14 अक्टूबर : आरा की मुख्य खबरें

0
आरा की मुख्य ख़बरें

दुर्घटना में एक की मौत, सड़क जाम

आरा : भोजपुर जिले के कृष्णागढ़ थानान्तर्गत सोहरा-मझौली मार्ग पर सोहरा गांव के समीप बुधवार की देर शाम बाइक एवं साइकिल की टक्कर में साइकिल सवार की मौत हो गई जबकि बाइक सवार दो युवक गंभीर रूप से जख्मी हो गए। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम आरा सदर अस्पताल में करवाया तथा जख्मियों को वहीं भर्ती करवाया पर डॉक्टर ने उन्हें पीएमसीएच रेफर कर दिया|

मृतक सिन्हा ओपी अंतर्गत सिन्हा गांव निवासी मुनी यादव का 28 वर्षीय पुत्र ह्रदय यादव है। वह पेशे से मजदूर था जबकि जख्मियों में कृष्णागढ़ थानान्तर्गत सोहरा गांव निवासी रामनरेश राम का पुत्र आलोक कुमार राम एवं उसी गांव का निवासी महावीर यादव शामिल है। मृतक के भाई जितेंद्र यादव ने बताया कि ह्रदय यादव रोज की तरह बुधवार की सुबह भी साइकिल से काम करने कृष्णागढ़ थाना क्षेत्र के बलुआ गांव गया था।

जब वह देर शाम साइकिल से वापस घर लौट रहा था तभी सोहरा गांव के समीप पीछे से आ रही बाइक ने उसकी साइकिल में जोरदार टक्कर मार दी। हादसे में तीनों गंभीर रूप से जख्मी हो गए। जिसके बाद उन्हें इलाज के लिए आनन-फानन में आरा सदर अस्पताल लाया गया।जहां से प्राथमिक उपचार करने के बाद तीनों की हालत को चिंताजनक देखते हुए पटना रेफर कर दिया गया था परन्तु पटना ले के दौरान हृदय यादव ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया।

घटना के बाद आक्रोशित ग्रामीणों ने गुरुवार की सुबह मुआवजे की मांग को लेकर इटहना मोड़ के समीप शव के साथ रोड जाम कर दिया। जाम होने के कारण सड़क के दोनों ओर वाहनों की लंबी कतारें लग गई एवं आवागमन पूरी तरह ठप्प हो गया है। सूचना मिलते ही कृष्णागढ़ थाना इंचार्ज अरविंद कुमार दलबल के साथ मौके पर पहुंच लोगों को समझाने बुझाने में जुट गये है।

जेल के सिपाही के साथ मारपीट में दो गिरफ्तार

आरा : भोजपुर जिला मुख्यालय आरा के आरा सदर अस्पताल में बंदी की मौत के बाद जेल के सिपाही से मारपीट मामले में पुलिस ने दो आरोपितों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार आरोपितों में नगर थानान्तर्गत गौसगंज निवासी अभिषेक पासवान और विक्की गिरी शामिल हैं। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस ने दोनों को गांगी के पास से पकड़ा है। इनमें विक्की गिरी पूर्व में पुलिस के साथ मुठभेड़ में जेल जा चुका है। नगर थाना इंचार्ज शंभू कुमार भगत द्वारा इसकी पुष्टि की गयी है।

आरा नगर थानाध्यक्ष शम्भू कुमार भगत ने बताया कि हत्या के मामले में जेल में बंद गौसगंज के रहने वाले रामप्रवेश पासवान की बीते 30 सितंबर को मौत हो गयी थी। तबीयत बिगड़ने के बाद सदर अस्पताल में इलाज के दौरान बंदी ने दम तोड़ दिया था। मौत के बाद बंदी के परिजन ने कारा प्रशासन पर इलाज में लापरवाही और सूचना नहीं देने का आरोप लगाकर सदर अस्पताल में जमकर हंगामा किया गया था। उस दौरान जेल के एक सिपाही के साथ जमकर मारपीट भी की गयी थी। उसका वीडियो भी वायरल हुआ था।

इस सम्बन्ध में कारा प्रशासन ने नगर थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी थी। उसमें दो नामजद और पांच-छह अज्ञात को आरोपित किया गया है। उस मामले में पुलिस ने फुटेज के आधार पर दोनों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के अनुसार 12 अक्टूबर 2020 को नगर के गौसगंज इलाके में पुलिस की अपराधियों के साथ मुठभेड़ हो गई थी। इसमें विक्की गिरी उर्फ साधु गिरी गोली लगने से जख्मी हो गया था। उसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया था। मुठभेड़ के दौरान डीआईयू के दो जवान भी घायल हो गये थे।

आठ माह बाद पुलिस गिरफ्त में घर से भागे प्रेमी युगल

आरा : भोजपुर पुलिस ने अगिआव बाज़ार थानान्तर्गत महुअरी गांव से प्रेमी युगल को बरामद कर बिक्रमगंज थाना को सुपुर्द कर दिया। बरामद प्रेमी युगल की तलाश पिछले आठ माह से बिक्रमगंज की पुलिस कर रही थी। महुअरी गांव निवासी विंध्याचल चौधरी के पुत्र पंकज कुमार ने कथित रूप से अपनी प्रेमिका किशोरी को बिक्रमगंज के एक गांव से शादी के लिए अगवा कर लिया था। इसको लेकर किशोरी के पिता ने बिक्रमगंज थाना में 10 मार्च 2021 को प्राथमिकी दर्ज कराई थी।

घर भागने के बाद प्रेमी युगल ने शादी रचा ली और पति पत्नी की तरह छिप कर कहीं रह रहे थे। इस बीच पुलिस को उक्त दोनों के महुअरी गांव में मौजूद होने की सूचना मिली। मिली सूचना के आधार पर बिक्रमगंज पुलिस ने अगिआंव बाजार थाना के सहयोग से महुअरी गांव में छापेमारी कर किशोरी को पंकज कुमार के साथ बरामद किया। बरामद प्रेमी युगल को बिक्रमगंज थाना की पुलिस अपने साथ ले गई।

भक्ति की आड़ में हो रहा अश्लील डांस

आरा : पूरे देश में नवरात्रि मनाई जा रही है और इस दौरान कन्याओं की पूजा करने की परम्परा है पर जिला प्रशासन की नाक के नीचे माँ दुर्गा के सामने अश्लीलता की सारी हदे टूट गयी| पता नही चल पा रहा था कि यह पूजा का माहौल है या कुछ और? प्रशासन मूक दर्शक बना रहा| यह कैसी पूजा, कैसी भक्ति? जहाँ नारी शक्ति की पूजा की जगह उनका मज़ाक बनाया जा रहा था और उनसे अश्लील काम भी करवाया जा रहा था| कमिटी के सदस्य हो या दर्शक-किसी को शर्म नहीं थी भक्ति के नाम पर माँ दुर्गा की प्रतिमा की बगल में तथा महिलायों की भीड़ के सामने बार बालाओं का अश्लील डांस देख रहे हैं। इतना ही नहीं| जिला प्रशासन ने दुर्गा पूजा के दौरान डीजे पर प्रतिबन्ध लगा रखा है पर क़ानून को ताक पर रखकर जम कर डीजे बजाये जा रहे है|

भोजपुर जिले के कोइलवर थानान्तर्गत मानिकपुर गाँव में अष्टमी के दिन माही-मनीषा का कार्यक्रम रखा गया था, अपने कार्यक्रम के दौरान जैसे ही माही-मनीषा स्टेज पर ठुमका लगा रही थी, दर्शक बेकाबू हो गये। पूजा के नाम पर अश्लीलता पड़ोसी जा रही थी और दर्शक उसी अश्लीलता में मग्न हो चुके थे। पूजा पंडालों में महिलायें भी उपस्थित थी, पर उनका भी लिहाज नहीं कर अश्लीलता की सारी हदे पार कर दी गयी| पूजा कमेटी के सदस्य दिखावे के लिए भीड़ को काबू करने में लगे थे पर भीड़ थी कि काबू में ही नहीं आ रही थी| भक्त माँ दुर्गा की पूजा की बात कर रहे थे पर इसके उलट पूजा पंडालों में ‘दिने-रात रहे छतिये पे हाथ ए राजा,’ ‘हमार दुनो बैलून साला धुक-धुक करें’, ‘बबुआ पेट में पलते बा’, ‘आज-कल गलते चलते बा रोज इयार भतार बदलते बा’, ऐसे गाने डीजे की धुन पर धमक रहा था और कमेटी के सदस्य तथा दर्शक भी उसी अश्लीलता में संलिप्त थे और बार बालाओं के साथ डांस करने लगे थे| उन्हें इस बात का फर्क नहीं पड़ रहा था कि पंडाल में महिलाए और लड़किया उपस्थित हैं।

दूसरी तरफ बड़हरा थानान्तर्गत बबुरा में दुर्गा पूजा पंडालो के परिसर में बाकायदा बार बालाओं के लिए स्टेज बनाया गया और भक्ति की आड़ में मनोरंजन का घिनौना खेल शुरू हुआ| ।भोजपुरी गानों पर करीब आधा दर्जन से ज्यादा बार बालाओं ने थिरकना क्या शुरू किया कि भक्ति का माहौल अश्लील मस्ती में बदल गया। हर एक नए भोजपुरी गाने के साथ एक नई बारबाला ठुमके लगाने स्टेज पर आती और अश्लीलता परोस कर तथा दर्शकों को मदहोश कर चली जाती। हालाँकि दुर्गा पूजा के नाम पर अश्लील डांस प्रोग्राम का हर किसी ने विरोध किया और आयोजकों पर इसका को असर नहीं पडा और डांस होता रहा|

सरकार तथा भोजपुर जिला प्रशासन ने दुर्गा पूजा में गाइडलाइन जारी कर उसका सख्ती से पालन करने का निर्देश दिया था लेकिन उन सभी नियमों को ताक पर रखकर बार बालाओं की अश्लीलता परोसी जा रहा थी| दर्शक भी उसी अश्लीलता में धूमिल हो चुके थे, जरा भी उनको ख्याल नहीं आया कि यह प्रोग्राम दुर्गा पूजा के अवसर पर किया गया था। वहीं जिला प्रशासन अश्लीलता के आगे अपना घुटना टेक चुकी थी पुलिस प्रशासन की टीम अपनी गाड़ी लगा कर आराम करते नजर दिखाई दे रहे थे। काफी देर रात तक डीजे के धुन पर बार बालायें बिना रोक-टोक के थिरकती रही।

राजीव एन० अग्रवाल की रिपोर्ट

swatva

Leave a Reply