दूसरे चरण में बिहार की पांच सीटों पर 58.5 फीसदी वोटिंग

0

पटना : लोकसभा चुनाव के दूसरे चरण में आज गुरुवार को बिहार की पांच सीटों—किशनगंज, कटिहार, पूर्णिया, भागलपुर और बांका में मतदान कुलमिलाकर शांतिपूर्ण रहा। मतदान सुबह सात बजे से शुरू हुआ और शाम छह बजे तक चला। चुनाव आयोग के अनुसार बिहार की पांच सीटों पर वोट बहिष्कार और बोगस मतदान के आरोपों के बीच 58.5 प्रतिशत वोटिंग हुई। दूसरे चरण में बिहार में कुल 68 प्रत्याशी चुनावी दंगल में ताल ठोक रहे हैं। कुछ जगहों से छिटपुट झड़प की भी सूचना है।

भागलपुर में मतदाताओं में काफी उत्साह देखा गया। पूर्णिया में 63 प्रतिशत, कटिहार में 62.5, बांका में 57, किशनगंज में 59 और भागलपुर में 51 प्रतिशत वोटिंग हुई है। किशनगंज में लोग सुबह 6 बजे से ही वोटिंग करने के लिए घरों से निकलकर मतदान केंद्र पहुंचने लगे। दिव्यांग एवं नि:शक्त मतदाताओं के लिए विशेष व्यवस्था की गई थी। शरीर से लाचार मतदाताओं को देखते ही स्काउट गाइड के छात्र व्हीलचेयर पर लेकर शहर के अंजुमन इस्लामिया मतदान केंद्र संख्या 205/207 की ओर ले जाते दिखे। कुछ मतदान केंद्रों में ईवीएम के तकनीकी खराबी के जानकारी है। कोचाधामन चकला पंचायत स्थित मध्य विद्यालय बूथ केन्द्र 213 पर तकनीकी खराबी में मतदान डेढ़ घंटे बाद शुरू हो पाया।
बांका में मध्य विद्यालय रामचुआ स्थित बूथ संख्या 59, 60 पर ग्रामीणों ने एसएसबी जवान द्वारा महिला वोटर के साथ छेड़छाड़ का आरोप लगाते हुए हंगामा किया गया। हालात बिगड़ते देख पुलिस ने हवाई फायरिंग की जिसके बाद ग्रामीणों एवं प्रशासन के बीच नोकझोंक की खबर है।
पूर्णिया लोकसभा क्षेत्र के कोढ़ा विधानसभा के फलका प्रखंड के बूथ संख्या 39 पर पोलिंग एजेंट के साथ पुलिसकर्मी ने मारपीट की। वहां थोड़ी देर के लिए मतदान बाधित हुआ। कटिहार नगर के लड़कनिया टोला मतदान केंद्र के समीप कांग्रेस के निशान वाली पर्चियां मतदाताओं को बांटने की सूचना मिली। कटिहार के प्राणपुर में वोटिंग के दौरान तीन ईवीएम मशीनें खराब हो गईं जिससे कुछ देर के लिए वोटिंग बाधित हुई।
दूसरे चरण के मतदान में करीब 86 लाख एक हजार मतदाताओं ने मताधिकार का प्रयोग किया। इनमें 45 लाख पुरुष और 40 लाख 80 हजार महिला मतदाता शामिल हैं। साथ ही 275 थर्ड जेंडर ने भी अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

swatva

Leave a Reply