भागलपुर-पीरपैंती 4 लेन के निर्माण की मंजूरी व नेशनल हाइवे 107 का होगा चौड़ीकरण: नंद किशोर

0

राष्ट्रीय उच्च पथ की लंबित समस्याओं का हुआ समाधान

पटना: बिहार के पथ निर्माण मंत्री नंद किशोर यादव ने कहा कि राज्य में राष्ट्रीय उच्च पथों की बेहतर स्थिति है। बरसात के मौसम में पथों के रख-रखाव का संबंधित पदाधिकारियों को निदेश दिया गया है। निर्माण, निविदा व भू-अर्जन से संबंधित कई समस्यायें हल हो गयी हैं।

उन्होंने कहा कि राज्य के विभिन्न भागों में पथ निर्माण विभाग के राष्ट्रीय उच्च पथ प्रभाग द्वारा प्रबंधित हो रहे सभी राष्ट्रीय उच्च पथों की स्थिति के समीक्षोपरान्त भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के पथों के नवनिर्माण एवं रख-रखाव के लिए प्राधिकरण के पदाधिकारियों द्वारा तत्परतापूर्वक यथोचित कदम उठाया जा रहा है।

बरसात में पथों का तत्परतापूर्वक हो रहा है रख-रखाव

कोरोना महामारी के कारण मार्च, अप्रैल एवं मई में पथों के संधारण में कुछ कठिनाईयां उत्पन्न हुईं लेकिन सभी पथों को दुरूस्त करने का काम जारी है। विभाग के राष्ट्रीय उच्च पथ प्रभाग द्वारा राज्य में कुल 2955 किलोमीटर राष्ट्रीय उच्च पथों का संधारण किया जाता है, जिसमें से 1744 किलोमीटर पथ की अद्यतन स्थिति अच्छी है, 1181 किलोमीटर पथ की स्थिति फेयर है, जिनमें से अधिकांश में निर्माण कार्य चल रहा है। निर्माण कार्य जारी रहने के कारण पथों का साधारण रख-रखाव सुनिश्चित किया जा रहा है।

हल हुई मुजफ्फरपुर बाईपास की समस्या

यादव ने बताया कि मुजफ्फरपुर बाइपास की समस्या पिछले कई वर्षों से लंबित थे, उसे हल कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि रजौली-बख्तियारपुर छभ्.31 के रख-रखाव के लिए निविदा जारी कर दी गयी है। 30 जून तक निविदा प्राप्त हो जायेगी और 01 जुलाई से कार्य आरंभ हो जायेगा। उल्लेखनीय है कि भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण इस पथ को 4 लेन चैड़ीकरण की योजना पर काम कर रहा है, जिसके लिए निविदा जारी की जा चुकी है। अगले महीने में निविदा निष्पादित होने के बाद 4 लेन चैड़ीकरण का कार्य प्रारंभ हो सकेगा।

नेशनल हाइवे-107 के खगड़िया-सहरसा-मधेपुरा-पूर्णिया पथ के 10 मीटर चौड़ीकरण की मंजूरी

उन्होंने बताया कि नेशनल हाइवे.107 में खगड़िया-सहरसा-मधेपुरा-पूर्णिया पथ का 10 मीटर चैड़ीकरण का कार्य मंजूर कर दिया गया है और इसके दोनों पैकेजों में कार्य जारी है। शुरूआती दौर में बाजार क्षेत्र में रख-रखाव में कठिनाई है, जो बरसात के कारण गड्ढे उत्पन्न हो गये हैं, उन्हें अभियान चलाकर भरकर आवागमन योग्य बनाया जा रहा है।

यादव ने बताया कि भागलपुर से पीरपैंती पथ संकीर्ण है, इस पर ट्रकों का बहुत अधिक दवाब रहता है एवं पथ का जीर्णोद्धार जारी है। इसके रख-रखाव की स्थिति चिन्ताजनक है, इसके स्थान पर नया 4 लेन पथ के निर्माण की स्वीकृति मिल चुकी है जिसके लिए भू-अर्जन का कार्य तेजी से जारी है।

भारतीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा शीघ्र ही इसका 4 लेन चौड़ीकरण की निविदा जारी होने की संभावना है। भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग मुख्यालय द्वारा नियमित रूप से पथों के संधारण की स्थिति की समीक्षा की जा रही है और जिन पथों में अतिरिक्त संसाधन दिये जाने की आवश्यकता है उसकी सतत पूर्ति की जा रही है। राज्य सरकार द्वारा समुचित सहयोग दिया जा रहा है।

swatva

Leave a Reply