2 अगस्त : आरा की मुख्य ख़बरें

0
8 अगस्त : आरा की मुख्य ख़बरें6 अगस्त : आरा की मुख्य ख़बरें5 अगस्त : आरा की मुख्य ख़बरें4 अगस्त : आरा की मुख्य ख़बरें3 अगस्त : आरा की मुख्य ख़बरें2 अगस्त : आरा की मुख्य ख़बरें1 अगस्त : आरा की मुख्य ख़बरें31 जुलाई : आरा की मुख्य ख़बरें30 जुलाई : आरा की मुख्य ख़बरें28 जुलाई : आरा की मुख्य ख़बरें27 जुलाई : आरा की मुख्य ख़बरें26 जुलाई : आरा की मुख्य ख़बरें25 जुलाई : आरा की मुख्य ख़बरें24 जुलाई : आरा की मुख्य ख़बरें 23 जुलाई आरा : की मुख्य ख़बरें22 जुलाई : आरा की मुख्य ख़बरें21 जुलाई : आरा की मुख्य ख़बरें20 जुलाई : आरा की मुख्य ख़बरें19 जुलाई : आरा की मुख्य ख़बरें17 जुलाई : आरा की मुख्य ख़बरें16 जुलाई : आरा की मुख्य ख़बरें15 जुलाई : आरा की मुख्य ख़बरें14 जुलाई : आरा की मुख्य ख़बरें13 जुलाई : आरा की मुख्य ख़बरें12 जुलाई : आरा की मुख्य ख़बरें11 जुलाई : आरा की मुख्य ख़बरें10 जुलाई : आरा की मुख्य ख़बरें8 जुलाई : आरा की मुख्य ख़बरें6 जुलाई : आरा की मुख्य ख़बरें5 जुलाई : आरा की मुख्य ख़बरें4 जुलाई : आरा की मुख्य ख़बरें2 जुलाई : आरा की मुख्य ख़बरें27 जून : आरा की मुख्य ख़बरें

नर्सो ने प्रखण्ड स्वास्थ्य प्रबंधक के चरित्र पर उठाया सवाल

आरा : स्वास्थ्य विभाग अपने कार्यकलाप से लगातार सुर्खियों में रहता है। हमेसा किसी न किसी प्रखण्ड से स्वास्थ्य विभाग के प्रति शिकायत आती ही रहती है । कही चिकित्सक ड्यूटी से गायब होते है तो कभी ड्यूटी पर कार्यरत लोग अपने कर्तव्य से भागते नजर आते है ।

ताजा मामला बड़हरा प्रखण्ड का है जहां दो नर्सो ने प्रखण्ड स्वास्थ्य प्रबंधक पर गम्भीर आरोप लगाए है । दोनो ने प्रखण्ड चिकित्सा पदाधिकारी को लिखित आवेदन देकर अपनी सुरक्षा की गुहार लगाई है साथ ही स्वास्थ्य प्रबंधक पर कई गम्भीर आरोप लगाए है जो मानवता को शर्मशार करता है । नर्स जो हमेशा रोगियों की सेवा के लिए जानी जाती है उसने प्रखण्ड स्वास्थ्य प्रबंधक के चरित्र पर प्रश्न चिन्ह उठाया है ।

प्रखण्ड चिकित्सा पदाधिकारी ने भी कई आरोप लगाए है तथा इस सन्दर्भ में सिविल सर्जन को पत्र देकर करवाई की मांग की है । चिकित्सा पदाधिकारी ने अपने दिए आवेदन में कहा है कि स्वास्थ्य प्रबंधक बड़हरा प्रखण्ड के ही है जिनका घर मुख्यालय से मात्र 6 किलोमीटर की दूरी पर है जिससे ये हमेसा स्थानीय होने तथा स्थानीय लोगो को लेकर कर्मियों को धमकाते रहते है । इन्होंने कहा कि ये हमारे आदेश का भी पालन नही करते है तथा बोलने पर स्थानीय जनप्रतिनिधियों के माध्यम से दबीश देते है । ये क्षेत्र भ्रमण के नाम पर हमेसा ड्यूटी से गायब रहते है । इनके आचरण एवं चरित्र से महिला कर्मियों में क्षोभ बना रहता है । वही महिला कर्मियों ने भी लिखित आवेदन में कहा है कि ये हमलोगों से बार बार नाइट ड्यूटी कराने के लिए जोर देते हैं तथा बात नही मानने पर बर्खास्त करने की धमकी देते है ।

ऐसे में अब देखना यह है कि क्या BHM सही में इतने दबंग है कि अभी तक इनपर कोई कार्रवाई नही हुई जबकि सिविल सर्जन को आवेदन 7 जुलाई को ही दिया गया है या सिविल सर्जन इतने गम्भीर मामले पर मौन क्यूँ है । या जान बूझकर सिविल सर्जन स्तर से अभी तक कोई कार्रवाई नही हो रही । आगे देखिए आखिर कब तक सिविल सर्जन की कुम्भकर्णी नींद खुलती है और ऐसे BHM पर कार्रवाई करने का साहस दिखाते है ।

तालाब में मरी मिली हजारो मछलियां

आरा : भोजपुर जिले के आरा शहर में प्रसिद्ध कलेक्ट्री तालाब में आज हजारों मछलियां मरी पड़ी मिली। ये तालाब आरा शहर के बिल्कुल बीच में रमना मैदान से सटकर बना हुआ है। उसी तालाब में मछलियां डाली गई थीं। ऐसा माना जा रहा कि देर रात किसी अज्ञात ने तालाब में कीटनाशक डाल दिया। जिसके बाद तालाब की सभी मछलियां मर गई और पानी के ऊपर आ गई।

आरा के कलेक्ट्री तालाब में मछलियों के मरने की जानकारी उस समय हुई जब रविवार सुबह स्थानीय लोग वहां टहलने के लिए पहुंचे। उन लोगों ने इस घटना की सूचना तुरंत स्थानीय नवादा थाना पुलिस को दी। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है कि आखिर इन मछलियों की मौत कैसे हुई। अगर किसी ने कीटनाशक पानी में मिलाया तो वो कौन है।

आरा के पुलिस अधीक्षक कार्यालय से सटा हुआ यह तालाब कई मायनों में ऐतिहासिक है। इस तालाब में हमेश पानी भरा रहता है और उसमें मछलियां पाली जाती हैं। इस घटना के बाद स्थानीय प्रशासन घटना की जांच में जुट गया है। स्थानीय लोगों के मुताबिक जानबूझकर के किसी ने तालाब में जहर डाला है।

रोटरी क्लब ऑफ ने कोरोना योद्धाओं के बीच साबुन, मास्क व सेनेटाईजर का किया वितरण

आरा : बढ़ते कोरोना के प्रकोप को देखते हुए रोटरी क्लब ऑफ आरा ने भोजपुर पुलिस अधीक्षक सुशील कुमार की उपस्थिति में कोरोना योद्धा न्यू पुलिस लाइन, नवादा थाना और नगर थाना के पुलिस कर्मियों के बीच साबुन, मास्क और हैंड सेनेटाईज़र का वितरण किया।

इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक ने सभी को कोरोना से बचाव हेतु सरकारी निर्देशों का सख्ती से पालन करने का सुझाव देते हुए कहा कि कोरोना से लोगों को बचाव हेतु कानूनी तौर पर पेश आए। रोटरी क्लब के अध्यक्ष पंकज प्रभाकर ने कहा कि उस आपदा में पुलिस कर्मी देवदूत बनकर हमारी रक्षा कर रहे है और रोटरी क्लब इन योद्धाओं का सम्मान करता है साथ ही साथ इनके कंधे से कंधा मिलाकर इस आपदा में समाज सेवा के लिए प्रतिबद्ध है।

अवधेश कुमार पांडेय ने कहा कि क्लब ने पूर्व में भी इस तरह के कार्यक्रम आयोजित किये है और आगे भी निरंतर करता रहेगा। इस कार्यक्रम को सफल बनाने में रो. रूपेश कुमार वर्मा (यातायात उपाधीक्षक) और रो. मनोज कुमार का विशेष सहयोग मिला।

इस अवसर पर रोटरी क्लब के सचिव रो. प्रशांत कुमार जैन, रो. रामेश्वर प्रसाद, रो. अवधेश कुमार पांडेय, रो. निशि कांत कुमार, रो. मनोज कुमार सिंह, रो. कृष्ण माधव अग्रवाल, लाइन उपाधीक्षक श्याम सुंदर कश्यप, सार्जेंट कुंवर गुप्ता, पुलिस मेंस एसोसिएशन के अध्यक्ष, सचिव और बड़ी संख्या में पुलिस कर्मी उपस्थित थे।

सरकारी चापाकल उखाड़ने को ले लाठी-डंडे से पीटकर की भाई की हत्या

आरा : भोजपुर जिले के बहोरनपुर ओपी क्षेत्र अंतर्गत लक्ष्मणपुर गांव में सरकारी चापाकल उखाड़ने को लेकर पिता, पुत्र और भाइयो के बीच जमकर मारपीट हुई जिसमें एक भाई की मौत हो गई। । मृतक 26 वर्षीय ज्योति रजक लक्षमणपुर गांव के महावीर रजक का पुत्र बताया जाता है। मृतक के सिर समेत शरीर के अन्य भागों में चोट का निशान पाया गया है। वारदात के बाद शव का पोस्टमार्टम सदर अस्पताल आरा में कराया गया है। पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। हत्या में अभी तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है। घटना के बाद इलाके में तनाव का माहौल है।

प्रभारी थानाध्यक्ष प्यारेलाल चौधरी ने बताया कि सरकारी चापाकल को उखाड़ने को लेकर मारपीट हुयी थी। जिसमें दो तरफ के कई लोग घायल हुए है। हत्या का आरोप मृतक के ही भाई पर परिवार के लोगो द्वारा लगाया जा रहा है।

सोन नदी से युवक का शव बरामद

आरा : भोजपुर जिले के कोईलवर सोन नदी से रविवार एक युवक का शव बरामद हुआ है। शव मिलने से आसपास के इलाके में सनसनी मच गई। सूचना मिलते ही कोईलवर थाना पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और शव को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए आरा सदर अस्पताल भेज दिया है।

जानकारी के अनुसार मृतक को कोइलवर वार्ड नंबर-10 निवासी कृष्णा राय का पुत्र राकेश यादव है। घटना कारण अभी तक स्पष्ट नहीं हो पाया है। पुलिस अपने स्तर से मामले की छानबीन कर रही है।

शराब के नशे में हंगामा करते एक गिरफ्तार

आरा : भोजपुर जिला के मुफस्सिल थाना क्षेत्र अंतर्गत बलुआ गांव से पुलिस ने शनिवार की शम्म शराब के नशे में हंगामा करते एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार व्यक्ति बलुआ गांव निवासी रास बिहारी सिंह है।

बताया जाता है कि वह शराब के नशे में धुत होकर घर में हंगामा कर रहा था। तभी पुलिस को इसकी सूचना मिल गयी। पुलिस को देखते ही शराबी का नशा कम हो गया।विदित रहे कि बिहार में पूर्ण शराबबंदी के बाद शराब कारोबारी गुप्त तरीके से शराब तस्करी के कारोबार में लिप्त है वही भोजपुर पुलिस की सक्रियता के कारण शराब कारोबारियों की गिरफ्तारी भी निरंतर जारी है।

शराब की खेप के साथ तीन धंधेबाज गिरफ्तार

आरा : बड़हरा थाना क्षेत्र के केशोपुर गांव से पुलिस ने शराब की खेप के साथ तीन धंधेबाजों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से 375 एमएल के 24 बोतल व 144 फ्रुटी शराब बरामद की गयी है। एक कमांडर जीप व एक बाइक भी जब्त की गयी है। गिरफ्तार शराब के धंधेबाजों में केशोपुर गांव निवासी विजयेंद्र सिंह, एकवना गांव निवासी उमेश सिंह व कुईयां गांव निवासी शैलेश लाल हैं।

जानकारी के अनुसार पुलिस को शनिवार की रात केशोपुर गांव में शराब की खेप आने की सूचना मिली। इस आधार पर थानाध्यक्ष अवधेश कुमार के नेतृत्व में पुलिस ने गांव में छापेमारी कर तीनों को दबोच लिया।

थानाध्यक्ष ने बताया कि उमेश सिंह शैलेश लाल विजयेंद्र सिंह को शराब की डिलवरी करने केशोपुर गांव आये थे। तभी तीनों को मौके से गिरफ्तार कर लिया गया। तीनों से इस धंधे में शामिल अन्य लोगों के बारे में भी जानकारी ली गयी। पूछताछ के बाद तीनों को जेल भेज दिया गया। जीप व बाइक की जांच की जा रही है।

नाबालिग ऑटो चालकों पर कारवाई, चार ऑटो ज़ब्त

आरा : बिहिया पुलिस ने शनिवार की देर शाम बिहिया नगर में नाबालिग ऑटो चालको के खिलाफ कार्रवाई की।इस दौरान पुलिस ने चालक समेत चार ऑटो जप्त किया।थाना अध्यक्ष शशिकांत ने बताया कि चालकों की उम्र का सत्यापन के बाद तीन ऑटो चालक नाबालिग पाये गये जिनपर यातायात अधिनियम के तहत 25 हजार रूपये जुर्माना लगाया गया है। जबकि एक चालक का सत्यापन किया जा रहा है। डीटीओ भोजपुर को तीन ऑटो का एक वर्ष तक निबंधन रद्द करने को लेकर पत्र भेजा जा रहा है।

अज्ञात मृत महिला का लावारिस सेवा केंद्र ने किया अंतिम संस्कार

आरा : बड़हरा थाना क्षेत्र में मृत महिला की पहचान नहीं हो सकी। उसके बाद आरा लावारिस सेवा केंद्र द्वारा रविवार को उस महिला का अंतिम संस्कार कर दिया गया। संस्था के संस्थापक डीएन सिंह ने बताया कि उक्त महिला का शव बड़हरा थाना पुलिस द्वारा भेजा गया था। शव को पोस्टमार्टम के बाद 72 घंटे तक पहचान के लिये रखा गया था। लेकिन किसी द्वारा शव की पहचान नहीं की जा सकी।

आरा-छपरा फोरलेन पर बड़हरा थाना क्षेत्र के बबुरा के समीप गुरुवार की सुबह सड़क किनारे से उक्त अज्ञात महिला का शव बरामद हुआ था। शव के मिलने से आसपास के इलाके में सनसनी मच गई थी। स्थानीय थाना घटनास्थल पर पहुंचकर शव को अपने कब्जे में ले आरा सदर अस्पताल में पोस्टमार्टम के बाद उक्त शव को लावारिस सेवा केंद्र को सौप दिया गया था। पुलिस के अनुसार अज्ञात महिला की मौत स्वाभाविक बतायी गयी थी।

विद्यालय ने माफ किया दो माह का स्कूल फीस

आरा : कोरोना महामारी के बीच खस्ताहाल आर्थिक स्थिति को देखते हुए सेंट जेवियर स्कूल के प्रबंधको ने छात्र अभिभावकों को बड़ी राहत देते हुए दो माह की स्कूल फी माफ करने की घोषणा की है।

भोजपुर जिला के बिहिया प्रखंड व एनएच 84 पर अमराई नवादा गांव के समीप स्थित सेंट जेवियर स्कूल के प्रबंधक संजय पाठक ने बताया कि कोरोना काल में लोगों की आर्थिक स्थिति अत्यंत खराब है। जिसको ध्यान में रखते हुए मैंनेजमेंट ने वर्तमान सत्र 2020 – 21 की दो माह का फीस माफ करने का निर्णय लिया है। स्कूल प्रबंधन के इस निर्णय से छात्र अभिभावकों में खुशी व्याप्त है वही पूरे क्षेत्र में प्रबंधन के इस कार्य की सराहना की जा रही है।

स्कूल की प्रिंसिपल ऐशली राएल ने अभिभावकों से अपील की है कि सेंट जेवियर स्कूल द्वारा चलाए जा रहे ऑन लाइन क्लास के लिए घर पर उचित माहौल बनाए जिससे बच्चे एकाग्र होकर पढ़े और होमवर्क अच्छी तरह कर सके और पढ़ाई में उनकी रूची बनी रहे। प्रिंसिपल ने अभिभावकों से कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सरकारी गाइड लाइन को अपनाने का अनुरोध किया है।

राजीव एन अग्रवाल

swatva

Leave a Reply