12 मई : बाढ़ की मुख्य ख़बरें

0
30 जुलाई : जुलाई बाढ़ की मुख्य ख़बरें24 जुलाई : बाढ़ की मुख्य ख़बरें21 जुलाई : बाढ़ की मुख्य ख़बरें8 जुलाई : बाढ़ की मुख्य ख़बरें6 जुलाई : बाढ़ की मुख्य ख़बरें4 जुलाई : बाढ़ की मुख्य ख़बरें28 जून : बाढ़ की मुख्य ख़बरें

कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या में इजाफा से बढ़ी प्रशासन की मुश्किलें

बाढ़ : पटना जिला के ग्रामीण क्षेत्र में पीछले तीन दिनों से कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या में इजाफा होने से जिला प्रशासन की मुश्किलें बढ़ा दिया है और इसी कारण अनुमंडल प्रशासन ने कड़ी कार्रवाई करते हुए मंगलबार की सुबह करीब 10 बजे सदर बाजार चौक के गणेश मार्केट से गोपीनाथ मंदिर तक मुख्य मार्ग को सील कराए जाने के साथ ही इसके आसपास की दुकानों को लॉकडाउन अवधि तक बंद रखने। इसके दो दिन पूर्व अनुमंडल प्रशासन ने सख्त कार्रवाई करते हुए दवा दुकानों को छोड़कर रेलवे स्टेशन व स्टेशन के मुख्यमार्ग को सील कराये जाने के साथ ही स्टेशन बाजार की सभी दुकानें लॉकडाउन तक बंद रखने का आदेश दिया है।

एसडीओ सुमित कुमार ने लोगों से खुद अपील किया कि देशव्यापी जारी लॉकडाउन नियमों का पालन करें और सोशल डिस्टेंस का पालन करें तथा लोग अपने-अपने घरों में सुरक्षित रहें।उन्होंने कहा कि जिन्हें काफी जरूरी काम हो वो लोग ही घरों से निकलें। एसडीओ सुमित कुमार,अपर एसडीओ मो इमरान,सीओ शिवाजी सिंह,वीडियो अमरेंद्र कुमार सिन्हा एवं थानाध्यक्ष संजीत कुमार सहित अन्य सरकारीकर्मियों द्वारा पूरे अनुमंडल में सघन निरीक्षण करते हुये आवश्यक कार्रवाई किया गया। फ़िलहाल पूरे अनुमंडल मुख्यालय क्षेत्रों में सन्नाटा रहने के साथ ही लोगों में भय का माहौल भी कायम है। अनुमंडल प्रशासन ने कृषि बाजार समिति के दुकानों को तो एक सप्ताह पूर्व ही बंद करबा दिया था। स्टेशन बाजार का ‘भवानी- चौक’ जो कल तक सब्जी मंडी के नाम पर गुलजार थी, वहां आज सन्नाटा पसरा हुआ है।

लॉकडाउन रहने के कारण सभी धार्मिक एवं सामाजिक सार्वजनिक स्थलों पर वीरानगी छाया हुआ है। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस से लोगों को सुरक्षित रखने के लिये बाजार में वेबजह होने वाली भीड़ को रोकने एवं सोशल डिस्टेंस का पालन किये जाने लिये सदर बाजार एवं स्टेशन परिसर को भी पूरी तरह सील किया गया है।ज्ञात हो कि कि पिछले तीन दिनों में बाढ़ अनुमंडल में 11कोरोना पोजेटिव मरीज पाये जाने से अनुमंडल हॉट स्पॉट बन गया है। क्वारेंटाइन सेंटर में भी हंगामा मचा हुआ है। अनुमंडल के पंडारक प्रखण्ड मुख्यालय में बनाये गये क्वारेंटाइन सेंटर में कोरेंटीन लोगों ने ब्यवस्था पर सबाल खड़ा करते हुये चाय,नास्ता,खाना और अन्य जरूरी सामान और उपचार नही कराये जाने पर जोरदार हंगामा किया।

एक दिन पूर्व पंडारक के ढीबर हाई स्कूल करते क्वारंटाइन केंद्र का वीडियो वायरल हुआ था। पटना जिला के बाढ़ अनुमंडल में कुल 14 की संख्या में को क्वारंटाइन सेंटर बनाये गये हैं, जिसमें ढीबर हाई स्कूल में बने कोरोंटाइन सेंटर का भी एक वीडियो वायरल हुआ है। जिसमें वहां क्वारंटाइन होने बाले प्रवासियों ने भी व्यवस्था पर सबाल खड़ा करते हुये चाय,नाश्ता ,भोजन-पानी के लिये हंगामा करते दीख रहे हैं। एक ओर राज्य में कोरोना संक्रमण को बढ़ते देख चिंता जाहिर करते हुयेअपने आला अधिकारियों के साथ मुख्यमंत्री नीतीश कुमार राज्य में लॉकडाउन की अवधि बढ़ाने एवं घर-घर को सैनिटाइज करने और क्वारंटाइन सेंटरों में लोगों को जरूरी सेवा प्रदान करने के अलावे अन्य सभी असहाय गरीबों को जरूरी मदद करने के लिए ताबड़-तोड़ बैठक कर आवश्यक निर्देश दे रहे हैं।

लॉकडाउन के तहत सरकार द्वारा सर्वोत्तम व्यवस्था की आश्वासन का पोल मंगलबार को पंडारक क्वारंटाइन सेंटर के लोगों के हंगामा करते एवं एक दिन पूर्व ढीबर हाई स्कूल के क्वारंटाइन लोगों के वायरल हुये वीडियो में खोलते नजर आ रहे हैं। हालांकि एक दिन पूर्व ढीबर हाई स्कूल कोरेंटिन सेंटर की बायरल वीडियो का पुष्टि नही करते हैं,पर पंडारक क्वारंटाइन सेंटर पर हंगामा होने की सूचना मिलते ही हमने खबर बनायी। वीडियो में जो दिख रहा है, उसे नकारा भी नहीं जा सकता है। यदि यह सच है तो यह भी सच है कि सरकार द्वारा अपनी लचर ब्यवस्था एवं अपनी कमजोरी को छिपाने के लिये कोरनटाइन सेंटर में मीडिया को जाने पर बिहार के कई क्षेत्रों में प्रतिबंध लगाया गया है l

बाढ़ से सत्यनारायण चतुर्वेदी की रिपोर्ट

swatva

Leave a Reply