बौंसी में पोस्टमार्टम को लेकर विवाद के बाद थाने का घेराव

0

अररिया : पिछले माह बौंसी थाना क्षेत्र की गुणवंती पंचायत के वार्ड संख्या 5 में जमीन विवाद में हुई दो गुटों के बीच मारपीट की घटना में गंभीर रूप से घायल गुणवंती निवासी झमेली साह की पत्नी सरस्वती देवी की कल देर रात को मौत हो गयी। इसके बाद मृतका के परिजनों का गुस्सा फूट पड़ा। परिजन पोस्टमार्टम कराने के लिये बुधवार को पहले शव के साथ बौंसी थाना पहुंचे। बौंसी पुलिस ने शव का अंतिम संस्कार करने की बात कही। लेकिन परिजन पोस्टमार्टम कराने पर अड़ गए।
परिजनों ने बताया कि जब शव को लेकर बौंसी थाना आये तो थाना प्रभारी ने कहा कि अररिया अस्पताल जाओ, वहीं पोस्टमार्टम होगा। जब अररिया अस्पताल पहुंचे तो वहां पर बिना पुलिस के आदेश के पोस्टमार्टम नहीं किया गया। फिर शव को लेकर एसपी के आवास के समीप पहुंचे। वहां भी कोई बात नहीं सुनी गयी। तब फिर शव को लेकर परिजन थाना आ गए और बौंसी थाना परिसर में जमकर हंगामा किया। फिर थाना के आगे शव को ऑटो में सड़क पर रखकर कुछ देर के लिये सड़क जाम कर प्रदर्शन किया। मृतक के परिजनों का कहना था कि बौंसी पुलिस उनके साथ मारपीट करने वालों पर कोई कार्रवाई नहीं कर रही है। वे सब खुलेआम घूम रहे हैं। मृतका के पति ने बताया कि उनकी पत्नी को मारपीट कर जान से मार दिया गया। बौसीं थाना परिसर में काफी हंगामा होने के बाद थानाध्यक्ष ने मारपीट करने वालों पर उचित कानूनी कार्रवाई करने का आश्वासन दिया जिसके बाद परिजन माने और शव को अपने घर लेकर आये।

क्या है मामला

गुणवंती निवासी झमेली साह का पड़ोस के ही संतोष साह, भोला साह आदि से बसोबास की जमीन को लेकर विवाद चल रहा था। इसी बीच 11 अप्रैल की रात को करीब दस बजे दोनों पक्षों में जमकर मारपीट हुई। मामले को लेकर दोनों पक्षों ने बौंसी थाना में मामला दर्ज कराया था। झमेली साह ने संतोष साह, मिट्ठू साह, लवकुश साह, भोला साह, दिनेश साह, सिकन्दर साह, आनंदी साह आदि को आरोपी बनाया था। वहीं मृतका के पति झमेली साह ने बौसीं पुलिस पर एकतरफा कार्रवाई का आरोप लगाते हुए कहा कि उनलोगों ने उसकी पत्नी का हाथ तोड़ दिया। उसके बाद हम सभी पत्नी का इलाज के लिये अररिया, पूर्णिया दौड़ते रहे और पत्नी की मौत भी हो गयी। तब भी पुलिस कुछ नहीं कर रही है। परिजनों का आरोप था कि घटना के एक महीने हो गये लेकिन पुलिस मारपीट करने वालों पर कोई कार्रवाई नहीं की है।
संजीव कुमार झा

Leave a Reply