20 जुलाई : मधुबनी की मुख्य ख़बरें

0
swatva samachar

जिले में कोरोना ने ढाया कहर आंकड़ा पहुंचा 700 के पार

मधुबनी : जिले में अब कोरोना वायरस से संक्रमित होने वाले व्यक्तियों की संख्या सात सौ से पार हो गई है। रविवार को जिले में 16 और व्यक्तियों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने का मामला सामने आया। इसके साथ ही जिले में कोरोना वायरस से संक्रमित होने वाले लोगों की संख्या 713 हो गई है। हालांकि, राहत की बात यह है कि जिले में कोरोना वायरस से संक्रमित 609 व्यक्ति पूरी तरह स्वस्थ भी हो चुके हैं। लेकिन, दुखद पहलू यह भी है कि जिले में अब तक कोरोना वायरस से संक्रमित दो लोगों की मौत भी हो चुकी है। वहीं, जिले में अभी भी कोरोना वायरस से संक्रमित एक्टिव केस 104 हैं। ये लोग अभी भी कोरोना वायरस के संक्रमण से जूझ रहे हैं।

स्वास्थ्य विभाग ने भी रविवार को मधुबनी जिले में कोरोना वायरस से संक्रमित 16 नए मामलों की पुष्टी की है। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक जिले में अब तक कोरोना वायरस से 713 लोग संक्रमित हो चुके हैं। इनमें से 609 लोग स्वस्थ हो चुके हैं, जबकि 102 लोग अभी भी कोरोना वायरस से संक्रमित हैं। मधुबनी जिले में दो लोगों के अब तक कोरोना वायरस से मौत होने की पुष्टि भी स्वास्थ्य विभाग द्वारा की गई है।

मधुबनी जिले में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले से जिला प्रशासन, जिले का स्वास्थ्य महकमा से लेकर जिलेवासी भी खासे चितित हैं। खास बात तो यह भी है कि जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण से न तो प्रशासनिक अधिकारी और न ही जेल अधिकारी अछूता रहा है। स्वास्थ्य कर्मी, पुलिस एवं होमगार्ड के जवान से लेकर विधान पार्षद, सांसद तक कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं। राजनीतिक दलों के कार्यकर्ता, दवा दुकानदार, पुस्तक विक्रेता से लेकर कई अन्य पेशे से जुड़े लोग भी कोरोना वायरस से संक्रमित हो चुके हैं।

भारी मात्रा में अंग्रेजी शराब बरामद, वाहन सहित दो गिरफ्तार

मधुबनी : घोघरडीहा थाना पुलिस को शराब की बड़ी खेप पकड़ने में सफलता मिली है। मामला थाना क्षेत्र के तिलाठ गांव का है। पुलिस ने मालवाहक ऑटो पर 25 कार्टन अंग्रेजी शराब बरामद करने के साथ ही दो धंधेबाज को भी गिरफ्तार कर लिया है।

मिली जानकारी के अनुसार पुलिस को सूचना मिली थी कि शनिवार रात को शराब की खेप आने वाली है। गुप्त सूचना पर रात के करीब एक बजे थानाध्यक्ष अरविन्द कुमार के नेतृत्व में पुलिस बल ने तिलाठ गांव में सड़क पर खड़ी ऑटो को पकड़ा। ऑटो से 591 बोतल यानी 221 लीटर शराब के साथ दो शराब धंधेबाजों को गिरफ्तार कर लिया। धंधेबाजों की पहचान गांव के ही रामदेव राम के पुत्र दिलीप राम एवं दामोदर झा के पुत्र गिरिधारी झा के रूप में हुई है।
थानाध्यक्ष ने कहा कि प्राथमिकी दर्ज कर धराए दोनों धंधेबाजों को न्यायिक हिरासत में भेजा जा रहा है।

अदलपुर गाँव में घुसा बाढ़ का पानी, ग्रामीण परेशान

मधुबनी : झंझारपुर अनुमंडल क्षेत्र में रविवार सुबह से हो रही लगातार वर्षा ने लोगों को जीना मुहाल कर दिया है। इस वर्षा के कारण ताल-तलैया एवं विभिन्न जलाशय ही नहीं मुख्य सहित अन्य सड़कें भी जलमग्न हो गई है। यहां तक कि नपं क्षेत्र के अदलपुर सहित कई अन्य मोहल्लों के दर्जनों लोगों के घरों एवं आंगन में पानी घुस गया है।

अदलपुर मोहल्ला के दर्जनों लोगों ने नपं के कार्यपालक पदाधिकारी अमित कुमार को शिकायती आवेदन देते हुए जल निकासी की व्यवस्था करने की गुहार लगाई है। आवेदन देने वाले लोगों में समीम अख्तर, सिकेंद्र, रामचंद्र ठाकुर, सावीर, चुन्नू मियां, दिनेश कुमार मंडल, छेदी राम, जयंत कुमार महतो आदि ने बताया कि उन लोगों के मोहल्ला में नपं प्रशासन द्वारा अभी तक न तो जलनिकासी की व्यवस्था की गई है और न ही नाला का ही निर्माण किया गया।
जिसके कारण खासकर बरसात के दिनों में अदलपुर मोहल्ला टापू बन जाता है।

जदयू नेता की हत्या की न्यायिक जांच के लिए कुशवाहा समाज ने की बैठक

मधुबनी : सीएमजे कॉलेज, दोनबारीहाट में कुशवाहा समाज के लोगों की बैठक ई. राजकुमार सिंह की अध्यक्षता में हुई। बता दें कि खुटौना प्रखंड के जदयू कार्यकर्ता घोरमोहना गांव निवासी रामतरतन कुशवाहा की गत 28 अप्रैल को हुई निर्मम हत्या पर संवेदना व्यक्त की गई। इस घटना को अंजाम देने वालों को प्रशासन द्वारा बचाने की कोशिश पर क्षोभ व्यक्त किया गया।

यह बात सामने आई कि फुलपरास डीएसपी ने अपने पर्यवेक्षण में इस कांड को सडक दुर्घटना में परिवर्तित कर दिया है। उपस्थित लोगों ने इसकी निदा की। कहा कि अगर उचित न्याय नहीं मिला तो कुशवाहा समाज के लोग चरणबद्व आंदोलन छेडने पर मजबूर होंगे।

इस बैठक में विश्वनाथ प्रसाद सिंह, महेंद्र प्रसाद सिंह, गंगा प्रसाद, विजय कुशवाहा, अरुण कुशवाहा, पवन कुशवाहा, नवीन कुमार सिंह, अमोद कुशवाहा, अशोक कुशवाहा, विनोद कुशवाहा, अरविद कुमार, संजय कुमार, विनोद सिंह सहित खुटौना, बाबूबरही, लदनिया एवं फुलपरास प्रखंड के कई लोग मौजूद थे।

आधा दर्जन गांव में घुसा बाढ़ का पानी, सड़क से संपर्क टूटा

मधुबनी : बेनीपट्टी प्रखंड में विनाशकारी बाढ़ ने भारी तबाही मचा दी है। पानी के नीचे आने के बाद बर्बादी का खौंफनाक मंजर अब गांवों में दिखने लगा है। पानी कम होते ही बाढ़ से बर्बादी, टूटी व क्षतिग्रस्त सड़कों, ध्वस्त फूस के घर हो या अन्य घर के बिखरे अवशेष,खेत खलिहान से लेकर बाग बगीचे में बर्बादी दिख रहा है।

प्रखंड के एक दर्जनों गांव अब भी बाढ़ के पानी से घिरा हुआ है। बाढ़ प्रभावित गांवो में जगह-जगह सड़क टूटकर ध्वस्त हो जाने के कारण आवागमन बाधित है। विनाशकारी बाढ़ के दौरान माधोपुर से फुलवरिया तक जाने वाली कई जगहों पर सड़क टूटकर क्षतिग्रस्त हो गई है। विशनपुर गांव में तीन जगहों पर सड़क क्षतिग्रस्त हो गई है।

परखंड के सोहरौल गांव में एक जगह पर पानी ने सड़क को तोड़ दिया है। जबकि दूसरी जगहों पर क्षतिग्रस्त कर रही है। पांच दिनों से बाढ़ के पानी से घिरे गांव की हालत काफी खराब हो गई है। यातायात की गंभीर समस्या है। चानपुरा पश्चिम से माधोपुर जाने वाली बांध व फाटक से आज भी पानी का बहाव हो रहा है।

मारपीट में जख्मी हुए की हुई मौत, प्राथमिकी दर्ज

मधुबनी : जयनगर थाना क्षेत्र के बलडिहा बलुआ टोल में शुक्रवार की देर शाम दो पक्षों में हुई मारपीट में गंभीर रूप से जख्मी सूर्यनारायण चौधरी की मौत इलाज के दौरान पटना में हो गई।

इस बाबत मृतक के पुत्र विष्णुदेव चौधरी ने गांव के ही आनंद लाल दास के पुत्र राजकुमार दास, राजकिशोर दास समेत अन्य पर लोहे के राड, लाठी डंडा से हमला कर पिता सूर्यनारायण यादव को गंभीर रूप से जख्मी कर दिए जाने एवं इलाज के दौरान पटना में मौत हो जाने को लेकर प्राथमिकी दर्ज कराई है। प्राथमिकी के अनुसार शुक्रवार की शाम सात बजे मृत यादव अपने ट्रैक्टर से मिट्टी भराई कर रहे थे। इसी दौरान ट्रैक्टर का ट्राली राजकुमार दास के घर के एस्बेस्टस से सट गया।

राजकुमार दास इसी बात को लेकर अपने भाई राजकिशोर दास समेत अन्य लोगो को बुलाकर लाठी डंडे एवं लोहे के रॉड से सूर्यनारायण चौधरी, पत्नी ममता देवी पुत्र विष्णुदेव चौधरी, कृष्णदेव चौधरी को जख्मी कर दिया।

आनन-फानन में सभी घायलों को अनुमंडल अस्पताल लाया गया। गंभीर रूप से जख्मी सूर्यनारायण चौधरी को डीएमसीएच रेफर कर दिया गया। डीएमसीएच से भी सूर्यनारायण चौधरी को पीएमसीएच रेफर कर दिया गया। परिजनों ने उन्हें पटना के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया जहां शनिवार की शाम उनकी मौत हो गई। जयनगर थाना पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

मधुबनी समाहरणालय लिपिक संवर्ग के सैकड़ों पद रिक्त, नही हो पा रही भर्ती

मधुबनी : एक ओर शिक्षित बेरोजगार रोजगार के लिए दर-दर की ठोकरें खाने को विवश हैं। वहीं, दूसरी ओर सरकारी महकमे में रिक्तियों की भरमार है। अगर रिक्त पदों पर बहाली की गई होती, तो कई बेरोजगारों को रोजगार मिल गया होता। अगर मधुबनी जिले में समाहरणालय लिपिक संवर्ग की ही बात करें, तो इस संवर्ग के 162 पद रिक्त पड़े हैं। इन रिक्त पदों में 33 बैकलॉग रिक्ति शामिल है।

मधुबनी जिले में समाहरणालय संवर्ग लिपिक की कोटिवार रिक्ति की बात करें तो अनुसूचित जाति के 14 पद, अनुसूचित जाति महिला के आठ पद, अनुसूचित जनजाति का एक पद, अत्यंत पिछड़ा वर्ग का 15 पद, अत्यंत पिछड़ा वर्ग की महिला का 10 पद, पिछड़ा वर्ग के तीन पद, पिछड़ा वर्ग महिला के दो पद, पिछड़े वर्ग की महिला का पांच पद, अनारक्षित 40 पद, अनारक्षित महिला के 18 पद, आर्थिक रुप से कमजोर वर्ग के नौ पद और आर्थिक रुप से कमजोर वर्ग की महिला का चार पद रिक्त पड़ा हुआ है।

इसके अलावा बैकलॉग रिक्ति की बात करें तो अत्यंत पिछड़ा वर्ग के 26 और पिछड़े वर्ग की महिला का सात पद रिक्त पड़ा है। उक्त सभी रिक्त पद वेतनमान वाला है। जिला प्रशासन ने उक्त रिक्त पदों की सूचना वित्त विभाग को भेज दी है।

कई गाँव मे घुसा बाढ़ का पानी, सड़कें हुई जलमग्न

मधुबनी : बारिश के दौरान जब पंडौल व सकरी बाजार की मुख्य सड़क ही वर्षा के कारण अत्यधिक प्रभावित रहती है, तो ग्रामीण इलाकों की सड़कों की हालत क्या होगी यह सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है। हल्की बारिश में ही सड़क पर छोटे-छोटे जलाशय नजर आने लगे तो बरसात के मौसम में उक्त सड़क पर चलना कितनी कठिनाई से भरा होगा, यह सोचकर ही मन विचलित हो उठता है। आज सुबह से हो रही भारी वर्षा दर्जनों गांवों को जोड़ने वाली पंडौल मल्लाह टोल मुख्य सड़क को बने करीब दस वर्ष बीत चुके हैं। वर्तमान में इसकी हालत काफी जर्जर है। प्रतिदिन अनुमानत: सैकड़ों वाहन इस रास्ते से होकर गुजरते हैं। प्रखंड कार्यालय जाने के लिए इसी सड़क का सहारा है।

एसबीआई मोड़ से लेकर मल्लाह टोल होते हुए हाई स्कूल चौक पंडौल तक सड़क पर कई जगह जलजमाव हो जाता है। जिस कारण सड़क कई जगहों पर टूट गई है। स्थानीय लोगों के द्वारा सड़क मरम्मत को लेकर दर्जनों बार लिखित रूप से शिकायत की थी लेकिन प्रशासनिक उदासीनता के कारण उक्त सड़क के मरम्मत का कार्य कभी नहीं हो सका। इस सड़क पर वाहनों का चलना काफी मुश्किल हो गया है।

रविवार को हुई बारिश से सकरी बाजार की सभी मुख्य सड़कें जलमग्न हो गई । सरिसब पाही सिद्धेश्वरी मंदिर के मुख्यमार्ग की हालत दयनीय हो गई है । वहां कई आंगन में घुटने भर पानी जमा है। हाटी से ईसहपुर होते हुए फुटानी चौक जाने वाली सड़क की भी यही हालत हो गई है। धौस से शिसवा ,यमसम होते हुए भवानीपुर जाने वाली सड़क भी जलमग्न हो चुकी है।

बाढ़ ने बढ़ाई लोगों की परेशानी

मधुबनी : बेनीपट्टी प्रखंड के पश्चिम भाग में पांच दिनों से पानी से घिरे एक दर्जन गांव के लोगों की जिदगी अब बेदम होने लगी है। धीरे-धीरे बाढ़ के पानी में कमी आ रही थी लेकिन रविवार के दिन मुसलाधार हुई बारिश ने बाढ़ पीड़ितों के सामने गंभीर संकट उत्पन्न कर दिया है। भारी बारिश होने से बाढ़ से सड़क एवं बांध व विद्यालय भवन में विस्थापित परिवारों के समक्ष समस्या बढ़ती जा रही है। प्रखंड में बाढ़ से विस्थापित होकर लोग माधोपुर गांव के सड़क पर बररी एवं उच्चैठ मध्य विद्यालय में लोग शरण लिए हुए हैं। बाढ़ से विस्थापित परिवारों को विवश व लाचार बना दिया है। जहां उनके सामने गंभीर संकट है। सड़क एवं स्कूल में विस्थापित परिवार माल मवेशी के साथ जीवन व्यतीत कर रहे हैं।

उनकी फरियाद सुनने व खोज खबर लेने वाला कोई नहीं है। भाजपा महिला मोर्चा के जिलाध्यक्ष सह जिला परिषद सदस्या खुशबू कुमारी तथा भाजपा नेता भास्कर चौधरी ने नाव से बाढ़ प्रभावित बररी, माधोपुर, रजघट्टा, फुलवरिया, नवगाछी, धनुषी, रजवा गांव सहित आधे दर्जन गांवों में पहुंचकर बाढ़ से घिरे लोगों व विस्थापित परिवारों से मिलकर दुख व दर्द बांटने का प्रयास किया।

जिला परिषद सदस्य ने सरकार एवं प्रशासन से जल्द से जल्द बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में राहत व बचाव कार्य चलाए जाने एवं मेडिकल टीम भेजने व नाव की व्यवस्था किए जाने का आ्रग्रह किया है। माधोपुर गांव के सड़क पर निरंजन माझी, प्रमोद माझी, अवध माझी, भोगी माझी, योगी माझी, बिंदे माझी विस्थापित होकर खुले आकाश के नीचे पॉलीथिन टांगकर रहने को विवश हैं। घर में बाढ़ का पानी प्रवेश कर गया है कुछ भी नहीं बचा है। लाचार व विवश होकर भाग्य व भगवान भरोसे जिदगी गुजार रहे हैं।

क्योटा गाँव की जर्जर सड़कों पर पैदल चलना भी हुआ दुश्वार

मधुबनी : कलुआही प्रखंड की लोहा पंचायत स्थित क्योटा गांव की मुख्य सड़क की हाल बद से बदतर हो गई है। यह सड़क पूरी तरह कीचड़ से पटी हुई है। जिस कारण इस पथ से होकर पैदल, साइकिल, बाइक, चार पहिया वाहन से गुजरना बेहद मुश्किल हो गया है। इससे ग्रामीणों में शासन-प्रशासन के विरुद्ध काफी आक्रोश है। बरसात के दिनों में गांव की मुख्य सड़क का हाल बदतर रहने से बच्चों को भी काफी परेशानी झेलनी पड़ रही है।

यह सड़क लोहा चौक से शुभंकरपुर, क्योटा, बक्शी टोल से गुजरते हुए एनएच-105 से मुरेठ काजीटोल में मिलती है। उक्त सड़क प्रधानमंत्री ग्राम सड़क सम्पर्क योजना के तहत निर्माण के लिए चयनित किया गया था। इस पथ का प्रधानमंत्री ग्राम सड़क संपर्क योजना के तहत सड़क के दोनों छोड़ पर शुभंकरपुर और बक्शी टोल मे कार्य हो चुका है, लेकिन क्योटा गांव मे अभी तक सड़क निर्माण कार्य नहीं किया गया है।

जिस कारण बरसात के इस मौसम में उक्त पथ क्योटा गांव में पूरी तरह कीचड़ से पट गया है। इस गांव में उक्त सड़क पर कीचड़ का साम्राज्य हो गया है। जिससे क्योटा गांव का संपर्क अन्य गांवों, प्रखंड मुख्यालय, जिला मुख्यालय आदि से भंग सा हो गया है। क्योटा गांव में उक्त पथ पर योगेन्द्र झा, जय कुमार झा, उमा ठाकुर, पुण्यानन्द झा आदि लोगों के घर के निकट रास्ते पर पैदल गुजरना भी मुश्किल हो गया है।

माकपा जिला कमेटी सदस्य राजेश कुमार मिश्र ने उक्त पथ की क्योटा गांव में दुर्दशा पर आक्रोश व्यक्त करते हुए शासन-प्रशासन के रवैये पर सख्त नारजगी व्यक्त की है। उन्होंने संबंधित विभाग एवं डीएम से मांग किया है कि जनहित में उक्त पथ को क्योटा गांव में अविलंब सुगम यातायात लायक बना दिया जाए। अन्यथा जनहित में उक्त समस्या के खिलाफ जनतांत्रिक तरीके से चरणबद्ध आंदोलन चलाया जाएगा।

पांच लाख रुरुपए के गबन का आरोपी हुआ गिरफ्तार, भेजा गया जेल

मधुबनी : झंझारपुर अनुमंडल मुख्यालय स्थित पार्वती-लक्ष्मी कन्या उच्च विद्यालय में उपस्कर खरीदारी में पांच लाख के गबन मामले में मुख्य आरोपित मुकेश कुमार प्रसाद को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है।

झंझारपुर थाना पुलिस को लंबे अर्से से इनकी तलाश थी। देर रात मुकेश को गिरफ्तार करने में पुलिस को सफलता मिली है। पुलिस की मानें तो लिपिक मुकेश गिरफ्तारी के डर से छिप कर रह रहा था। हालांकि, स्थानीय लोगों का कहना है कि वह थाना से महज तीन सौ मीटर की दूरी पर स्थित अपने स्कूल में बराबर जाते हुए दिखाई दे रहा था। इसी मामले के एक अन्य आरोपी का साला कन्हैया कुमार चौधरी पहले से ही जेल में है। थानाध्यक्ष चंद्रमणि ने बताया कि मुकेश पुलिस को चकमा दे रहा था। स्कूल में जाने पर गायब हो जाता था। इसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने जाल बिछाया। गुप्त सूचना के आधार पर उसे दबोच लिया गया।

क्या है मामला :

नगर पंचायत क्षेत्र के पार्वती-लक्ष्मी कन्या उच्च विद्यालय के पूर्व प्राचार्य काशीनाथ झा किरण ने पांच लाख गबन की प्राथमिकी दर्ज कराई है। उन्होंने इस मामले में स्कूल के लिपिक मुकेश कुमार प्रसाद एवं तुलापतगंज निवासी कन्हैया कुमार चौधरी को नामजद किया। जिसमें विद्यालय के उपस्कर खरीदने के नाम पर पांच लाख का चेक कन्हैया कुमार चौधरी को दिया गया था। जिस पर काशीनाथ झा किरण एवं लिपिक मुकेश कुमार प्रसाद का संयुक्त हस्ताक्षर था। चेक प्राप्त करने के बाद इकरारनामा भी बनाया गया था। उपस्कर आपूर्ति करने का इकरारनामा लिपिक को संचित करने का निर्देश दिया गया। लंबे समय बीत जाने के बाद भी सामान की आपूर्ति नहीं की गई और ना ही लिपिक द्वारा इकरारनामा की कॉपी ही दी जा रही थी। इस बीच 30 मई को काशीनाथ झा किरण सेवानिवृत हो गए। 10 जुलाई 2015 से 31 मई 2018 तक विद्यालय के प्रधानाचार्य सह निकासी वययन पदाधिकारी के रूप में काम किया था। आवेदन के आलोक में दोनों जीजा-साला को नामजद करते हुए गबन की प्राथमिकी दर्ज की गई थी।

सोशल डिस्टेंसिनग की जमकर उड़ाई जा रही धज्जियां, बाजरों में बिना मास्क दिख रहे लोग

मधुबनी : शहर में कोरोना वायरस संक्रमण पर काबू पाने के लिए फिर से लॉकडाउन के चौथे दिन शहर के स्टेशन चौक सहित जगह-जगह फिजिकल डिस्टेंसिग की धज्जियां उड़ती रही। जबकि, लॉकडाउन का पालन कराने के लिए तैनात पुलिस बल अपने कर्तव्य के पालन की अनदेखी करते देखे गए। खरीदारों से लिए गए रुपये को सैनिटाइज करने की व्यवस्था नहीं देखी जा रही है। वहीं, खरीदारी के दौरान लेन-देन होने वाले रुपयों को सैनिटाइज नहीं होने और उससे संक्रमण की चिता बनी हुई है।

ड्यूटी के प्रति पुलिस लापरवाह :-

शहर के स्टेशन चौक स्थित सब्जी मंडी में तैनात दो पुलिस बल बगैर मास्क वाले लोगों को अगाह करने के बजाय बेंच पर बैठे तंबाकू मलते नजर आ रहे थे। इनके सामने से मास्क विहीन लोग आराम से गुजरने रहे। इतना ही नहीं, कई मास्क विहीन लोगों से ये खुलेआम बातचीत करते हैं, लेकिन ऐसे लोगों में मास्क के प्रयोग को सुनिश्चित नहीं कराते हैं।

सब्जी मंडी में हो रही नियमों की अनदेखी :

शहर के गिलेशन बाजार, स्टेशन चौक स्थित सब्जी मंडी और फुटपाथ पर सब्जी, फल दुकानों के विक्रेताओं के अलावा खरीदारों को मास्क की अनदेखी करते देखा जा रहा है। यहां के अधिकांश सब्जी, फल विक्रेता मास्क की अनदेखी करते देखे जा रहे हैं।

वहीं, शहर के अधिकांश दवा, खाद्य वस्तुओं के दुकानों के अलावा दूध काउंटर पर खरीदारों के लिए फिजिकल डिस्टेंसिग मखौल बनकर रह गया है। इधर, गिलेशन बाजार स्थित किराना दुकान संचालक प्रशांत कुमार ने बताया कि उनके दुकान पर खरीदारों के लिए दो मीटर की दूरी बहाल रखी गई है।

शहर के गंगासागर चौक स्थित दवा विक्रेता श्याम कुमार ने बताया कि मास्क के बगैर दवा लेने आने वालों को मास्क का प्रयोग का सलाह के साथ फिजिकल डिस्टेंसिग बहाल रखा जाता है। ग्राहकों से लिए गए रुपये को सैनिटाइज करने की कोशिश होती है। ताकि, रुपये के माध्यम से कोरोना संक्रमण को रोका जा सके।

पिकअप से तीन हजार बोतल शराब जब्त, तस्कर फरार

मधुबनी : हरलाखी प्रखंड के खिरहर थाना पुलिस ने मैजिक पिकअप समेत तीन हजार बोतल शराब जब्त किया है। हालांकि तस्कर व चालक भागने में सफल हो गया। इस मामले की जानकारी प्रेसवार्ता के जरिए एसडीपीओ अरुण कुमार सिंह ने पत्रकारों को बताया कि अहले सुबह पुलिस को गुप्त सूचना मिली की हरलाखी थाना क्षेत्र के गोपालपुर गांव निवासी शराब माफिया भरत साफी के यहाँ से एक मैजिक गाड़ी में भारी मात्रा में शराब सोनई गांव होते हुए बेनिपट्टी की ओर जा रही है।

सूचना मिलते ही थानाध्यक्ष गोपाल कृष्ण अपने साथ एएसआइ धर्मदेव सिंह यादव व दलबल के साथ सोनई गांव स्थित चौक के समीप पहुंची। कुछ देर बाद ही उक्त गाड़ी को आते देखा गया, लेकिन पुलिस को दूर से ही देख चालक और तस्कर शराब लदा वाहन को छोड़ भागने में सफल हो गया। इस मामले में शराब कारोबारी भरत साफी एवं वाहन मालिक समेत आज्ञात चालक के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गई है।

प्रेसवार्ता के दौरान डीएसपी ने थाना पुलिस के द्वारा की गई कारवाई का सराहना किया है। डीएसपी ने कहा की यह अभियान चलता रहेगा, ओर शराब तस्करों को किसी हाल में बक्शा नहीं जाएगा। इस मौके पर एएसआइ कुलदीप यादव समेत कई पुलिस बल मौजूद थे।

बिजली की पोल नहीं लगाने के खिलाफ ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन

मधुबनी : हरलाखी प्रखंड अंतर्गत नहरनीया पंचायत स्थित पोतगाह गांव आज भी विकास से कोषों दूर हैं। दरअसल वार्ड छह के दर्जनों परिवारों के घरों में बांस बल्ले के सहारे बिजली की आपूर्ति हो रही है, जिससे लोगों में भय बना रहता है। वहीं पक्की सड़क के लिए भी वार्ड के लोग तरह रहे हैं।

इन समस्याओं से जूझ रहे बिजली उपभोक्ताओं में चालितर महतो, भोगी महतो, रौशन कुमार, मोनू कुमार, मुकेश कुमार, अभिषेक कुमार सिंह समेत दर्जनों ग्रामीणों ने बिजली विभाग व क्षेत्रीय प्रतिनिधि के विरुद्ध रोषपूर्ण प्रदर्शन किया है।

ग्रामीणों का कहना है कि जबसे बिजली लगी है, तबसे हमलोगों के घर तक विभाग के द्वारा पोल नहीं गाड़ा गया। हमलोग निजी खर्चे से बांस बल्ले लगाकर बिजली का उपयोग करते हैं। आंधी-तुफान आते ही बांस गीर जाता है। कई बार बांस गीर जानें से बिजली की तार भी टूट जाती है, और समय पर बिजली मिस्त्री भी नहीं आने से भीषण गर्मी में पुरी रात जागना पड़ता है।

स्थानीय लोगों ने बताया की इस समस्याओं को लेकर कई बार विभाग को आवेदन दिया, लेकिन विभाग के कानों तक जू नहीं रेंगती है। जबकि हर माह हमलोग बिल का भुगतान करते हैं। बिजली उपभोक्ताओं ने कहा की बिल भी अधिक आ रहा हैं। वहीं लोगों ने बताया की करीब पांच वर्ष पूर्व सड़क भी दोनों तरफ बनाया गया, लेकिन हमलोगों के घर के समीप करीब पांच सौ मीटर तक सड़क नहीं बनाया गया, जहां भारी जल जमाव की समस्या हो जाती है।

बछराजा नदी में नहाने के दौरान डूबने से युवक की मौत

मधुबनी : बासोपट्टी थाना क्षेत्र के मनमोहन गांव के समीप बछराजा नदी में डूबने से एक युवक की मृत्यु हो गयी है। मृतक की पहचान मनमोहन गांव निवासी नरेश साह के बीस वर्षीय पुत्र चंदन कुमार के रुप में किया गया है। दरअसल रविवार करीब दस बजे युवक गांव के बगल में बछराजा नदी में स्नान करने गये हुए थे, जहां पानी अधिक होने के कारण युवक नदी में डूब गया। जिसके बाद ग्रामीणों ने नदी में खोजबीन शुरू की।

इधर घटना की सूचना मिलते ही बीडीओ मंजु कुमारी कणकण, सीओ सुमन सहाय एवं थानाध्यक्ष इंदल यादव गोताखोर को लेकर घटना स्थल के लिए रवाना हुए, जहां मनमोहन गांव पहुंचे ही थे। तबतक ग्रामीणों के द्वारा युवक को नदी से ढूंढ निकाला जा चुका था। आनन-फानन में परिजनों ने प्रशासन की सहयोग से उक्त युवक को पीएचसी बासोपट्टी लाया गया, जहां पीएचसी प्रभारी डाॅ० शिला आजाद ने जांच के बाद उसे मृत घोषित कर दी।

ग्रामीणों ने बताया की करीब डेढ़ घंटे तक नदी में ढूंढने के बाद युवक मिला था। वहीं मौत की खबर सुनते ही पुरे पीएचसी का माहौल गमगीन हो गया। परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल हो रहा है, गांव में मातम पसरा हुआ है। इस बावत थानाध्यक्ष इंदल यादव ने बताया की परिजनों के द्वारा शव को पोस्टमार्टम करने से इंकार किया गया, और उनलोगोंं के द्वारा पंचनामा बनाकर दे दिया गया है।

खजौली विधानसभा सीट के लिए जदयु ने पेश की दावेदारी

मधुबनी : बासोपट्टी जदयु प्रखंड अध्यक्ष नवल किशोर झा ने 33-खजौली विधानसभा के लिए जदयु से पूर्व मुखिया कपलेश्वर पांडेय को टिकट देने का प्रस्ताव राष्ट्रीय अध्यक्ष नितिश कुमार को भेजन की बात कही है।

उन्होंने प्रखंड जदयु कार्यालय बासोपट्टी में शनिवार को पत्रकारों को बताया की कई वर्षों से यह सीट बीजेपी को दिया जाता है, लेकिन इस बार यह सीट जदयु को मिलना चाहिए चूंकि यहाँ जदयु कार्यकर्ताएं अधीक सक्रिय हैं, और जनता का भी पार्टी के प्रति अधिक विश्वास है। उन्होंने कहा कि यह निर्णय पार्टी के सभी पदाधिकारी व कार्यकर्ताओं के राय विचार से लिया गया है, और हमलोग यह प्रस्ताव जल्द ही मुख्यमंत्री को भेजेंगे।

सड़क व घरों में घुसा वर्षा का पानी, लोगो का जीना हुआ दुश्वार

मधुबनी : मधुबनी जिले के राजनगर प्रख्णड क्षेत्र के कोइलख पंचायत के बसही मुख्य सड़क पर लगभग दो से तीन फुट बरसात का पानी जमा हो गया। इस जलजमाव से राहगीरों को आने-जाने में भारी दिक्कत का सामना करना पड़ रहा है।

जल निकासी को लेकर बिहार प्रदेश किसान कांग्रेस उपाध्यक्ष पंकज झा ने राजनगर बीडीओ को लिखित आवेदन देकर जल निकासी का गुहार लगाई है। वहीं, पंकज झा ने कहा कि कोइलख से राजनगर जाने वाले सड़क वार्ड न-05 नवटोलिया और वार्ड न-02 तुलसीपट्टी मुख्य सड़क जर्जर हो गया है। इस सड़क का स्थिति बहुत ही दयनीय है, सड़क पर दर्जनों गढ़ा और जल जमाव हैं।

वहीं ग्रामीण रतीश झा, मनोज कुमार झा(सरपंच), कालीकांन्त चौधरी, प्रेमु मिश्रा, रामाशीष पासवान, गोपाल झा, जोगी मंडल, विनोद मंडल, राज कुमार मंडल, रानु चौधरी, सरोज मंडल, विश्वनाथ मंडल, अजीत मिश्रा, राजीव शेखर झा ने कहा कि सड़क पर वर्षा का पानी के निकासी के लिए नाला का निर्माण नहीं कराए जाने से समस्या बनी हुई है। इस मुख्य सड़क पर जलजमाव से गांव के लोगों को भारी दिक्कत है, ओर गांव में महामारी फैलने की आशंका बन गई है।

सुमित राउत

swatva

Leave a Reply