23 जून : आरा की मुख्य ख़बरें

0
आरा की मुख्य ख़बरें

 डॉ. मुखर्जी ने रखी भव्य भारत की आधारशिला – भारतभूषण

आरा : स्वतंत्र भारत के पहले उद्योग एवं वाणिज्य मंत्री तथा भारतीय जनसंघ के संस्थापक अध्यक्ष अमर शहीद डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी के बलिदान-दिवस पर अखिल भारतीय जनसंघ की जिला इकाई द्वारा फ्रेण्ड्स कॉलोनी कार्यालय में कार्यक्रम आयोजित किया गया जिसकी अध्यक्षता जिलाध्यक्ष अखिलेश्वरनाथ तिवारी अधिवक्ता ने की। आरम्भ में सभी सदस्यों ने डॉ. श्यामाप्रसाद मुखर्जी, पं. दीनदयाल उपाध्याय और प्रो. बलराज मधोक के चित्र पर माल्यार्पण किया तथा पुष्पांजलि समर्पित की।

कार्यक्रम में बतौर मुख्य-वक्ता बोलते हुए जनसंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष आचार्य (डॉ.) भारतभूषण पाण्डेय ने कहा कि डॉ. मुखर्जी ने भारतीय राजनीति का अपने त्याग और बलिदान से श्रृंगार किया।वे महान् शिक्षाविद् और समाजसेवी थे। तैंतीस वर्ष की अल्पायु में कलकत्ता विश्वविद्यालय के कुलपति बनाये गये थे। एकीकृत बंगाल के वित्तमंत्री तथा बाद में संविधान सभा के सदस्य के रूप में उनका अविस्मरणीय योगदान है। जनसंघ अध्यक्ष ने कहा कि कांग्रेस के नेता जब जेलों में बंद थे उस समय डॉ. मुखर्जी ने राष्ट्रवादी जनता का नेतृत्व किया और कैबिनेट मिशन के समक्ष भारत का पक्ष रखा।

swatva

डॉ. मुखर्जी ने आधे बंगाल और आधे पंजाब को पाकिस्तान जाने से बचा लिया। उन्होंने देश के लिए कलकत्ता विश्वविद्यालय के कुलपति के पद से, बंगाल के वित्तमंत्री तथा भारत सरकार के कैबिनेट मंत्री के पद से न केवल त्यागपत्र दिया बल्कि देश की एकता-अखण्डता और कश्मीर की रक्षा के लिए भारतमाता की बलिवेदी पर आत्मोत्सर्ग कर दिया। जनसंघ उनके संकल्पों और आदर्शों के अनुरूप राजनीतिक वातावरण के निर्माण में तत्पर है। जनसंघ अध्यक्ष ने कहा कि डॉ. मुखर्जी के बलिदान के प्रभाव से आज भारतवर्ष की सत्ता, संस्कृति तथा समाज का अभिनव रंग हो गया है और वनवासी परिवार की मातृशक्ति द्रौपदी मुर्मू राष्ट्रपति भवन को सुशोभित करनेवाली हैं।

देश और लोकतन्त्र के इस विकास का जनसंघ स्वागत करता है।आचार्य पाण्डेय ने कहा कि जनसंघ के विचारों का राजनीति पर गहरा असर दिख रहा है किन्तु इसे चुनावी प्रभाव में बदलना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि जनसंघ को सशक्त बनाना ही डॉ. मुखर्जी के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि है क्योंकि यही उनका एकमात्र जीवित स्मारक है। अध्यक्षीय भाषण में अखिलेश्वरनाथ तिवारी ने कहा कि जनसंघ पूरे देश में सक्रिय है और परिस्थितियाँ इसके अनुकूल बन रही हैं।डॉ. सत्यनारायण उपाध्याय ने कहा कि जिस दिन योग्यता, ईमानदारी और देशभक्ति के आधार पर चुनावी सफलता मिलने लगेगी उस दिन जनसंघ के कार्यकर्ता विजयी होंगे।

प्रदेश मंत्री ब्रजकिशोर पाण्डेय ने विरोध व प्रदर्शनों के नाम पर सार्वजनिक सम्पत्ति और अराजकता फैलाने की कड़ी निन्दा करते हुए ऐसे तत्त्वों को चिह्नित तथा दण्डित करने की माँग की।स्वागत भाषण विश्वनाथ दूबे, संचालन सुरेन्द्र कुमार मिश्र तथा धन्यवाद ज्ञापन सत्येन्द्र नारायण सिंह ने किया।वक्ताओं में निलेश, कुमार सौरभ, ध्रुव कुमार सिंह, मधेश्वर नाथ पाण्डेय,सियाराम दूबे, उमेश सिंह कुशवाहा आदि प्रमुख थे।

पहली पत्नी को छोड़ प्रेमिका से कर रहा था शादी, पटना वाली ने मचाया बवाल

आरा : भोजपुर जिला मुख्यालय आरा के बिहिया स्थित मह्थीन दाई मंदिर में शादी कर रहे एक युवक को पटना पुलिस उस युवक की पहली पत्नी की शिकायत पर गिरफ्तार कर पटना ले गयी| भोजपुर जिला के शाहपुर थानान्तर्गत मिश्रवलिया गाँव के राजकिशोर पासवान का पुत्र जीतू पासवान ने पटना जिला के बेउर थानान्तर्गत बेउर गांव की रहने वाली द्वारिका पासवान की बेटी ललिता कुमारी से साल 2013 में प्रेम विवाह किया था|

शादी के बाद दोनों पटना के बोरिंग रोड में किराए के मकान में रह रहे थे| तीन साल तक साथ रहने के बाद जीतू पासवान अचानक पत्नी को छोड़कर भाग गया| काफी खोजबीन के बाद भी जब उसका पता नहीं चल पाया तो ललिता कुमारी ने अपने पति जीतू पासवान के खिलाफ गर्दनीबाग स्थित महिला थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी थी। इसी बीच ललिता कुमारी को सूचना मिली कि उसका पति जीतू पासवान भोजपुर जिला के बिहिया थानान्तर्गत बिहिया स्थित मह्थीन दाई मंदिर में किसी लड़की से दूसरी शादी कर रहा है|

ललिता कुमारी पटना पुलिस के साथ मह्थीन दाई मंदिर पहुंची और दूसरी शादी कर रहे युवक को अपना पति बताया तथा जमकर हंगामा किया| ललिता कुमारी ने बताया कि जीतू पासवान ने उससे प्रेम बिवाह किया था पर तीन साल साथ रहने के बाद वह उसे छोड़कर भाग गया| उसने अपने पति की काफी तलाश की पर कुछ पता नहीं चला तो उसने महिला थाने पटना में प्राथमिकी भी दर्ज़ करे| इसी बीच उसे पता चला कि जीतू पासवान दूसरी शादी कर रहा है तो वह पुलिस को लेकर यहाँ आई|

इस दौरान दूल्हा और दुल्हन पक्ष के लोग पुलिस से भीड़ गए। बाद में पुलिस कई महिलाओं और युवक को लेकर बिहिया थाने पहुंची, जहां युवक को गिरफ्तार करने के बाद अन्य सभी लोगों को छोड़ दिया। पटना पुलिस दूल्हे को अपने साथ लेकर चली गई।

सम्राट् अशोक भवन बना नहीं लाखो रुपये का निकासी हो गयी : भाई दिनेश

आरा : भोजपुर जिला के जगदीशपुर विधानसभा से पूर्व बिधायक दिनेश कुमार यादव उर्फ़ भाई दिनेश ने कहा कि 10 दिन पहले उन्होंने सचिव नगर विकास विभाग बिहार सरकार को सूचना दी थी कि भोजपुर जिला अंतर्गत जगदीशपुर नगर पंचायत मे सरकार की जो महत्वकांक्षी योजना हर नगर पंचायत, नगर परिषद, नगर निगम मे सम्राट अशोक भवन का निर्माण लगभग एक करोड की लागत से करना है l

1857 स्वतंत्रता आंदोलन के महान योद्धा वीर कूवर सिह की जन्म भूमि जगदीशपुर नगर पंचायत जो बहुत पुराने नगर पंचायत है वहा सम्राट अशोक भवन का निर्माण हुआ ही नही और सम्राट अशोक भवन निर्माण दिखा कर करीब 70- 80 लाख रुपये निकाल लिया गया है यह घोर वितीय अनियमितता हैl भाई दिनेश ने कहा की जगदीशपुर नगर पंचायत में लगभग 25 करोड से अधिक की अबैध निकासी, एक ही योजना का नाम बदल कर दो तीन बार पैसा की निकासी, बुढा-बूढ़ी पेंशन की अबैध निकासी जिसकी जाच होने पर सही पाया गया है, प्राक्कलन घोटाला हुआ है।

जगदीशपुर अनुमंडल प्रशासन, भोजपुर जिला प्रशासन, नगर विकास विभाग बिहार सरकार द्वरा अभी तक विशेष निगरानी टीम भेज कर जॉच नहीं करवाना घोर निंदनीय है। भाई दिनेश ने कहा कि क्या नगर विकास विभाग जगदीशपुर नगर पंचायत में विधि ब्यवस्था उत्पन्न हो इसका इंतज़ार कर रहा है?

राजीव एन अग्रवाल की रिपोर्ट 

Leave a Reply