12 अक्टूबर : आरा की मुख्य खबरें

0
आरा की मुख्य ख़बरें

दुर्गा पूजा के में डीजे पर प्रतिबन्ध

आरा : कृषि भवन के सभागार में दुर्गा पूजा के अवसर पर भोजपुर जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक ने जिले में विधि व्यवस्था के संधारण हेतु बैठक की जिसमें जिला, अनुमंडल एवं प्रखंड स्तरीय पदाधिकारियों उपस्थित थे। इस दौरान संयुक्त ब्रीफिंग की गयी।

ब्रीफिंग के दौरान जिलाधिकारी रोशन कुशवाहा ने कहा कि पूजा के दौरान डीजे पर पूर्ण प्रतिबंध रहेगा। कोविड-19 के प्रोटोकोल का पालन हेतु डीएम ने समुचित दिशा निर्देश दिया , साथ ही मूर्ति विसर्जन के लिए पदाधिकारियों को पूजा समिति के साथ समन्वय स्थापित कर 16 अक्टूबर तक मूर्ति विसर्जन का अक्षरसः से पालन हेतु निर्देश दिया।

13 से 20 अक्टूबर तक मनेगा अर्थराइटिस सत्ताह होगी नि:शुल्क इलाज

आरा : विश्व अर्थराइटिस दिवस प्रत्येक वर्ष 12 अक्टूबर को मनाया जाता है जिसका उद्देश्य जनमानस मैं जागरूकता फैलाना है ताकि अर्थराइटिस से बचा जा सके। एक बार बीमारी हो जाने से जोड़ दर्द दिनोंदिन बढ़ते जाता है और इसका स्थाई इलाज ना के बराबर होता है।

शुरुआती लक्षणों को यदि हम पहचान ले तो इस गंभीर और असाध्य बीमारी से बचा जा सकता है लोगों में जागरूकता पैदा हो इसी उद्देश्य से मठिया मोड़ स्थित आयुष कॉलेज हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर द्वारा विगत 11 दिनों में लगभग 690 लोगों का निशुल्क अर्थराइटिस जांच की गयी और जिन्हें शुरुआती लक्षण दिखाई दिया उन्हें स्व चिकित्सा जैसे डिटॉक्स थेरेपी आहार थेरेपी कलर थेरेपी एक्यूप्रेशर थेरेपी से स्व चिकित्सा का परामर्श भी दिया गया जिससे पीड़ित घर बैठे घरेलू सामानों से अपना इलाज कर जीवनपर्यंत दर्द और दवाओं से बच सके और मिशन पेन फ्री लाइव विथ ड्रग्लेस ट्रीटमेंट का हिस्सा बन सके।

पीड़ितों को संबोधित करते हुए और लोगों की बढ़ती भीड़ को नजर में रखकर अर्थराइटिस के प्रति जागरूकता बड़े इस उद्देश्य से 20 अक्टूबर तक के अर्थराइटिस सप्ताह के रूप में मनाया जाएगा डॉक्टर पी पुष्कर ने कहा की 90% अर्थराइटिस की बीमारी खराब पाचन तंत्र बढ़ते प्रदूषण पैरासाइट और बिगड़ती जीवन शैली खान-पान में अनियमितता और शारीरिक व्यायाम की व्यापक कमी के कारण है जिससे आज नसीर बढ़ते उम्र बल्कि नौजवान में भी जोड़ों में दर्द अर्थराइटिस जैसी गंभीर है और असाध्य बीमारी दिनों दिन बढ़ते जा रही है एक आंकड़े के हिसाब से नजर डालें तो अर्थराइटिस पर ध्यान ना दिया जाए तो व्यक्ति विकलांग तक हो सकता है इस बीमारी में कैल्शियम विटामिन डी मिनरल्स के कमी के वजह से हड्डी कमजोर हो जाती है और जोड़ों के बीच में कोर्टलीज खराब होने लगते हैं मांस पेशियों में कमजोरी आ जाती है।

यदि अर्थराइटिस से पीड़ित अपने खानपान में शाक सब्जियों के साथ है कैल्शियम मिनरल्स और सप्ताह में डेढ़ घंटे तक धूप में विटामिन डी ले और नियमित व्यायाम करें इसके साथ है शरीर के सभी अंग नियमित रूप से कार्य करें इसके लिए समय-समय पर डिटॉक्स थेरेपी एक्यूप्रेशर थेरेपी खानपान चिकित्सा आदि को संतुलित कर पूरी जीवन दर्द और दवाओं के सेवन से न सिर्फ बच सकते हैं स्वस्थ जीवन का आनंद भी ले सकते हैं डा पुष्कर ने अपील करते हुए 20 अक्टूबर तक आयोजित आर्थराइटिस सप्ताह में घर बैठे 8581900702 पर व्हाट्सएप द्वारा नंबर लगाकर ही समयानुशार हि आने का अनुरोध किया है ताकि भिड़ से बच सके और करोना नियमो का उलंघन से बच सके।

राजीव एन अग्रवाल की रिपोर्ट

swatva

Leave a Reply