16 सितंबर : चंपारण की मुख्य ख़बरें

0
चंपारण की मुख्य ख़बरें

कल्याणपुर में 70 साधु संतों को किया गया सम्मानित

  • पीएम के 70 वें जन्म दिन को भाजपा कार्यकर्ताओं ने सेवा सप्ताह के रूप में मनाया

चंपारण : मोतिहारी, पीएम नरेंद्र मोदी के 70 वें जन्म दिन को भाजपा कार्यकर्ताओं ने सेवा सप्ताह के रूप में मनाया है। इसको लेकर कल्याणपुर विधान सभा क्षेत्र में भाजपा कार्यकर्ताओं ने 70 साधु संतों को सम्मानित किया। कोटवा व कल्याणपुर के दर्जनों गाव के मठ – मंदिर के साधु संतों को भाजपा कार्यकर्ता अंग वस्त्र देकर उन्हें सम्मानित किये। पीएम के जन्म दिन को विशेष रूप से यादगार बनाने के लिए पूरे देश के भाजपा नेता व कार्यकर्ता इस तरह से साधु-संतों का सम्मान कार्यक्रम चला रहे है। मौके पर अखिलेश कुमार, शशि रंजन सहनी, अर्जुन मुखिया, अशोक कुमार, भृगु पासवान आदि उपस्थित रहे ।

हिंदी और ऊर्दू दोनों सगी बहनें हैं, दोनों मिलकर हिन्दुस्तानी भाषा का करते हैं निर्माण

  • हिंदी दिवस पर सप्ताहिक कार्यक्रम का किया शुभारंभ

चंपारण : मोतिहारी, हिंदी दिवस के अवसर पर मुंशी सिंह महाविद्यालय के स्मार्ट क्लास रूम में”हिंदी दिवस सप्ताह”के आयोजन की शुरुआत हिंदी, संस्कृत,अंग्रेजी और ऊर्दू विभाग के संयुक्त तत्वावधान में हुई। यह आयोजन 20सितंबर तक चलेगा। इसका विषय है,”भाषा की संस्कृति और रोजगार की भाषा हिन्दी”।

महाविद्यालय के प्राचार्य और दलित साहित्य के विद्वान प्रो. (डॉ.) हरिनारायण ठाकुर ने कहा कि आज के ही दिन वर्ष 1949 ई.में संविधान सभा में हिंदी को राजभाषा का दर्जा दिया गया लेकिन भाषा सिर्फ भाषा नहीं होती, उसकी अपनी संस्कृति भी होती है। आज हिंदी हमारी बोलचाल, सोच विचार, आचार व्यवहार, शिक्षा, ज्ञान विज्ञान,बाज़ार, रोजगार और सपनों की भाषा है।

आज के सूचना संचार के तकनीकी युग में इसे विज्ञान और रोजगार से अधिक जोड़ने कि जरूरत है। हिंदी विभागाध्यक्ष प्रो.अरुण कुमार ने कहा कि हिंदी के सम्यक विकास में संतों और श्रमिकों का बहुमूल्य योगदान रहा है। संत कबीर,संत रविदास, सदना, रज्जब आदि ने हिंदी को गढ़ने में कोई कोर कसर नहीं छोड़ी हिंदी आज रोजगार की एक समर्थ भाषा के रूप में अपना कार्य कर रही है। विश्व बाजारवाद और ग्लोबल संस्कृति के दौर दौरा में हिंदी के महत्व का अपेक्षित विस्तार हुआ है। भारतीय हिंदी सिनेमा और भारतीय महान सेना ने इसे अंतरराष्ट्रीय धरातल पर प्रतिष्ठा दिलाई है।

अंग्रेजी विभागाध्यक्ष डॉ. इक़बाल हुसैन ने कहा कि हिंदी और ऊर्दू दोनों सगी बहनें हैं। दोनों मिलकर हिन्दुस्तानी भाषा का निर्माण करती हैं।इसी हिन्दुस्तानी की राह पर चलकर प्रेमचंद और दुष्यंत कुमार जन जन में लोकप्रिय हो सके थे।इस अवसर पर वाणिज्य विभाग के डॉ. सलाउद्दीन ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया।इस अवसर पर छात्रों की भी सराहनीय उपस्थिति रही। संस्कृत विभागाध्यक्ष डॉ.मनीष झा ने धन्यवाद ज्ञापन किया।

बेतिया के चार प्रमुख व बड़े स्कूलों में आवागमन की सुविधा के लिए निर्माण कार्य शुरू

चंपारण : बेतिया, बेतिया के चार प्रमुख व बड़े स्कूलों में आवागमन की सुविधा वाले दुर्गाबाग मंदिर, सर्किट हाउस मार्ग से के.आर. स्कूल तक पथ निर्माण का शुभारंभ मंगलवार को नगर परिषद की सभापति गरिमा देवी सिकारिया ने किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय अभियन्ता दिवस पर उपर्युक्त सड़क निर्माण कार्य प्रारंभ किया गया है। राष्ट्र के प्रख्यात विभूति व अभियन्ता एम.विश्वेश्वरैया की जयंती पर वर्षों से जर्जर पड़े, संकरे महत्वपूर्ण लिंक पथ के जीर्णोद्धार कार्य प्रारंभ कर “राष्ट्रीय अभियंता दिवस पर इसे यादगार बनाया जाएगा। इसके लिये उन्होंने अभियन्ता सुजय सुमन व उनकी इंजीनियरिंग टीम को बधाई दी।

सभापति ने कहा कि अभियंता दिवस विशेष दिन है, इसलिये और महत्वपूर्ण हो गया है कि ऐतिहासिक केआर स्कूल, संत जेवियर प्लस टू स्कूल, एजी मिशन चर्च हाईस्कूल एवं नोट्रेडम हाई स्कूल के विद्यार्थियों के लिये सिंगल लेन जर्जर सड़क वर्षों से परेशानी की सबब बनी रही। इस मार्ग की चौड़ाई कम होने एवं जर्जर होने के कारण स्कूल बसों व अन्य बड़े वाहनों के आने जाने में समस्या होती रही। सभापति ने बताया कि इस मार्ग के निर्माण से उपर्युक्त विद्यालय के साथ वन विभाग के प्रोजेक्ट डायरेक्टर, अनेक डीएफओ के कार्यालय, भंडार के अलावें भवन निर्माण विभाग के कार्यपालक अभियंता का कार्यालय भी इस मार्ग में है। लिंक होने से इससे संबंधित लोगों को आने जाने में समस्या अंत शीघ्र होगा।

सभापति श्रीमती सिकारिया ने बताया कि इस रोड का जीर्णोद्धार व दोहरीकरण किया जा रहा है। लगभग 22 फीट की चौड़ाई वाली इस रोड के नव निर्माण पर 1 करोड़ 47 लाख 13,042 की लागत को स्वीकृति दी गई है। चार दिन पूर्व ही पिता के देहावसान के शोक के बावजूद कार्यस्थल पर मौजूद नप से कनीय अभियन्ता सुजय सुमन की सभापति ने तारीफ की। इसके साथ ही कहा कि रोड के नव निर्माण प्राक्कलन व मानक स्वरूप करना सुनिश्चित करें। योजना की पूरी जानकारी से जुड़ा एक नोटिस बोर्ड कार्यस्थल पर संवेदक द्वारा लगवाना सुनिश्चित करें। नप सभापति ने कहा कि कोरोना काल में बंद पड़े स्कूलों का पठन पाठन अगले माह से शुरू होने की प्रबल संभावना है। इसको लेकर भी इस योजना के कार्य को पूरा करने में पूरी तत्परता बरतें। इस दौरान सभापति, कनीय अभियंता सुजय सुमन, पार्षद प्रतिनिधि अजय सरकार, संवेदक उपस्थित रहे।

अवधेश कुमार शर्मा

swatva

Leave a Reply