परामर्शी समिति की नियुक्ति को ले भाजपा MLC ने जताया CM और मंत्री का आभार, कहा- अन्त्योदय…

0

पटना : कोरोना की दूसरी लहर के कारण बिहार में तय समय पर पंचायत चुनाव नहीं हो सका। वर्तमान पंचायत प्रतिनिधियों का कार्यकाल 15 जून को समाप्त हो रहा है। 15 जून के बाद पंचायत स्तर की सरकारें यानी पंचायत प्रतिनिधि परामर्शी समिति के रूप में परिवर्तित हो जाएगा। इसके अध्यक्ष तथा सदस्य निवर्तमान मुखिया एवं अन्य निवर्तमान पंचायत प्रतिनिधि होंगे।

परामर्शी समिति के रूप में शक्ति पंचायती राज के प्रतिनिधियों के पास रहने को लेकर भाजपा नेता सह एमएलसी सच्चिदानंद राय ने मुख्यमंत्री व पंचायती राज मंत्री का आभार जताया है। मुख्यमंत्री को पत्र लिखते एमएलसी राय ने कहा कि आपके नेतृत्व में बिहार चहुंमुखी विकास की ओर अग्रसर है, आशा है कि आने वाले समय में प्रदेश विकास के क्षेत्र में एक विशेष मुकाम हासिल करेगा। कोरोना संकट काल मे पंचायत चुनाव को टालकर आपने एक बेहद ही संवेदनशील निर्णय लिया है। साथ ही आपने यह भी ख्याल रखा कि विकास के पथ पर निरंतर व निर्बाध रूप से अग्रसर हमारे प्रदेश का विकास रथ पंचायत चुनाव टल जाने की वजह से ठहर नहीं जाए।

इसके साथ सच्चिदानंद राय ने सम्राट चौधरी के नाम लिखे पत्र में कहा कि कोरोना संकट काल मे पंचायत चुनाव के टल जाने की वजह से जो स्थितियां पैदा हो गयी थीं, उसमें आपका निर्णय बेहद ही संवेदनशील है। आपका यह कदम भारतीय जनता पार्टी की रीति व नीति को मजबूती प्रदान करने वाला है I पंचायत चुनाव टल जाने की वजह से सबका साथ सबका विकास एवं अन्त्योदय के विचार के अनुकूल विकास यात्रा अब बाधित नहीं होगी ।

उन्होंने आगे मुख्यमंत्री तथा पंचायती राज मंत्री को पत्र के माध्यम से दोनों को धन्यवाद देते हुए कहा कि हमारी मांग पर आपने सहानुभूति पूर्वक विचार करते हुए त्रिस्तरीय पंचायती राज के प्रतिनिधियों की सक्रियता एक संवैधानिक व्यवस्था (परामर्शी समिति) के तहत कायम रखा। निश्चित तौर पर पंचायत स्तर पर चल रहे विकास से सम्बंधित सरकारी योजनाओं का क्रियान्वयन निर्बाध गति से जारी रहेगी। साथ ही पंचायत प्रतिनधियों का सम्मान व उनकी भूमिका भी बनी रहेगी।

swatva

Leave a Reply