18 मई : अररिया की मुख्य ख़बरें

0

शराब माफियाओं का मनोबल चरम पर

अररिया : नरपतगंज के फुलकाहा थाना अंतर्गत अंचरा पंचायत के वार्ड संख्या पांच में गुप्त सूचना के आधार पर छापेमारी करने गई पुलिस टीम पर हमला किया जाना बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है।

नरपतगंज प्रखंड से सटे सीमावर्ती क्षेत्र में इन दिनों शराब माफियाओं का साम्राज्य स्थापित होने लगा है। आए दिनों पुलिस द्वारा इन पर नकेल कसी जाती है और बड़ी मात्रा में शराब पकड़ी भी जाती है। इसके बावजूद भी शराब तस्करी के धंधे में तस्कर कानून को अपने हाथों में लेने से बाज नहीं आ रहे हैं। महज दो साल पूर्व शराब माफियाओं का विरोध करने पर पोसदाहा मुखिया सुशीला देवी को तस्करों ने गोली मारकर जख्मी कर दिया था। फुलकाहा के तत्कालीन थानाध्यक्ष श्यामनंदन यादव पर भी तस्करों ने हमला किया था। बताते चले कि इन दिनों फुलकाहा थाना क्षेत्र के मानिकपुर, अचरा, मिर्जापुर, पोसदाहा, मधुरा आदि पंचायतों के सैकड़ों युवक शराब तस्करी के धंधे में संलिप्त हैं। हालांकि पुलिस लगातार इन गांव में छापेमारी अभियान चलाकर तस्कर को गिरफ्तार कर जेल भी भेज रहे हैं। इसके बावजूद भी शराब तस्करों के हौसले कम नहीं हो रहे हैं।

होमवर्क पूरा नहीं करने पर बेहरमी से की पिटाई

अररिया : सीमांचल पब्लिक स्कूल, रानीगंज के कक्षा दो के एक छात्र को स्कूल का होमवर्क को पूरा नहीं करना मंहगा पड़ गया। इस बात को लेकर स्कूल के शिक्षक मिन्नत ने छात्र की जमकर पिटाई कर दी।

मामले को लेकर रानीगंज के अंसारी टोला निवासी मतीन अंसारी ने बताया कि मेरा पुत्र पिछले दो साल से सीमांचल पब्लिक स्कूल में पढ़ता है।जब मेरा पुत्र अशरफ रेहान स्कूल से घर आया तो आते जोर जोर से रोने लगा। उसके पूरे शरीर पर चोट के गंभीर निशान थे। आननफानन में बच्चे को इलाज के लिए अररिया ले गया।

अररिया में डॉक्टर से इलाज करवाकर घर लाया फिर भी बच्चे का पूरा शरीर चोट से फूल गया है। वहीं पीड़ित छात्र असरफ रेहान ने अपना जख्म दिखाते हुए कहा कि क्लास में मिन्नत सर आये और बोले कि रूटिंग और होमवर्क नहीं किये हो और पहले करची से खूब पीटा। उसके बाद बांस की बत्ती से मारने लगे। बच्चे के पीठ से लेकर पैर तक में दर्जनों जगहों पर चोट के गंभीर निशान बन गए हैं। वहीं बच्चे को देखने के लिए लोगों की भीड़ जुट गयी। मामले को लेकर बच्चे के पिता मतीन अंसारी ने रानीगंज थाना में आवेदन दिया है।

इधर मामले को लेकर सीमांचल स्कूल के शिक्षक मिन्नत ने बताया कि बच्चे को सिर्फ डराया गया है। पीटने की बात से उन्होंने इंकार किया। वहीं मामले को लेकर रानीगंज थानाध्यक्ष शंभु कुमार ने बताया कि छात्र के पिता के द्वारा आवेदन दिया गया है। मामले की छानबीन की जा रही है।

संजीव कुमार झा

 

Leave a Reply