी है और यह पूर्णता सुरक्षित है।

कोविड टीकाकरण के लिए दिव्यांगजनों का यूडीआईडी पहचान पत्र होगा मान्य

मधुबनी : वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण के खिलाफ सुरक्षा प्रदान करने के लिए टीकाकरण अभियान चलाया जा रहा है। टीकाकरण को सुलभ व सुविधाजनक बनाने के लिए लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। अब दिव्यांग नागरिकों के लिए कोरोना टीकाकरण को आसान बनाने के लिए टीकाकरण सत्र पर डिपार्टमेंट ऑफ़ इम्पावरमेंट ऑफ़ पर्सन्स विथ डिसएबिलिटीस, मिनिस्ट्री ऑफ़ सोशल जस्टिस एंड इम्पावरमेंट द्वारा निर्गत यूनिक डिसएबिलिटी पहचान पत्र मान्य होगा। अपर निदेशक सह राज्य प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. एन.के.सिन्हा ने सभी जिला पदाधिकारी एवं सिविल सर्जन को पत्र जारी कर आवश्यक निर्देश दिए हैं। जारी पत्र में बताया गया है कि दिव्यांग एवं विशेष सहायता की आवश्यकता वाले दिव्यांगों को टीकाकृत करने के लिए यूनिक डिसएबिलिटी पहचान पत्र(यूडीआईडी) मान्य होगा।

यूडीआईडी पहचान पत्र होगा मान्य :

जारी पत्र में निर्देशित है कि डिपार्टमेंट ऑफ़ इम्पावरमेंट ऑफ़ पर्सन्स विथ डिसएबिलिटीस, मिनिस्ट्री ऑफ़ सोशल जस्टिस एंड इम्पावरमेंट द्वारा निर्गत यूनिक डिसएबिलिटी पहचान पत्र दिव्यांग एवं विशेष सहायता की आवश्यकता वाले दिव्यांगों को टीकाकरण के लिए मान्य होगा। इससे पहले केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने 60 वर्ष से अधिक और दिव्यांगों के लिए नियर टू होम कोविड वैक्सीन सेंटर के लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं।

टीकाकरण के लिए योग्य दिव्यांजनों को होगी सहूलियत :

जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. एसके विश्वकर्मा ने बताया जारी निर्देश के उपरांत दिव्यांग एवं विशेष सहायता की आवश्यकता वाले दिव्यांगों को टीकाकरण करवाने में सहूलियत होगी। अभी बुजुर्गों और दिव्यांग लोगों को उनके घर के नजदीक सत्र संचालित कर उन्हें टीकाकृत करने की मुहीम चल रही है और अब यूडीआईडी पहचान पत्र से दिव्यंगों को टीकाकरण करवाने में और ज्यादा आसानी होगी।

टीकाकरण और व्यवहार परिवर्तन कर हम दे सकते हैं कोरोना संक्रमण को मात :

डॉ. विश्वकर्मा ने बताया जिले में फिलहाल कोरोना वायरस के संक्रमण का प्रसार कम हुआ है लेकिन खतरा कम नहीं हुआ है और लोगों की लापरवाही उनके लिए खतरा उत्पन्न कर सकती है। ऐसे में लोगों की सोच और सामाजिक व्यवहार में परिवर्तन आवश्यक है। लोगों को समझना होगा की कोरोना का दोनों टीका लेने पर ही शरीर में प्रतिरोधक क्षमता विकसित होती है.।इसलिए टीकाकरण अवश्य करवाएं। इसके अलावा लोग अपने हाथों को समय-समय पर साबुन और पानी से धोएं। साथ ही, अल्कोहॉल बेस्ड सैनिटाइज़र का इस्तेमाल करें। लोग अपनी आंखों को छूने से बचें, नाक और मुंह पर भी हाथ लगाने से लोगों को बचना होगा। घर से बाहर निकलते समय बिना मास्क या फेसकवर के न निकले। बाजारों या यात्री वाहनों में भी शारीरिक दूरी बनाकर रहें।

झंझारपुर अनुमंडल अस्पताल को उपलब्ध कराए 50 ऑक्सिजन कंसेंट्रटर, लोगों को मिलेगी बेहतर सुविधा

मधुबनी : भारत की अग्रणी अक्षय ऊर्जा कंपनी रिन्यू पावर प्राइवेट लिमिटेड ने आज मधुबनी जिले के झंझारपुर अनुमण्डल अस्पताल के “रोगी कल्याण समिति” को 10 LPM क्षमता का 50 ऑक्सीजन कन्सन्ट्रेटर कम्पनी के वाईस प्रेसिडेंट दीपक गुप्ता के माध्यम से उपलब्ध कराया। इस अवसर पर पूर्व मंत्री सह भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष सह झंझारपुर के विधायक नीतीश मिश्रा, अनुमण्डल पदाधिकारी झंझारपुर एवं अन्य वरीय पदाधिकारीगण उपस्थित थे।

ये ऑक्सीजन कन्सन्ट्रेटर रिन्यू पावर प्रा० लिमिटेड द्वारा सीएसआर पहल (कॉरपोरेट सोशल रिस्पांसिबिलिटी) के अंतर्गत उपलब्ध कराई गई है। रिन्यू पावर प्राइवेट लिमिटेड भारत की प्रमुख अक्षय ऊर्जा उत्पादक कम्पनी है, और परिचालन क्षमता के हिसाब से शीर्ष वैश्विक अक्षय ऊर्जा उत्पादकों में से एक है।

यह कम्पनी पवन ऊर्जा परियोजनाओं, सौर ऊर्जा परियोजनाओं और फर्म पावर प्रोजेक्ट्स का विकास, निर्माण, स्वामित्व और संचालन करता है। 31 दिसंबर, 2020 तक रिन्यू पावर कम्पनी के पास पूरे भारत में लगभग 10 GW पवन और सौर ऊर्जा परियोजनाओं की क्षमता थी।

इस अवसर पर रिन्यू पावर को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए पूर्व मंत्री सह भाजपा के प्रदेश उपाध्यक्ष सह झंझारपुर के विधायक नीतीश मिश्रा ने कहा कि यह प्रसन्नता का विषय है कि निजी क्षेत्र की कम्पनियां इस आपदा की घड़ी में बिहार के साथ खड़ी हैं, और कोरोना से लड़ाई में सहयोग कर रही हैं। उन्होंने झंझारपुर अनुमण्डल अस्पताल को 50 ऑक्सीजन कंसन्ट्रेटर उपलब्ध कराने के अवसर पर रिन्यू पावर प्राइवेट लिमिटेड के अध्यक्ष सह प्रबन्ध निदेशक सुमन्त सिन्हा का विशेष रूप से आभार व्यक्त किया।

271 बोतल नेपाली शराब के साथ एक धराया, भेजा गया जेल

मधुबनी : जिले के जयनगर व देवधा पुलिस ने अलग अलग जगहों पर छापेमारी कर 271 बोतल नेपाली शराब के साथ एक आरोपित को पकड़ा, जिसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया। जयनगर पुलिस के एसआई अरविंद कुमार ने युनियन टोल में एक कारोबारी के घर पर छापेमारी कर 25 बोतल देशी तथा 6 विदेशी शराब जब्त किया। हालांकि पुलिस की धमक से धंधेबाज फरार हो गया।

दुसरी ओर देवधा पुलिस ने त्रिमुहानी गुमटी के निकट 240 बोतल नेपाली शराब के साथ एक धंधेबाज गिरफ्तार किया है। देवधा थानाध्यक्ष रमेश शर्मा ने बताया कि गिरफ्तार आरोपित कलुआही थाना क्षेत्र के नरार निवासी सोनु कुमार यादव है, जिसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

जदयू ट्रेडर्स प्रकोष्ठ प्रदेश अध्यक्ष अशोक वर्मा को मनोनीत किया गया जिला अध्यक्ष पद से

मधुबनी : जदयू ट्रेडर्स प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष अशोक वर्मा ने जयनगर के खर्गा रोड निवासी गणेश जायसवाल को जदयू ट्रेडर्स प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष पद पर मनोनीत किया है। गणेश जायसवाल के जिला अध्यक्ष बनने पर जदयू कार्यकर्ताओं ने हर्ष व्यक्त करते हुए बधाई दी है। जिसमें कैट अध्यक्ष प्रीतम बैरोलिया, रंजीत गुप्ता, कुलदीप कुमार, विनय कुमार सिंह, मो० मुजाहिद, मो० जाबीर, मो० सकूर, सुकदेव महतों, रंजीत पासवान, राम विनोद सिंह, विष्णु देव यादव समेत अन्य कार्यकर्ता शामिल हैं।

जायसवाल ने बताया कि ट्रेडर्स प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष ने हम पर भरोसा करते हुए एक नई जिम्मेदारी सौंपी हैं। मैं पार्टी के प्रति निष्पक्ष भावना से काम करुंगा। मधुबनी जिले के सभी प्रखंडों में ट्रेडर्स प्रकोष्ठ का गठन कर व्यवपारियों के हितों में काम करना हैं। गणेश जायसवाल ने बताया कि बिहार के सभी जिलों के व्यवसाईयों की समस्या सरकार तक नहीं पहुंच पाती थी। इस लिए जदयू ने ट्रेडर्स प्रकोष्ठ का गठन किया है।

प्रकोष्ठ में खासकर व्यवसायी को जोड़ा जाएगा, ताकि व्यवपार में व्यवपारियों को हो रही समस्याओं के निदान हेतु इसी प्रकोष्ठ के माध्यम से सरकार तक पहुंचाई जाएगीं। जब समस्या की जानकारी सरकार तक पहुंचने पर उसके निदान में समय नहीं लगेगा। जायसवाल ने कहा कि पार्टी की मजबूती पर काम किया जाऐगा। इस प्रकोष्ठ में व्यापारियों को सदस्य बनाया जाएगा।

सुमित कुमार की रिपोर्ट

swatva

Leave a Reply