12 अगस्त : चंपारण की मुख्य ख़बरें

0
चंपारण की मुख्य ख़बरें

कॉलेज में शुल्क वृद्धि को लेकर एसएफआई ने आरएलएसवाई प्रचार्य का पुतला फूंका

चंपारण : बेतिया, जिला मुख्यालय बेतिया स्थित राम लखन सिंह यादव महाविद्यालय में इंटरमीडिएट में चल रहे नामांकन में शुल्क वृद्धि को लेकर “भारत का छात्र फ़ेडरेशन” (एसएफआई ) जिला इकाई बेतिया ने कॉलेज प्रचार्य राजेश्वर प्रसाद यादव का पुतला फूँक विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान कार्यकर्ताओं छात्रों ने प्राचार्य के विरोध में रोषपूर्ण नाराबाजी किया।

छात्र स्लोगन लिखे हाथों में तख्ती लेकर शुल्क वृद्धि वापस करो, कॉलेज प्रचार्य मुर्दाबाद का नारा लगता रहा। छात्रों को संबोधित करते हुए जिला संयोजक अभिमन्यु राव ने कहा कि कॉलेज प्रशासन दोगुना शुल्क वृद्धि कर हजारों छात्रों का कोरोना महामारी में दोहन कर रहा हैं। पश्चिम चंपारण जिला बढ़ते कोरोना की रफ्तार एवं बाढ़ के प्रहार से त्रस्त है। इसमे गरीब किसान के बच्चे ही अधिकतर पढ़ते हैं। इस परिस्थिति में अचानक दोगुना शुल्क बढ़ाकर 2400 , 2500 रुपये कर देना छात्रों के साथ नाइंसाफी है। कार्यक्रम का नेतृत्व करते हुए जिला सहसंयोजक सोनू चौबे ने कहा कि अगर कॉलेज प्रशासन बढ़ते शुल्क वृद्धि को तुरंत वापस नही लिया तो आने वाले समय मे छात्र संघ एसएफआई चरणबद्ध तरीके से आंदोलन के लिए बाध्य होगा। जिसकी सारी जिम्मेदारी कॉलेज प्रशासन की होगी। इस अवसर पर नीतीश कुमार, पुलकित चौबे, सन्नी खान, महफ़ूज किताब, सूरज कुमार, जितेन्द्र कुमार, शिवम, कुंदन, फ़िरोज, राशिद कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

अवधेश कुमार शर्मा

हर हाल में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराएं, बेवजह वाहन चलाने वालों को करें जुर्माना : डीएम

चंपारण : मोतिहारी डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने आज चकिया अनुमंडल के बाजार चौक में लॉकडाउन पालन कराने के लिए रोको टोको अभियान चलाया। इस दौरान जिलाधिकारी ने एसडीओ एवं डीएसपी को लॉकडाउन पालन कराने के लिए कई निर्देश दिए। कहा हर हाल में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाएं। बगैर मास्क के चलने वाले लोगों, दो पहिया वाहनों ,चार पहिया वाहनों से जो मोटर व्हीकल एक्ट का उल्लंघन कर रहे हैं, बिना हेलमेट के चल रहे हैं उनसे जुर्माने की राशि वसूल करें। केवल शहर में स्वास्थ्य कारणों से ही गाड़ियों का आना जाना होगा। शहर में गाड़ियों का जाम नहीं लगे इस बात का ध्यान रहे। आवश्यक वस्तुओं की आवाजाही के लिए गाड़ी चलती रहेगी।

चकिया में 60 बेड आइसोलेशन सेंटर का डीए ने किया उद्घाटन

डीएम एसके अशोक ने आज चकिया अनुमंडल अस्पताल स्थित 60 बेड वाले आइसोलेशन सेंटर डीसीएचसी का उद्घाटन किया। इस क्रम में वहां लगाए गए बेड ऑक्सीजन सिलेंडर, ऑक्सी पल्स मीटर एवं अन्य सुविधाओं का निरीक्षण किया। डीएम ने अनुमंडल के सभी वार्डो का किया मुआयना करते हुए डॉक्टरों को बेहतर स्वास्थ्य व्यवस्था मुकम्मल बनाए रखने का निर्देश दिया। वहां के एएनएम संस्थान में भी आइसोलेशन सेंटर के लिए सभी सुविधा युक्त ऑक्सीजन सिलेंडर, ऑक्सी पल्स मीटर एवं अन्य मेडिकल फैसिलिटी के साथ सिविल सर्जन को बेड लगाने का निर्देश दिया। डीएम ने एनआरसी का भी निरीक्षण कर उसे सभी सुविधा से लैश कर आइसोलेशन सेंटर में तब्दील करने के लिए अनुमंडलीय अस्पताल के डिप्टी सुपरिटेंडेंट को आवश्यक निर्देश दिया। वहीं नये आइसोलेशन सेंटर के लिए पारा मेडिकल स्टाफ देने का सिविल सर्जन एवं डीपीएम को आवश्यक निर्देश दिया।

राजन दत्त द्विवेदी

सिकरहना नदी के बरवा सेमरा घाट पर डूबने से दो बच्चों की मौत, गांव में मातम

  • नदी के कटाव के कारण बांध धंसने के कारण हुआ हादसा

चंपारण : बेतिया, मझौलिया प्रखंड के बरवा सेमरा घाट स्थित सिकरहना नदी के पास कल शाम खेल रहे दो बच्चों की नदी में डूबने से मौत हो गई। पंचायत के मुखिया अरविंद गिरी ने बताया दोनों लड़के ननिहाल सेमरा घाट गांव आए थे। मृत बच्चों की पहचान शमीम अंसारी के पांच वर्षीय पुत्र वारिस अली तथा दूसरा सिकटा प्रखंड के पुरैना सतगड़ही गांव निवासी सफी आलम के चार वर्षीय पुत्र गुलफान के रूप में हुई है।

दोनों लड़के अपने नाना के घर आकर बाहर बांध पर खेल रहे थे । तभी नदी के कटाव होने के कारण बांध के ध्वस्त होने से बच्चे नदी में डूब गए। बताते हैं कि कटाव स्थल पर गहराई होने के चलते दोनों ने डूबते ही दम तोड़ दिया। चीख पुकार सुनकर पहुंचे ग्रामीणों ने दोनों बालको के शव को बाहर निकाला। घटना की सूचना मझौलिया थाने की पुलिस को दी गई। थानाध्यक्ष कृष्णमुरारी गुप्ता ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए बेतिया भेज दिया। इस घटना के बाद पंचायत में मातमी सन्नाटा है। बताते है कि विगत जुलाई में उसी वार्ड नंबर सात में मनीष कुमार (7) वर्ष की डूबने से मौत हो गयी। इस गांव में सिकरहना नदी में डूबने से मौत की यह तीसरी घटना है।

अवधेश कुमार शर्मा

बाढ का पानी कम हुआ पर समस्याएं बढ़ी, सड़के ध्वस्त होने से आवागमन कठिन : गरिमादेवी

  • सभापति ने कहा, बाढ़ पीड़ितों को यथा संभव सभी करें सहयोग

चंपारण : बेतिया, बेतिया नगर परिषद की सभापति सह भाजपा नगर निकाय प्रकोष्ठ की प्रदेश सह प्रभारी गरिमादेवी सिकारिया ने कहा कि बाढ़ का पानी काफी हदतक निकल जाने के बाद भी मझौलिया अंचल क्षेत्र बाढ़ पीड़ित हजारों परिवारों की समस्याएं कम नहीं हुई हैं। विभिन्न पंचायत व गांवों में आई बाढ़ के प्रकोप से सड़के ध्वस्त है। बाढ़ग्रस्त क्षेत्र के गांव में बुजुर्ग, बच्चे व महिलाएं बीमार हो रही हैं, उन्हें बेहतर स्वास्थ्य सेवा की आवश्यकता है। कुछ सामाजिक, राजनीतिक क्षेत्र के लोगों ने संस्था व व्यक्तिगत तौर पर पीड़ितों को राहत मुहैया कराया। लेकिन, बाढ़ पीड़ितों के लिए वह पर्याप्त नहीं।

मझौलिया प्रखण्ड क्षेत्र के बाढ़ पीड़ित क्षेत्र परसा, गुदरा, बहुअरवा व महोदीपुर एवं डुमरी पंचायतों में बाढ़ पीड़ितों को गरिमादेवी ने व्यक्तिगत कोष से राहत मुहैया कराया। राहत सामग्री के वितरण का निरीक्षण करने व क्षेत्र भ्रमण कर बाढ़ जनित समस्याओं का अवलोकन कर इसकी जानकारी मीडिया से साझा की। कहा कि बाढ़ जैसी त्रासदी के बाद जरूरतमन्द परिवारों को बुनियादी सुविधाएं मुहैया कराने एवं समस्या के निदान में पंचायत व प्रशासन सहित सभी लोगों को आगे आना होगा।

इससे पूर्व नप सभापति के सौजन्य से उनके सहयोगी व पार्टी कार्यकर्ताओं ने मझौलिया के विभिन्न बाढ़ पीड़ित परिवारों में राहत सामग्री के वितरण चार दिन तक किया । कहा कि आसपास के क्षेत्र में बाढ़ जैसी आपदा से पीड़ित परिवारों के प्रति सहयोग व सहानुभूति समाज के एक एक सामाजिक राजनीतिक कार्यकर्ता की जिम्मेदारी है। बाढ़ पीड़ितों को राहत सामग्री वितरण में यूथ ब्रिगेड के अध्यक्ष रूपेश सिंह, भाजपा जिला मंत्री मनु बाबु कुशवाहा, सांसद के पूर्व प्रतिनिधि राकेश कुशवाहा, वरीय भाजपा नेता संजय सिंह, कन्हैया साह, सुरेश यादव , आशुतोष गुप्ता आदि वरीय भाजपा नेता व कार्यकर्ता शामिल रहे।

अवधेश कुमार शर्मा

बगैर निबंधन व एचएसआरपी नं. प्लेट के शोरूम के बाहर दिखी गाड़ियां तो होगी कार्रवाई : डीटीओ

चंपारण : बेतिया, बिना निबंधन व एचएसआरपी नम्बर प्लेट के शोरूम के बाहर दिखी गाड़ियां तो वाहन मालिक के साथ डीलर पर कार्रवाई की जाएगी। इसके तहत वाहन कंपनी के डीलर का रजिस्ट्रेशन भी निलंबित करने की कार्रवाई की जा सकती है। इस संबंध में बिहार के परिवहन सचिव ने सभी जिला परिवहन पदाधिकारी एवं एमवीआई को कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। उन्होंने डीटीओ और एमवीआई को यह सुनिश्चित कराने को कहा है कि किसी परिस्थिति में बिना नंबर की गाड़ियां शो रुम से बाहर सड़क पर नहीं निकले।

उपर्युक्त जानकारी राजेश कुमार सिंह जिला परिवहन पदाधिकारी पश्चिम चंपारण ने बताया कि13 अगस्त 2020 को सभी वाहन कंपनियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से वर्चचुअल बैठक भी की जाएगी। जिसमें डिफॉल्टर वाहन कंपनियों को अंतिम चेतावनी दी जाएगी। सुधार नहीं होने की सूरत में उनके रजिस्ट्रेशन पर रोक लगेगी। इस संबंध में स्पष्ट प्रावधान है कि वाहन विक्रेता अर्थात डीलर ही वाहन की डिलीवरी के समय एचएसआरपी एवं नंबर प्लेट सहित वाहन की आपूर्ति खरीदार को करे। सड़कों पर बिना नम्बर की चलने वाली गाड़ियों को विशेष अभियान चलाकर वाहन जब्त करने की कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने ने आम लोगों से भी अपील किया है कि कृपया बिना नंबर प्लेट लगे गाड़ी की डिलीवरी ना लें अन्यथा वाहन जब्त किया जा सकता है। सभी वाहनों पर हाई सिक्यूरिटी रजिस्ट्रेन प्लेट लगाना अनिवार्य है।

कंपनियों को प्रत्येक गाड़ी पर हाई सिक्युरिटी नंबर प्लेट वाहन कंपनियों/डीलरों को लगाना अनिवार्य है। ऐसा नहीं करने वाले डीलर को कानून का उल्लंघन एंव अपराध मानकर लाइसेन्स रद्द किया जाएगा। सड़क दुर्घटनाओं के बाद वाहन मालिक का सही से पता नहीं लग पाता है, शो रुम से बिना नंबर की गाड़ी निकलने की वजह से आए दिन अपराधी चोरी और अन्य अपराध की घटनाओं को भी अंजाम देते हैं। ऐसी स्थिति में बिना नंबर की गाड़ी निकाले जाने पर वाहन मालिक पर जुर्माना और वाहन जब्त करने के साथ डीलर का लाईसेंस रद्द करने की कार्रवाई की जाएगी।

उपर्युक्त कानून का उल्लंघन करने वालों के विरूद्ध व संबंधित जिलों के संबंधित पदाधिकारी जवाबदेह होंगे। मोटर अधिनियम 2019 की धारा 41 की उपधारा 6 में प्रावधान है कि जिस गाड़ी के रजिस्ट्रेशन के लिए आवेदन किया गया है तो डीलर वह वाहन स्वामी को तब तक नहीं दे सकता है, जब तक उस पर हाई सिक्यूरिटी नंबर प्लेट और नंबर नहीं हो। ऐसा नहीं होने पर डीलर पर 192 बी के तहत जुर्माना लगेगा। वहीं धारा 192 के तहत वाहन मालिक पर कार्रवाई की जाएगी।

अवधेश कुमार शर्मा

पुलिस गश्ती दल ने पीछा कर शराब कारोबारी को दबोचा

  • टैंपू पर लदे 150 लीटर देसी शराब को किया बरामद

चंपारण : मोतिहारी, जिला पुलिस अपराधियों की नकेल में लगाम लगानें निरंतर सफलता प्राप्त कर रही है। इस क्रम में शराब माफिया एवं उसके कारोबारियों पर पैनी नजर जमा रखी है। पुलिस को मिल रही सफलता की कड़ी में बंजरिया थाना की गश्तीदल ने खदेड़ कर एक शराब कारोबारी को दबोच लिया है। साथ ही टैंपो पर लदे भारी मात्रा में देसी शराब को भी बरामद किया है। बंजरिया थाना प्रभारी कृष्णा प्रसाद ने बताया कि अजय कुमार के नेतृत्व में गश्ती दल राष्ट्रीय उच्च पथ 28 पर गश्त कर रही थी।

पुलिस के सहायक अवर निरीक्षक अजय कुमार ने आज पाॅलिथिन में पैक 150 लीटर देसी शराब के साथ कारोबारी को पकड़ा। तभी चैलाहा टाल निवासी शकील अंसारी का पुत्र नयामुद्दीन अंसारी टैंपो लेकर तेज गति से भाग जा रहा था। जिसे गश्तीदल ने पीछा कर शंकर ढाबा के कुछ दूर आगे पकड़ा है।

नरकटियागंज में फ़र्ज़ी चिकित्सकों का अजीबोगरीब कारनामा, मौत का खेल जारी

चंपारण : बेतिया, पश्चिम चंपारण जिला के नरकटियागंज प्रखंड क्षेत्र स्थित केहूनिया पंचायत अंतर्गत रोआरी गांव की प्रभावती देवी पति मोती साह की अकाल मृत्यु बीते सोमवार को हो गई। इस मौत मामले में “नीम हकीम खतरे जान” वाली कहावत चरितार्थ हुई है। मृतका के ससुर भीखम साह ने किस्मत को कोसते हुए कहा कि प्रभावती के दो बच्चों को काफी कष्ट भविष्य में होगा। नगर परिषद नरकटियागंज स्थित झोला छाप चिकित्सकों के अवैध नर्सिंग होम ने प्रभावती की जान ले ली। सूत्रों ने बताया कि मोती-प्रभावती की पूर्व से दो संतान(पुत्र-पुत्री) है। उसने तीसरे अनचाहे गर्भ से मुक्ति की युक्ति को लेकर बिचौलियों की चंगुल में फंस गया, अंततोगत्वा पत्नी की जान से हाथ धोना पड़ गया।

रोआरी के जनप्रतिनिधियों ने बताया कि झोला छाप चिकित्सक का नाम जीतेन्द्र कुमार है, जिसका क्लिनिक नन्दपुर चौक नरकटियागंज में संचालित है। फिलहाल एफआईआर नहीं हो सका। इसके लिए चिकित्सक व परिजनों में वार्ता जारी है। प्रभावती का अन्तिम संस्कार सोमवार को नहीं किया जा सका। यदि कथित चिकित्सक के मुआवजा नहीं देने की सूरत में पोस्टमार्टम कराकर प्राथमिकी दर्ज कराये जाने पर सहमति बनी। कथित चिकित्सक मुहल्ला के सशक्त व्यक्ति के माध्यम से 50 हज़ार रूपये में मामला रफा दफा हुआ और तब जाकर मंगलवार को प्रभावती देवी का अन्तिम संस्कार किया गया।

अवधेश कुमार शर्मा

एनडीए ने केवल गुमराह किया, जनता की नजर अब थर्ड फ्रंट पर : माला ठाकुर

चंपारण : जनता दल राष्ट्रवादी बिहार महिला मोर्चा की प्रदेश अध्यक्ष माला ठाकुर ने कहा कि बिहार की जनता को अब केवल विकास और रोजगार चाहिए। वैश्विक बीमारी और लाॅकडाउन की वजह से दूसरे देश व प्रदेश से वापस आए लोगों की रोजी रोटी छीन गई है। यहां फैक्ट्री नहीं है, ताकि रोजगार मिले। स्वास्थ्य सेवा व्यवस्था से लेकर शिक्षा व्यवस्था तक चौपट है।

बिहार का विकास भ्रष्ट मंत्री, जनप्रतिनिधि व अफसर के पाॅकेट की भेंट चढती जा रही है। अब जनता की नजर बिहार ही नही पूरे देश में थर्ड फ्रंट की ओर टिकी है। जो, बिहार में विकास की क्रांति को फैला सकती है। और विकास की क्रांति के उद्ेश्य को हमारी पार्टी पूरा करेगी। जिसका संकल्प हमारे कार्यकर्ताओं ने भी लिया है। प्रदेश अध्यक्ष श्रीमती ठाकुर आज चंपारण के बाढ प्रभावित इलाकों में बाढ़ पीड़ित लोगों की स्थिति का जायजा लेने पहुंची थी। बताया कि बाढ पीड़ितों के साथ सरकार राहत के नाम पर मजाक कर रही है।

प्रभावित लोगों को दो चार दिन भोजन करा कर एवं थोड़ा चुड़ा -गुड़ बांट कर सरकार अपनी इती श्री कर रही है। जिनके घरों में रखेे अनाज, रूपये, सभी सामान बर्बाद हो गए, फसलें नष्ट हो गई। वैसे प्रभावित को महज कुछ राहत सामग्री देना छलावा नहीं तो क्या है। आज पढ़ लिखे युवा बेरोजगार हो गए हैं। अपराध बढते जा रहे हैं। चोरी, लूूट और हत्या की घटनाओं में इजाफा निरंतर जारी है। कर्मचारियों को भी वेतन समय पर नहीं मिल रहा है। शिक्षक भी बेहाल हैं। यानी एनडीए की बिहार में सरकार पूरी तरह से नाकारा सिद्ध हो गई है।

राजन दत्त द्विवेदी

swatva

Leave a Reply