प्रकाश पर्व मनाकर बिहार से पंजाब लौट रहे श्रद्धालुओं की पिटाई

0

आरा : भोजपुर जिला के आरा-सासाराम स्टेट हाईवे पर चरपोखरी थानान्तर्गत ध्यानी टोला गांव के समीप रविवार की दोपहर चंदा देने का विरोध करने पर प्रकाश पर्व से लौट रहे श्रद्धालुओं की जमकर पिटाई कर दी गई जिसमें आधा दर्जन श्रद्धालु जख्मी हो गए। जख्मी श्रद्धालुओं का ईलाज चरपोखरी पीएचसी में कराया गया। सभी श्रद्धालु पंजाब के मोहाली निवासी बताए जा रहे हैं।

जख्मियो में पंजाब के चंडीगढ़ निवासी अमरीक सिंह का पुत्र बिरेन्द्र सिंह, हरनेक सिंह का पुत्र मनप्रीत सिंह व पंजाब के मोहाली निवासी राज सिंह का पुत्र हरप्रीत सिंह, कमलजीत सिंह का पुत्र हरप्रीत सिंह, हाजरा सिंह का पुत्र बलबीर सिंह, ज्ञान सिंह का पुत्र जसवीर सिंह एवं सरदार मेवा सिंह का पुत्र व ट्रक चालक तजिंदर सिंह शामिल है।

swatva

सभी श्रद्धालु गुरु गोविंद सिंह के प्रकाश पर्व पर शामिल होने बिहार की राजधानी पटना आए थे। प्रकाश पर्व में शामिल होकर पटना से ट्रक पर सवार होकर वापस पंजाब लौट रहे रहे थे। इसी बीच भोजपुर जिला के चरपोखरी थानान्तर्गत ध्यानी टोला गांव के समीप गांव में हो रहे यज्ञ को लेकर कुछ युवकों ने उनका ट्रक रोक कर उनसे चंदा माँगने लगे। जब उन्होंने इसका विरोध किया तो युवकों आधा दर्जन श्रद्धालुओं की जमकर पिटाई कर दी गई। जिससे सभी जख्मी हो गए।

पीरो एसडीपीओ राहुल सिंह ने बताया कि सभी श्रद्धालु पंजाब से बिहार के पटना में प्रकाश पर्व में शामिल होने आए थे। जब वह ट्रक से वापस पंजाब लौट रहे थे तभी ध्यानी टोला गांव के समीप चंदा काट रहे उक्त युवकों द्वारा चंदा नहीं देने के विरोध पर उनकी पिटाई कर दी गई। पुलिस इस मामले की छानबीन कर रही। सूत्रों की माने तो पुलिस ने इस मामले में भी यज्ञ समिति के अध्यक्ष को हिरासत में ले लिया। उससे पूछताछ की जाए।

बताया जाता है कि प्रकाश पर्व संपन्‍न होने के बाद सभी सिख संगत पटना से ट्रक पर सवार होकर सडक के रास्ते पंजाब लौट रहे थे। ट्रक पर कुल 20 महिलाएं व 40 पुरुष सवार थे। भोजपुर जिले में आरा-सासाराम पथ पर चरपोखरी थानान्तर्गत ध्यानी टोला के पास चंदा वसूला जा रहा था। जहां तीन-चार दर्जन लोग मौजूद थे। जो यज्ञ के नाम पर चंदा वसूली कर रहे थे। इस दौरान सिख संगत की गाड़ी पहुंची तो उसे भी चंदा के लिए रोका गया। ट्रक के चालक पिजेंद्र से चंदा मांगा। इसके बाद ही विवाद शुरू हो गया।

राजीव एन० अग्रवाल की रिपोर्ट

Leave a Reply