चंपारण में टिड्डी दलों ने दी दस्तक़, जिला प्रशासन ने किसानों को किया सर्तक

0
swatva samachar

कृषि व वानिकी से संबंधित पदाधिकारी प्रभावित क्षेत्र में करें आवश्यक कार्रवाई

चंपारण : पश्चिमोत्तर भारत से किसानों की फसलों को बर्बाद करते हुए, टिड्डियों का दल अब उत्तर प्रदेश की सीमा से सटे चम्पारण के बेतिया एवं मोतिहारी जिले में पहुँच गए है। कोरोना संकट के बीच टिड्डी दल का हमला किसानों व सरकार की एक और परेशानी बढ़ा दी है। उत्तर प्रदेश की सीमा से सटे इलाक़े में टिड्डी दलों का हमला शुरू हो गया है,गोपालगंज व सिवान में भी टिड्डीदलों के हमलें की ख़बरें मिली है।

टिड्डीदलों के हमले को ले प्रशासन अलर्ट

टिड्डियों के प्रकोप को लेकर जिला प्रशासन ने कृषि विभाग को पूर्व में संबंधित पदाधिकारियों को सचेत कर दिया है। दोनों जिलों के प्रशासन ने आशंका व्यक्त किया था कि 27-28 जून 2020 को चम्पारण जिला में टिड्डियों का दल पहुँचेगा। उपर्युक्त निदेश के आलोक में कृषि विभाग के पदाधिकारी एवं कर्मी पूरी तरह से मुस्तैद रहें तथा प्रभावित होने वाले क्षेत्रों में सभी आवश्यक तैयारी कर ली गई।

बेतिया जिला कृषि पदाधिकारी विजय प्रकाश ने बताया है कि शनिवार को नरकटियागंज प्रखंड के चमुआ पंचायत में गन्ना के खेत में लगभग 500 टिड्डियों का दल पाया गया। परंतु वर्षा होने एवं ग्रामीणों केके शोर मचाने के उपरांत टिड्डियों का दल पूर्व दिशा की ओर मनवा परसी पंचायत होते हुए, गौनाहा प्रखंड की तरफ चला गया है। बगहा-01 प्रखंड के मझौआ एवं चन्द्राहा रूपवलिया पंचायत में देखा गया लेकिन वहां भी वर्षा होने के कारण टिड्डियों का दल वहां से भागने की खबर है। नरकटियागंज प्रखंड के साठी पंचायत के बरवा गांव में देखा गया।

पदाधिकारी कर रहे कैंप

बताया कि टिड्डियों का दल नौतन प्रखंड के मंगलपुर एवं शिवराजपुर में देखा गया, लेकिन वहां से मंगलपुर होते हुए पूर्व की दिशा में जाते देखे गये हैं, जो पूर्वी चम्पारण जिला की ओर जाता है। मधुबनी, भितहां प्रखंड में ज्यादा संख्या में देखा गया है। सहायक निदेशक, पौधा संरक्षण तथा अन्य पदाधिकारी कीटनाशक के साथ कैम्प किये हुए हैं। मधुबनी एवं भितहां प्रखंडों में फायर ब्रिगेड की गाड़ियां भी उपलब्ध करायी गयी है। आवश्यकता अनुसार रात में स्थिति को देखते हुए अग्रेत्तर कार्रवाई की जायेगी। जिला कृषि पदाधिकारी ने बताया कि सभी प्रभावित होने वाले पंचायतों सहित संबंधित अधिकारियों को सतर्क कर आवश्यक कार्रवाई करने को कहा गया है।

किसानों को किया गया सचेत

जिला पदाधिकारी कुंदन कुमार ने कहा कि इसके पूर्व बिहार में टिड्डियों के प्रवेश एवं प्रकोप की संभावनाओं से जिलावासियों को सतर्क कर दिया गया है। टिड्डी दल अपने मार्ग में आने वाले हरे पेड-पौधो, साग-सब्जियों एवं फसलों को खाकर भयंकर क्षति पहुंचाते हैं। इस टिड्डियों के संभावित प्रकोप से बचने के सभी उपाय ससमय कृषि विभाग ने लिया है। वहीं मोतिहारी जिला कृषि पदाधिकारी ने किसानों को सचेत करते हुए बचाव के लिए कृषि विभाग की टीम को बचाव की जिम्मेदारी सौंपी है।

swatva

Leave a Reply