विक्रमशिला पुल के समानांतर पुल बनने से आवागमन होगा सुगम, झारखंड से बढ़ेगी कनेक्टिविटी- चौबे

0

भाजपा नेता अर्जित चौबे ने केंद्र एवं बिहार सरकार का आभार व्यक्त किया

पटना: केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण राज्यमंत्री अश्विनी चौबे ने विक्रमशिला पुल के समानांतर पुल के लिए हरी झंडी मिलने पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि इससे आवागमन सुगम होगा। जाम की स्थिति से काफी हद तक निजात मिलेगी तथा झारखंड की कनेक्टिविटी और सुगम होगी।

केंद्रीय मंत्री अश्विनी कुमार चौबे एवं भाजयुमो राष्ट्रीय कार्यसमिति सदस्य व भागलपुर विधानसभा के पूर्व प्रत्याशी अर्जित चौबे ने केंद्र एवं बिहार सरकार का आभार व्यक्त किया है। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय ने भागलपुर में गंगा नदी पर विक्रमशिला सेतु के समानांतर फोरलेन पुल के निर्माण के लिए हरी झंडी दे दी है। लंबे समय से इसकी मांग की जा रही थी। चौबे लंबे समय से इसके लिए प्रयासरत थे। इस संबंध में उन्होंने केंद्रीय सड़क परिवहन राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी से मुलाकात कर इस संबंध में उनका ध्यान आकर्षित किया था।

भाजपा नेता अर्जित चौबे ने कहा कि पुल के निर्माण होने से झारखंड तक की कनेक्टिविटी बेहतर हो जाएगी। युवा नेता अर्जित चौबे ने पुल निर्माण की मंजूरी के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, केंद्रीय सड़क परिवहन राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी, मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और पथ निर्माण मंत्री, बिहार सरकार नंदकिशोर यादव का आभार व्यक्त किया।

चौबे ने कहा कि विकास के लिए समर्पित नरेंद्र मोदी सरकार की ये बिहार विशेषकर भागलपुर के लिए विशेष भेंट है जिससे उत्तर बिहार के सीमाँचल और झारखंड के लोगों को भी विशेष लाभ मिलेगा। केंद्र की मोदी सरकार और बिहार की नीतीश सरकार बिहार के विकास के लिए प्रतिबद्ध है। लगातार हो रहे विकास कार्यों की श्रृंखला की यह एक और कड़ी है जिसके लिए भागलपुर वासी इन दोनों का सदैव आभारी रहेंगे।

नवगछिया से भागलपुर होते हुए झारखंड की सीमा तक नया राष्ट्रीय राजमार्ग बनने से बड़ी संख्या में लोगों को राहत मिलेगी।

केंद्र सरकार ने नवगछिया-भागलपुर नया पथ एनएच-131(बी) के रूप में अधिसूचित कर दिया है। भागलपुर से हंसडीहा पथ को भी राष्ट्रीय राज मार्ग बनाया गया है। इस तरह नए फाेरलेन पुल के साथ ही नवगछिया से भागलपुर होते हुए झारखंड की सीमा तक नया राष्ट्रीय राजमार्ग बनेगा। इस पुल के बन जाने से राज्य के सीमांचल का झारखंड के साथ सड़क संपर्क तो सुगम होगा ही, पश्चिम बंगाल के साथ भी कनेक्टिविटी बढ़ेगी। पुल मंजूरी से लोगों में भी खुशी की लहर है। इससे कोसी-सीमांचल और पूर्व बिहार के जिलों को लाभ मिलेगा।

समानांतर पुल के निर्माण से विक्रमशिला पुल पर गाड़ियों का दबाव कम होगा। उसकी उम्र भी बढ़ेगी। विक्रमशिला पुल से खगड़िया, सहरसा, मधेपुरा, पूर्णिया, किशनगंज, अररिया, कटिहार, भागलपुर व बांका सहित झारखंड और बंगाल के रास्ते आने-जाने वाली गाड़ियों को जाम से राहत मिलेगी। जाम से भी मुक्ति मिलेगी।

swatva

Leave a Reply