23 अगस्त : मधुबनी की मुख्य ख़बरें

0

स्कूली बच्चों ने धूमधाम से मनाया जन्माष्टमी

मधुबनी : जयनगर के सभी इलाको में हर्षोल्लास के साथ मनाई जा रही है जन्माष्टमी। जन्माष्टमी के शुभ अवसर पर जयनगर के निजी विद्यालयों में जन्माष्टमी का त्योहार बच्चों के बीच मनाया गया।

इस मौके पर स्कोटिश स्कूल के बच्चों ने जन्माष्टमी का पर्व पर सांस्कृतिक कार्यक्रम किया। नर्सरी वर्ग के शाश्वत कुमार को कान्हा और आँचल कुमारी को राधा बना कर धूमधाम से उनकी पूजा कर सांस्कृतिक कार्यक्रम किये गए।

अधिवक्ता से बदसलूकी  पर न्यायिक कार्य का बहिष्कार

मधुबनी : अधिवक्ता के साथ हुई बदसलूकी पर अधिवक्ताओं ने न्यायिक कार्य से अलग रहने का निर्णय लिया  और जब तक दोषी माफी नहीं मांगते तब तक अभिवक्ता अड़े गए है। मामला बुधवार का है। वाकया जिला व्यवहार न्यायालय,मधुबनी का है। कोर्ट परिसर में उस समय अफरा तफरी मच गई, जब प्रथम एडीजे के एक गार्ड ने एक अघिवक्ता से बदसलूकी कर अकारण थप्पड़ मार दिया।

इस खबर से अधिवक्ता संघ ने उस बॉडीगार्ड से कोर्ट परिसर में ही माफी मॉगने को लेकर हंगामा कर दिया। दरअसल तीन बजे के करीब प्रथम एड़ीजे के न्यायालय में बहस चल रहा था। इसी दौरान अधिवक्ता कुंदन कुमार को बॉडीगार्ड ने इजलास पर से बुलाया और अकारण थप्पड़ जड़ दिया।

संघ में खबर मिलते ही अधिवक्ताओं ने प्रथम एडीजे के बॉडीगार्ड से सार्वजनिक तौर से माफी माँगने को कहा। लेकिन देर शाम तक मांग पूरा नही होने पर अधिवक्ता संघ के द्धारा न्यायिक कार्य से मांग पूरा न होने तक अलग रहने का निर्णय लिया। जिला अधिवक्ता संघ ने ये फैसला लेते हुए आज से अनिश्चितकालीन धरना और काम नही करने का निर्णय लिया गया है।

राज्य स्तरीय विद्यालय खेल प्रतियोगिता का आयोजन

मधुबनी : कला, संस्कृति एवं युवा विभाग, बिहार राज्य खेल प्राधिकारण तथा जिला प्रशासन के संयुक्त तत्वावधान में राज्य स्तरीय विद्यालय खेल यथा कबड्डी बालक अण्डर-14/अण्डर-17/अण्डर-19 व खो-खो बालक आयुवर्ग अण्डर-14/अण्डर-17 तथा रग्बी बालक अण्डर-14/अण्डर-17/ अण्डर-19 प्रतियोगिता का आयोजन होगा।

इस बाबत जिला खेल पदाधिकारी, विजय कुमार पंडित ने बताया कि राज्य स्तरीय कबड्डी प्रतियोगिता में 38 जिला/एकलव्य आवासीय प्रशिक्षण केन्द्र/खो-खो प्रतियोगिता में 30 जिला तथा रग्बी प्रतियोगिता में 22 जिला की सहभागिता होनी है।

कबड्डी प्रतियोगिता में खिलाड़ी व प्रभारी की संख्या- 1320 /खो-खो में खिलाड़ी व प्रभारी की संख्या- 660 तथा रग्बी में खिलाड़ी व प्रभारी की संख्या-594 होगी। प्रतियोगिता के संचालनार्थ व आयोजननार्थ हेतु कबड्डी में 18 तकनीकि पदाधिकारी 06 चयन समिति सदस्य/खो-खो में 12 तकनीकी पदाधिकारी 04 चयन समिति सदस्य तथा रग्बी में 10 तकनीकि पदाधिकारी, 06 चयन समिति सदस्य विभाग द्वारा प्रतिनियुक्ति किये गये है।

राज्य स्तरीय विद्यालय आयोजन समिति जिला पदाधिकारी, शीर्षत कपिल अशोक की अध्यक्षता में 22 अगस्त, 19 दिन गुरूवार को समाहरणालय सभाकक्ष में सम्पन्न हुई।

उक्त प्रतियोगिता के सफल संचालन के लिए जिलाधिकारी-सह-अध्यक्ष आयोजन समिति, मधुबनी के निर्देशानुसार विभिन्न समितियों एवं उप-समितियों का गठन कर समितियों के नोडल पदाधिकारी भी नामित, कार्य व दायित्व का निर्धारण कर दिया गया है।

उद्घाटन, समापन समिति में नोडल पदाधिकारी के रूप में नजारत उपसमाहर्ता/स्वागत व सांस्कृतिक कार्यक्रम समिति के नोडल पदाधिकारी जिला शिक्षा पदाधिकारी/मीडिया समिति के नोडल पदाधिकारी, विजय कुमार पंडित, डीपीआरओ, मधुबनी/चिकित्सा समिति के नोडल पदाधिकारी, सिविल सर्जन, मधुबनी/सुरक्षा व विधि-व्यवस्था में नोडल पदाधिकारी अनुमंडल पदाधिकारी, सदर/साफ-सफाई व पेयजल समिति के नोडल पदाधिकारी कार्यपालक अभियंता पीएचईडी/जूरी ऑफ अपील समिति के नोडल पदाधिकारी, जिला शिक्षा पदाधिकारी/आवासन व्यवस्था के नोडल पदाधिकारी, स्थापना उप-समाहर्ता,/परिवहन समिति के नोडल पदाधिकारी, जिला परिवहन पदाधिकारी, आदि उप-समिति का गठन कर लिया गया है।

राज्य स्तरीय कबड्डी प्रतियोगिता उच्च वि० पंडौल/खो-खो प्रतियोगिता वाटसन उच्च वि० के क्रीड़ा मैदान एवं रग्बी का प्रतियोगिता स्थल राज खेल मैदान, राजनगर होगा।

जिला खेल पदाधिकारी ने बताया कि तीनों विधाओं में प्रतियोगिता से एक दिन पूर्व खिलाड़ी का आगमन होना प्रारंभ हो जायेगा। प्रतिभागियों तथा तकनीकी पदाधिकारी को कोई असुविधा न हो, इसके लिए जिला खेल पदाधिकारी को आवश्यक निदेश जारी कर दिये गये है।

इस मौके पर जिला शिक्षा पदाधिकारी/जिला सिविल सर्जन/प्रधानाध्यापक, उच्च वि०, पंडौल/देवानंन्द/ अमित कुमार/ मनीष कुमार सिंह/ संतोष शर्मा/कार्यपालक अभियंता, पी०एच०ई०डी०/रोहित कुमार/सुश्री सुप्रिया राही/ अभिषेक कुमार आदि गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे।

पीएम आवास के लिए जमीन का हुआ सर्वेक्षण

मधुबनी : बिस्फी प्रखण्ड क्षेत्र के इंदिरा आवास दिलाने को लेकर प्रखण्ड क्षेत्र में महादलित परिवार को जमीन से वंचित परिवारों को जमीन देने के लिए बासीगत पर्चा तैयार करने की प्रक्रिया शुरू कर दिया हैं।

सीआई बसंत झा ने बासीगत पर्चा काटने को लेकर छोरहिया, जगवन पूर्वी पंचायत, दमला घाट में लगभग 10 से 12 परिवारों को लाभ देने के लिए सर्वेक्षण किया हैं।

सीआई बसंत झा ने बताया की वैसे परिवार जिनको रहने के लिए घर और जमीन नही हैं। किसी तरह से गुजर-बसर कर रहे हैं, वैसे परिवारों के लिए बिस्फी प्रखण्ड के सभी पंचायतो में सर्वेक्षण कर बासीगत पर्चा काट कर जमीन दिलाने की प्रक्रिया शुरू कर दिया गया हैं।

स्वराज ट्रैक्टर्स ने लगाया मेगा कैम्प

मधुबनी : जयनगर-दरभंगा एनएच-527B  पर जयनगर पेट्रोल पंप के समीप विशाल ऑटोमोबाइलस में स्वराज ट्रेक्टर ने मेगा कैंप का आयोजन किया। पटना से आये इंजीनियर, टेक्नीशियन और जयनगर अनुमंडल के विभिन्न क्षेत्रों से आये किसानों के स्वराज ट्रैक्टर्स की सर्विस कर आकर्षक उपहार दिए गए।

इस मौके पर विशाल ऑटोमोबाइल के मालिक सुनील कुमार मंडल ने बताया कि इस मेगा कैंप में ट्रेक्टर की सर्विस, खरीददारी पर आकर्षक छूट और निश्चित उपहार किसान भाइयों को दिया जाएगा। इस मौके पर एरिया मैनेजर, पटना सुशील कुमार चौधरी ने बताया कि जल्द ही सभी जगहों पर इस तरह का मेगा कैंप आयोजित किया जाएगा।

जन्माष्टमी कार्यक्रम में पहुंचे झंझारपुर सांसद रामप्रीत मंडल

मधुबनी : खजौली प्रखंड में आज जन्माष्टमी के शुभ अवसर पर स्थानीय बेंता चौक पर एक जन्माष्टमी कार्यक्रम आयोजित हुआ। इस कार्यक्रम के मुख्य उद्घाटनकर्ता झंझारपुर सांसद रामप्रीत मंडल थे, जिन्होंने विधिवत फीता काट और दिप प्रजवलित कर कार्यक्रम का उद्घाटन किया। इस मौके पर जिले के तमाम बड़े नेता और स्थानीय लोग मौजूद रहे।

एनडीआरएफ़ ने बच्चों को सिखाया आपदा से निपटने के उपाए

मधुबनी : फुलपरास प्रखंड के बईका में स्थित मिथिला विद्यापीठ स्कूल में एनडीआरएफ़ टीम के इंस्पेक्टर सुधीर कुमार के नेतृत्व में आपदा से बचाव का एकदिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम चलाया गया।

इस दौरान टीम के इंस्पेक्टर सुधीर कुमार ने सबसे पहले ‘स्कूल डिजास्टर मैनेजमेंट प्लान’ के बारे में सभी शिक्षकों के साथ विस्तारपूर्वक चर्चा किया। प्रशिक्षण के दौरान बच्चो को भूकंप आने पर किस प्रकार खुद को सुरक्षित रख सकते है, उसका मॉक ड्रिल करवाया गया।

किसी भी घायल व्यक्ति का प्राथमिक उपचार किस प्रकार किया जाय, उसके बारे में सभी बच्चों को प्रक्टिकल करके बताया गया।

सड़क दुर्घटना में घायल व्यक्ति का मौत आये दिन रोजाना कही न कही सुनने को मिलता है। हमारे देश मे आज भी आम जनता किसी घायल व्यक्ति को मदद करने के लिए सामने नही आना चाहता है, जिसका सबसे बड़ा कारण पुलिस पूछ-ताछ से बचना तथा लोगो मे किसी की मदद का भावना का न होना है जो कि चिंतनीय है।

लोगो को सुप्रीम कोर्ट के द्वारा जारी किया आर्डर के बारे में जानकारी नही है। जिसमे घायल व्यक्ति को मदद करने पर पुलिस ना तो कोई केस दर्ज करेगी ना ही जबरदस्ती किसी तरह की पूछ-ताछ करेगी। अगर व्यक्ति स्वेक्षा से चाहे तो अपना स्टेटमेंट दे सकता है, अन्यथा कोई बाध्य नही करेगा।

इस दौरान किसी घायल व्यक्ति को प्राथमिक उपचार के बारे में बच्चो को बताया गया। जिसमे सड़क दुर्घटना में घायल व्यक्ति का रक्त-स्राव रोकने के टेक्निक, हाथ-पैर फ्रैक्चर हो जाने पर उसे अपने आस-पास मौजूद सामानों से स्प्लिन्टिंग कर स्थिर करने का तरीके, किसी घायल व्यक्ति को एक स्थान से दूसरे स्थान तक ले जाने के लिये मौजूद संसाधनो का उपयोग करके स्ट्रेचर बनाने की विधि बताया गया।

सीपीआर तथा बाढ़ के दौरान बरती जानेवाली सावधानियों के बारे में भी बच्चों को बताया गया। इस प्रशिक्षण के दौरान एनडीआरएफ़ टीम के इन्स्पेक्टर सुधीर कुमार, ओमप्रकाश, पंकज पांडेय, पिंटू कुमार, कुमार, सुकांता बिस्वाश शामिल थे। इस प्रशिक्षण का मुख्य उद्देश्य बच्चों को जागरूक कर आपदा से लड़ने के लिए आत्मनिर्भर बनाना है।

Leave a Reply