तेजस्वी यादव राजधानी पटना के बारे में अल्प ज्ञानी- अरविन्द सिंह

0

छोटी सोच और पांव की मोंच मनुष्य को आगे नहीं बढ़ने देती है

पटना : भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता अरविन्द कुमार सिंह ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को बिहार के राजधानी पटना का गली-नली और सड़कों की जानकारी नहीं है। क्योंकि, वे पटना मे गली-नली और सड़कों पर खेले नहीं हैं। वे महलों और अपार्टमेंट में रहने वाले और उड़न खटोला में जन्मदिन मनाने वाले राजकुमार हैं, भले वे नवीं पास हों, लेकिन विरासत का सियासत उनको विरासत मे मिला हुआ है।

अरविन्द सिंह ने कहा कि तेजस्वी यादव को यह पता नहीं है कि उनके माता-पिता के शासनकाल में पटना के सड़कों पर बरसात में नाव चला करती थी और दो-दो सप्ताह पानी जमा रह जाता था। जिसके चलते राजधानी पटना के जनता ने आप के दल को और आपके सहयोगी दल को नकार दिया है और अगड़ा-पिछड़ा करना आपके दल का फेहरिस्त है, जातीय उन्माद धार्मिक उन्माद फैलाना यूपीए का मूल मंत्र है, बारिशों के मौसम में बारिश होना स्वाभाविक बात है, ज्यादा बारिश भी हो सकती है, जलजमाव होता है, लेकिन अब जलजमाव बारिश होने के समय रहता है, दूसरा दिन सड़कों पर पानी नजर नहीं आता है।

लेकिन वह दिन आप देखे नहीं थे, जब सड़क और खेतों में अंतर नहीं हुआ करती थी, आपको सितारों के सभा में बैठने वाले और अपने पिता के जुहू वन में घूमने वाले राजकुमार हैं।

भाजपा नेता ने कहा नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव पटना के सड़कों पर आप कभी निकले होंगे अब आपको समझ में आ रहा होगा कि विकास किसे कहते हैं। सड़क दिखाई पड़ रहे हैं नाला बन चुका है और कुछ का निर्माण चालू है संप हाउसों की स्थिति जा करके देखें, सारी रात दिन चालू है, राजधानी की साफ-सुथरा और चौड़ी सडकों और ओभर ब्रिज आपको दिखाई पड़ रहा होगा, आप देख सकते हैं कि कितनी बारिश हुई है फिर भी पटना में कहीं भी जलजमाव नजर नहीं आ रहा है बिजली निर्बाध सप्लाई हो रही है इसे कहते हैं विकास।

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव राजधानी पटना के बारे मे आप अल्प ज्ञानी हैं, इसलिए बड़े बुजुर्ग कहते हैं कि छोटी सोच और पांव की मोंच मनुष्य को आगे बढ़ने नहीं देती है।

भाजपा नेता का यह कटाक्ष तेजस्वी के उस बयान पर है, जिसमें नेता प्रतिपक्ष ने कहा था कि पटना में जलजमाव का ज़िम्मेवार विपक्ष है क्योंकि प्रदेश में 16 वर्षों से NDA की सरकार है। जहाँ जल जमाव हो रहा है 35 वर्षों से वहाँ के जनप्रतिनिधि बीजेपी के विधायक, सांसद, मंत्री और उपमुख्यमंत्री रहे है। सनद रहे है इन क्षेत्रों के मतदाता सबसे अधिक शिक्षित है लेकिन जाति-धर्म को प्राथमिकता देते हैं।

swatva

Leave a Reply