9 जुलाई : मधुबनी की मुख्य ख़बरें

0
swatva samachar

संभावित वर्षापात एवं बाढ़ की तैयारियों को ले हुई समीक्षा बैठक

मधुबनी : मुख्य सचिव की अध्यक्षता में 9-14 जुलाई को संभावित वर्षापात एवं बाढ़ की संभावना को लेकर प्रभावित होने वाले जिलों के जिलाधिकारियों के साथ उनकी तैयारी को लेकर समीक्षा की गई।

जिला पदाधिकारी डाॅ0 निलेश रामचन्द्र देवरे , अपर समाहत्र्ता, आपदा प्रभारी, जिला चिकित्सा पदाधिकारी, कार्यपालक अभियंता, जल संसाधन एवं सूचना एवं जन-सम्पर्क पदाधिकारी ने विडियो काॅन्फ्रेसिंग में भाग लिया। जिला पदाधिकारी ने संभावित बाढ़ को लेकर मधुबनी जिले कि तैयारियों से मुख्य सचिव, आपदा विभाग के प्रधान सचिव को अवगत कराया।

उन्होंने बताया कि जिले के बाढ़ संभावित प्रखंडो जयनगर, मधेपुर, एवं झंझारपुर में एस0डी0आर0एफ0 की टीम एवं बोट की प्रतिनियुक्त कर दी गई। तटीय इलाकों के अंचलाधिकारी एवम् जन प्रतिनिधि से निरंतर संपर्क बनाए रखा जा रहा है। तटबंध के इलाको में रह रहे लोगो को अलर्ट करने हेतु निरंतर माइकिंग कराई जा रही है।

विगत वर्ष के बाढ़ के दौरान चयनित शरण स्थलो एवं कोमनिटी किचेंन को आपात स्थिति में चलने हेतु सभी तैयारी पुर्ण कर ली गई है। तटबंधीय क्षेत्रों मे ड्रोंन के माध्यम से भी जलस्तर का नियंत्रण निरक्षण किया जा रहा है। आगामी संभावित बाढ़ के मद्देनजर अगले तीन दिनों के लिए वोंट को भाड़े पर रख लिया गया है। जिले में आपदा कन्ट्रोल रूम का नंबर 06276257576 को 24*7 सेवारत रखा गया है।

सदर अस्पताल के चार कर्मचारी पाए गए कोरोना पॉजिटिव, तीन दिनों तक ओपीडी बंद

मधुबनी : जिले में कोरोना संक्रमण के मामलों में लगातार वृद्धि हो रही है। कोरोना थमने के बदले तेजी से पांव पसारे जा रहा हैं। मधुबनी जिले के एकलौते सरकारी अस्पताल सदर अस्पताल मधुबनी कर्मचारियों पर भी कोर्ट का कहर बरस गया। सदर अस्पताल मधुबनी के ओपीडी विभाग में कार्यरत चार कर्मचारियों का कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि की गई। इसके बाद सदर अस्पताल मधुबनी के ओपीडी विभाग के चार कर्मचारियों के कोरोना पॉजिटिव पाये जाने के प्रतिवेदन पर जिला प्रशासन मधुबनी ने सदर अस्पताल मधुबनी के ओपीडी के सभी सेवाओं तीन दिनों तक बंद कर दिया है।

जदयू कार्यकताओं ने पौधरोपण कर लक्ष्य हासिल करने का लिया निर्णय

मधुबनी : जदयू का बूथ सक्रिय पंचायत के तहत बूथ जीतो चुनाव जीतो कार्यक्रम शहर से सटे ग्रामीण क्षेत्रों में रहिका प्रखंड के संगठन प्रभारी एवं जदयू जिला महासचिव गुलाब साह के नेतृत्व में किया गया। इसमें बूथ जीतो चुनाव जीतो पंचायत भ्रमण कार्यक्रम के लक्ष्य को हासिल करने पर बल देते हुए गुलाब साह ने कहा कि आगामी विधानसभा चुनाव के लिए कार्यकर्ता पूरी तरह तैयार है।

उन्होंने बिहार पृथ्वी दिवस पर प्रदेश में ढाई करोड़ पौधे लगाने के लक्ष्य को हासिल करने के लिए कार्यकर्ताओं से तैयारी शुरू कर देने का आह्वान करते हुए कहा कि बिहार पृथ्वी दिवस पर नौ अगस्त को अभियान चलाकर आम, अमरूद, जामुन, कटहल, आंवला, बेल आदि फलदार व सागवान, महोगनी, शीशम, पीपल, बरगद के ढाई करोड़ पौधे लगाये जाएंगे। इस कार्यक्रम में जदयू के विद्यानंद ठाकुर, रमाशंकर महतो सहित बूथ स्तरीय पदाधिकारियों ने हिस्सा लिया।

बिना मास्क पहने बाहर निकलने वालों के खिलाफ, पुलिस चला रही अभियान

मधुबनी : मास्क क्यों नही लगाया है, पता नहीं है कि कोरोना को लेकर कितना खतरा है। सड़क पर बिना काम से बाहर निकले हो क्या। आज तो सिर्फ जुर्माना लेकर जाने दिया जा रहा है, अब आगे से अगर बिना मास्क के घर से निकले तो समझ लेना तुम्हारी खैर नहीं : पुलिस कर्मी

मधुबनी जिले के अंधराठाढ़ी और रुद्रपुर पुलिस ने शहर के अधिकांश चौराहों पर बिना मास्क के जाने वाले लोगों का पचास रुपये का चालान काटते हुए मास्क भी गिफ्ट किया। इस दौरान शादी के लिए जा रहे एक दूल्हे और उसके परिजनों को भी पुलिस ने जुर्माना लेकर मास्क देते हुए उन्हें शादी की शुभकामनाएं दी।

कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए पुलिस ने चलाया अभियान चलाया हुआ है। बताते चलें कि कोराना के बढ़ते मामलों व लोगों की लापरवाही को देखते हुए प्रशासन सख्ती के मूड में आ गई है। अगर आप मास्क पहन कर बाहर नहीं निकले या शारीरिक दूरी का पालन नहीं करते हैं, तो खैर नहीं है। साथ ही बिना मास्क के वाहन चलाए तो जुर्माना तो देना ही पड़ेगा, गाड़ी भी जब्त कर ली जाएगी। कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए कंटेनमेंट जोन में तो और भी सख्ती की जा रही है।

अमृत लाल वर्मन और गया सिंह ने बताया कि अब घर से बिना मास्क के निकले तो पुलिस जुर्माना बसूलेगी। पुलिस के मुताविक यह सख्ती केवल सड़कों तक ही सीमित नहीं रहेगी। दुकान पर सामान लेने या होटल में खाना खाने या चाय पीने जाते वक्त भी मास्क का प्रयोग अनिवार्य है। इन जगहों पर भी जांच में बिना मास्क लगाए दिखने पर जुर्माना देना पड़ सकता है। साथ ही संबंधित दुकान आदि को भी तीन दिनों के लिए बंद कर दिया जाएगा। कोरोना वायरस संक्रमण से निपटने के लिए प्रखंड प्रशासन ने चेहरे पर मास्क नहीं तो सामान नहीं का आदेश जारी कर दिया है।

प्रशासन कोरोना को लेकर अलर्ट मोड में, बिना मास्क के निकले तो पड़ सकता महंगा। वहीं, बीडीओ राजेश्वर राम और सीओ विष्णुदेव सिंह ने दुकानदारों को बिना मास्क के घर से निकलने और खरीदारी करने आए ग्राहकों को सामान नहीं देने का आदेश दिया है। साथ ही प्रशासन ने बिना मास्क के सड़कों पर घूमने वालों के खिलाफ जुर्माना और कार्रवाई का भी आदेश दिया है। अधिकारियों ने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए पूरे प्रदेश में मास्क पहनना अनिवार्य कर दिया गया है। कुछ लोग संक्रमण से बचने के लिए मास्क पहनते दिख रहे हैं। हालांकि फिर हर कोई मास्क नहीं पहन रहा था।

पंचायत समिति की बैठक रही हंगामेदार, कोसी ओर कमल में नाव की कमी पर जताई चिंता

मधुबनी : फुलपरास के टीपीसी भवन में पंचायत समिति की बैठक आरोप-प्रत्यारोप के बीच सम्पन्न हुआ। नए प्रखंड विकास पदाधिकारी अर्चना कुमारी के कार्यकाल की यह पहली बैठक थी। बैठक के शुरुआत में एक-दूसरे से परिचय के बाद कार्यवाही आरंभ की गई। सदस्यों ने सूचना के बावजूद भी कई पदाधिकारियों के नहीं सम्मिलित होने को गंभीरता से उठाया। सबों का मानना था कि कुछ पदाधिकारी कभी बैठक में आते ही नहीं इसलिए इनके खिलाफ निंदा प्रस्ताव लाकर स्पष्टीकरण पूछना चाहिए। बीडीओ द्वारा इसे गंभीरता से लेते हुए सदन की भावना का ख्याल रखने का आश्वासन देने पर सभी शांत हुए। विधायक गुलजार देवी ने सदस्यों से आग्रह किया कि बाढ़ का समय निकट आ गया है, इसलिए सभी अपनी-अपनी समस्या रखें, जिससे की सीओ के न रहने पर बीडीओ को कार्य करने में सहुलियत होगी।

कोसी एवं कमला क्षेत्र के प्रभावित सदस्यों ने नाव की कमी को रखा, जिस पर बीडीओ ने डीएम से बात कर इसका हल निकालने की बात कही। बाथ के मुखिया सुभाष झा ने गेहुंमा एवं सुगरवे नदी की पानी से हुई तबाही के तरफ बीडीओ का ध्यान दिलाया। उन्होंने कहा कि इस पानी से बहुत ही दुर्गंध निकल रहा है। इतना ही नहीं पिछले वर्ष यह पानी जहां-जहां अटका वहां छह माह तक घास भी नहीं उगे।

बीडीओ इस बात को लेकर कहा कि आज ही जिला पदाधिकारी एवं जिला कृषि पदाधिकारी से बात कर हल निकालने का प्रयास करते हैं। घास भी नहीं उगने की बात को गंभीरता से लेते हुए कहा कि इसमें किसी खास विरोधी का हाथ भी हो सकता है। गढ़गांव पंचायत के मुखिया अंजय कुमार सिंह ने मेनाही गांव में लगी कोसी के कटनियां के बात से सदन को अवगत कराया। उन्होंने मेनाही और भवानीपुर मे बने सोलर पावर सब-स्टेशन के अस्तित्व पर भी खतरा बताया। लेकिन बिजली विभाग द्वारा सूचना के बाबजूद भी कोई कदम नहीं उठाने की बात कही। कई सदस्यों ने बाल विकास परियोजना के कार्यप्रणाली पर प्रश्न उठाया। इन लोगों का कहना था कि सीडीपीओ किसी भी जनप्रतिनिधियों से ढ़ंग से बात तक नहीं करती। जबकि कुछ लोगों नए राशन कार्ड में भारी स्तर पर हुए विसंगतियों का मामला उठाया।

कई पंसस सदस्य अपने क्षेत्राधिकार में अब एक भी योजना नहीं मिलने का मुद्दा उठाया। वहीं बीडीओ ने विधायक से आग्रह करते हुए कहा कि मधेपुर के छब्बीस पंचायतों में सिर्फ सात हजार लोगों का नाम प्रधानमंत्री आवास योजना में शामिल है। उनमें भी लगभग एक हजार लोग विभिन्न कारणों से अपात्र हैं। इतने बड़ प्रखंड में यह संख्या समुचित नहीं है। इसलिए अपने स्तर से पत्र लिख कर इसे बढ़ाने हेतु प्रयास किया जाए। विधायक ने इसे देखने का आश्वासन दिया।

इस बैठक की अध्यक्षता प्रखंड प्रमुख लक्ष्मी देवी ने की, जबकि अन्य उपस्थित लोगों में उप- प्रमुख रामबाबू यादव, डा. अफजल अहमद, सीडीपीओ सुनीता कुमारी, एएसआई मुरली पासवान, बीपीआरओ चन्द्रदेव प्रसाद, निर्मल कुमार, मुखिया दिवाकर प्रसाद यादव, कौशल्या देवी, सदानंद यादव, चन्द्रशेखर महतो, नीरज यादव, विनोद यादव, पंसस दधीचि मिश्र, बौअन साफी, पवन कुमार यादव, नुसरत परवीन, संजीदा खातून सहित अन्य शामिल थे।

कमला नदी जयनगर का जलस्तर बढ़ा, बाढ़ की संभावना बढ़ी

मधुबन : जयनगर से होते हुए बिहार में प्रवेश करने वाली कमला उफान पर है। बुधवार को कमला की जल स्तर तेजी से घट बढ़ रहा था, लेकिन नेपाल के जल अधिग्रहण क्षेत्र में भारी बारिश होने से लगातर मूसलाधार बारिश के कारण कमला नदी की जल स्तर में लगातार वृद्धि हो रही है। गुरुवार को सुबह 7 बजे कमला की जल स्तर वार्निंग लेवल के निशान से 40 सेमी नीचे बह रहा था। जल स्तर और बढ़ने की आशंका जताई जा रही है। कमला की रुद्र रूप को देखते हुए कमला प्रमंडल के अधिकारियों ने कमला की सभी 7 फाटक को खोल दिए हैं।

नेपाली सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार नेपाल जल अधिग्रहण क्षेत्रों में मूसलाधार बारिश जारी है। इसे देखते हुए कमला की जल स्तर और बढ़ने की आशंका जताई जा रही है। पूर्व में ग्रामीण कमला की भयानक रूप देख चुका है। कमला की बाढ़ से हर साल बॉर्डर क्षेत्रो में व्यापक पैमाने पर क्षति होती है। बता दे कि मौसम विभाग के अनुसार 9 से 14 जुलाई तक नेपाल के तराई इलाके में भारी बारिश की संभावना है, जिस कारण सेमधुबनी जिले के सीमावर्ती इलाकों में बढ़ की संभावना बढ़ गयी है।

कोरोना मरीज मिलने के बावजूद 50 मीटर की दूरी पर चल रहे होटल

मधुबनी : जयनगर शहर के वार्ड न-06 में एक कोरोना मरीज मिला 04 दिन हो गये, लेकिन अभी तक प्रशासन ने एरिया को सील नहीं किया हैं। दुकानें भी खुली रहती हैं, क्षेत्र में और बेपरवाह लोग बे रोकटोक खरीदारी और घूम-घाम कर रहें हैं। वहीं, कमला रोड वार्ड न-07 में दो कोरोना मरीज मिल चुका हैं। कॉन्टेन्टमेंट जॉन घोषित है। वार्ड न-07 में एक कोरोना मरीज मिलने के 04 दिन बाद एरिया को सील किया गया था। वार्ड न-06 के विद्यानगर में एक कोरोना मरीज मिला तीन दिन हो गया, अभी तक एरिया को प्रशासन के द्वारा सील नहीं किया गया हैं।प्रशासन की बड़ी लापरवाही उजागर हो रही हैं। अब तक कमला रोड क्षेत्र में 03 कोरोना मरीज मिल चुका हैं। ये सभी मरीज को अनुमंडल अस्पताल परिसर स्थित कोविड केयर सेंटर में रखा गया हैं।

जाँच के नाम पर भी खाना पूर्ति की जा रही हैं। लोग डरे और सहमे हुए है। कमला रोड क्षेत्र में 03 कोरोना मरीज मिल चुका है, लेकिन नास्ता बेचने वाले दुकानदार कमला रोड निवासी नास्ता, मिठाई बना कर चौक चौराहा पर खुलेआम बेच रहें है। कंटेन्मेंट जॉन कमला रोड की चंद दूरी पर लगती चाय-नास्ता की दुकानें। कण्टेन्मेंट जॉन कमला रोड में इन दुकानदारों का घर और नास्ता, मिठाई बनाने का कारखाना भी वही से नास्ता, मिठाई बनाकर ला कर चौक चौराहों पर बेचते हैं। इन सभी दुकानदारों समस्या भी हैं लॉक डाउन के समय दुकानें बंद थी। रोजी-रोटी और घर गृहस्थी भी चलाना हैं, साथ ही अपना और अपने परिवार का भरण पोषण भी करना हैं।

दूसरी बार झंझारपुर आरजेडी प्रखंड अध्यक्ष बने डॉ सच्चिदानंद

मधुबनी : झंझारपुर प्रखंड के नवानी पंचायत के परमानन्दपुर गांव निवासी युवा राजनीति कर्ता सह सह भेटनरी डा० सच्चिदानंद राय को आरजेडी अतीपिछड़ा प्रकोष्ट झंझारपुर का एक बार फिर से प्रखंड अध्यक्ष मनोनित किया गया है।

आरजेडी अतीपिछड़ा प्रकोष्ट के जिलाध्यक्ष विजय राय ने कहा कि सच्चिदानंद युवा, कर्मठ और संघर्षशील है। पार्टी युवाओं को प्राथमिकता दे रही है, और मुझे उम्मीद है कि सच्चिदानंद पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के उम्मीद पर खड़ा उतरेंगे और 15 दिनों के अंदर पंचायत अध्यक्षों की सूची बनाकर देंगे।

प्रखंड अध्यक्ष बनाये जाने पर श्री राय ने कहा पार्टी ने जो जिम्मेदारी हमें दी है, इस पर मैं इस पर शत् प्रतिशत खड़ा उतरुंगा। उन्होंने प्रखंड अध्यक्ष बनाये जाने पार्टी के नेता तेजस्वी यादव, तेजपर्ताप यादव, आरजेडी अतीपिछड़ा प्रकोष्ट उपाध्यक्ष हरेराम राय, जिलाध्यक्ष अतीपिछड़ा प्रकोष्ट भरत राय, स्थानीय विधायक गुलाब यादव, प्रखंड अध्यक्ष कामेश्वर कामती, अंजार अहमद को धन्यवाद दिया।

डॉ० सच्चिदानंद राय को प्रखंड अध्यक्ष बनाने पर डा० महानारायण राय, राष्ट्रीय अध्यक्ष कंटीर राय राष्ट्रीय अमात विकास समिति, डा० सूर्यदेव राय,प्रोफेसर अखिलेश विभू, संजय कुमार राय, आशुतोष राय और संतोष राय ने बधाई दी हैं।

विभिन्न मांगों को लेकर कार्यपालक सहायकों ने काला बिल्ला लगाकर किया प्रदर्शन

मधुबनी : झंझारपुर में विभिन्न मांगों को लेकर बिहार राज्य कार्यपालक सहायक सेवा संघ के अह्वान पर सभी जिले के कार्यपालक प्रदर्शन कर रहे हैं। कार्यपालक सहायकों ने मधेपुर में अपने कार्यालय के बाहर काला बिल्ला लगाकर सांकेतिक विरोध प्रदर्शन किया।

कार्यपालक सहायकों ने कहा कि बिहार प्रशासनिक सुधार मिशन के द्वारा हमलोगों का परीक्षा लिया गया था, जिसमें की परीक्षा में उत्तीर्ण भी हुए थे। नियोजन भी हो गया उसके पश्चात बेलट्राँन के माध्यम से पुनः जांच परीक्षा देने को कहा गया है, ये कहां का न्याय है? हमलोंगों ने कोरोना जैसे आपदा में दिन-रात कार्य किये, जाँच परीक्षा के नाम पर शोषण करना बंद करें।

उन्होंने बताया की 8 से 10 जुलाई तक काला बिल्ला लगाकर सांकेतिक विरोध करेंगे, तथा 11 से 15 जुलाई तक याद है ना कार्यक्रम के तहत सोशल मिडिया व अपने कार्यस्थल पर बैनर-पोस्टर लगाकर सरकार को अपनी मांगों की याद दिलाएंगे। साथ ही 16 जुलाई को कैंडल मार्च और 17 जुलाई को भिक्षाटन का कार्यक्रम होगा। यदि 17 जुलाई तक सरकार मांगे नहीं मानती है, तो बाध्य होकर आंदोलन करेंगे। इस दौरान विभिन्न विभाग के कार्य बाधित करेंगे। उन्होंने बताया की सरकार को विभिन्न मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा गया था, और पहल के लिए 07 जुलाई तक का समय दिया गया था।

इस धरना-प्रदर्शन में कौशल किशोर चौधरी, मुकेश कुमार, राधा रमण ठाकुर, बिशनुकांत मंडल, मुकेश कुमार शाह, मोहन कुमार, नीरज कुमार और राजबीर कुमार शामिल थे।

डीएम ने अधिकारियों के साथ की समीक्षा बैठक

मधुबनी : जिलाधिकारी ने आज गुरुवार को सभी एसडीओ, बीडीओ तथा सीओ के साथ विडियो काॅन्फ्रेसिंग किया गया जिसमें मुख्यतः मास्क पहनों अभियान की प्रगति एंव वसुले गए जुर्माना, आपदा संपूत्र्ति पोर्टल पर एंट्री मिसमैच नाम से सुधार, नल-जल योजना की प्रगति, कमला नदी में संभावित बाढ़ तैयारी तथा तटबंध किनारे रहने वाले लोगो को अलर्ट करने एवं ग्रुप सी तथा डी के कर्मियो की सेवा पुस्त ऑनलाइन की प्रगति की समीक्षा की गई।
इस दौरान अपर सम्हर्ता,उप विकास आयुक्त,जिला पंचायत पदाधिकारी एवं आपदा प्रभारी भी मौजूद थे।

नल-जल योजना एवं नली-गली योजना में गबन पाये जाने पर दोषी पर एफ०आई०आर० दर्ज करने का निर्देश एवं नल-जल कार्य को 15 जुलाई तक पूर्ण करने का आदेश जिला पदाधिकारी द्वारा दी गई।

आपदा संपूर्ती पोर्टल पर रिजेक्टेड एवं मिसमैच आवेदनों को अविलंब सुधार करने ताकि लाभार्थी को अविलंब भुगतान हो का आदेश सभी बीडीओ को दिया गया।

मधुबनी जिला पदाधिकारी ने मास्क पहने के लिए लोगो को जागरूक करने एवं बिना मास्क पहने सार्वजनिक स्थानों पर पकड़े गए लोगो को ₹50 जुर्माना एवं मास्क एक मास्क निशुल्क देने का आदेश भी सभी पदाधिकरियों को दिया।

सुमित राउत

swatva

Leave a Reply