चंपारण में 300 करोड़ की योजनाओं का आगाज, सीएम ने लोगों से फिर मांगा मौका

0
nitish kumar & sushil modi

प. चंपारण : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने आज शुक्रवार को पश्चिमी चंपारण में 300 करोड़ की कई योजनाओं का शिलान्यास व उद्घाटन किया। चार जिलों की यात्रा पर निकले सीएम आज सबसे पहले बेतिया के मैनाटांड़ पहुंचे जहां उन्होंने 300 करोड़ की योजनाओं का शिलान्यास और उद्घाटन करने के बाद एक जनसभा को संबोधित करते हुए लोगों से अगली बार फिर मौका देने का आग्रह किया। अपने भाषण में उन्होंने बिगड़ते जलवायु और पर्यावरण को लेकर चिंता जाहिर की

वीटीआर में इको टूरिज्म की हुई शुरुआत

nitish kumar

वीटीआर महकमा अब गंडक बराज के जलाशय में पर्यटकों को नौका विहार कराएगा। इसके लिए 22 सीटों वाली अत्याधुनिक मोटरवोट का उद्घाटन सीएम एवं डिप्टी सीएम ने किया। इसके साथ ही इन्डो नेपाल बाॅडर की हसीन वादियों में त्रिवेणी संगम तट पर इको टूरिज्म शुरू हो गया। इस बाबत डीएफओ गौरव ओझा ने बताया कि कुदरत की गोद में एक किलोमीटर का यह सफर पर्यटन को बढ़ावा देने में मील का पत्थर साबित होगा। पर्यटक मोटरवोट के सहारे वीटीआर के जंगल, जलीय जीव व प्रवासी पक्षियों को सहजता से न सिर्फ देख पाएंगे, बल्कि पर्यावरण की सुरक्षा में उनके योगदान को भी जान पाएंगे। टाईगर रिर्जव के वाल्मीकि नगर के जंगल में देशी, विदेशी पर्यटकों के साथ स्थानीय पर्यटक नौका बिहार का आनंद उठा सकेंगे। रंगबिरंगे पक्षियों के कलरव के साथ उनकी खूबसूरती भी पर्यटकों को आकर्षित करेगी।

गंडक नदी में होगा नौका विहार

टाईगर रिजर्व के अधिकारियों के लगातार प्रयास के बाद यह सपना हकीकत की धरातल पर उतरा है। यह नौका विहार गंडक बराज के जलाशय में प्राकृतिक मनोरम स्थल के बीच होगा । जिससे वन विभाग को दोहरी आय होगी। जीव जंतुओं को देखने के लिए देशी व विदेशी पर्यटक आयेंगे तो वन विभाग को अधिक से अधिक राजस्व की प्राप्ति होगी। बताते चलें कि वीटीआर को देखने के लिए बड़ी संख्या में देशी, विदेशी सैलानी वाल्मीकि नगर आते हैं। अब नौका विहार शुरू होते ही बड़ी संख्या में देसी व विदेशी पर्यटक इसका लाभ उठा पाएंगे।

वन अधिकारी भी रहेंगे साथ

नौका विहार के दौरान पर्यटकों के साथ वन अधिकारी भी रहेंगे जो सैलानियों को वीटीआर के जंगल, गंडक नदी के जलीय जीव एवं प्रवासी पक्षियों के बारे में जानकारी देंगे। उन्हें यह भी बताया जाएगा कि जीव-जंतुओं का पर्यावरण की सुरक्षा में क्या योगदान है। सरकार नौका विहार पर जोर दे रही है ऐसा इको टूरिज्म को बढ़ावा देने के लिए किया जा रहा है।
इस नौका विहार के लिए कम से कम छः पर्यटक का होना अनिवार्य है। वहीं अधिकतम 12 से 15 व्यक्ति। इसका किराया भी तय कर दिया गया है। इसका किराया 250 रुपये प्रति व्यक्ति और समय 45 मिनट होगा।

विभोर पांडेय

Leave a Reply