11 मई : मधुबनी की मुख्य खबरें

0
swatva samachar

पूर्व मुखिया ,भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के जयनगर अनुमंडल में पहचान देने वाले कॉमरेड उत्तिम बनरैत का 90वर्ष की आयु में निधन

मधुबनी : कॉमरेड उत्तिम बनरैत के अंतिम यात्रा में उनके संघर्ष को याद करते हुए कोरोना काल में भी लोग अपने आप को नहीं रोक सका, तथा जनसैलाब उमड़ पड़ा। कॉमरेड उत्तिम बनरैत को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए सलामी दी गई जिसमें सीपीआई(एम), सीपीआई सहित अन्य दलों के कार्यकर्ता सहित ग्रामीण ने भाग लिया।

कॉमरेड उत्तिम बनरैत गरीब गुरबों के आवाज थे, तथा जयनगर प्रखंड में भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी के संस्थापक थे। उनके द्वारा भूमि अधिग्रहण संघर्ष के अलावे कई महत्वपूर्ण भूमिका निभाई गई। उनके निधन से वाम मोर्चा को काफी हद तक ह्रास हुआ है, उस ह्रास का भरपाई करना बहुत ही कठिन होगा।

शोक व्यक्त करने में वरिष्ठ किसान नेता राम जी यादव, अंचल मंत्री उपेन्द्र यादव, डीवाईएफाई के राज्य उपाध्यक्ष शशिभूषण प्रसाद, अधिवक्ता सह माकपा के युवा नेता कुमार राणा प्रताप सिंह, जयनगर अनुमंडल अधिवक्ता संघ के महासचिव सह माकपा नेता चन्देश्वर प्रसाद, माकपा के शिव कुमार यादव, रत्नेश्वर प्रसाद, कन्हैया कुमार चौधरी, उमाशंकर प्रसाद, शंकर कुमार यादव, डीवाईएफाई के मो० अली हसन, शयाम सुंदर पासवान, सुकेन्द्र प्रसाद, पवन यादव, रुद्र नारायण यादव,

सीपीआई के राम नारायण बनरैत, पांडव बैदा, दुआरिक प्रसाद यादव, वकील बैठा जाप के जिलाध्यक्ष ब्रजकिशोर यादव, भाजपा के उपेन्द्र राम, विष्णु देव रुद्रवार के अलावे सैकड़ो की संख्या में लोगों ने भाग लिया। साथ ही राम नारायण बनरैत तथा युवा नेता कुमार राणा प्रताप सिंह ने उक्त स्थल पर घोषणा की दिनांक 14 मई 2021 को रा० प्रा० विद्यालय पिटवा टोल प्रांगण में कॉमरेड उत्तिम बनरैत का शोक सभा दिन के एक बजे से आयोजित किया जाएगा।

ग्राम रक्षा के एक बार फिर कोरोना काल मे लोगों की करेगी मदद, बनेगी पुलिस की सहयोगी।

मधुबनी : बिहार ग्राम रक्षा दल के मधुबनी जिलाध्यक्ष धर्मेंद्र दास के नेतृत्व में साहरघाट में प्रेसवार्ता कर जानकारी देते हुए कहा कि आज देश विश्वव्यापी महामारी कॅरोना से आज फिर दूसरी बार देश मे कोरोना महामारी की झेल रहे है। सरकार के द्वारा जारी की गई गाइडलाइन के अनुसार बीते वर्ष कोरोना जैसे महामारी में ग्राम रक्षा दल अपने जान के परवाह किए बगैर प्रशाशन के साथ मिलकर सभी चौक-चौराहों पर अपनी ड्यूटी की थी।

अब पुनः 2021 में सरकार के द्वारा जारी की गई लॉकडाउन का पालन लोगो के द्वारा सही ढंग से नही कर रहे है, और अलग-अलग अफवाह समाज मे फैलाया जा रहा है, जिससे समाज के लोग काफी भयावह स्थिति में ही रहे है। इसलिए आज साहरघाट थानाध्यक्ष से मिलकर इस मुद्दे पर ग्राम रक्षा दल के जिलाध्यक्ष धर्मेंद्र दास ने बात किया और एक बार फिर प्रशाशन के साथ ग्राम रक्षा दल के सदस्य लोगो को सजग करने हेतु सड़क पर उतरेगी। इसके साथ ही जिलाध्यक्ष धर्मेंद्र दास ने कहा कि इस समाज के अंदर जितने भी जनप्रतिनिधियों हो, वो ग्राम रक्षा दल की मनोबल बढ़ाय, न कि उसके मनोबल को तोड़ने का कार्य करें।

जरूरत मन्द पीड़ित की सेवा करना मानव व मानवता का सबसे बड़ा धर्म :- ब्रजकिशोर यादव

मधुबनी : एक तरफ जहाँ कोरोना महामारी को ले हाहाकार मचा हुआ है, वही दूसरी ओर खजौली विधानसभा क्षेत्र के पूर्व प्रत्याशी जाप जिला अध्यक्ष समाजसेवी मधुबनी जिला जयनगर के बैरा निवासी ब्रजकिशोर यादव के द्वारा दिन रात सेवा की भावना से निर्भीक हो कर बीमार जरूरत मन्द लोगों की सेवा करने में जुटे हुए हैं। संकट की घड़ी में अपने पराये सभी साथ छोड़ देते हैं, लेकिन लॉक डाउन और कोरोना का प्रत्याशित वृद्धि इस विपदा की घड़ी में संकट को देखते हुए इसी क्रम में कई जरूरतमंद बीमार लोगों को ऑक्सिजन सिलेंडर मुहैया करा रहें हैं।

राजनीती से ऊपर उठ कर स्वास्थ्य समेत जो भी अन्य समस्यायें हैं, उसमें वो बढ़-चढ़ कर उनके पास आयें हुए लोगों की हर सम्भव मदद कर रहें हैं।ऑक्सिजन के साथ जिन्हें दवा, चिकित्सा, एम्बुलेंस की भी निःशुल्क सेवा जरूरत मन्दो को दे रहें हैं। यह सामाजिक कार्य उनका दिनचर्या सा बन गया हैं। इससे पूर्व भी बाढ़ समेत अन्य विपदाओं संकट की घड़ी में कंधे से कंधा मिला कर जात पात ऊँच नीच छोड़कर सेवा करते आ रहें हैं।

बाढ़ के समय भी घूम-घूम कर लोगों की मदद करते देखा गया था, और कई कम्युनिटी किचन की सेवा लोगों के बीच प्रदान की थी। उन्होंनो बताया कि संकट की घड़ी में और पीड़ित जरूरत मन्दो की सेवा करना मानव और मानवता का सबसे बड़ा धर्म हैं, जो मैं निभाते आ रहा हूँ जब तक मेरी सांस चलेगी में यह सामाजिक कार्य करता रहूँगा। हम सभी को हिम्मत के साथ ईस महामारी से लड़कर जितना और ईस महामारी में सभी से निर्देश को पालन करने और कोविड से बचाव के उयायों को अपनाने एवं मास्क का उपयोग निरन्तर करने की अपील की हैं।

जाप सुप्रीमो की गिरफ्तारी के विरोध में राज्य सरकार एवं भाजपा सांसद के खिलाफ खूब गरजे ब्रजकिशोर यादव

मधुबनी : जन अधिकारी पार्टी सुप्रीमो पप्‍पू यादव की गिरफ्तारी के विरोध में उनके समर्थक और कार्यकर्ताओं ने जमकर विरोध किया है। पप्‍पू यादव आज पटना में गिरफ्तार हो गए हैं। इसकी सूचना मिलने के साथ ही यहां के कार्यकर्ता आंदोलित हो उठे। राज्‍य सररकार और भाजपा सांसद के खिलाफ जमकर हंगामा किया। मधुबनी जिला के जाप जिला अध्यक्ष ब्रज किशोर यादव ने अपने आवास राजव्यापी कार्यक्रम के तहत राज्य सरकार एवं भाजपा नेता राजीव प्रताप रूडी के विरोध में एकदिवसीय धरना दिया।

मधुबनी के जाप जिला अध्यक्ष ब्रज किशोर यादव ने बताया कि इस करोना काल में जहां एक और एंबुलेंस ऑक्सीजन के कमी के कारण मरीज तड़प-तड़प कर अपना दम तोड़ रहे हैं।वहीं, पूर्व केंद्रीय मंत्री एवं बीजेपी के सांसद राजीव प्रताप रूढ़ी अपने आवास पर सांसद निधि कोष से खरीदा हुआ एंबुलेंस को आम जनता से छुपाकर पर्दे से ढक कर रखते हैं।

सांसद राजीव प्रताप को आम जनता से छिपाकर और ढ़ककर कर रखने की क्या जरूरत पड़ी। यह मामला जाप प्रमुख पप्पू यादव ने लाया तो उन लचर स्वास्थ्य व्यवस्था एवं भाजपा नेता के विरुद्ध कार्रवाई नहीं करके अलोकतांत्रिकता की पराकाष्ठा पार करते हुए पप्पू यादव पर ही मुकदमा दर्ज करा दिया। पप्पू यादव जब पूरे बिहार वासियों के हक की आवाज उठाते हैं, तो नीतीश सरकार व भाजपा के इशारे पर उन्हें झूठे केस में फंसाया जाता है। सरकार ने दमनकारी नीति के कारण पप्‍पू यादव को आज गिरफ्तार करवा दिया है।

डीएम ने महाराजजी बांध का किया निरीक्षण, बीडीओ व सीओ को दिए कई जरूरी निर्देश

मधुबनी : जिले के बिस्फी प्रखंड क्षेत्र के दुधौल, सिगिया, रघौली, जगवन सहित कई जगहों पर मंगलवार को जिला पदाधिकारी अमित कुमार ने महाराजजी बांध का निरीक्षण किया।

वहीं बीडीओ एवं सीओ को कई दिशा निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि पिछले बाढ़ के दौरान कई जगहों पर महाराजी बांध टूट जाने से आम लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा था। इसलिए बाढ़ से पूर्व तैयारी को लेकर बॉध को चुस्त-दुरुस्त करने के लिए निरीक्षण किया गया हैं। उन्होंने उपस्थित इंजीनियर एवं पदाधिकारी को समय सीमा के अंदर बांध को दुरुस्त करने का निर्देश दिया। वहीं उपस्थित बीडीओ सीओ एवं विभागीय पदाधिकारियों को प्रतिदिन निरीक्षण कर प्रतिवेदन उपलब्ध कराने का आदेश दिया।

इस मौके पर बीडीओ अहमर अबदाली, सीओ प्रभात कुमार, बिस्फी थाना अध्यक्ष संजय कुमार, सीआई बसंत झा, बीएसओ मुकेश कुमार सहित अधिकारी कर्मचारी उपस्थित थे।

रुक-रुक कर हो रही बारिश की पानी से प्रखंड मुख्यालय सहित कार्यालय में जाने वाली सड़क की स्थिति बद से बदतर

मधुबनी : जिले के बिस्फी प्रखंड में पिछले चार दिनों से रुक रुक कर हो रही बूंदाबांदी काफी मूसलाधार बारिश से प्रखंड मुख्यालय सहित प्रखंड क्षेत्र के ग्रामीण एवं मुख्य सड़कों की हालत बद से बदतर हो गई है। वैसे तो वैश्विक महामारी करोना वायरस संक्रमण को जारी राज्यव्यापी लॉक डाउन को सफल बनाने में बहुत हद तक यह मौसम की बारिश मददगार साबित हो रही हैं। लेकिन लोगों को पक्की एवं कच्ची सड़कों पर निकलना दुश्वार हो गया हैं। प्रखंड के कई दर्जनों सड़क लंबी दूर तक कीचड़ युक्त बना हुआ है।

आपको बता दें कि बिस्फी प्रखंड मुख्यालय के सड़क की स्थिति इतनी दयनीय है कि किसी आवश्यक का कार्य हेतु निकलने पर भी लोगों को बड़ी फजीहत झेलनी पड़ रही है, जहाँ प्रखंड मुख्यालय से जाने वाली सड़क प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, बाल विकास परियोजना कार्यालय, नार्थ बिहार पॉवर हाउस, बीआरसी भवन बिहार सरकार भवन जिसको कोविड-19 वैक्सीन क सेंटर बनाया गया है। जिस सड़क की इस्थित काफी खराब हैं एवं लोग अपनी जान जोखिम में डालकर आवागमन कर रहे हैं, जिस पर किसी भी जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारियों की नजर नहीं है।

जानकारी के मुताबिक एक वर्ष पहले इस सड़क की शिल्यानस पूर्व सांसद के द्वारा किया गया था जबकि इसके बावजूद भी इस सड़क की स्थिति बद से बदतर हैं। वहीं किसी गंभीर स्थिति में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में उपचार कराने आवागमन के दौरान दुर्घटना होने से कई बार लोग बाल-बाल बचे हैं।

कमजोर इम्युनिटी वालों को हो रहा म्यूकोरमाइकोसिस संक्रमण, करें बचाव

मधुबनी : कोविड-19 की दूसरी लहर के बीच कई लोग म्यूकोरमाइकोसिस नाम के फंगल इन्फेक्शन की चपेट में आ रहे हैं। यह दुर्लभ फंगल इन्फेक्शन है, जो किसी व्यक्ति की प्रतिरोधक क्षमता कम होने पर होती है।कोविड-19 और डायबिटीज के मरीजों के लिए यह इन्फेक्शन और ज्यादा खतरनाक साबित हो सकता है। इस संक्रमण को `ब्लैक फंगस’के नाम से भी जाना जाता है।

क्या है म्यूकोरमाइकोसिस ?

इंडियन काउन्सल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) द्वारा जारी अड्वाइज़री के अनुसार म्यूकोरमाइकोसिस फंगल इंफेक्शन है जो शरीर में बहुत तेजी से फैलता है। म्यूकोरमाइकोसिस इंफेक्शन नायक, आँख, दिमाग, फेफड़े या फिर स्किन पर भी हो सकता है। इस बीमारी में कई लोगों की आंखों की रौशनी चली जाती है वहीं कुछ मरीजों के जबड़े और नाक की हड्डी गल जाती है।

कोरोना के मरीजों को ज्यादा खतरा :

म्यूकोरमाइकोसिस आम तौर पर उन लोगों को तेजी से अपना शिकार बनाती है जिन लोगों में रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत कम होती है। कोरोना के दौरान या फिर ठीक हो चुके मरीजों का इम्यून सिस्टम बहुत कमजोर होता है इसलिए वो आसानी से इसकी चपेट में आ रहे हैं। खासतौर से कोरोना के जिन मरीजों को डायबिटीज है। शुगर लेवल बढ़ जाने पर उनमें म्यूकोरमाइकोसिस खतरनाक रूप ले सकता है। यह संक्रमण सांस द्वारा नायक से व्यक्ति के अंदर चला जाता है| जिन लोगों की रोग प्रतिरोधक क्षमता काम होती है उनको यह जकड़ लेता है|

लक्षण : 

• नाक में दर्द हो, खून आए या नाक बंद हो जाए
• नाक में सूजन आ जाए
• दांत या जबड़े में दर्द हो या गिरने लगें
• आंखों के सामने धुंधलापन आए या दर्द हो, बुखार हो
• सीने में दर्द
बुखार
सिर दर्द
खांसी
सांस लेने में दिक्कत
खून की उल्टियाँ होना
कभी दिमाग पर भी असर होता है

किन रोगियों में ज्यादा पाया गया है:

• जिनका शुगर लेवल हमेशा ज्यादा रहता है
• जिन रोगियों ने कोविड के दौरान ज्यादा स्टेरॉइड लिया हो
• काफी देर आय सी यू में रहे रोगी
• ट्रांसप्लांट या कैंसर के रोगी

कैसे बचें : 

• किसी निर्माणधीन इलाके में जाने पर मास्क पहनें
• बगीचे में जाएं तो फुल आस्तीन शर्ट, पैंट व गलब्स पहनें
• ब्लड गुलुकोज स्तर को जांचते रहें और इसे नियंत्रित रखें

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है हल्के लक्षण दिखने पर जल्दी से डॉक्टर से संपर्क करें| कोविड के रोगियों में अगर बार बार नाक बंद होती हो या नाक से पानी निकलता रहे, गालों पर काले या लाल चकते दिखने लगें, चेहरे के एक तरफ सूजन हो या सुन्न पद जाए, दांतों और जबड़े में दर्द, काम दिखाई दे या सांस लेने में तकलीफ हो तो यह ब्लैक फंगस हो सकता है।

सुमित कुमार की रिपोर्ट

swatva

Leave a Reply