11 जून : दरभंगा की मुख्य ख़बरें

0

डीएम ने योजनाओं को समय पर पूर्ण कराने का दिया निर्देश

दरभंगा : जिले में चल रहे सभी योजनाओं को समय पर पूरा करने का निदेश जिलाधिकारी डॉ. त्यागराजन एसएम ने सभी संबंधित विभागों के अभियंताओं को दिया।

उन्होंने कहा है कि निर्धारित समय पर योजनाओं का कार्य पूरा नहीं करने वाले संवेदको के विरूद्ध कठोर कार्रवाई की जायेगी। जिलाधिकारी कार्यालय प्रकोष्ठ में विकास योजनाओं की समीक्षा बैठक में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि ऐसा देखा जा रहा है कि वैसे संवेदक जिन्होंने पूर्व में निर्धारित समय में कार्यो को पूरा नहीं किया था। उन्हें वर्जित किया गया है पर उन्हें भी काम मिल रहा है। इस प्रवृत्ति पर पूर्ण रोक लगाई जाये।

इस बैठक में जिलाधिकारी द्वारा विभिन्न विभागों के कार्यपालक अभियंताओं के साथ उनके विभाग के कार्य प्रगति की समीक्षा की गयी। पथ निर्माण विभाग के कार्यपालक अभियंता द्वारा बताया गया कि दरभंगा जिला में ओपीआरएम(लांग टर्म आउटपुट एंड परफॉरमेंस बेस्ड रोड एसेट्स मेंटेनेंस कॉन्ट्रैक्ट) आधार पर सभी सड़कों का निर्माण कराया जा रहा है। ओपीआरएम के तहत कुल 22 सड़कों का कार्य चल रहा है। इसके तहत संवेदक को सड़कों का निर्माण करने के बाद उस सड़क का रख-रखाव भी सुनिश्चित करना होता है। बिहार सरकार द्वारा सड़क का निर्माण करने वाली एजेंसी पर जवाबदेही तय करने हेतु राज्य में यह प्रणाली लागू किया गया है।

जिलाधिकारी ने कार्यपालक अभियंता पथ को उक्त 22 पथों की सूची उपलब्ध कराने एवं प्रस्तावित सड़कों का निर्माण गुणवत्तापूर्ण कराने का निदेश दिया है। जिलाधिकारी ने प्रसिद्ध धार्मिक स्थल अहिल्यास्थान को जोड़ने वाले गौतम कुंड से अहिल्या स्थान एवं कमतौल से अहिल्यास्थान पथ को उच्च प्राथमिकता देकर मरम्मति कराने को कहा है। वहीं दरभंगा से बहेड़ी जाने वाली महत्वपूर्ण पथ के चौड़ीकरण का प्रस्ताव देने को भी कहा गया है। दोनार से बेनीपुर पथ जिसकी स्थिति ठीक नहीं बताई गई है की भी मरम्मति शीघ्र कराने को कहा गया।

जिलाधिकारी ने ग्रामीण कार्य प्रमण्डल के अभियंताओं को मुख्यमंत्री टोला सम्पर्क पथों को सर्वोच्च प्राथमिकता देकर पूरा करने का निदेश दिया है। समीक्षा में पाया गया कि 82 टोले सम्पर्क पथ से नहीं जुड़े है। जिलाधिकारी ने इन टोलों में शीघ्र सम्पर्क पथ बहाल करने को कहा है। उन्होंने बाढ़ के मद्देनजर सभी पथो का निरीक्षण कर इसके खराब भाग की मरम्मति बरसात के पूर्व करा लेने को कहा है।

बिहार राज्य पुल निर्माण निगम के अभियंता ने बताया कि भू-अर्जन मुआवजा का भुगतान को लेकर उनके दो योजनाओं में कार्य बाधित है। डीएम ने भू-अर्जन बकाया मुआवजे की भुगतान की कार्रवाई शीघ्र पूरा कर लेने का निदेश भू-अर्जन पदाधिकारी को दिया है।

लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण प्रमण्डल के कार्यपालक अभियंता ने बताया कि 358 वार्डों में हर घर-नल का जल की योजनाएँ क्रियान्वित की जानी है। इसमें 06 वार्ड में योनजाएँ पूरी हो गई है, 18 वार्डों में कार्य प्रगति में है। 57 वार्ड आर्सेनिक प्रभावित एवं 17 आयरन प्रभावित है। डीएम ने आर्सेनिक/आयरन प्रभावित वार्डो में नल-जल की योजना पहले पूरा करने को कहा है।

कार्यपालक अभियंता पीएचईडी को गैंग की संख्या बढ़ाकर पुराने खराब चापाकलों में सिलिंडर लगाकर तेजी से कनवर्जन कराने का निदेश दिया है। हनुमाननगर एवं पंचोभ पंचायतों में वाटर पाईप में बराबर लीकेज की समस्या रहती है। इस योजना के संवेदक को डिबार कराने का निदेश दिया गया।

कार्यपालक अभियंता जल संसाधन को शहरी सुरक्षा तटबंध, पश्चिमी कोशी तटंबधों पर विशेष चौकसी रखने को कहा है। तटबंधों की निगरानी एवं त्वरित कार्रवाई हेतु सहायक अभियंता/कनीय अभियंता का प्रतिनियुक्ति कर उसकी सूची जिला आपदा शाखा में भेजने का निदेश दिया गया।

भवन प्रमण्डल के कार्यपालक अभियंता ने बताया कि दरभंगा में एक तारामंडल के निर्माण की स्वीकृति मिल गई है। इसका निर्माण इसी माह में प्रारंभ हो जायेगा। इस योजना पर 78 करोड़ रूपया व्यय होंगे। उन्होंने बताया कि 07 प्रखण्डों में आईटी भवन बन गया है एवं शेष प्रखण्डों में कार्य चल रहा है। कार्यपालक अभियंता द्वारा बताया गया कि बाढ़ से बचाव हेतु 13 बाढ़ आश्रय स्थल(शरण स्थली) का निर्माण कराया जा रहा है। जिलाधिकारी ने बाढ़ आश्रय स्थल का निर्माण सुरक्षित एवं ऊँचे स्थल पर कराने को कहा है।

बिहार चिकित्सा सेवाएँ आधारभूत संरचना निगम(बीएमएसआईडी) के कार्यपालक अभियंता ने बताया कि डीएमसीएच में 01 ट्रॉमा सेन्टर का निर्माण किया जा रहा है। वहीं डीएमसीएच में ही एक आई बैक का निर्माण पूर्ण हो गया है।

एलएईओ. – 01 एवं 02 के अभियंताओं को 2016-17 एवं 2017-18 की अपूर्ण योजनाओं को पूर्ण कराने का निदेश दिया गया है। बिहार शैक्षणिक आधारभूत संरचना निगम के कार्यपालक अभियंता ने बताया कि दरभंगा जिला में 13 मॉडल स्कूल का निर्माण किया गया है। डी.एम. ने जिला शिक्षा पदाधिकारी, दरभंगा को उक्त सभी विद्यालयों की जाँच कर प्रतिवेदन देने को कहा है।

इस बैठक में अपर समाहर्त्ता विभूति रंजन चौधरी, उप विकास आयुक्त डॉ. कारी प्रसाद महतो, निदेशक डीआरडीए वसीम अहमद, सभी तकनीकी विभागों के कार्यपालक अभियंता सम्मिलित हुए लेकिन भवन निर्माण निगम के प्रभारी कार्यपालक अभियंता बैठक से अनुपस्थित पाये गये। जिलाधिकारी ने उनसे स्पष्टीकरण पूछने एवं उनके वेतन भुगतान पर रोक लगाने की कार्रवाई करने का निदेश दिया है।

डॉ शंकर कुमार लाल

Leave a Reply