25 नवंबर : आरा की मुख्य खबरें

0
आरा की मुख्य ख़बरें

छात्र की गोली मार हत्या

आरा : भोजपुर जिले के बहोरनपुर ओपी क्षेत्र के करजा बाजार के रायपुर मोड़ के पास में आज अहले सुबह एक छात्र की गोली मारकर हत्या कर दी गई। अपराधियों ने पहले उसका गला दबाया गया फिर गोली मारी गई। हत्या का आरोप मृतक के दोस्तों पर लगा है।

पुलिस आरोपियों की धरपकड़ के लिए छापेमारी कर रही है। मृतक बहोरनपुर ओपी थाना क्षेत्र के गौरा गांव निवासी कमलेश ठाकुर का 19 वर्षीय पुत्र विकास कुमार ठाकुर है। वह छात्र था। उसके पिता गांव पर ही रहकर खेती-बारी करते हैं। सूचना पाकर पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम सदर अस्पताल में करवाया।

भोजपुर एसपी विनय तिवारी ने बताया कि कुछ हथियारबंद अपराधियों ने आज अहले सुबह बिहिया थानान्तर्गत उमरावगंज तथा राजपुर सड़क के बीच एक युवक विकास कुमार ठाकुर की गोली मार कर ह्त्या कर दी| मृतक एक हाई स्कूल में इन्टर का छात्र था| एसपी ने बताया कि प्राथमिकी दर्ज कर पुलिस मामले की छानबीन कर रही है| प्रथम द्रष्टया मामला प्रेम प्रसंग का लग रहा है|

मृतक के भाई पहरपुर उच्च विद्यालय के शिक्षक उमेश कुमार ने बताया कि विकास कुमार ठाकुर उनके ही स्कूल में इन्टर का छात्र था| कोचिंग के लिए वह कुछ महीनों से आरा में नवादा थानान्तर्गत जगदेव नगर में अपने तीन दोस्तों के साथ किराए के मकान में रहता था| वह डेढ़ महीने से घर नहीं आया था| गुरुवार की सुबह करीब तीन बजे उसके मोबाइल से किसी अज्ञात व्यक्ति ने सूचना दी कि विकास कुमार ठाकुर की गोली मारकर ह्त्या कर दी गयी है|

विकास कुमार ठाकुर के मोबाइल पर कई बार कॉल किया गया पर कोई जवाब नही मिला| इसपर परिजन उसके खोजते हुए राजपुर मोड़ पर पहुचे जहां विकास कुमार ठाकुर का मृत शरीर पडा था| उन्होंने पुलिस की इसकी सूचना दी| बहोरनपुर ओपी इन-चार्ज सत्येन्द्र कुमार सत्यार्थी पुलिस बल के साथ घटना स्थल पर पहंच कर शव को बरामद किया तथा उसके पोस्ट-मार्टम आरा सदर अस्पताल में करवाया| पुलिस ने मृतक के पॉकेट से 3.15 बोर का एक ज़िंदा कारतूस भी बरामद किया है|

उमेश कुमार ने बताया कि विकास कुमार ठाकुर का नौरंगा निवासी एक लड़की से प्रेम प्रसंग चल रहा था जिसको लेकर लड़की के परिजनों से उसका झगड़ा एवं मारपीट कुछ दिन पूर्व हुआ था तथा लड़की वालों ने बिहिया थाने विकास कुमार ठाकुर के खिलाफ प्राथमिकी भी दर्ज करवाई थी| विकास कुमार ठाकुर ने लड़की वालों के यहाँ अपने रिश्तेदारों को सुलह करवाने के लिए भेजा था पर इसी बीच उसकी ह्त्या हो गयी|

अपराधियों ने मार्निग वाक पर निकली रेलकर्मी की पत्नी को मारी गोली

आरा : भोजपुर जिले के चरपोखरी थानान्तर्गत बजेन गांव स्थित नहर गुरुवार की सुबह हथियारबंद अपराधियों ने मॉर्निंग वॉक पर निकली रेलकर्मी की पत्नी को गोली मार दी। उसे आरा सदर अस्पताल लाया गया जहां से प्राथमिक उपचार करने के बाद चिंताजनक स्थिति में पटना रेफर कर दिया गया है।

स्थानीय थाना घटनास्थल पर पहुंच मामले की छानबीन कर रहा है। जख्मी महिला मूल रुप से चरपोखरी थानान्तर्गत बजेन गांव निवासी कृष्णा प्रसाद उर्फ वकील राम प्रसाद की 45 वर्षीया पत्नी चंद्रावती देवी है। उसका पति उड़ीसा के राउरकेला के बंडामुंडा में रेलवे विभाग में फिटर का काम करता हैं। वह अपने परिवार के साथ करीब 35 वर्षो से राउरकेला में ही रहती है।

जख्मी महिला के साथ रही भतीजी शोभा कुमारी ने बताया कि वे सब 15 नवंबर को अपने गांव बजेन आये थे। दोनों रोज की तरह मॉर्निंग वॉक पर निकली थी तथा गांव में ही नहर के समीप टहल रही थी। तभी कुछ अज्ञात युवकों ने चाची को गोली मारकर भाग गये| घटना के कारण का पता नही है| जख्मी महिला दिवगंत मुखिया संजय सिंह की समर्थक बताई जा रही है। पुलिस अपने स्तर से मामले की छानबीन कर रही है।

दो बाइक की टक्कर में सैप जवान घायल

आरा : भोजपुर जिले के मुफस्सिल थानान्तर्गत पठानपुर मोड़ के समीप बुधवार की शाम दो बाइक की टक्कर में एक सैप जवान जख्मी हो गया। उसे आरा सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है| जख्मी छपरा जिला के दिघवारा थानान्तर्गत पुरुषोत्तमपुर गांव निवासी बिंदा प्रसाद के पुत्र शंभू नाथ सिंह है।

वह भोजपुर के चांदी थाना में तैनात है। जख्मी सैप जवान ने बताया कि मंगलवार की दोपहर वह चुनाव की पेट्रोलिंग ड्यूटी में था। इस क्रम में वह बाइक से मुफस्सिल थानान्तर्गत गंगहर गांव जा रहे थे। इसी दौरान पठानपुर मोड़ के समीप सामने से आ रहे बाइक सवार ने उनकी बाइक में टक्कर मार दी। इससे वह बाइक से गिर पड़े और जख्मी हो गए।

कुअर सिंह विश्विद्यालय की कार्यशैली की वजह से हज़ारों छात्र नामांकन से वंचित

आरा : वीर कुंवर सिंह विश्वविद्यालय अंतर्गत पार्ट वन में 32000 सीटों पर ऑनलाइन नामांकन हेतु नोटिफिकेशन जारी किया गया था जिस पर आज 10:00 बजे से ऑनलाइन नामांकन लिया जाना था। इस आधार पर छात्र छात्रा नामांकन के लिए साइबर कैफे पर घंटो लम्बी कतार में खड़े रहे पर विश्वविद्यालय द्वारा जारी लिंक नहीं खुलने के वजह से नामांकन नहीं हो पाया लगभग चार से पांच घंटो के इन्तजार के बाद छात्र- छात्रा अपने घर को वापस गए। उनमे काफी आक्रोश था|

भोजपुर जिला के हर साइबर कैफे पर दिनभर भीड़ देखने को मिली| आरा, बिहिया, जगदीशपुर, शाहपुर कोईलवर लगभग जिला भर के दर्जनों कैफे से मिली खबर के मुताबिक नामांकन से वंचित छात्र छात्राओं का सायबर कैफे में दिन भर भीड़ रही।मीरगंज निवासी एक छात्रा के पिता राज कुमार ने अपनी बेटी के साथ साइबर कैफे में बिता दिया, छात्रा के पिता एक सरकारी कर्मचारी है और नामांकन कराने के लिए आज का दिन भर रहे पर सब व्यर्थ गया।

साइबर कैफे संचालक ने बताया गया कि लगभग 500 से भी ज्यादा छात्र छात्रा व अभिभावक सुबह 9:00 बजे से ही आ गए थे पर लगभग 4 से 5 घंटे की इंतजार के बाद आक्रोशित हो सरकार और शिक्षा व्यवस्था पर आलोचना करते वापस गए।बिहियां स्थित यादव कैफे के मालिक शंभू कुमार ने बताया कि नामांकन के लिए कम से कम 1000 लड़का लड़कियों का ताता दिन भर लगा हुआ था।

अधिवक्ता सच्चिदानंद सिंह बिहिया ने मांग की कि विश्वविद्यालय की जांच की जाए, विश्वविद्यालय हमेशा विवादों में घिरा रहा है। छात्र-छात्राओं का आक्रोश जायज है व जब विश्वविद्यालय ने नौवी बार लिंक जारी किया गया है पर 32000 छात्र-छात्रा नामांकन से कैसे वंचित रह गए। इस बात को लेकर अब सवाल यह भी है कि आरक्षण का भी पालन हुआ कि नहीं यह भी जांच का विषय है।

विश्वविद्यालय के नियमावली के अनुसार 45 प्रतिशत प्राप्त छात्र-छात्राओं का नामांकन लिया जा सकता है।सेवानिवृत्त डॉक्टर केडी सिंह ने कहा कि बिहार में खासकर विश्वविद्यालय शिक्षा नहीं राजनीति और अप्रत्याशित कलह का अखाड़ा बन गया है| उन्होंने भी इसकी जांच की मांग सरकार से की है। विश्वविद्यालय के पदाधिकारी इस मुद्दे पर कुछ भी कहने से इनकार कर दिया|

राजीव एन० अग्रवाल की रिपोर्ट

swatva

Leave a Reply